ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 146




                                               

राजकुमार (1964 फ़िल्म)

राजकुमार 1964 में बनी हिन्दी भाषा की फ़िल्म है। इसका निर्देशन के शंकर ने किया और इसमें शम्मी कपूर, साधना, प्राण, पृथ्वीराज कपूर, ओम प्रकाश और राजेन्द्रनाथ आदि हैं। संगीत शंकर-जयकिशन का है। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट हुई थी।

                                               

वो कौन थी (1964 फ़िल्म)

वो कौन थी १९६४ में हिन्दी में बनी एक ससपॅंस फिल्म है जिसका निर्देशन राज खोसला ने किया है और यह फ़िल्म साधना और राज खोसला की ससपॅंस तिगड़ी की पहली फ़िल्म थी। इसके अलावा इन दोनों नें इस श्रृंखला में मेरा साया और अनीता फ़िल्में बनाई हैं। इस फ़िल्म क ...

                                               

शराबी (1964 फ़िल्म)

शराबी 1964 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसका निर्देशन राज ऋषि ने किया और इसमें देव आनन्द और मधुबाला मुख्य भूमिकाओं में हैं। मदन मोहन का संगीत और राजेन्द्र कृष्ण के गीत हैं।

                                               

संगम (फ़िल्म)

संगम 1964 में बनी हिन्दी भाषा की रूमानी फिल्म है। इसका निर्देशन राज कपूर ने किया और इसमें वो स्वयं वैजयंतीमाला और राजेन्द्र कुमार के साथ मुख्य चरित्रों को निभाए हैं। यह राज कपूर की पहली रंगीन फिल्म थी इसे कभी-कभी राज कपूर की शानदाऔर प्रसिद्ध रचना ...

                                               

सुहागन (1964 फ़िल्म)

लीला चिटनिस डेविड अब्राहम देवेन वर्मा इन्द्रानी मुखर्जी लता सिन्हा गुरु दत्त - विजय कुमार नासिर हुसैन फ़िरोज़ ख़ान - शंकर ओम प्रकाश माला सिन्हा - शारदा दुबे

                                               

आधी रात के बाद

आधी रात के बाद एक भारतीय हिन्दी फिल्म है, जिसका निर्देशन नानाभाई बट्ट ने किया था। इसमें अशोक कुमार, रागिनी, शैलेश कुमार, मुराद, आग़ा, सज्जन, उल्हास, जानकीदास, राजन हसकर और कुमार ने भूमिका निभाई थी। इस फिल्म के संगीत निर्देशक चित्रगुप्त थे। यह फिल ...

                                               

आरज़ू (1965 फ़िल्म)

गोपाल राजेन्द्र कुमार स्की चैम्पियन है। उसकी मुलाक़ात उषा साधना से जम्मू कश्मीर में छुट्टियाँ बिताने के दौरान होती है। वो वहाँ अपना गलत नाम सरजु का इस्तेमाल करते रहता है। दोनों को एक दुसरे से प्यार हो जाता है। एक दिन उषा उसे बताती है कि उसे अपंग ...

                                               

एक सपेरा एक लुटेरा

एक सपेरा एक लुटेरा 1965 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसमें फ़िरोज़ ख़ान एवं कुमकुम मुख्य कलाकार हैं। संगीत उषा खन्ना द्वारा है और गीतों के बोल असद भोपाली ने लिखें हैं। यह फिल्म फ़िरोज़ ख़ान की शुरुआती हिट फिल्मों में से एक है।

                                               

काजल (1965 फ़िल्म)

काजल 1965 में बनी हिन्दी भाषा की फ़िल्म है। इस चलचित्र के निर्माता पन्नालाल माहेश्वरी थे, तथा निर्देशक के तौपर राम माहेश्वरी ने अपना योगदान दिया था। इस चलचित्र के सितारे थे -मीना कुमारी, धर्मेन्द्र, राज कुमार, पद्मिनी, हेलन, दुर्गा खोटे, टुन टुन, ...

