ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 212




                                               

तैंतीसवीं कोर (भारत)

यह 1962 में फिर से स्थापित की गई, ताकि IV कोर की जिम्मेदारियों के क्षेत्र को कम किया जा सके। XXXIII कोर ने सिक्किम को कवर किया। कोर सिलीगुड़ी शहर के निकट उत्तर बंगाल के सुकना में स्थित है। इसकी जिम्मेदारी में उत्तरी बंगाल तथा सिक्किम शामिल हैं और ...

                                               

त्वरित कार्रवाई बल

त्वरित कार्रवाई बल का गठन 1992 में भारत सरकार द्वारा सांप्रदायिकता के बढ़ते हुए खतरे से निबटने के लिए किया गया था। इसका गठन दंगों से सहानुभूति पूर्वक और विशेषज्ञता पूर्वक निबटने के लिए किया गया था। यह प्राकृतिक आपदाओं के समय भी नागरिक प्रशासन की ...

                                               

दक्षिणी कमान अलंकरण समारोह 2017

दक्षिण कमान का अलंकरण सामारोह,भोपाल में 14 सितम्बर 2017 को आयोजित किया गया। लेफ्टिनेंट जनरल पी एम हैरिज़,जनरल ऑफिसर कमांडिंग - इन - चीफ, दक्षिणी कमान ने 63 अधिकारी, जूनियर कमीशन अधिकारी एवं अन्य पदों को वीरता और विशिष्ट सेवा पुरस्कारों से सम्मानि ...

                                               

नागा रेजिमेंट

"नागा रेजीमेंट" भारतीय सेना का एक सैन्य-दल है। नागा रेजिमेंट भारतीय सेना के एक पैदल सेना की रेजिमेंट है। यह भारतीय सेना की सबसे कम उम्र की रेजिमेंटों में से एक है - 1९७० में रानीखेत में पहली बटालियन उठाया गया था। रेजिमेंट मुख्यतः नागालैंड से भर्त ...

                                               

परमवीर चक्र

परमवीर चक्र भारत का सर्वोच्च शौर्य सैन्य अलंकरण है जो दुश्मनों की उपस्थिति में उच्च कोटि की शूरवीरता एवं त्याग के लिए प्रदान किया जाता है। ज्यादातर स्थितियों में यह सम्मान मरणोपरांत दिया गया है। इस पुरस्कार की स्थापना 26 जनवरी 1950 को की गयी थी ज ...

                                               

पिनाक मल्टी बैरल रॉकेट लॉन्चर

पिनाक भारत में उत्पादित एक बहुखंडीय रॉकेट लांचर है। और भारतीय सेना के लिए रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन द्वारा विकसित किया गया है। इस प्रणाली में मार्क-1 के लिए 40 किलोमीटर और मार्क-2 के लिए 65 किलोमीटर की अधिकतम सीमा है। और 44 सेकंड में 12 उच्च ...

                                               

पैराशूट रेजिमेंट

पहला भारतीय हवाई गठन 50वाँ पैराशूट ब्रिगेड था जो 29 अक्टूबर 1941 को बनाया गया, इसमें 151 ब्रिटिश, 152 भारतीय और 153 गोरखा पैराशूट बटालियन और अन्य समर्थक इकाइयाँ भी थीं। रेजिमेंट की पहली हवाई कार्रवाई द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान हुई जब एक प्रबलित ...

                                               

प्रहार (प्रक्षेपास्त्र)

प्रहार एक ठोस इंधन की, सतह-से-सतह तक मार करने में सक्षम कम दुरी की सामरिक बैलिस्टिक मिसाइल है। यह मिसाइल भारत के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन द्वारा विकसित की गई है। प्रहार मिसाइल का प्रयोग किसी भी सामरिक और रणनीतिक लक्ष्यों को भेदने के लिए किय ...

