ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 145




                                               

शोला और शबनम (1961 फ़िल्म)

शोला और शबनम 1961 में बनी हिन्दी भाषा की नाट्य प्रेमकहानी फ़िल्म है। धर्मेन्द्र, तरला मेहता, अभि भट्टाचार्य, विजयलक्ष्मी और एम. राजन अभिनीत ये फ़िल्म रमेश सैगल द्वारा निर्देशित है। यह धर्मेंद्र की शुरुआती फिल्मों में से एक है।

                                               

सुहाग सिन्दूर (1961 फ़िल्म)

कन्हैया लाल - दयाशंकर उल्हास - वकील रामप्रसाद मनोज कुमार - रतन जॉनी वॉकर राज मेहरा - साधु माला सिन्हा पदमा चवन - नलिनी शुभा खोटे बलराज साहनी शम्मी लीला मिश्रा - रुक्मिनी

                                               

हम दोनों (1961 फ़िल्म)

हम दोनों 1961 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसे देव आनन्द द्वारा निर्मित किया गया और उनके भाई विजय आनन्द ने निर्देशन किया। फिल्म में देव आनन्द दोहरी भूमिका में हैं और इसमें नन्दा, साधना और लीला चिटनिस भी हैं। फिल्म जयदेव के संगीत के लिए भी जान ...

                                               

आरती (1962 फ़िल्म)

मीना कुमारी - आरती गुप्ता बेबी शोभा मास्टर अनिल गजानन जागीरदार कैस्टो मुखर्जी अशोक कुमार शशि कला सुरेखा - रमा निरंजन शर्मा प्रदीप कुमार - दीपक प्रवीन कौल रमेश देव

                                               

झूला (1962 फ़िल्म)

मोहन चोटी इंदिरा बंसल सुनील दत्त लीला मिश्रा टुन टुन - माँ राजेन्द्रनाथ - मधु वैजयन्ती माला - सुमति मनमोहन कृष्णा प्राण अचला सचदेव - कमला रणधीर - शेखर कुसुम ठाकुर सुलोचना - लक्ष्मी राज मेहरा

                                               

दिल तेरा दीवाना (1962 फ़िल्म)

दिल तेरा दीवाना 1962 में बनी हिन्दी भाषा की कॉमेडी फ़िल्म है। इसमें शम्मी कपूर, माला सिन्हा, महमूद, प्राण और ओम प्रकाश हैं। संगीत शंकर जयकिशन द्वारा है। फिल्म ब्लैक और व्हाइट में है, लेकिन 2015 में रंगीन संस्करण भी जारी किया गया। फिल्म का संगीत ल ...

                                               

असली नकली (1962 फ़िल्म)

असली नकली 1962 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। फिल्म ऋषिकेश मुखर्जी द्वारा निर्देशित है और इसमें देव आनन्द, साधना, लीला चिटनिस, अनवर हुसैन, संध्या रॉय और केष्टो मुखर्जी ने अभिनय किया है। फिल्म का संगीत शंकर-जयकिशन द्वारा दिया गया है। फिल्म बॉक्स ...

                                               

प्रोफ़ेसर (1962 फ़िल्म)

प्रोफेसर 1962 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है जिसके निर्माता एफ. सी. मेहरा और निर्देशक लेख टंडन हैं। फिल्म में मुख्य भूमिकायें शम्मी कपूर, कल्पना और ललिता पवार ने निभाई हैं। फिल्म बॉक्स ऑफ़िस पर एक सफल फिल्म साबित हुई थी। इस फिल्म को तमिल में नदि ...

                                               

बात एक रात की

राजेश्वर देव आनंद एक मस्त मौला फ़ितरत का नामी वक़ील है जो काम काज में मन नहीं लगाता है। एक दिन मछली पकड़ने के लिए वह झील में जाता है तभी एक लड़की झील में कूद जाती है। राजेश्वर लड़की को बचाता है पर तभी पुलीस आ जाती है और तब राजेश को पता चलता है कि ...

