ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 193




                                               

हिमालचुली

हिमालचुली, जिसे दो शब्दों में हिमाल चुली भी लिखा जाता है, नेपाल में हिमालय के मनसिरी हिमाल भाग में स्थित एक पर्वत है। यह विश्व का १८वाँ सबसे ऊँचा पर्वत है और मनास्लू के बाद मनसिरी हिमाल का दूसरा सबसे ऊँचा पर्वत है। हिमालचुली के तीन मुख्य शिखर हैं ...

                                               

सफ़ेद कोह

सफ़ेद कोह, जिन्हें पश्तो में स्पीन ग़र कहते हैं और जिन्हें १९वीं सदी तक हिन्दुस्तानी पर्वत भी कहा जाता था, पूर्वी अफ़्ग़ानिस्तान और पाकिस्तान के पश्चिमोत्तरी संघीय प्रशासित कबायली क्षेत्र के ख़ैबर और कुर्रम विभागों में स्थित एक पर्वत शृंखला है। ह ...

                                               

बिनाइया पर्वत

बिनाइया पर्वत दक्षिणपूर्व एशिया के इण्डोनेशिया देश के मालुकू द्वीपसमूह का सबसे ऊँचा पहाड़ है। यह उस द्वीपसमूह के सेरम द्वीप पर भारी वनों से ढका हुआ खड़ा है।

                                               

चीख़ा दार

चीख़ा दार ईरान और इराक़ की सीमा पर ज़ाग्रोस पर्वत शृंखला में स्थित एक पहाड़ है। यह गुन्दाह झ़ुर​ गाँव से ६ किमी उत्तर में स्थित है। माना जाता है कि यह पहाड़ इराक़ का सबसे ऊंचा बिंदु है। इसके पास हलगुर्द पर्वत स्थित है जिसकी ऊँचाई का अनुमान ३,६०७ ...

                                               

ज़ाग्रोस पर्वत

ज़ाग्रोस पर्वत ईरान और इराक़ की सबसे बड़ी पर्वतमाला है। यह पश्चिमोत्तरी ईरान से शुरू होकर दक्षिणपूर्वी दिशा में १,५०० किमी चलकर होरमुज़ जलसन्धि में अंत होती है। ईरानी पठार के पश्चिमी और दक्षिण-पश्चिमी भाग पर विस्तृत यह शृंखला भौगोलिक रूप से यूरेश ...

                                               

एपलाशियन पर्वतमाला

एपलाशियन पर्वतमाला अंग्रेजी:Appalachian Mountains उत्तरी अमेरिका के पूर्वी भाग मे स्थित एक विशाल पर्वतश्रृंखला है। इसका विस्तार संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा के पूर्वी इलाकों में है। पर्वतमाला का अधिकांश संयुक्त राज्य अमेरिका में स्थित है, लेकिन ...

                                               

मैकेन्ज़ी पर्वत

मैकेन्ज़ी पर्वतमाला कनाडा के राज्य युकॉन और नॉर्थवेस्ट टेरीटरीज़ के कुछ हिस्सों को बांटने वाली एक पर्वतमाला है जो पील और लिअर्ड नदी के मध्य स्थित है। इसका नाम कनाडा के दूसरे प्रधानमंत्री अलेक्ज़ेंडर मैकेन्ज़ी के नाम पर उनके सम्मान में रखा गया है। ...

                                               

कोरदियेरा डारविन

कोरदियेरा डारविन दक्षिण अमेरिका की ऐन्डीज़ पर्वतमाला की सबसे दक्षिणी श्रेणी है। यह तिएर्रा देल फ़ुएगो द्वीपसमूह के इस्ला ग्रान्दे दे तिएर्रा देल फ़ुएगो द्वीप के दक्षिणपश्चिमी भाग में स्थित है और पूरी तरह चिली देश में आती है। यह एक विस्तृत बर्फ़क् ...