                                               

प्रादेशिक सेना

प्रादेशिक सेना भारतीय सेना की एक ईकाई तथा सेवा है। इसके स्वयंसेवकों को प्रतिवर्ष कुछ दिनों का सैनिक प्रशिक्षण दिया जाता है ताकि आवशयकता पड़ने पर देश की रक्षा के लिये उनकी सेवायें ली जा सकें। भारतीय संविधान सभा द्वारा सितंबर, १९४८ ई. में पारित प्र ...

                                               

फील्ड मार्शल (भारत)

फील्ड मार्शल एक पांच सिताराअधिकारी रैंक और भारतीय सेना में सर्वोच्च प्राप्य रैंक है। फील्ड मार्शल को सामान्य से तुरंत ऊपर रैंक दिया गया है, लेकिन नियमित सेना संरचना में व्यायाम नहीं किया गया है। यह काफी हद तक औपचारिक या युद्धकालीन रैंक है, जिसे क ...

                                               

बीटिंग रिट्रीट

बीटिंग द रिट्रीट भारत के गणतंत्र दिवस समारोह की समाप्ति का सूचक है। इस कार्यक्रम में थल सेना, वायु सेना और नौसेना के बैंड पारंपरिक धुन के साथ मार्च करते हैं। यह सेना की बैरक वापसी का प्रतीक है। गणतंत्र दिवस के पश्चात हर वर्ष 29 जनवरी को बीटिंग द ...

                                               

भारत की थलसेना के रैंक और प्रतीक चिह्न

भारतीय सेना अपने प्रभावशाली प्रदर्शन वाले 1.325.000 से अधिक सक्रिय सैनिकों और 2.143.000 आरक्षित सैनिकों के साथ विश्व की तीसरी सबसे बड़ी स्थायी सेना है। भारतीय सेना के रैंकों को पश्चिमी देशों के रैंकों के साथ मेल खाते हुए बनाया गया है और विशेष रूप ...

                                               

भारत की नौसेना के रैंक और प्रतीक चिन्ह

भारत की नौसेना के रैंक और प्रतीक चिन्ह निम्नलिखित रेखांकन भारतीय नौसेना के अधिकारी रैंकों को प्रस्तुत करता है। ये रैंक आम तौपर पश्चिमी सैनिकों के साथ मेल खाते हैं, और ब्रिटिश सैन्य रैंकों के उन परिलक्षित होते हैं यद्यपि बेड़े के एडमिरल के पद के ल ...

                                               

भारत के प्रक्षेपास्त्र

परियोजना डेविल परियोजना डेविल 1970 के दशक में परियोजना वैलेंटाइन के साथ भारत द्वारा विकसित दो प्रारंभिक तरल-ईंधन वाली मिसाइल परियोजनाओं में से एक थी। परियोजना डेविल का लक्ष्य एक छोटी दूरी की सतह से सतह मिसाइल का उत्पादन करना था। हालांकि 1980 में ...

                                               

भारत के विशेष सशस्त्र बल

भारत के विशेष बल, उन विशेष सशस्त्र बल इकाइयों का इंगित करते हैं जो भारत गणराज्य की सेवा कर रहे हैं और विशेष रूप से संगठित, प्रशिक्षित, और विशेष कार्यों के संचालन और समर्थन के लिए सुसज्जित किये गये हैं। भारतीय सशस्त्र बलों की तीन शाखाओं के अपने अल ...

                                               

भारतीय आयुध निर्माणियाँ

भारतीय आयुध निर्माणियाँ भारत की एक औद्योगिक संरचना हैं जो रक्षा मंत्रालय के रक्षा उत्पादन विभाग के अंतर्गत कार्य करती हैं। इसका मुख्यालय कोलकाता में है। यह 39 निर्माणियों, 9 प्रशिक्षण संस्थान, 3 क्षेत्रीय विपणन केन्द्ओर 4 क्षेत्रीय संरक्षा नियंत् ...