                                               

मनमौजी

देविका अचला सचदेव सुलोचना चटर्जी प्राण - जग्गा सुन्दर - प्रधानाध्यापक कुमारी नाज़ - लक्ष्मी किशोर कुमार दुर्गा खोटे ओम प्रकाश भारती रॉय आशिम कुमार लीला चिटनिस - भागवंती साधना अनवर हुसैन - वकील

                                               

मैं चुप रहूँगी (1962 फ़िल्म)

मोहन चोटी - माधव गजानन जागीरदार - रतन कुमार मीना कुमारी - गायत्री हेलन नाना पालसिकर - नारायण बबलू सुनील दत्त - कमल कुमार उमेश शर्मा शांति राज मेहरा - ठेकेदार

                                               

राखी (1962 फ़िल्म)

रणधीर महमूद - कस्तूरी मोहन चोटी - मोहन शिवराज - भगवान चौधरी राज मेहरा उमेश शर्मा माल्विका प्रदीप कुमार - आनन्द ललिता पवार अशोक कुमार मदन पुरी - वकील रमेश चन्द्रा वहीदा रहमान - राधा कुमार

                                               

शादी (1962 फ़िल्म)

रविकांत सायरा बानो - गौरी मनोरमा बलराज साहनी - रतन राज मेहरा - जज मोतीलाल लीला मिश्रा मनोज कुमार - राजा कल्पना केशव राणा सुलोचना लाटकर इन्द्रानी मुखर्जी धर्मेन्द्र रणधीर - मैने्जर

                                               

हरियाली और रास्ता

हरियाली और रास्ता 1962 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह विजय भट्ट द्वारा निर्देशित और निर्मित है। इसमें मनोज कुमाऔर माला सिन्हा प्रमुख भूमिकाओं में हैं और संगीत शंकर-जयकिशन का है।

                                               

हाफ़ टिकट

हाफ टिकट १९६२ में बनी हिन्दी भाषा की एक हास्य फ़िल्म है। इस फ़िल्म के निर्माता व निर्देशक कालीदास हैं और मुख्य कलाकार किशोर कुमार, मधुबाला और प्राण हैं।

                                               

गुमराह (1963 फ़िल्म)

गुमराह 1963 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसका निर्देशन और निर्माण बी॰ आर॰ चोपड़ा ने किया। फिल्म में सुनील दत्त, अशोक कुमार, माला सिन्हा, निरूपा रॉय, देवेन वर्मा और शशिकला हैं। संगीत रवि ने बनाया था और बोल साहिर लुधियानवी के थे। फिल्म बॉक्स ऑफ ...

                                               

गृहस्थी (1963 फ़िल्म)

निरूपा रॉय - माया एच खन्ना ललिता पवार - हरीश की बहन अशोक कुमार - हरीश चन्द्र खन्ना राजश्री - किरन एच खन्ना इन्द्रानी मुखर्जी - कामिनी एच खन्ना मनोज कुमार - मोहन महमूद - जग्गू

                                               

गोदान (फ़िल्म)

गोदान मुंशी प्रेमचंद द्वारा लिखित उपन्यास है. इसका शाब्दिक अर्थ है कि गो यानि गाय और दान यानि बिना किसी मुल्य की दी गई,अतः गाय का दान। इस उपन्यास में प्रेम चन्द्र की पत्नी का नाम धनिया और बेटे का नाम गोबर था।

                                               

तेरे घर के सामने

तेरे घर के सामने 1963 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह देव आनन्द द्वारा निर्मित और उनके भाई विजय आनन्द द्वारा लिखित और निर्देशित है। यह फिल्म नौ दो ग्यारह, काला बाज़ाऔर हम दोनों के बाद इन दोनों की चौथी सहभागिता है। विजय आनन्द ने बाद में गाइड, ...

                                               

प्यार किया तो डरना क्या (1963 फ़िल्म)

प्यार किया तो डरना क्या 1963 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। बी॰ एस॰ रंगा द्वारा निर्देशित ये फिल्म ब्लैक और व्हाइट में है। इसमें शम्मी कपूर, सरोजा देवी, प्राण, ओम प्रकाश, आग़ा और पृथ्वीराज कपूर हैं। फिल्म में संगीत रवि का है।

                                               

बहूरानी (1963 फ़िल्म)

बहूरानी १९६३ में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह एक ऐसे लड़के के बारे में है जिसके माँ बाप उसका विवाह एक गाव की लड़की से करवा देते है। क्योंकि दूल्हा इस बात से खुश नहीं, इस कारण वो दहेज़ में आये सोने को नकली बताकर तलाक लेने की कशिश करता है। फिर द ...

