ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 190




                                               

चंग्त्से

चंग्त्से हिमालय के महालंगूर हिमाल खण्ड का एक पर्वत है। यह तिब्बत में मुख्य रोंगबुक और पूर्व रोंगबुक हिमानियों के बीच में एवरेस्ट पर्वत से उत्तर में स्थित है। यह विश्व का ४५वाँ सर्वोच्च पर्वत है। चंग्त्से पर्वत से चंग्त्से हिमानी बहती है जो आगे जा ...

                                               

चमार (पर्वत)

चमार, श्रृंगी हिमालय की सबसे ऊंची चोटी है, जो नेपाल हिमालय की एक उप-श्रृखला है। चमाऔर संपूर्ण श्रृंगी हिमालय, मध्य नेपाल में, तिब्बती सीमा के ठीक दक्षिण में और पूर्व में श्यार खोला घाटी और पश्चिम में टॉम खोला-त्रिसुली गंडकी घाटी के बीच स्थित है। ...

                                               

जन्नू

जन्नू या कुम्भकर्ण, जिसे लिम्बू भाषा में फोक्तंग लुंगमा कहते हैं, हिमालय का एक पर्वत है। यह कंचनजंघा से पश्चिम में पूर्वी नेपाल में स्थित है। यह विश्व का 32वाँ सर्वोच्च पर्वत है। किरात समुदाय में इस पर्वत को पवित्र माना जाता है।

                                               

जोंगसोंग पर्वत

जोंगसोंग पर्वत हिमालय के जनक हिमाल नामक खण्ड में स्थित एक पर्वत है जो विश्व का ५७वाँ सर्वोच्च पर्वत भी है। यह भारत, नेपाल और तिब्बत की त्रिबिन्दु सीमा पर स्थित है। अपने ऊँचे कद के बावजूद यह अपने से २०किमी दक्षिण में स्थित कंचनजंघा के आगे छोटा लगत ...

                                               

जोमोल्हारी

जोमोल्हारी या चोमोल्हारी, जिसे अनौपचारिक रूप से "कंचनजंघा की दुल्हन" भी कहा जाता है, हिमालय का एक पर्वत है जो तिब्बत के शिगात्से विभाग और भूटान की सीमा पर, चुम्बी घाटी के पास स्थित है। यह विश्व का 79वाँ सर्वोच्च पर्वत है और इसकी ढलानों से दो महत् ...

                                               

तोंगशानजिआबु

तोंगशानजिआबु या तेरी कांग हिमालय के लुनाना क्षेत्र में स्थित एक पर्वत है जो विश्व का 103वाँ सर्वोच्च पर्वत भी है। यह भूटान और तिब्बत की विवादित सीमा पर स्थित है। तिब्बत पर चीन का नियंत्रण है और उसके अनुसार यह सीमा पर है जबकि भूटान का दावा है कि य ...

                                               

त्रिशूल पर्वत

त्रिशूल हिमालय की तीन चोटियों के समूह का नाम है, जो पश्चिमी कुमाऊं में स्थित हैं। यह उत्तराखंड राज्य के मध्य में बागेश्वर जिला के निकट हैं। ये नंदा देवी पर्वत से पश्चिम दक्षिण-पश्चिम दिशा में १५ कि॰मी॰ दूर नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान को घेरते हुए ...

                                               

धौलागिरी

धौलागिरी हिमालय का एकपर्वतीय पुंजक है जो नेपाल में कालीगण्डकी नदी से आरम्भ होकर 120 किमी दूर स्थित भेरी नदी तक चलता है। इस पुंजक का सर्वोच्च पर्वत 8.167 मीटर१२० ऊँचा धौलागिरी १ है, जो विश्व का 7वाँ सर्वोच्च पर्वत भी है।

                                               

नमचा बरवा

नमचा बरवा दक्षिणपूर्वी तिब्बत में हिमालय पर्वतमाला का एक पर्वत है। ७,७८२ मीटर ऊँचा यह पहाड़ हिमालय के सबसे पूर्वी छोपर स्थित है और विश्व का २८वाँ सबसे लम्बा पहाड़ है। यह हिमालय की नमचा बरवा हिमाल नामक पर्वतीय उपशृंखला का सदस्य माना जाता है। यरलुं ...

