ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 177




                                               

उदयपुर सौर वेधशाला

उदयपुर सौर वेधशाला), उदयपुर की फ़तेह सागर झील के एक द्वीप में स्थित है। उदयपुर का आसमान सौर पर्यवेक्षण के लिए काफी अनुकूल है। इस वेधशाला को दक्षिण कैलिफोर्निया की बिग बियर झील में स्थित सौर वेधशाला के तर्ज पर डॉ॰ अरविंद भटनागर की देखरेख में सन् १ ...

                                               

चंद्रा एक्स-रे वेधशाला

चंद्रा एक्स-रे वेधशाला Chandra X-ray Observatory, एक कृत्रिम उपग्रह है जिसे २३ जुलाई १९९९ को STS-93 पर नासा द्वारा प्रक्षेपित किया गया। इसका नामकरण भारतीय - अमेरिकी भौतिक विज्ञानी सुब्रमण्यम चंद्रशेखर के सम्मान में किया गया जो कि सफ़ेद बौने तारों ...

                                               

जंतर मंतर, दिल्ली

दिल्ली का जन्तर मन्तर एक खगोलीय वेधशाला है। अन्य चार जन्तर मन्तर सहित इसका निर्माण महाराजा जयसिंह द्वितीय ने 1724 में करवाया था। यह इमारत प्राचीन भारत की वैज्ञानिक उन्नति की मिसाल है। जय सिंह ने ऐसी वेधशालाओं का निर्माण जयपुर, उज्जैन, मथुरा और वा ...

                                               

जन्तर मन्तर (जयपुर)

जयपुर का जन्तर मन्तर सवाई जयसिंह द्वारा १७२४ से १७३४ के बीच निर्मित एक खगोलीय वेधशाला है। यह यूनेस्को के विश्व धरोहर सूची में सम्मिलित है। इस वेधशाला में १४ प्रमुख यन्त्र हैं जो समय मापने, ग्रहण की भविष्यवाणी करने, किसी तारे की गति एवं स्थिति जान ...

                                               

यर्कीज़ वेधशाला

यर्कीज़ वेधशाला एक खगोलशास्त्रिय वेधशाला है जो शिकागो विश्वविद्यालय द्वारा चलाई जाती है। यह संयुक्त राज्य अमेरिका के विस्कॉन्सिन राज्य में विलियम्ज़ बे नाम के क़स्बे में स्थित है। इसे "आधुनिक खगोलभौतिकी का जन्मस्थान" कहा जाता है। यर्कीज़ वेधशाला ...

                                               

वेधशाला

ऐसी एक या एकाधिक बेलनाकार संरचनाओं को आधुनिक वेधशाला कहते हैं जिनके ऊपरी सिपर घूमने वाला अर्धगोल गुंबद स्थित होता है। इन संरचनाओं में आवश्यकतानुसार अपवर्तक या परावर्तक दूरदर्शक रहता है। दूरदर्शक वस्तुत: वेधशाला की आँख होता है। खगोलीय पिंडों का ज् ...

                                               

वेधशाला, उज्जैन

उज्जैन शहर में दक्षिण की ओर क्षिप्रा के दाहिनी तरफ जयसिंहपुर नामक स्थान में बना यह प्रेक्षा गृह "जंतर महल के नाम से जाना जाता है। इसे जयपुर के महाराजा जयसिंह ने सन् १७३३ ई. में बनवाया। उन दिनों वे मालवा के प्रशासन नियुक्त हुए थे। जैसा कि भारत के ...