                                               

डारविन पर्वत (ऐन्डीज़)

डारविन पर्वत तिएर्रा देल फ़ुएगो पर बीगल जलसंधि से उत्तर में स्थित एक पर्वत है। यह ऐन्डीज़ पर्वतमाला की कोरदियेरा डारविन उपशाखा का सदस्य है। शिस्ट पत्थरों के बने इस पहाड़ की ऊँची दक्षिणी ढलानों पर भीमकाय हिमानियाँ चलती हैं। किसी ज़माने में यह तिएर ...

                                               

काराकोरम

काराकोरम एक विशाल पर्वत शृंखला है जिसका विस्तार pakistan, भारत और चीन के क्रमश: गिलगित-बल्तिस्तान, लद्दाख़ और शिन्जियांग क्षेत्रों तक है। यह एशिया की विशाल पर्वतमालाओं में से एक है और हिमालय पर्वतमाला का एक हिस्सा है। काराकोरम किर्गिज़ भाषा का शब ...

                                               

नमचा बरवा हिमाल

नमचा बरवा हिमाल हिमालय की सबसे पूर्वी उपशृंखला है। यह दक्षिणपूर्वी तिब्बत और पूर्वोत्तरी भारत के कुछ भागों में विस्तृत है। विस्तार के हिसाब से यह पश्चिम में सियोम नदी से लेकर पूर्व में यरलुंग त्संगपो महान घाटी तक १८० किमी लम्बी मानी जाती है हालां ...

                                               

पारहिमालय

पारहिमालय तिब्बत में हिमालय से समांतर चलने वाली एक पर्वतमाला का नाम है। तिब्बत में हिमालय ब्रह्मपुत्र नदी से दक्षिण में चलते हैं जबकि पारहिमालय शृंखला उस नदी से उत्तर में हिमालय के साथ-साथ चलती है। हिन्दू धर्म का पवित्र कैलाश पर्वत पारहिमालय पर्व ...

                                               

ऐनो पर्वत

ऐनो पर्वत जापान के यमानाशी प्रान्त, "दक्षिणी एल्प्स" में, अकीशी पर्वत की एक पर्वत चोटी हैं। 3.189 मीटर 10.463 फीट ऊचाई के साथ, यह जापान की चौथी सबसे ऊंची शिखर और अकीशी पर्वत में दूसरा सबसे ऊंचा स्थान है। इसकी चोटी, शिओजू प्रीफेक्चर में एओई-कु और ...

                                               

इस्माइल सामानी पर्वत

इस्माइल सामानी ताजिकिस्तान का सबसे ऊँचा पर्वत है। जब ताजिकिस्तान रूसी साम्राज्य और फिर सोवियत संघ का हिस्सा था, जब यह पर्वत उन देशों का भी सबसे ऊँचा पहाड़ हुआ करता था। यह पूरे मध्य एशिया और पूरी पामीर पर्वतमाला का भी सबसे बुलंद पर्वत है। इसका नाम ...

                                               

ग्याला पेरी

ग्याला पेरी दक्षिणी-पूर्वी तिब्बत में यरलुंग त्संगपो महान घाटी के मुख पर स्थित एक पर्वत है। यह पारहिमालय पर्वतमाला और उसकी न्येनचेन थंगल्हा उपशृंखला का सदस्य है। यह नमचा बरवा पर्वत के पास यरलुंग त्संगपो नदी के पार खड़ा हुआ है। नमचा बरवा के इतना क ...

                                               

न्येनचेन थंगल्हा पर्वत

न्येनचेन थंगल्हा दक्षिणी तिब्बत में स्थित एक पर्वत है। यह पारहिमालय पर्वतमाला और उसकी न्येनचेन थंगल्हा उपशृंखला का सबसे ऊँचा पहाड़ है। न्येनचेन थंगल्हा इस उपशृंखला के पश्चिमी भाग में यरलुंग त्संगपो नदी और चांगथंग पठार की बंद जलसम्भर द्रोणियों के ...