                                               

भारतीय चिकित्सा सेवा

भारतीय चिकित्सा सेवा, ब्रिटिश भारत के समय में यह एक सैन्य चिकित्सा सेवा थी। इसके कुछ नागरिक कार्य भी थें। इसमें ब्रिटिश तथा भारतीय अधिकारियों ने मिलकर कार्य किया तथा दोनों विश्व युद्धों में यह सेवा में थी। इसके अधिकारियों में एक नाम रोनाल्ड रॉस क ...

                                               

भारतीय तटरक्षक

भारतीय तटरक्षक की स्थापना शांतिकाल में भारतीय समुद्र की सुरक्षा करने के उद्देश्य से 18 अगस्‍त 1978 को संघ के एक स्‍वतंत्र सशस्‍त्र बल के रूप में संसद द्वारा तटरक्षक अधिनियम,1978 के अंतर्गत की गई। ‘’वयम् रक्षाम: याने हम रक्षा करते हैं’’ भारतीय तटर ...

                                               

भारतीय थलसेना

भारतीय थलसेना, सेना की भूमि-आधारित दल की शाखा है और यह भारतीय सशस्त्र बल का सबसे बड़ा अंग है। भारत का राष्ट्रपति, थलसेना का प्रधान सेनापति होता है, और इसकी कमान भारतीय थलसेनाध्यक्ष के हाथों में होती है जो कि चार-सितारा जनरल स्तर के अधिकारी होते ह ...

                                               

भारतीय नौसेना

भारतीय नौसेना भारतीय सेना का सामुद्रिक अंग है जो कि ५६०० वर्षों के अपने गौरवशाली इतिहास के साथ न केवल भारतीय सामुद्रिक सीमाओं अपितु भारतीय सभ्यता एवं संस्कृति की भी रक्षक है। ५५,००० नौसैनिकों से लैस यह विश्व की पाँचवी सबसे बड़ी नौसेना भारतीय सीमा ...

                                               

भारतीय नौसेना पोत विराट

भारतीय नौसेना पोत विराट भारतीय नौसेना में सेंतौर श्रेणी का एक वायुयान वाहक पोत है। भारतीय सेना की अग्रिम पंक्ति का यह पोत लंबे समय से सेना की सेवा में है। १९९७ में भारतीय नौसेना पोत विक्रांत के सेवामुक्त कर दिए जाने के बाद इसी ने विक्रांत के रिक् ...

                                               

भारतीय वायुसेना

भारतीय वायुसेना भारतीय सशस्त्र सेना का एक अंग है जो वायु युद्ध, वायु सुरक्षा, एवं वायु चौकसी का महत्वपूर्ण काम देश के लिए करती है। इसकी स्थापना ८ अक्टूबर १९३२ को की गयी थी। आजादी से पूर्व इसे रॉयल इंडियन एयरफोर्स के नाम से जाना जाता था और १९४५ के ...

                                               

भारतीय सशस्‍त्र सेनाएँ

भारतीय सशस्‍त्र सेनाएँ भारत की तथा इसके प्रत्‍येक भाग की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उत्तरदायी हैं। भारतीय शस्‍त्र सेनाओं की सर्वोच्‍च कमान भारत के राष्‍ट्रपति के पास है। राष्‍ट्र की रक्षा का दायित्‍व मंत्रिमंडल के पास होता है। इसका निर्वहन रक् ...

                                               

भारतीय सेना की आर्मर्ड कोर

आर्मर्ड कोर भारतीय सेना के लड़ाकू हथियारों में से एक है। इसे ब्रिटिश राज के भारतीय बख्तरबंद कोर की दो-तिहाई संपत्ति और कर्मियों से 1947 में बनाया गया। वर्तमान में राष्ट्रपति के अंगरक्षकों सहित इसमें 63 बख्तरबंद रेजिमेंटों हैं। रेजिमेंटों के नामकर ...