                                               

जानवर (1965 फिल्म)

जानवर एक भारतीय हिन्दी फिल्म है, जिसका निर्माण हरदीप ने और निर्देशन का काम बप्पी सोनी ने किया था। इस फिल्म में शम्मी कपूर, राजेंदरनाथ, राजश्री और असित सेन हैं। इस फिल्म को सिनेमाघरों में 1 जनवरी 1965 को दिखाया गया था।

                                               

मेरे सनम

मेरे सनम 1965 में बनी हिन्दी भाषा की फ़िल्म है। इसमें आशा पारेख, विश्वजीत और प्राण मुख्य भूमिकाओं में हैं। संगीत ओ॰ पी॰ नय्यर का है और मजरुह सुल्तानपुरी के गीत हैं।

                                               

वक़्त (1965 फ़िल्म)

वक्त सन् 1965 में प्रदर्शित तथा चोपड़ा बंधुओ द्वारा निर्मित व निर्देशित हिन्दी फ़िल्म है। जिसमें उस दौर के प्रमुख अभिनेता सुनील दत्त, राज कुमार, साधना, बलराज साहनी, शशि कपूर, शर्मिला टैगोर व रहमान इत्यादि शामिल है।

                                               

शहीद (1965 फ़िल्म)

शहीद भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम पर हिन्दी भाषा की फिल्म है। भगत सिंह के जीवन पर 1965 में बनी यह देशभक्ति की सर्वश्रेष्ठ फिल्म है। जिसकी कहानी स्वयं भगत सिंह के साथी बटुकेश्वर दत्त ने लिखी थी। इस फ़िल्म में अमर शहीद राम प्रसाद बिस्मिल के गीत थे। म ...

                                               

अनुपमा (1966 फ़िल्म)

उमा शर्मिला टैगोर मुंबई में अपने कारोबारी पिता मोहन शर्मा तरुण बोस के साथ रहती है। उमा को जन्म देते समय उसकी माँ सुरेखा पण्डित का निधन हो गया था और उसके पिता उमा को इस बात का दोषी मानते हैं तथा उससे नफ़रत करने लगते हैं। अपनी पत्नी के ग़म से उनको ...

                                               

आख़िरी खत

फिल्म के गीत कैफी आज़मी ने लिखे हैं। संगीत दिया है खैयाम ने. हाय कुछ भी नहीं-मन्ना डे मेरे चंदा मेरे नन्हे-लता मंगेशकर और कुछ देर ठहर-मोहम्मद रफ़ी बहारों मेरा जीवन भी संवारो-लता मंगेशकर रूत जवान जवान-भूपेंद्र

                                               

आम्रपाली (1966 फ़िल्म)

आम्रपाली 1966 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह लेख टंडन द्वारा निर्देशित है, जिसमें वैजयन्ती माला और सुनील दत्त मुख्य भूमिका में हैं। फिल्म का संगीत शंकर-जयकिशन द्वारा किया गया था। इस फिल्म के अधिकार शाहरुख खान की रेड चिलीज़ एंटरटेनमेंट के पास ...

                                               

आये दिन बहार के (1966 फ़िल्म)

आये दिन बहार के सन् 1966 में प्रदर्शित व निर्माता जे ओम प्रकाश द्वारा निर्मित हिन्दी भाषा की फ़िल्म है। जिसमें धर्मेन्द्र, आशा पारेख, बलराज साहनी और राजेन्द्रनाथ मुख्य भूमिका में है।

                                               

तीसरी कसम

तीसरी कसम 1966 में बनी हिन्दी भाषा की नाट्य फिल्म है। फ़िल्म का निर्देशन बासु भट्टाचार्य ने और निर्माण प्रसिद्ध गीतकार शैलेन्द्र ने किया था। यह हिन्दी लेखक फणीश्वर नाथ "रेणु" की प्रसिद्ध कहानी मारे गए ग़ुलफ़ाम पर आधारित है। इस फिल्म के मुख्य कलाक ...

                                               

तीसरी मंज़िल

तीसरी मंज़िल सन् 1966 में प्रदर्शित व विजय आनन्द द्वारा निर्देशित संगीतमय-रोमांचक हिन्दी फ़िल्म है। जिसमें शम्मी कपूर, आशा पारेख, प्रेमनाथ तथा प्रेम चोपड़ा सरीखे अभिनेता मुख्य भूमिका में है।

                                               

दिल दिया दर्द लिया

दिल दिया दर्द लिया १९६६ में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह फ़िल्म अंग्रेज़ी की लेखिका ऍमिली ब्रॉन्टी के उपन्यास वदरिंग हाइट्स पर आधारित है। इस फ़िल्म के मुख्य कलाकार हैं दिलीप कुमार, वहीदा रहमान तथा प्राण।

                                               

दिल ने फिर याद किया

अशोक धर्मेन्द्र शहर में नौकरी करता है और गांव की आशु नूतन से प्यार करता है। उसके क़रीबी मित्और सहकर्मी अमजद रहमान की शादी शबनम के साथ तय हो गयी है। अशोक आशु से शादी करने का मन बनाकर गांव जाता है लेकिन पाता है कि आशु को उसके भाई भगत जीवन ने अगवा क ...