                                               

मुझे जीने दो (1963 फ़िल्म)

मुझे जीने दो सन 1963 में बनी एक मशहूर हिन्दी फिल्म का नाम है जिसका निर्देशन मणि भट्टाचार्य ने किया था। अजन्ता आर्ट के बैनर तले बनी व डकैतों के वास्तविक जीवन पर आधारित बालीवुड की इस फिल्म में सुनील दत्त, वहीदा रहमान, निरूपा रॉय, राजेन्द्र नाथ एवं ...

                                               

मेरे महबूब

मेरे महबूब 1963 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसका निर्देशन एच॰ एस॰ रवैल ने किया है और इसमें राजेन्द्र कुमार, साधना, अशोक कुमार, निम्मी, प्राण, जॉनी वॉकर और अमीता हैं। यह फिल्म एक बड़ी हिट बनी और 1963 में बॉक्स ऑफिस पर नंबर एक स्थान पर रही। यह ...

                                               

आई मिलन की बेला

आई मिलन की बेला 1964 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह श्याम और रणजीत नामक दो दोस्तों की कहानी है जो की एक ही लड़की से प्यार करते है और इसी कारण उनकी दोस्ती को कई मोड़ों से गुजरना पड़ता है. फिल्म का निर्माण जे ओम प्रकाश ने और निर्देशन मोहन कुमा ...

                                               

कश्मीर की कली

राजीव लाल की माँ उसके लिए एक लड़की चुनती हैं, लेकिन राजीव को वह पसंद नहीं आती। माँ के गुस्से से बचने के लिए वह कश्मीर में अपने बंगले में पहुँच जाता है। वहाँ उसे फूल बेचने वाली चम्पा से प्यार हो जाता है, लेकिन चम्पा का बाप शादी से इन्काकर देता है। ...

                                               

कोहरा (1964 फ़िल्म)

मनमोहन कृष्णा सुजीत कुमार - रंजन मदन पुरी - कमल राय असित सेन बद्री प्रसाद तरुण बोस - रमेश वहीदा रहमान अभि भट्टाचार्य - वकील भट्टाचार्य ललिता पवार विश्वजीत

                                               

चित्रलेखा

चित्रलेखा 1964 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है जो भगवती चरण वर्मा द्वारा रचित हिन्दी उपन्यास ‘चित्रलेखा ’ पर आधारित है। फिल्म के मुख्य कलाकार हैं अशोक कुमार, मीना कुमारी, प्रदीप कुमाऔर महमूद। फिल्म के निर्देशक है केदार शर्मा जिन्होंने इसी नाम से ...

                                               

ज़िद्दी (1964 फ़िल्म)

लता सिन्हा सुलोचना लाटकर मुमताज़ बेग़म धूमल मोहन चोटी शुभा खोटे नज़ीमा - सीमा सिंह उल्हास बेला बोस राज मेहरा - ठाकुर महेन्द्र सिंह आशा पारेख - आशा सिंह मदन पुरी - मोती मोहिनी जॉय मुखर्जी महमूद

                                               

पूजा के फूल (1964 फ़िल्म)

मोहन चोटी धर्मेन्द्र निम्मी - गौरी कम्मो नाना पालसिकर अशोक कुमार उमेश शर्मा शिवराज प्राण - बलम सिंह मुकरी सुलोचना चटर्जी लीला चिटनिस संध्या रॉय माला सिन्हा

                                               

बेटी बेटे

बेटी बेटे 1964 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसे एल॰ वी॰ प्रसाद ने निर्मित और निर्देशित किया था। इसकी मुख्य भूमिकाओं में सुनील दत्त, सरोजा देवी और जमुना हैं। संगीत शंकर-जयकिशन का है।

                                               

राजकुमार (1964 फ़िल्म)

राजकुमार 1964 में बनी हिन्दी भाषा की फ़िल्म है। इसका निर्देशन के शंकर ने किया और इसमें शम्मी कपूर, साधना, प्राण, पृथ्वीराज कपूर, ओम प्रकाश और राजेन्द्रनाथ आदि हैं। संगीत शंकर-जयकिशन का है। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट हुई थी।

                                               

वो कौन थी (1964 फ़िल्म)

वो कौन थी १९६४ में हिन्दी में बनी एक ससपॅंस फिल्म है जिसका निर्देशन राज खोसला ने किया है और यह फ़िल्म साधना और राज खोसला की ससपॅंस तिगड़ी की पहली फ़िल्म थी। इसके अलावा इन दोनों नें इस श्रृंखला में मेरा साया और अनीता फ़िल्में बनाई हैं। इस फ़िल्म क ...