                                               

नीलगिरी हिमाल

नीलगिरी हिमाल नेपाल हिमालय की एक पर्वत श्रृंखला है जिसमें तीन शिखर हैं और यह अन्नपूर्णा पर्वत समूह का एक हिस्सा है। इसके तीन मुख्य शिखर नीलगिरी उत्तर 7061मी नीलगिरी मध्य 6940 मी और नीलगिरी दक्षिण 6839 मी समुद्र तल से उंची है।

                                               

नेमजुंग

नेमजंग नेपाल के हिमालय का एक पर्वत है। यह नेपाल की राजधानी काठमांडू के उत्तर-पश्चिम में लगभग 150 किलोमीटर और आठ-हज़ारी मनासलू के उत्तर-पश्चिम में लगभग 25 किलोमीटर दूर स्थित है, । इसके शिखर की ऊँचाई 7.140 मीटर है।

                                               

नैना पीक

नैना चोटी या चीना चोटी भारतीय राज्य उत्तराखण्ड के पर्यटन स्थल और प्रमुख नगर नैनीताल के समीप एक 2.600+ मीटर ऊँची पर्वत चोटी है। नैना पीक के नाम से मशहूर यह पर्वत चोटी यहाँ का एक प्रमुख पर्यटन आकर्षण है। साफ़ मौसम में यहाँ से हिमालय की कई हिमाच्छाद ...

                                               

पंचाचूली पर्वत

पंचाचूली पर्वत भारत के उत्तराखंड राज्य के उत्तरी कुमाऊं क्षेत्र में एक हिमशिखर शृंखला है। वास्तव में यह शिखर पांच पर्वत चोटियों का समूह है। समुद्रतल से इनकी ऊंचाई ६,३१२ मीटर से ६,९०४ मीटर तक है। इन पांचों शिखरों को पंचाचूली-१ से पंचाचूली-५ तक नाम ...

                                               

पुमोरी

पुमोरी नेपाल 1996 के वसंत में दक्षिण चेहरे पर एक नए मार्ग द्वारा चढ़ गए। पुमोरी का एक बाहरी भाग काला पत्थर 5.643 मी / 18.513 है, जो पुमोरी के दक्षिण मुख के ठीक नीचे एक भूरे रंग की गांठ के रूप में दिखाई देता है। माउंट एवरेस्ट को करीब से देखने के ल ...

                                               

पोरोंग री

पोरोंग री हिमालय के लांगटांग क्षेत्र में स्थित एक पर्वत है जो विश्व का 86वाँ पर्वत है। यह तिब्बत में नेपाल की सीमा से १ किलोमीटर पूर्वोत्तर में स्थित है।

                                               

बरूणत्से

बरूणत्से पूर्वी नेपाल के खंबु क्षेत्र में स्थित एक पर्वत है, जिसके माथे पर चार चोटियाँ हैं। यह तीन ओर से ग्लेशियर ने घिरा हुआ है। दक्षिण में हुंकू ग्लेशियर, पूर्व में बरुण ग्लेशियर और उत्तर-पश्चिम में इमजा ग्लेशियर है। इस पहाड़ को पहली बार 30 मई, ...

                                               

मेलुंग्त्से

मेलुंग्त्से अन्य अंग्रेजी वर्तनी: मेनलंग्त्से में रोल्वालिंग हिमाल का उच्चतम पर्वत है। इस शिखर की एक लम्बी समिट रीज़ है जिस पर पूर्व शिखर और पश्चिम शिखर जिसे मेलुंग्त्से II, 7.023 मीटर के रूप में भी जाना जाता है। इसकी ऊंचाई की तुलना में यह एक अधि ...

                                               

लांगटांग री

लांगटांग री हिमालय के लांगटांग हिमाल नामक खण्ड का एक पर्वत है। यह तिब्बत के शिगात्से विभाग और नेपाल की सीमा पर स्थित है, और विश्व का 106वाँ सर्वोच्च पर्वत भी है।

                                               

लांगटांग लिरुंग

लांगटांग लिरुंग हिमालय के लांगटांग हिमाल नामक खण्ड का सर्वोच्च पर्वत है। यह नेपाल में स्थित है और सीमा से पार तिब्बत में स्थित शिशापांगमा पर्वत से दक्षिणपश्चिम में है। यह विश्व का 99वाँ सर्वोच्च पर्वत भी है।

                                               

लाबुचे कांग

लाबुचे कांग या लाबुचे कांग १ या चोकसिआम हिमालय का एक पर्वत है जो तिब्बत में स्थित है। यह विश्व का 75वाँ सर्वोच्च पर्वत है। हिमालय के समीपी खण्ड को कभी-कभी "लाबुचे हिमाल" या "पमारी हिमाल" भी कहते हैं। यह रोल्वालिंग हिमाल से पश्चिमोत्तर और शिशापांग ...