                                               

सौर वेधशाला

सौर वेधशाला एक प्रकार की वेधशाला है जिसमें सूर्य के प्रकाश का उपयोग अन्य तरह की ऊर्जा निर्मित करने के लिए किया जाता है। विश्व की सबसे प्राचीन ज्ञात सौर वेधशाला जर्मनी में है जो लगभग 5000 ईसा पूर्व की है।

                                               

स्मिथसोनियन खगोलशास्त्र वेधशाला

स्मिथसोनियन खगोलशास्त्र वेधशाला स्मिथसोनियन संस्थान का कैम्ब्रिज, मासाचुसेट्स स्थित एक अनुसंधान संस्थान है। यहां इसे हार्वर्ड कॉलिज ऑब्ज़र्वेटरी से जोड़कर हार्वर्ड-स्मिथसोनियन सेन्टर फ़ॉर अएस्ट्रोफ़िज़िक्स बनाया गया है।

                                               

गणितीय विश्लेषण

गणितीय विश्लेषण शुद्ध गणित की एक शाखा है। इसके अन्तर्गत अवकलन, समाकलन, सीमा, अनन्त श्रेणी तथा वैश्लेषिक फलनों के सिद्धान्त आदि आते हैं। ये सिद्धान्त प्रायः वास्तविक संख्याओं, समिश्र संख्याओं तथा वास्तविक एवं समिश्र फलनों के सन्दर्भ में अध्ययन किए ...

                                               

अनंतस्पर्शी

वैश्लेषिक ज्यामिति में किसी वक्र की अनन्तस्पर्शी उस रेखा को कहते हैं जो उस वक्र को अनन्त पर स्पर्श करती हुई प्रतीत होती है। अर्थात् ज्यों-ज्यों वक्र तथा वह रेखा अनन्त की ओर अग्रसर होते हैं, त्यों-त्यों उनके बीच की दूरी शून्य की ओर अग्रसर होती है। ...

                                               

उच्चिष्ठ और निम्निष्ठ

गणित में किसी फलन के सबसे अधिक और सबसे कम मान को उस फलन का उच्चिष्ट और निम्निष्ट कहते हैं। उच्चिष्ट और निम्निष्ट को सम्मिलित रूप से चरम कहते हैं। ये उच्चिष्ट और निम्निष्ट फलन के किसी सीमित क्षेत्र में हो सकते हैं अथवा उस फलन के सम्पूर्ण डोमेन में ...

                                               

परिमित अंतर

परिमित अंतर f − f {\displaystyle f-f} रूप का गणितीय व्यंजक है। यदि किसी परिमित अंतर को b − a से भाग दिया जाता है तो अंतर भागफल प्राप्त होता है। अवकल समीकरणों, मुख्यतः परिसीमा मान समस्याओं के संख्यात्मक हल में परिमित अन्तर विधि से अवकलज का सन्निकट ...

                                               

प्रायिकता सिद्धांत

गणितीय संभाव्यता के यथार्थ अर्थ के विषय में विशेषज्ञों, दार्शनिकों, गणितज्ञों तथा सांख्यिकीविदों में मतभेद है। संभाव्यता में रुचि के प्रारंभिक कारण वाणिज्यबीमा तथा वैध क्रियाविधि में साक्ष्यभार थे। कला एवं साहित्य के पुनर्जागरण काल के प्रारंभ में ...

                                               

फुरिअर विश्लेषण

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में किसी फलन को छोटे-छोटे सरल फलनों के योग के रूप में व्यक्त करने को विश्लेषण कहा जाता है एवं इसकी उल्टी प्रक्रिया को संश्लेषण कहते हैं। हमें ज्ञात है कि फुरिअर श्रेणी के प्रयोग से किसी भी आवर्ती फलन को उचित आयाम, आवृत्ति ...

                                               

बड़ा ओ संकेतन

यहाँ f और g दो वास्तविक संख्या हैं। f x = O g x) as x → ∞ {\displaystyle fx=Ogx){\text{ as }}x\to \infty \,} यदि केवल और केवल M ही एक सकारात्मक स्थिरांक हो | f x | ≤ M | g x | for all x ≥ x 0. {\displaystyle |fx|\leq \;M|gx|{\text{ for all }}x\ge ...