                                               

शराबी (1964 फ़िल्म)

शराबी 1964 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसका निर्देशन राज ऋषि ने किया और इसमें देव आनन्द और मधुबाला मुख्य भूमिकाओं में हैं। मदन मोहन का संगीत और राजेन्द्र कृष्ण के गीत हैं।

                                               

संगम (फ़िल्म)

संगम 1964 में बनी हिन्दी भाषा की रूमानी फिल्म है। इसका निर्देशन राज कपूर ने किया और इसमें वो स्वयं वैजयंतीमाला और राजेन्द्र कुमार के साथ मुख्य चरित्रों को निभाए हैं। यह राज कपूर की पहली रंगीन फिल्म थी इसे कभी-कभी राज कपूर की शानदाऔर प्रसिद्ध रचना ...

                                               

सुहागन (1964 फ़िल्म)

लीला चिटनिस डेविड अब्राहम देवेन वर्मा इन्द्रानी मुखर्जी लता सिन्हा गुरु दत्त - विजय कुमार नासिर हुसैन फ़िरोज़ ख़ान - शंकर ओम प्रकाश माला सिन्हा - शारदा दुबे

                                               

आधी रात के बाद

आधी रात के बाद एक भारतीय हिन्दी फिल्म है, जिसका निर्देशन नानाभाई बट्ट ने किया था। इसमें अशोक कुमार, रागिनी, शैलेश कुमार, मुराद, आग़ा, सज्जन, उल्हास, जानकीदास, राजन हसकर और कुमार ने भूमिका निभाई थी। इस फिल्म के संगीत निर्देशक चित्रगुप्त थे। यह फिल ...

                                               

आरज़ू (1965 फ़िल्म)

गोपाल राजेन्द्र कुमार स्की चैम्पियन है। उसकी मुलाक़ात उषा साधना से जम्मू कश्मीर में छुट्टियाँ बिताने के दौरान होती है। वो वहाँ अपना गलत नाम सरजु का इस्तेमाल करते रहता है। दोनों को एक दुसरे से प्यार हो जाता है। एक दिन उषा उसे बताती है कि उसे अपंग ...

                                               

एक सपेरा एक लुटेरा

एक सपेरा एक लुटेरा 1965 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसमें फ़िरोज़ ख़ान एवं कुमकुम मुख्य कलाकार हैं। संगीत उषा खन्ना द्वारा है और गीतों के बोल असद भोपाली ने लिखें हैं। यह फिल्म फ़िरोज़ ख़ान की शुरुआती हिट फिल्मों में से एक है।

                                               

काजल (1965 फ़िल्म)

काजल 1965 में बनी हिन्दी भाषा की फ़िल्म है। इस चलचित्र के निर्माता पन्नालाल माहेश्वरी थे, तथा निर्देशक के तौपर राम माहेश्वरी ने अपना योगदान दिया था। इस चलचित्र के सितारे थे -मीना कुमारी, धर्मेन्द्र, राज कुमार, पद्मिनी, हेलन, दुर्गा खोटे, टुन टुन, ...