                                               

सिगुअंग री

सिगुअंग री हिमालय के महालंगूर हिमाल खण्ड का एक पर्वत है जो विश्व का 83वाँ सर्वोच्च पर्वत है। यह तिब्बत के शिगात्से विभाग में नेपाल की सीमा के पास और चोयु पर्वत से 6 उत्तर-उत्तरपूर्व में स्थित है।

                                               

स्वर्गारोहिणी पर्वत शिखर

स्वर्गारोहिणी उत्तर भारत में हिमालय पर्वतमाला का एक पर्वत शिखर है। यह उत्तराखण्ड राज्य के उत्तरकाशी जिले में आता है। यह गढ़वाल हिमालय के सरस्वती रेन्ज का एक पर्वत पुंजक या समूह है जो गंगोत्री शिखर समूह के पश्चिमी ओर पड़ता है। इसमें चार पृथक शिखर ...

                                               

अन्नपूर्णा पुंजक

अन्नपूर्णा हिमालय का एक पर्वतीय पुंजक है जिसमें एक आठ हज़ारी, १३ ७,००० मीटर से ऊँचे और १६ ६,००० मीटर से ऊँचे पर्वत हैं। यह पुंजक ५५ किमी लम्बा है और उत्तर-मध्य नेपाल में स्थित है। यह पश्चिम में काली गण्डकी तंगघाटी, उत्तर व पूर्व में मर्श्यान्गदी ...

                                               

कंचनजंघा

कंचनजंघा, विश्व की तीसरी सबसे ऊँची पर्वत चोटी है, यह सिक्किम के उत्तर पश्चिम भाग में नेपाल की सीमा पर है।

                                               

गाशरब्रुम १

गाशरब्रुम १, जिसे छुपा पर्वत या के-५ भी कहते हैं, विश्व का ११वाँ सर्वोच्च पर्वत है। यह काराकोरम के गाशरब्रुम पुंजक में स्थित है। राजनैतिक सीमाओं के अनुसार यह पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान क्षेत्और चीन के कब्ज़े वाली शक्सगाम घाटी की सीमा ...

                                               

गाशरब्रुम २

गाशरब्रुम २, जिसे के-४ भी कहते हैं, विश्व का १३वाँ सर्वोच्च पर्वत है। यह काराकोरम के गाशरब्रुम पुंजक में स्थित है। राजनैतिक सीमाओं के अनुसार यह पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान क्षेत्और चीन के कब्ज़े वाली शक्सगाम घाटी की सीमा पर स्थित है। भ ...

                                               

चोयु

चोयु या चो ओयु विश्व का छठा सबसे ऊँचा पर्वत है। यह ८,१८८ मीटर ऊँचा पर्वत हिमालय की महालंगूर हिमाल भाग के खुम्बु उपभाग का पश्चिमतम पर्वत है और एवरेस्ट पर्वत से २० किमी पश्चिम में स्थित है। यह नेपाल और तिब्बत की सीमा पर खड़ा है। चोयु से कुछ ही किलो ...

                                               

ब्रॉड पीक

ब्रॉड पीक, जिसे बलती में फ़ल्चन कांगड़ी अनुवादित किया जाता है, विश्व का १२वाँ सर्वोच्च पर्वत है। यह काराकोरम के गाशरब्रुम पुंजक में स्थित है। राजनैतिक सीमाओं के अनुसार यह पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान क्षेत्और चीन के कब्ज़े वाली शक्सगाम ...

                                               

मनास्लु

मनास्लु, जो कुतंग भी कहलाता है, पृथ्वी का आठवाँ सबसे ऊँचा पर्वत है। यह 8.163 मीटर ऊँचा पर्वत मध्योत्तर नेपाल के गोरखा ज़िले में स्थित है और हिमालय के मनसिरी हिमाल नामक भाग का सदस्य है।

                                               

शिशापांगमा

शिशापांगमा, जो गोसाईन्थान भी कहलाता है, हिमालय का एक 8.027 मीटर ऊँचा पर्वत है। यह तिब्बत के शिगात्से विभाग के न्यलाम ज़िले में स्थित है और नेपालकी सीमा से ५ किमी दूर है। तिब्बत पर चीन का नियंत्रण है और चीन ने उसे बाहरी विश्व से बहुत देर तक बंद रख ...