                                               

विचरण-कलन

विचरण-कलन, गणितीय विश्लेषण का एक क्षेत्र है जिसमें फंक्शनल्स के न्यूनीकरण या अधिकतमीकरण का विवेचन किया जाता है। फंक्शनल्स, फलनों के समुच्चय से वास्तविक संख्याओं पर प्रतिचित्रण होते हैं।

                                               

हार्मोनिक विश्लेषण

हार्मोनिक विश्लेषण गणित की वह शाखा है जो फलनों या संकेतों को मौलिक तरंगों योग के रूप में व्यक्त करने की विधियों एवं अन्य पक्षों का अध्ययन करती है। चूंकि भौतिकी में मौलिक सरल तरंगोंको हर्मोनिक कहा जाता है इसलिये इस विषय का नाम हार्मोनिक विश्लेषण प ...

                                               

आँकड़ा खनन

डाटा माइनिंग डाटा से पैटर्न निकालने की प्रक्रिया है। चूंकि अधिक डाटा एकत्रित हो रहे हैं, जिसमें हर तीन वर्ष में डाटा की राशि दोगुना हो रही है, डाटा माइनिंग इन डाटा को जानकारी में बदलने के लिए तेजी से महत्वपूर्ण उपकरण बनता जा रहा है। सामान्य रूप स ...

                                               

अंतरजाल खनन

अंतरजाल खनन आँकड़ा खनन तकनीकों का प्रयोग है ताकि विश्व व्यापी जाल के आकारों को खोजा जा सके। जैसाकि नाम से प्रतीत हो रहा है, यह अंतरजाल से प्राप्त जानकारी है। अंतरजाल खनन की प्रमुख विशेषताओं में स्वत: रोक ऑटो पॉज स्वत: जमा होना ऑटो सेव होना तथा इस ...

                                               

बृहत् आँकड़ा

बृहत् आँकड़ा उन आंकड़ों को कहते हैं जो इतने विशाल होते हैं या इतने जटिल होते हैं कि उनके साथ काम करने में परम्परागत सामान्य आंकड़ा प्रसंस्करण के अनुप्रयोग पर्याप्त नहीं होते। बृहत आंकड़ों के साथ काम करने में आने वाली मुख्य चुनौतियाँ ये हैं- विश्ल ...

                                               

निर्णयन

किसी प्रबन्धक का महत्वपूर्ण कार्य निर्णय लेना है। पीटर ड्रकर का इस सम्बन्ध में यह विचार है कि प्रबन्धक जो कुछ भी करता है, निर्णयों के द्वारा ही करता है। हम जानते हैं कि प्रशासकों को दिन–प्रतिदिन अनेक कार्य करने पड़ते हैं और इन कार्यों को करने के ...

                                               

विश्लेषी रसायन

विश्लेषी रसायन के अन्तर्गत प्राकृतिक एवं कृत्रिम पदार्थों में विद्यमान रासायनिक घटकों का परिष्करण, पहचान तथा प्रमात्रीकरण किया जाता है। यह दो तरह का होता है - गुणात्मक विश्लेषण तथा मात्रात्मक विश्लेषण । गुणात्मक विश्लेषण से किसी नमूने में विद्यमा ...

                                               

बैयेर रेअगेंट

Baeyer के अभिकर्कम, जर्मन कार्नमनक रसायनज्ञ Adolf Von Baeyer के नार् पर रखा गया है, इसे कार्नमनक रसायन शास्त्र र्ें unsaturation की उपस्स्त्िनि के भिए एक गुणात्र्क परीक्षण के रूप र्ें प्रयोग ककया जािा है, जैसे डर्ि या ट्रिपि र्ाांड। Baeyer अभिकर् ...

                                               

वैद्युतकणसंचलन

स्पेशिअल्ली युनिफोर्म इलेक्ट्रिक फील्ड के अनुसार कणों की चाल एक तरल पदार्थ में, इस प्रक्रिया को वैद्युतकणसंचलन कहा जाता है। १८०७ में फर्डिनेंड फ्रेडेरिक रेयुस ने पहली बार पाया की पानी में बिखरे हुए चिकनी मिटटी के कण, यूनिफार्म इलेक्ट्रिक फील्ड ला ...