                                               

जानवर (1965 फिल्म)

जानवर एक भारतीय हिन्दी फिल्म है, जिसका निर्माण हरदीप ने और निर्देशन का काम बप्पी सोनी ने किया था। इस फिल्म में शम्मी कपूर, राजेंदरनाथ, राजश्री और असित सेन हैं। इस फिल्म को सिनेमाघरों में 1 जनवरी 1965 को दिखाया गया था।

                                               

मेरे सनम

मेरे सनम 1965 में बनी हिन्दी भाषा की फ़िल्म है। इसमें आशा पारेख, विश्वजीत और प्राण मुख्य भूमिकाओं में हैं। संगीत ओ॰ पी॰ नय्यर का है और मजरुह सुल्तानपुरी के गीत हैं।

                                               

वक़्त (1965 फ़िल्म)

वक्त सन् 1965 में प्रदर्शित तथा चोपड़ा बंधुओ द्वारा निर्मित व निर्देशित हिन्दी फ़िल्म है। जिसमें उस दौर के प्रमुख अभिनेता सुनील दत्त, राज कुमार, साधना, बलराज साहनी, शशि कपूर, शर्मिला टैगोर व रहमान इत्यादि शामिल है।

                                               

शहीद (1965 फ़िल्म)

शहीद भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम पर हिन्दी भाषा की फिल्म है। भगत सिंह के जीवन पर 1965 में बनी यह देशभक्ति की सर्वश्रेष्ठ फिल्म है। जिसकी कहानी स्वयं भगत सिंह के साथी बटुकेश्वर दत्त ने लिखी थी। इस फ़िल्म में अमर शहीद राम प्रसाद बिस्मिल के गीत थे। म ...

                                               

अनुपमा (1966 फ़िल्म)

उमा शर्मिला टैगोर मुंबई में अपने कारोबारी पिता मोहन शर्मा तरुण बोस के साथ रहती है। उमा को जन्म देते समय उसकी माँ सुरेखा पण्डित का निधन हो गया था और उसके पिता उमा को इस बात का दोषी मानते हैं तथा उससे नफ़रत करने लगते हैं। अपनी पत्नी के ग़म से उनको ...

                                               

आख़िरी खत

फिल्म के गीत कैफी आज़मी ने लिखे हैं। संगीत दिया है खैयाम ने. हाय कुछ भी नहीं-मन्ना डे मेरे चंदा मेरे नन्हे-लता मंगेशकर और कुछ देर ठहर-मोहम्मद रफ़ी बहारों मेरा जीवन भी संवारो-लता मंगेशकर रूत जवान जवान-भूपेंद्र

                                               

आम्रपाली (1966 फ़िल्म)

आम्रपाली 1966 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह लेख टंडन द्वारा निर्देशित है, जिसमें वैजयन्ती माला और सुनील दत्त मुख्य भूमिका में हैं। फिल्म का संगीत शंकर-जयकिशन द्वारा किया गया था। इस फिल्म के अधिकार शाहरुख खान की रेड चिलीज़ एंटरटेनमेंट के पास ...

                                               

आये दिन बहार के (1966 फ़िल्म)

आये दिन बहार के सन् 1966 में प्रदर्शित व निर्माता जे ओम प्रकाश द्वारा निर्मित हिन्दी भाषा की फ़िल्म है। जिसमें धर्मेन्द्र, आशा पारेख, बलराज साहनी और राजेन्द्रनाथ मुख्य भूमिका में है।

                                               

तीसरी कसम

तीसरी कसम 1966 में बनी हिन्दी भाषा की नाट्य फिल्म है। फ़िल्म का निर्देशन बासु भट्टाचार्य ने और निर्माण प्रसिद्ध गीतकार शैलेन्द्र ने किया था। यह हिन्दी लेखक फणीश्वर नाथ "रेणु" की प्रसिद्ध कहानी मारे गए ग़ुलफ़ाम पर आधारित है। इस फिल्म के मुख्य कलाक ...

                                               

तीसरी मंज़िल

तीसरी मंज़िल सन् 1966 में प्रदर्शित व विजय आनन्द द्वारा निर्देशित संगीतमय-रोमांचक हिन्दी फ़िल्म है। जिसमें शम्मी कपूर, आशा पारेख, प्रेमनाथ तथा प्रेम चोपड़ा सरीखे अभिनेता मुख्य भूमिका में है।

                                               

दिल दिया दर्द लिया

दिल दिया दर्द लिया १९६६ में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह फ़िल्म अंग्रेज़ी की लेखिका ऍमिली ब्रॉन्टी के उपन्यास वदरिंग हाइट्स पर आधारित है। इस फ़िल्म के मुख्य कलाकार हैं दिलीप कुमार, वहीदा रहमान तथा प्राण।