                                               

इन्द्रासन

इन्द्रासन हिमाचल प्रदेश का सबसे ऊँचा पर्वत है। 6.221 मीटर ऊँचा यह पहाड़ लाहौल और स्पीति ज़िले में स्थित है और चढ़ने में हिमालय के सबसे कठिन पर्वतों में से एक माना जाता है।

                                               

कंगजू कांगरी

कंगजू कांगरी भारत के जम्मू और कश्मीर राज्य में काराकोरम पर्वतमाला में स्थित एक पर्वत है। यह 6.725 मीटर ऊँचा है और काराकोरम की पंगोंग पर्वतमाला नामक उपशृंखला का सर्वोच्च पर्वत है। यह तीन मुखों वाली कंगजू हिमानी और अपने पूर्व में स्थित पांगोंग त्सो ...

                                               

कोयो ज़ुम

कोयो ज़ुम या कोयो ज़ोम काराकोरम और हिन्दू कुश के बीच में स्थित हिन्दू राज पर्वत शृंखला का सबसे ऊँचा पर्वत है। यह पाकिस्तान के ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा प्रान्त और पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान क्षेत्र की सरहद पर खड़ा है।

                                               

गाशरब्रुम ६

गाशरब्रुम ६ काराकोरम के गाशरब्रुम पुंजक में स्थित एक चोटी है। राजनैतिक सीमाओं के अनुसार यह पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान क्षेत्और चीन के कब्ज़े वाली शक्सगाम घाटी की सीमा पर स्थित है। भारत के अनुसार गिलगित-बल्तिस्तान और शक्सगाम घाटी दोनों ...

                                               

देव टिब्बा

देव टिब्बा हिमाचल प्रदेश के कुल्लू ज़िले मे स्थित 6.001 मीटर ऊँचा एक पर्वत है। यह पीर पंजाल पर्वतमाला का सदस्य है और हिमाचल प्रदेश राज्य का दूसरा सबसे ऊँचा पहाड़ है।

                                               

बुबली मोतीन

बुबली मोतीन या लेडीफ़िंगर पीक काराकोरम पर्वतमाला की पश्चिमतम उपश्रेणी, बातूरा मुज़ताग़, का एक पहाड़ है। प्रशासनिक रूप से यह पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान क्षेत्र में आता है जिसपर भारत अपनी सम्प्रभुता का दावा करता है।

                                               

गंगा चोटी

गंगा चोटी पाक-अधिकृत कश्मीर के बाग़ ज़िले में सुधन गली गाँव के पास स्थित एक रमणीय पर्वत है। यह पीर पंजाल पर्वतमाला का सदस्य है और पीर मस्तान राष्ट्रीय उद्यान के एक छोपर खड़ा है। गंगा चोटी पाक-अधिकृत कश्मीर आने वाले पर्यटकों के लिए एक मुख्य आकर्षण है।

                                               

यूलोंग हिमपर्वत

यूलोंग हिमपर्वत, जिसे स्थानीय नाशी भाषा में सतसेतो पर्वत कहते हैं, दक्षिण चीन के युन्नान प्रान्त के यूलोंग नाशी स्वशासित ज़िले में स्थित एक पर्वतीय पुंजक है जिसे कभी-कभी पर्वतमाला भी कह दिया जाता है। इसका सर्वोच्च शिखर 5.596 मीटर ऊँचा शन्ज़िदोऊ है।

                                               

अप्सरासस कांगरी

अप्सरासस कांगरी काराकोरम की सियाचिन मुज़ताग़ उपश्रेणी में एक पर्वत है। यह विश्व का ९६वाँ सर्वोच्च पर्वत भी है। यह भारत के जम्मू और कश्मीर राज्य में स्थित है और इसका एक अंग चीन के क़ब्ज़े वाली शक्सगाम घाटी में स्थित है जिसे चीन शिंजियांग प्रान्त क ...

                                               

अमा डबलाम

अमा डबलाम पूर्वी नेपाल के हिमालय श्रृंखला में एक पर्वत है। जिसकी मुख्य चोटी 6.812 मीटर है और पश्चिमी शिखर 6.170 मीटर है। अमा डबलाम का अर्थ है "माँ का हार" दोनों तरफ फेली लम्बी रीज जैसे एक माँ की भुजाएँ उसके बच्चे की रक्षा करती हैं, और लटकते ग्लेश ...