                                               

सान्द्रता

रसायन विज्ञान में किसी विलयन की सांद्रता उस विलयन के इकाई आयतन में उपस्थित पदार्थ की मात्रा के रूप में परिभाषित किया गया है। किन्तु रसायन विज्ञान में सांन्द्रता की चार अलग-अलग परिभाभाषाएँ हैं: द्रव्यमान सान्द्रता, मोलर सान्द्रता, संख्या सान्द्रता ...

                                               

रैखिक निकाय

किसी तन्त्र के अवस्था चर स्टेट वैरिएबल्स् x t {\displaystyle xt} हों, उसके इन्पुट u t {\displaystyle ut} हों और ऑउटपुट y t {\displaystyle yt} हो और यदि वह तन्त्र रेखीय है तो इनके आपसी सम्बन्ध को निम्नलिखित रीति से लिखा जा सकता है: x ˙ t = A t x t ...

                                               

तन्त्र विज्ञान

तन्त्र विज्ञान या तन्त्र सिद्धान्त, एक अन्तरविषयक क्षेत्र है तन्त्रों की प्रकृति का अध्ययन पर अध्ययन करती है। ये तन्त्र प्रकृति के हो सकते हैं, समाज के हो सकते हैं या विज्ञान के हो सकते हैं। तन्त्र विज्ञान, ऐसे अन्तरविषयी आधार विकसित करता है जिनक ...

                                               

भौतिक तंत्र

भौतिकी में भौतिक तंत्र ब्रह्माण्ड का एक चुना हुआ अंश होता है जिसका अध्ययन और विश्लेषण करा जाए। इस तंत्र के बाहर ब्रह्माण्ड के अन्य सभी अंशों को "पर्यावरण" कहा जाता है। इस पर्यावरण को अधिकतर अध्ययन से नज़रअंदाज़ कर दिया जाता है और इसका अध्ययन केवल ...

                                               

विलगित तंत्र

प्राकृतिक विज्ञानों के अन्तर्गत विलगित तंत्र अथवा विलगित निकाय वह तंत्र है जो अपने परिवेश से कोई संक्रिया नहीं करता है। यह खुले तंत्र के विपरीत है। इस प्रकार का तंत्र कई संरक्षण नियमों का पालन करता है। इसकी कुल उर्जा एवं द्रव्यमान अपरिवर्तित रहता ...

                                               

अवचेतन

अवचेतन - जो चेतना में न होने पर भी थोड़ा प्रयास करने से चेतना में लाया जा सके। उन भावनाओं, इच्छाओं तथा कल्पनाओं का संगठित नाम जो मानव के व्यवहार को अचेतन की भाँति अज्ञात रूप से प्रभावित करती रहने पर भी चेतना की पहुँच के बाहर नहीं हैं और जिनको वह ...

                                               

चेतना

चेतना कुछ जीवधारियों में स्वयं के और अपने आसपास के वातावरण के तत्वों का बोध होने, उन्हें समझने तथा उनकी बातों का मूल्यांकन करने की शक्ति का नाम है। विज्ञान के अनुसार चेतना वह अनुभूति है जो मस्तिष्क में पहुँचनेवाले अभिगामी आवेगों से उत्पन्न होती ह ...

                                               

बुद्धि परीक्षण

व्यक्ति केवल शारीरिक गुणों से ही एक दूसरे से भिन्न नहीं होते बल्कि मानसिक एवं बौद्धिक गुणों से भी एक दूसरे से भिन्न होते हैं। ये भिन्नताऐं जन्मजात भी होती हैं। कुछ व्यक्ति जन्म से ही प्रखर बुद्धि के तो कुछ मन्द बुद्धि व्यवहार वाले होते हैं। आजकल ...