                                               

दो बदन

दो बदन 1966 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह राज खोसला द्वारा निर्देशित है और इसमें मनोज कुमार, आशा पारेख, सिमी गरेवाल और प्राण आदि अभिनय करते हैं। संगीत रवि का है। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बड़ी हिट बनी थी।

                                               

फूल और पत्थर (1966 फ़िल्म)

ललिता पवार मदन पुरी शशि कला - रीटा राम मोहन टुन टुन सुन्दर श्याम कुमार इफ़्तेख़ार मीना कुमारी - शांति देवी जीवन - जीवन राम मनमोहन कृष्णा - पुलिस इंस्पेक्टर लीला चिटनिस - अंधा भिखारी धर्मेन्द्र ब्रह्म भारद्वाज डी के सप्रू

                                               

बहारें फिर भी आएंगी

बहारें फिर भी आएंगी १९६६ में बनी एक हिन्दी भाषा की फ़िल्म है जो गुरु दत्त द्वारा निर्मित और शहीद लतीफ द्वारा निर्देशित है। इस फ़िल्म के कलाकार माला सिन्हा, धर्मेंद्र, तनुजा और रहमान हैं। फ़िल्म अभी भी ओ पी नैय्यर के संगीत, अज़ीज़ कश्मीरी, कैफ़ी आ ...

                                               

ममता (1966 फ़िल्म)

ममता १९६६ में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है जिसके मुख्य कलाकार हैं सुचित्रा सेन अशोक कुमाऔर धर्मेन्द्र। सुचित्रा सेन की यह तीसरी हिन्दी फ़िल्म थी। इस फ़िल्म का निर्देशन बंगाली फ़िल्मों के प्रसिद्ध निर्देशक असित सेन ने किया है।

                                               

मेरा साया (1966 फ़िल्म)

धूमल साधना एस नज़ीर प्रेम चोपड़ा मुकरी के एन सिंह - वादी वकील शिवराज - डॉक्टर जगदीश सेठी अनवर हुसैन तिवारी सुनील दत्त - ठाकुर राकेश सिंह मनमोहन नर्बदा शंकर रत्नमाला

                                               

लव इन टोक्यो

लव इन टोक्यो 1966 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह सचिन भौमिक द्वारा लिखित और प्रमोद चक्रवर्ती द्वारा निर्मित और निर्देशित है। फिल्म में जॉय मुखर्जी, आशा पारेख, प्राण, महमूद, ललिता पवार, असित सेन और मदन पुरी हैं। संगीत शंकर जयकिशन का था जबकि ग ...

                                               

सगाई (1966 फ़िल्म)

राजेन्द्रनाथ दुर्गा खोटे राज मेहरा जॉनी वॉकर इफ़्तेख़ार - अस्तपताल डॉक्टर हेलन - नर्तकी प्रेम चोपड़ा जयंत टुन टुन विश्वजीत - राजेश असित सेन - बंसी रहमान राजश्री

                                               

सावन की घटा (1966 फ़िल्म)

मुमताज़ शर्मिला टैगोर - सीमा साजन - बंसीलाल पदमा कुमारी जीवन - राना मास्टर अनवर मोहन चोटी सुन्दर मृदुला रानी एस एन बैनर्जी - विलियम प्राण मदन पुरी कुंदन मनोज कुमार - गोपाल

                                               

सूरज (1966 फ़िल्म)

सूरज 1966 में बनी हिन्दी भाषा की ऐतिहासिक फ़न्तासी और रूमानी फिल्म है। इसका निर्माण एस. कृष्णमूर्ति ने किया और निर्देशन टी प्रकाश राव द्वारा किया गया। फिल्म में वैजयन्ती माला और राजेन्द्र कुमार मुख्य भूमिका में हैं, जबकि मुमताज़, जॉनी वॉकर, ललिता ...

                                               

अनीता (1967 फ़िल्म)

अनीता १९६७ में बनी हिन्दी भाषा की ससपँस फिल्म है जिसका निर्देशन राज खोसला ने किया है। यह फ़िल्म खोसला-साधना की ससपँस फ़िल्मों की कड़ी में अंत्तिम फ़िल्म है। इससे पहले इन दोनों ने वो कौन थी और मेरा साया बनाई थीं। इस फ़िल्म के मुख्य कलाकार साधना एव ...