                                               

उल्तर सर

उल्तर सर या विश्व का 70वाँ सबसे ऊँचा पर्वत है। यह काराकोरम पर्वतमाला की पश्चिमतम उपश्रेणी, बातूरा मुज़ताग़, का एक ऊँचा पहाड़ है। प्रशासनिक रूप से यह पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान क्षेत्र में आता है जिसपर भारत अपनी सम्प्रभुता का दावा करता है।

                                               

कंगतो पर्वत

कंगतो पूर्वी हिमालय में भारत व तिब्बत की सीमा पर स्थित एक ७,०६० मीटर लम्बा पर्वत है। यह भारत के अरुणाचल प्रदेश राज्य का सबसे ऊँचा पहाड़ है। तिब्बत में यह ल्होखा विभाग के त्शोना ज़िले की सीमा पर स्थित है।

                                               

कनजुत सर

कनजुत सर काराकोरम पर्वत शृंखला की हिस्पर मुज़ताग़ उपशृंखला का दूसरा सबसे ऊँचा पर्वत है। यह पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान क्षेत्र में स्थित है। कनजुत सर विश्व का २६वाँ सबसे ऊँचा और पाकिस्तानी नियंत्रित क्षेत्रों का ११वाँ सबसे ऊँचा पर्वत है।

                                               

काब्रु पर्वत

काब्रु हिमालय का एक पर्वत है जो कंचनजंघा के समीप भारत के सिक्किम राज्य व नेपाल की सीमा पर स्थित है। यह विश्व का ६५वाँ सर्वोच्च पर्वत है। यह ७,००० मीटर से अधिक ऊँचाई रखने वाला दुनिया का दक्षिणतम पर्वत है।

                                               

कामेट पर्वत

कामेट पर्वत, भारत के गढ़वाल क्षेत्र में नंदा देवी पर्वत के बाद सबसे ऊंचा पर्वत शिखर है। तह ७,७५६-मीटर ऊंचा है। यह उत्तराखंड राज्य के चमोली जिला में तिब्बत की सीमा के निकट स्थित है। यह भारत में तीसरा शबसे ऊंचा शिखर है । विश्व में इसका २९वां स्थान ...

                                               

कुला कांगरी

कुला कांगरी सम्भवतः भूटान का सर्वोच्च पर्वत है, हालांकि अधिक स्रोतों के अनुसार यह गौरव समीप ही स्थित गंगखर पुनसुम नामक पर्वत को जाता है। यह हिमालय में है और तिब्बत की सीमा के पास है। चीन का तिब्बत पर नियंत्रण है और वह यह दावा करता है कि यह पर्वत ...

                                               

के१२ पर्वत

के१२ जम्मू और कश्मीर में काराकोरम पर्वतमाला की साल्तोरो पर्वतमाला नामक उपश्रेणी में स्थित एक ऊँचा पर्वत है और विश्व का 61वाँ सर्वोच्च पर्वत है। यह सियाचिन हिमानी से ज़रा पश्चिम में स्थित है। हालांकि यह पाक-अधिकृत कश्मीर के पास है, इसके ऊपर भारत क ...

                                               

के६ पर्वत

के६ पर्वत, जो बल्तिस्तान पर्वत भी कहलाता है, काराकोरम पर्वतमाला की माशरब्रुम पर्वतमाला नामक उपश्रेणी का एक ऊँचा पर्वत है। यह 7.282 मीटर ऊँचा पहाड़ विश्व का 89वाँ सर्वोच्च पर्वत भी है। प्रशासनिक रूप से यह पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान क्ष ...

                                               

क्राउन पर्वत

क्राउन पर्वत काराकोरम पर्वतमाला की वेस्म पर्वतमाला नामक उपश्रेणी का सर्वोच्च पर्वत है। यह शक्सगाम घाटी में स्थित है जहाँ चीन का क़ब्ज़ा है लेकिन जिसे भारत अपने जम्मू और कश्मीर राज्य का अंग मानता है। चीन ने इस पर्वत का नाम हुआंग गुआन शान रखा है और ...

                                               

खुनयंग छिश

खुनयंग छिश या कुनयंग किश काराकोरम पर्वत शृंखला की हिस्पर मुज़ताग़ उपशृंखला का दूसरा सबसे ऊँचा पर्वत है। यह पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान खंड के गोजल क्षेत्र में स्थित है। खुनयंग छिश विश्व का २१वाँ सबसे ऊँचा और पाकिस्तानी नियंत्रित क्षेत् ...