                                               

भारतीय सेना के उपकरण

यह भारतीय सेना द्वारा काम में लिए जाने आधुनिक और ऐतिहासिक उपकरणों की सूची है। अधिकतर सेना उपकरण विदेशी बनावट तथा भारत में निर्मित अनुज्ञप्ति हैं लेकिन इसके उत्तरोत्तर निर्माण स्वदेशी करने का प्रयास किया जाता रहा है।

                                               

भूतपूर्व सैनिक

भूतपूर्व सैनिएक ऐसा व्यक्ति है जिसने किसी देश की सेना की सेवा की हो। भारत के सन्दर्भ में देश की नियमित सशस्त्र सेना, नौसेना तथा वायुसेना में किसी भी रैंक में, चाहे योधक के रूप में या गैर-योधक के रूप में सेवा की है और जो अपनी पेंशन अर्जित करने के ...

                                               

मद्रास रेजिमेंट

मद्रास रेजीमेंट भारतीय सेना का एक सैन्य-दल है। इसका गठन 1750 में हुआ था। यह सेना की एक पैदल सेना रेजिमेंट है, और सबसे पुरानी रेजीमेंट्स में से एक है। इस रेजिमेंट ने ब्रिटिश भारतीय सेना और आजादी के बाद भारतीय सेना दोनों के कई अभियानों में सहयोग कि ...

                                               

मल्टी कैलिबर व्यक्तिगत हथियार प्रणाली

मल्टी कैलिबर व्यक्तिगत हथियार प्रणाली एक आक्रमण राइफल है जिसे रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन की एक प्रयोगशाला, आर्ममेंट रिसर्च एंड डेवलपमेंट एस्टैब्लिशमेंट द्वारा विकसित किया गया है। इसे पहली बार DEFEXPO 2014 प्रदर्शनी में देखा गया था और इसके ऑर्ड ...

                                               

महार रेजिमेंट

महार रेजिमेंट भारतीय सेना का एक इन्फैन्ट्री रेजिमेंट है। यद्यपि मूलतः इसे महाराष्ट्र के महार सैनिकों को मिलाकर बनाने का विचार था, किन्तु केवल यही भारतीय सेना का एकमात्र रेजिमेन्ट है जिसे भारत के सभी समुदायों और क्षेत्रों के सैनिकों को मिलाकर बनाय ...

                                               

महावीर चक्र

महावीर चक्र भारत का युद्ध के समय वीरता का पदक है। यह सम्मान सैनिकों और असैनिकों को असाधारण वीरता या प्रकट शूरता या बलिदान के लिए दिया जाता है। यह मरणोपरान्त भी दिया जा सकता है। वरीयता क्रम में यह परमवीर चक्र के बाद आता है।

                                               

मैकेनाइज़्ड इन्फेंट्री रेजिमेंट

मैकेनाइज्ड इन्फैन्ट्री रेजिमेंट भारतीय सेना की एक पैदल सेना रेजिमेंट है हालाँकि यह 26 बटालियनों में बंटी हुई है दो देश भर में फैली हुई हैं। यह सेना में सबसे कम उम्र रेजिमेंटों में से एक है, हालाँकि इसका गठन 1965 के भारत-पाक युद्ध में सीखने के बाद ...

                                               

मैत्री मिसाइल

मैत्री मिसाइल परियोजना एक अगली पीढ़ी की त्वरित प्रतिक्रिया सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल है। इसके उत्पादों के अनुसार यह 100 प्रतिशत लक्ष्य को मार सकती है। यह भारत के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन द्वारा विकसित की जा रही है। यह एक कम दूरी क ...

                                               

रक्षा प्रमुख (भारत)

रक्षा प्रमुख या चीऑफ डिफेंस स्टाफ भारतीय सशस्‍त्र सेनाओं के पेशेवर त्रि-सेवा प्रमुख और भारत सरकार के वरिष्ठतम वर्दीधारी सैन्य सलाहकार हैं। २४ दिसम्बर २०१९ को भारत की सुरक्षा मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने इस पद के सृजन की घोषणा की तथा जनरल बिपिन ...