                                               

अमन (1967 फ़िल्म)

अमन कुमार अमन कुमार होली जन्म 10 सितंबर सन् 2000 एक युवा कवि एवं रचनाकार हैं । वर्तमान में ये साहिबगंज झारखंड में रहते हैं तथा साहिबगंज महाविद्यालय के छात्र हैं। यह राष्ट्रीय सेवा योजना के सक्रिय स्वयंसेवक है तथा सामाजिक कार्य में अपनी भूमिका अदा ...

                                               

आमने सामने (1967 फ़िल्म)

आमने सामने 1967 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह सूरज प्रकाश द्वारा निर्मित और निर्देशित है। फिल्म में शशि कपूर, शर्मिला टैगोर, प्रेम चोपड़ा, राजेन्द्रनाथ और मदन पुरी जैसे कलाकार हैं। फिल्म का संगीत कल्याणजी-आनंदजी का है।

                                               

एन ईवनिंग इन पेरिस

एन ईवनिंग इन पेरिस 1967 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह शक्ति सामंत द्वारा निर्मित और निर्देशित है। यह फ्रांस की राजधानी पेरिस के इर्द-गिर्द घूमती है। फिल्म में शम्मी कपूर, शर्मिला टैगोर दोहरी भूमिका में और खलनायक के रूप में प्राण हैं। संगीत ...

                                               

दीवाना (1967 फ़िल्म)

दीवाना 1967 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसका निर्देशन महेश कौल ने किया और इसमें राज कपूर, सायरा बानो और ललिता पवार केन्द्रीय भूमिकाओं में हैं। हसरत जयपुरी और शैलेन्द्र के गीतों के साथ संगीत शंकर-जयकिशन का है।

                                               

नाइट इन लंदन

== संगीत == आनंद बख्शी के गीत और लक्ष्मीकांत प्यारेलाल के संगीत से सजी इस फ़िल्म में महेन्द कपूर ने लाता मंगेशकर के साथ कई सदाबहार गाने गए जो आज 52 साल बाद भी लोकप्रिय है। ऐसा ही एक गाना सुन ये बहार हुस्न तुझे मुझसे प्यार है आज भी गुनगुनाया जाता है

                                               

पत्थर के सनम

पत्थर के सनम 1967 में बनी हिन्दी भाषा की फ़िल्म है। यह फ़िल्म नाडियाडवाला के बैनर के तले निर्मित है जिसे राजा नवाथे द्वारा निर्देशित किया गया है। इस फ़िल्म में मनोज कुमार, वहीदा रहमान, मुमताज़, प्राण, महमूद, ललिता पवाऔर अरुणा ईरानी ने मुख्य भूमिक ...

                                               

बहारों के सपने

बहारों के सपने 1967 में बनी हिन्दी भाषा की फ़िल्म है। इसका निर्देशन और निर्माण नासिर हुसैन ने किया। इसमें राजेश खन्ना और नासिर हुसैन की मनपसंद अभिनेत्री आशा पारेख है। इसमें प्रेमनाथ, मदन पुरी और एक अन्य नासिर हुसैन की पसंद राजेन्द्रनाथ भी थे। नास ...

                                               

मिलन (1967 फ़िल्म)

मिलन 1967 में बनी हिन्दी भाषा की फ़िल्म है जिसका निर्देशन अदुर्थी सुब्बा राव ने किया। यह उनकी हिट तेलुगू फिल्म मोगा मानसुलु का रीमेक थी और एल॰ वी॰ प्रसाद द्वारा इसे निर्मित किया गया था। फिल्म में सुनील दत्त, नूतन, जमुना, प्राण और देवेन वर्मा किरद ...

                                               

मेहरबान

पदमा खन्ना - रचना राज मेहरा सुदेश कुमार कैस्टो मुखर्जी - गधा महाराज का भक्त सुलोचना रमेश देव श्यामा मुकरी महमूद मृदुला रानी राज किशोर - गधा महाराज का भक्त सुनील दत्त जानकी दास शशि कला - देवकी अशोक कुमार नूतन

                                               

राज़ (1967 फ़िल्म)

राज़ 1967 में बनी हिन्दी भाषा की रूमानी फिल्म है। इसे रवीन्द्र दवे द्वारा निर्देशित, जी॰ पी॰ सिप्पी द्वारा निर्मित और कहानी लेखन सी॰ जे॰ पावरी द्वारा किया गया। फिल्म में राजेश खन्ना, बबीता, आई॰ एस॰ जौहर और असित सेन हैं। फ़िल्म का संगीत कल्याणजी-आ ...