                                               

न्येनचेन थंगल्हा पर्वतमाला

न्येनचेन थंगल्हा पर्वतमाला दक्षिणी तिब्बत में स्थित ७०० किमी तक चलने वाली एक पर्वत श्रेणी है। अपने से पश्चिम में स्थित कैलाश पर्वतमाला के साथ मिलाकर यह पारहिमालय शृंखला बनाती है। इसका नाम न्येनचेन थंगल्हा पर्वत पर पड़ा है जो इसका सबसे ऊँचा पहाड़ ...

                                               

डोई नेन्ग नोन

डोई नेन्ग नोन थाईलैंड के चिअंग राई प्रान्त में स्थित थाई पहाड़ी क्षेत्र की पर्वत श्रृंखला है। यह डेन लाओ रेंज के दक्षिणी छोपर कई झरने और गुफाओं के साथ एक कार्स्ट गठन है। इस क्षेत्र को थाम लुआंग-खुन नाम नेन्ग नोवन उद्यान के रूप में प्रबंधित किया ज ...

                                               

अन्नपूर्णा पर्वत समूह

अन्नपूर्णा पर्वतसमूह उत्तर-मध्य नेपाल के हिमालय में स्थित है जिसमें 8.000 मीटर 26.000 फीट से अधिक की एक चोटी शामिल है तथा 7.000 मीटर से अधिक तेरह चोटियाँ, और 6.000 मीटर से अधिक सोलह चोटियाँ शामिल है। यह पूरी पर्वतमाला 55 किलोमीटर लम्बी है, इसके प ...

                                               

तिलिचो पर्वत

तिलिचो पर्वत नेपाल हिमालय में अन्नपूर्णा के उत्तर में स्थित एक चोटी का नाम है। इस शिखर की खोज सबसे पहले 1950 के फ्रेंच अन्नपूर्णा अभियान के सदस्यों द्वारा की गई थी जिसका नेतृत्व मौरिस हर्ज़ोग ने किया था जो अन्नपूर्णा I को खोजने का प्रयास कर रहे थ ...

                                               

नेपाल में पर्वतों की सूची

हिमालय,नेपाल का हिस्सा है, जो दुनिया में सबसे ऊंची पर्वत श्रृंखला है। दुनिया के चौदह आठ-हज़ारी पर्वतों में से आठ नेपाल में स्थित हैं, जो या तो पूरी तरह से या चीन और भारत के साथ सीमा पर साझा किगए हैं। दुनिया का सबसे ऊँची पर्वत चोटी माउंट एवरेस्ट भ ...

                                               

दक्षिणी ऐल्प्स

दक्षिणी ऐल्प्स न्यूज़ीलैण्ड के दक्षिण द्वीप के बीच से गुज़रने वाली एक पर्वतमाला है। उत्तर-दक्षिण दिशा में चलने वाली इस श्रंखला में न्यूज़ीलैण्ड का सबसे ऊँचा पर्वत, ३,७२४ मीटर लम्बा कुक पर्वत स्थित है। इसके अलावा इसी पर्वतमाला में १६ अन्य ३,००० मी ...

                                               

चोगोलीसा

चोगोलीसा पाक अधिकृत कश्मीर के बल्तिस्तान क्षेत्र में स्थित काराकोरम पर्वतों के माशेरब्रुम पर्वत समूह का एक ऊँचा पर्वत है। माशेरब्रुम समूह बाल्तोरो हिमानी से दक्षिण में स्थित है। इस पर्वत के कई शिखर हैं, जिनमें दक्षिण-पश्चिमी और उत्तर-पूर्वी मुख्य ...

                                               

माशेरब्रुम

माशेरब्रुम पाक अधिकृत कश्मीर के बल्तिस्तान क्षेत्र में स्थित काराकोरम पर्वतों के माशेरब्रुम पर्वत समूह का सबसे ऊँचा पर्वत है। ७,८२१ मीटर की बुलंदी के साथ यह विश्व का २२वाँ सबसे ऊँचा और पाकिस्तान-नियंत्रित क्षेत्रों का ९वाँ सबसे ऊँचा पहाड़ है। इसे ...