                                               

समस्या-समाधान

किसी समस्या का समाधान प्राप्त करने के लिये क्रमबद्ध तरीके से किसी सामान्य विधि या तदर्थ विधि का उपयोग करना पड़ता है। समस्या समाधान अधिगम के अन्तर्गत जीवन में आने वाली नवीन समस्याओं के तरीको का सीखना अाता है। #इस विधि के जनक सुकरात है

                                               

गुणवत्ता नियंत्रण

इस अनुच्छेद को विकिपीडिया लेख Quality control के इस संस्करण से अनूदित किया गया है। इंजीनियरिंग और उत्पादन क्षेत्र में, गुणवत्ता नियंत्रण और गुणवत्ता इंजीनियरिंग का प्रयोग उत्पाद या सेवाएं ग्राहकों की आवश्यकताओं को पूरा करने हेतु डिज़ाइन तथा उत्पा ...

                                               

गुणवत्ता प्रबन्धन

गुणवत्ता प्रबन्धन या गुणता प्रबन्धन यह सुनिश्चित करता है कि कोई संगठन, कोई उत्पाद या कोई सेवा उच्चकोटि की बनी रहे। गुणवत्ता प्रबन्धन के चार मुख्य अंग हैं- गुणवत्ता की योजना, गुणता आश्वासन, गुणता नियन्त्रण, और गुणवत्ता सुधार। गुणवत्ता प्रबन्धन केव ...

                                               

सिक्स सिग्मा

इस अनुच्छेद को विकिपीडिया लेख Six Sigma के इस संस्करण से अनूदित किया गया है। साँचा:Manufacturing सिक्स सिग्मा एक व्यवसाय प्रबंधन रणनीति है, जिसे शुरू में मोटोरोला द्वारा लागू किया गया था, पर आज उद्योग के कई क्षेत्रों में इसका व्यापक प्रयोग होता ह ...

                                               

अब्द

अब्द का अर्थ वर्ष है। यह वर्ष, संवत्‌ एवं सन्‌ के अर्थ में आजकल प्रचलित है क्योंकि हिंदी में इस शब्द का प्रयोग सापेक्षिक दृष्टि से कम हो गया है। शताब्दी, सहस्राब्दी, ख्रिष्टाब्द आदि शब्द इसी से बने हैं। अनेक वीरों, महापुरुषों, संप्रदायों एवं घटना ...

                                               

ईसवी

ग्रेगोरियन कैलेंडर में ईसवी ईसा मसीह के जन्म के बाद के वर्षों को दर्शाता है और ईसा पूर्व उनके जन्म से पूर्व के वर्षों को दर्शाता है। उदाहरण: 10 ई. का मतलब है ईसा के जन्म से 10 साल बाद का समय। 10 ई.पू. का मतलब है ईसा के जन्म से 10 साल पहले का समय। ...

                                               

निमेष

यह हिन्दू समय मापन इकाई है। यह इकाई अति लघु श्रेणी की है। एक निमेष अर्थात पलक ़अपकने में लगे समय का आधा, यानि पलक के नीचे आने या ऊपर जाने के समय का माप्। कुछ स्थानों पर इसे पलक ़अपकने के समय के बराबर भी बताया गया है। एक वेध =100 त्रुटि. 2 दण्ड = ...

                                               

नाक्षत्र समय

नक्षत्र समय समयमापन की एक विधि है जिसका उपयोग खगोलविज्ञानी किसी नक्षत्र विशेष को रात्रि में अपने दूरदर्शी की सहायता से देखने के लिये करते हैं। इससे उन्हें पता लगता है कि दूरदर्शी का मुख किस समय किस दिशा में रखने से वह नक्षत्र दिखाई देगा। प्रेक्षण ...

                                               

तात्कालिक घूर्णन केन्द्र

समतलीय गति कर रहे किसी पिण्ड का तात्कालिक घूर्णन केन्द्र उस बिन्दु को कहते हैं जिसका वेग उस क्षण शून्य हो। उस क्षण पर पिण्ड के अन्य बिन्दुओं के वेग सदिश का चित्रात्मक निरूपण किया जाय तो वह वृत्ताकार क्षेत्र जैसा दिखेगा। यही स्थिति शुद्ध घूर्णन मे ...