                                               

रात और दिन

अनवर हुसैन - डॉक्टर लीला मिश्रा प्रदीप कुमार - प्रताप अनवर के एन सिंह अनूप कुमार सुलोचना नर्गिस एम कुमार लक्ष्मी छाया फ़िरोज़ ख़ान - दिलीप कुमारी नाज़ हरिन्द्र नाथ चटोपाध्याय - डॉक्टर

                                               

हमराज़ (1967 फ़िल्म)

हमराज़ 1967 में प्रदर्शित व बी॰ आर॰ चोपड़ा द्वारा निर्देशित रहस्यमयी रोमांचक हिन्दी फ़िल्म है। इसमे सुनील दत्त, राज कुमार, विमी, मुमताज़ और बलराज साहनी जैसे सरीखे कलाकार मुख्य भूमिका में हैं। फिल्म का संगीत रवि का है और गीतकार साहिर लुधियानवी है।

                                               

आँखें (1968 फ़िल्म)

सुजाता सुजीत कुमार - नदीम नीलम मदन पुरी - कप्तान डेज़ी ईरानी - लिली महमूद - महमूद कुमकुम - सुनील की बहन माला सिन्हा - मीनाक्षी मेहता धर्मेन्द्र - सुनील प्रद्युम्न रंधावा - अकरम मधुमती - मधु ललिता पवार - मैडम जीवन - डॉक्टर ज़ेब रहमान - राजकुमारी ज ...

                                               

औलाद (1968 फ़िल्म)

हरी शिवदेसानी - मेजर गुप्ता मनमोहन हेलन - गणिका जितेन्द्र हरि शुक्ला भगवान सिन्हा नासिर हुसैन महमूद सुजीत कुमार सुलोचना चटर्जी अचला सचदेव - शारदा के गुप्ता मनमोहन कृष्णा अरुणा ईरानी - शोभा बड़जात्या लालबहादुर जीवन - मुनीम राम लालबहादुर बबीता

                                               

झुक गया आसमाँ

रणधीर प्रेम चोपड़ा - प्रेम कृष्ण धवन - राम दास गजानन जागीरदार हरी शिवदेसानी सायरा बानो - प्रिया खन्ना डेविड अब्राहम ब्रह्म भारद्वाज राजेन्द्र कुमार राम अवतार मधुमती राजेन्द्रनाथ परवीन चौधरी दुर्गा खोटे - दादी माँ रूबी मेयर

                                               

दिल और मोहब्बत (1968 फ़िल्म)

बेला बोस - किशोरी के एन सिंह - सिंह जानकी दास - कॉलेज प्रोफेसर पूर्णिमा रणधीर शर्मिला टैगोर टुन टुन जगदीश अनूप कुमार - अनूप सचिन अशोक कुमार नासिर हुसैन गजानन जागीरदार जॉय मुखर्जी

                                               

दुनिया (1968 फ़िल्म)

सुलोचना लाटकर प्रेम चोपड़ा मदन पुरी - मदन लक्ष्मी छाया - लक्ष्मी नाना पालसिकर - गिरधारी टुन टुन अचला सचदेव - शोभा बड़जात्या शर्मा वैजयन्ती माला - माला प्रवीन कौल - डॉक्टर ललिता पवार बीरबल बलराज साहनी सुरेश जानकी दास - बावाजी देव आनन्द जॉनी वॉकर स ...

                                               

दो कलियाँ

== संगीत ==फ़िल्म का संगीत रवि शंकर ने दिया था। == रोचक तथ्य ==दो जुड़वां बच्चों के आधापर बनी यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सफल रही तथा साहिर के गीत बच्चे मन के सच्चे आज भी प्रसिद्ध है।

                                               

मेरे हमदम मेरे दोस्त

बलदेव मेहता रहमान शर्मिला टैगोर - अनीता बीरबल यश कुमार ब्रह्म भारद्वाज निगर सुल्ताना ओम प्रकाश मुमताज़ - मीना धर्मेन्द्र - सुनील रूबी मेयर अचला सचदेव संतोष कुमार