                                               

सुलयमान पर्वत

सुलयमान पर्वत या कोह-ए-सुलयमान, जिन्हें केसई पर्वत भी कहा जाता है, दक्षिणपूर्वी अफ़्ग़ानिस्तान और पश्चिमी पाकिस्तान के बलोचिस्तान प्रान्त के उत्तर भाग में स्थित एक प्रमुख पर्वत शृंखला है। अफ़्ग़ानिस्तान में यह ज़ाबुल, लोया पकतिया और कंदहार क्षेत् ...

                                               

पिरिनी पर्वत शृंखला

पिरिनी पर्वत शृंखला द्क्षिणपश्चिमी यूरोप में स्पेन और फ़्रान्स की सीमा पर स्थित एक पर्वतमाला है। यह इबेरिया प्रायद्वीप को यूरोप के महाद्वीप के अन्य भागों से अलग करती है। पिरिनी पहाड़ों की पंक्तियाँ पूर्वोत्तर में बिस्के खाड़ी से लेकर दक्षिणपूर्व ...

                                               

पटकाई

पटकाई भारत के पूर्वोत्तर में बर्मा के साथ लगी अंतरराष्ट्रीय सीमावर्ती क्षेत्पर स्थित पहाड़ी शृंखलाओं का नाम है। इसके पहाड़ों की ऊँचाई हिमालय की तुलना में काफ़ी कम है। पटकाई पहाड़ों में तीन मुख्य शृंखलाएँ शामिल हैं: पटकाई बुम, खसी-गारो-जयंतिया शृं ...

                                               

सारामाती पर्वत

सारामाती, जो कभी-कभी सरामाती या सैरामाती भी उच्चारित किया जाता है, भारत के नागालैण्ड राज्य का सबसे ऊँचा पर्वत है। ३,८२६ मीटर लम्बा यह पहाड़ भारत की बर्मा के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा पर खड़ा है और उस देश के सगाइंग मण्डल का भी सबसे ऊँचा बिन्दु है। यह ...

                                               

कुदरेमुख

कुदरेमुख जिसे कई बार कुदुरेमुख भी कहा जाता है, कर्नाटक राज्य के चिकमंगलूर जिला में एक पर्वतमाला है। यहीं निकटस्थ ही के एक कस्बे का नाम भि यही है। यह कर्कला से ४८ कि॰मी॰ दूर स्थित है। कुदरेमुख शब्द का मूल यहां के स्थानीय निवासियों द्वारा अश्व के म ...

                                               

कोल्ली हिल्स

कोल्ली हिल्स पश्चिमी घाट की प्रमुख पर्वत श्रंखला है। यह नामक्कल जिला, तमिल नाडु में फैली हुई हैं। लगभग 400 वर्ग मील में फैली ये पहाडियां 18 मील लंबी और 12 मील चौड़ी हैं। अपनी प्राकृतिक सुंदरता से यह पहाड़ियां सबको आकर्षित करती हैं। पहाड़ियों से न ...

                                               

खासी एवं जयंतिया पहाड़ियाँ

खासी और जयन्तिया भारत के पूर्वोत्तर में स्थित पर्वतीय क्षेत्र हैं। ब्रिटिश काल में ये क्षेत्र असम प्रान्त के भाग थे। अब ये मेघालय के अन्तर्गत आते हैं। यह दक्षिण के पठार का ही एक भाग माना जाता है यह उतरी पूर्व पहाड़ियों में बारहवें स्थान पर आता है ...

                                               

गुरु शिखर

गुरु शिखर, राजस्थान के अरबुड़ा पहाड़ों में एक चोटी है जो अरावली पर्वतमाला का उच्चतम बिंदु है। यह 1722 मीटर की ऊंचाई पर है। माउंट आबू से १५ किलोमीटरदूर गुरु शिखर अरावली पर्वत शृंखला के साथ ही राजस्थान की सबसे ऊँची चोटी है। पर्वत की चोटी पर बने इस ...