                                               

त्वरण

किसी वस्तु के वेग मे परिवर्तन की दर को त्वरण कहते हैं। इसका मात्रक मीटर प्रति सेकेण्ड 2 होता है तथा यह एक सदिश राशि हैं। a → t = d v → t d t ≡ v → ˙ t {\displaystyle {\vec {a}}t={\frac {\mathrm {d} {\vec {v}}t}{\mathrm {d} t}}\equiv {\dot {\vec { ...

                                               

पराध्वनिक गति

पराध्वनिक गति किसी वस्तु की रफ़्तार को कहते है जब वह ध्वनि की गति से तेज़ जाती है। 20 °C के तापमान की शुष्क हवा में यात्रा करने वाली वस्तुओं के लिए यह रफ़्तार लगभग 343 मी/से, 1125 फी/से, 758 मिल प्रतिघंटा या 1235 किमी/घंटा होती है। ध्वनि की गति स ...

                                               

प्रत्यागमनी गति

किसी वस्तु द्वारा एक ही मार्ग पर सरल रेखा में आगे-पीछे चलना प्रत्यागमनी गति कहलाता है। यह गति बहुत सारी युक्तियों में पायी जाती है। उदाहरण के लिये, अन्तर्दहन इंजन के पिस्टन की गति प्रत्यागमनी होती है। घूर्णी गति और प्रत्यागमनी गति को परस्पर बदलने ...

                                               

विस्थापन (सदिश)

विस्थापन एक सदिश राशि है। जब कोई वस्तु एक बिन्दु P से दूसरे बिन्दु Q तक किसी भी पथ से होते हुए गति करती है तो इस विस्थापन का परिमाण उन दो बिन्दुओं के मध्य की निम्नतम दूरी होगी तथा विस्थापन की दिशा, रेखा PQ की दिशा में होगी। विस्थापन को s से दर्शा ...

                                               

पूर्वानुमान

अज्ञात स्थितियों में तर्कपूर्ण आकलन करने को पूर्वानुमान करना कहते हैं। जैसे दो दिन बाद किसी स्थान के मौसम के बारे में अनुमान लगाना, एक वर्ष बाद किसी देश की आर्थिक स्थिति के बारे में कहना आदि पूर्वानुमान हैं। पूर्वानुमान के साथ अनिश्चितता और खतरा ...

                                               

आवेग (भौतिकी)

शास्त्रीय यांत्रिकी में आवेग की परिभाषा समय के सापेक्ष बल का समाकलन के रूप में की जाती है। अर्थात I = ∫ F d t {\displaystyle \mathbf {I} =\int \mathbf {F} \,dt} जहाँ I आवेग है प्राय: इसे J से भी प्रदर्शित किया जाता है, F बल है और dt सूक्ष्मतम् in ...

                                               

यमल विरोधाभास

यमल विरोधाभास यमल विरोधाभास १०० वर्ष पुराना सापेक्षवाद सिद्धान्त की समस्या है। यह विरोधाभास आइन्सटाइन के नाम से जुडा हुआ है। अभी समाचार में आया है कि सुभाष काक ने इसका समाधान एक नए सिद्धान्त से ढूंढ निकाला है। यमल विरोधाभास का समाधान

                                               

लोरेन्ट्स रूपांतरण

भौतिक विज्ञान में लोरेन्ट्स रूपांतरण नामकरण डच भौतिक विज्ञानी हेंड्रिक लारेंज़ के सम्मान में किया गया। यह लारेंज़ और साथियों द्वारा निर्देश तंत्र से स्वतंत्र प्रकाश का वेग प्रेक्षिण की व्याख्या करने करने का परिणाम है। लोरेन्ट्स रूपांतरण विशिष्ट आ ...