                                               

नागा पर्वत

नागा पर्वत शृंखला, जिन्हें नागा पहाड़ियाँ भी कहते हैं, भारत और बर्मा म्यान्मार की सीमा पर लगने वाली पर्वत शृंखला है। इसकी ऊँचाई लगभग 3.825 मीटर है। यह जटिल पहाड़ प्रणाली का एक भाग है जिसमें से कुछ भाग भारतीय राज्य नागालैण्ड में तथा बर्मा में आते ...

                                               

नियमगिरि

नियमगिरि ओड़िशा के कालाहान्डी और रायगढ़ा जिलों में स्थित एक पर्वतशृंखला है। इन पहाड़ियों पर डोंगरिया कोंध नामक आदिवासी रहते हैं। इन पहाड़ियों पर भारत के सबसे पुराने वन अवस्थित हैं।

                                               

नीलगिरि (पर्वत)

नीलगिरि भारत के पश्चिमी घाट की एक पर्वतमाला है। नीलगिरि, भारत के राज्य तमिलनाडु का एक प्रमुख पर्यटक स्थल है जिसकी खूबसूरती देखते ही बनती है। इस क्षेत्र में बहुत से पर्वतीय स्थल हैं जो इसे उपयुक्त पर्यटन केंद्र बनाते हैं। नीलगिरि का इतिहास 11 वीं ...

                                               

पूर्वी घाट

पूर्वी घाट भारत के पूर्वी तट पर स्थित पर्वत श्रेणी है। पूर्वी घाट बंगाल की खाड़ी के सहारे अनियमित पर्वतश्रेणी है। यह उत्तरी उड़ीसा से लेकर तमिलनाडु तक लगभग 3000 किमी तक फैला है। सिरूमलाई और कोल्ली हिल्स यहाँ के हिल स्टेशन हैं। पूर्वी घाट के दक्षि ...

                                               

फौंगपुई

फौंगपुई, जिसे नीला पर्वत भी कहते हैं, पूर्वोत्तर भारत की लुशाई पर्वतमाला का और मिज़ोरम राज्य का सबसे ऊँचा पर्वत है। यह २,१५७ मीटर ऊँचा है और दक्षिणपूर्वी मिज़ोरम में बर्मा की सरहद के पास स्थित है। यह पूरा क्षेत्र फौंगपुई राष्ट्रीय उद्यान के अंतर् ...

                                               

बिलगिरि रंगन पर्वतमाला

बिलगिरि रंगास्वामि पर्वतमाला अभयारण्य जिसे बी.आर.हिल्स भी कहा जाता है, दक्षिणभारत के कर्नाटक राज्य के दक्षिण भाग में स्थित है। बिलगिरि रंगन पर्वतमाला भारत के पश्चिमी घाट की पर्वतमाला का एक पर्वत है। पहाड़ों की सुंदरता और वन्य जीवों की अनूठी संगम ...

                                               

भारत के पर्वतों की सूची

Kapadia, Harish 1999, Across Peaks & Passes in Kumaun Himalaya, Indus Publishing, आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-7387-096-5 Kapadia, Harish 2001, Across Peaks & Passes in Darjeeling & Sikkim, Indus Publishing, आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-7387-126-9 Bisht, Ramesh Ch ...

                                               

मन्दार पर्वत

मन्दार पर्वत बिहार राज्य के बांका जिला में स्थित पर्वत है। यह भागलपुर शहर के दक्षिण में लगभग ४५ किमी की दूरी पर स्थित है। इसकी ऊँचाई लगभग ७०० फीट है। यह एक प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है। इसके शिखर पर दो मन्दिर हैं, एक हिन्दू मन्दिऔर दूसरा जैन मन्दिर। हि ...

                                               

महेंद्रगिरि

महेंद्रगिरि भारत के तमिल नाडु राज्य के कन्याकुमारी ज़िले और तिरूनेलवेली ज़िले की सीमा पर स्थित एक पर्वत है। यह पश्चिमी घाट पर्वतमाला के दक्षिणी भाग में स्थित है और 1.500 मीटर की ऊँचाई रखता है। इसकी निचली ढलानों पर भारतीय अंतरिक्ष संस्था इसरो का ए ...

                                               

विन्ध्याचल पर्वत शृंखला

विंध्याचल पर्वत शृंखला भारत के पश्चिम-मध्य में स्थित प्राचीन गोलाकार पर्वतों की शृंखला है जो भारत उपखंड को उत्तरी भारत व दक्षिणी भारत में बांटती है।

                                               

शेषचलम पहाड़ियाँ

शेषचलम की पहाड़ियाँ पूर्वी घाट की महत्वपूर्ण पर्वत शृंखला है, जो दक्षिण भारत के दक्षिणी आंध्र प्रदेश राज्य में विस्तारित है। इसी पहाड़ी पर तिरूपति का मन्दिर हैं।

                                               

सैडल पर्वत

सैडल पर्वत भारत के अण्डमान और निकोबार द्वीपसमूह का सबसे ऊँचा पहाड़ है। यह उत्तर अण्डमान द्वीप पर स्थित है और सैडल पीक राष्ट्रीय उद्यान द्वारा घिरा हुआ है। यह पर्वत दिगलीपुर से १० किमी दक्षिण में खड़ा है। अण्डमान द्वीपसमूह की एकमात्र नदी, कल्पोंग ...

                                               

असम हिमालय

असम हिमालय हिमालय के उस भाग का पारम्परिक नाम है जो पश्चिम में भूटान की पूर्वी सीमा से लेकर पूर्व में त्संगपो नदी के बड़े मोड़ तक विस्तृत है। हिमालय के इस खण्ड का सर्वोच्च पर्वत नमचा बरवा है। अन्य उल्लेखनीय पर्वत ग्याला पेरी, कंगतो पर्वत और न्येग् ...

                                               

कश्मीर हिमालय

कश्मीर हिमालय, जिन्हें पंजाब हिमालय या पश्चिमी हिमालय भी कहा जाता है, हिमालय पर्वत श्रंखला के चार क्षैतिज विभाजनों में से एक है। सिंधु नदी से सतलुज नदी के बीच फैली लगभग ५६० किलोमीटर लम्बी हिमालय श्रंखला को ही कश्मीर हिमालय कहा जाता है। कश्मीर, जम ...

                                               

कुमाऊँ हिमालय

कुमाऊँ हिमालय, हिमालय पर्वत श्रंखला के चार क्षैतिज विभाजनों में से एक है। सतलुज नदी से काली नदी के बीच फैली लगभग ३२० किलोमीटर लम्बी हिमालय श्रंखला को ही कुमाऊँ हिमालय कहा जाता है। उत्तराखण्ड तथा हिमाचल प्रदेश में स्थित इस पर्वत श्रंखला के पूर्व म ...

                                               

गढ़वाल हिमालय

गढ़वाल हिमालय हिमालय का एक भाग है जो भारत के उत्तराखण्ड राज्य में स्थित है। इसमें कई पर्वत स्थित हैं जो विश्व के सर्वोच्च पर्वतों में गिने जाते हैं।

                                               

गणेश हिमाल

गणेश हिमाल मध्योत्तर नेपाल में स्थित हिमालय का एक खण्ड है। इसके अधिकतर पर्वत नेपाल में हैं लेकिन कुछ नेपाल व तिब्बत की सीमा पर भी स्थित हैं। इसके पूर्व में स्थित त्रिशूल गण्डकी घाटी इसे लांगटांग हिमाल से अलग करती है। पश्चिम में श्यार खोला घाटी इस ...

                                               

नालाकंकर हिमाल

नालाकंकर हिमाल हिमालय की एक छोटी उपश्रेणी है जो दक्षिणी तिब्बत और पश्चिमोत्तरी नेपाल में मानसरोवर झील से दक्षिण में स्थित है। इसकी दक्षिणी सीमा हुमला करनाली नदी है, जो करनाली नदी की एक उपनदी है और नालाकंकर हिमाल को दक्षिण में गुरंस हिमाल और दक्षि ...