                                               

राजपूत रेजिमेंट

राजपूत रेजीमेंट भारतीय सेना का एक सैन्य-दल है। यह प्राथमिक रूप से भारतीय 50% राजपूत,30% गुर्जर,20% बंगाली जैसी जतियों से बनी है। द्वितीय विश्व युद्ध के समय तक इसमे 50% राजपूत व 50% मुस्लिमों की भागीदारी थी।

                                               

राजपूताना राइफल्स

राजपूताना राइफल्स भारतीय सेना का एक सैन्य-दल है। इसकी स्थापना 1775 में की गई थी, जब तात्कालिक ईस्ट इंडिया कम्पनी ने राजपूत लड़ाकों की क्षमता को देखते हुए उन्हें अपने मिशन में भर्ती कर लिया। यह भारतीय सेना का सबसे पुराना राइफल रेजिमेण्ट है। इसके न ...

                                               

राष्ट्रीय रक्षा महाविद्यालय, दिल्ली

दिल्ली में स्थित राष्ट्रीय रक्षा महाविद्यालय भारतीय सेना के लिये उच्च शिक्षा का संस्थान है। इसकी स्थापना सन् १९६० में हुई थी। इसमें ४७ सप्ताह का एक पाठ्यक्रम है जिसमें वरिष्ठ रक्षा अधिकारी एवं सिविल सेवाओं के वरिष्ठ अधिकारी भाग लेते हैं।

                                               

राष्ट्रीय राइफल्स

राष्ट्रीय राइफल्स या "आरआर" भारतीय रक्षा मंत्रालय के अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत भारतीय सेना की एक शाखा है। यह एक आतंकवाद विरोधी / राजद्रोह विरोधी बल है जो राष्ट्रीय राइफल्स में सेवारत भारतीय सेना के अन्य भागों से प्रतिनियुक्त सैनिकों से बना है। आर ...

                                               

राष्ट्रीय सुरक्षा कोर

राष्ट्रीय सुरक्षा कोर, जिसे पहले रक्षा विभाग कांस्टेबुलरी सेंटर के रूप में जाना जाता था, की स्थापना 25 फरवरी, 1947 को मथुरा, उत्तर प्रदेश में की गई थी। सुरक्षा कोर, 31.000 कर्मियों के साथ, रक्षा मंत्रालय के स्थलों पर सुरक्षा प्रदान करता है। सुरक् ...

                                               

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड भारत की एक विशेष प्रतिक्रिया यूनिट है जिसका मुख्य रूप से आतंकवाद विरोधी गतिविधियों के लिए उपयोग किया गया है। इसका गठन भारतीय संसद के राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड अधिनियम के तहत कैबिनेट सचिवालय द्वारा १९८६ में किया गया था। यह पू ...

                                               

वीर चक्र

वीर चक्र भारत का युद्ध के समय वीरता का पदक है। यह सम्मान सैनिकों को असाधारण वीरता या बलिदान के लिए दिया जाता है। यह मरणोपरान्त भी दिया जा सकता है। वरियता में यह महावीर चक्र के बाद आता है। 2019 - Abhinandan vartman

                                               

शौर्य चक्र

शौर्य चक्र भारत का शांति के समय वीरता का पदक है। यह सम्मान सैनिकों और असैनिकों को असाधारण वीरता या प्रकट शूरता या बलिदान के लिए दिया जाता है। यह मरणोपरान्त भी दिया जा सकता है। वरियता में यह कीर्ति चक्र के बाद आता है।

                                               

सशस्त्र सेना झंडा दिवस

सशस्त्र सेना झंडा दिवस या झंडा दिवस भारतीय सशस्त्र बलों के कर्मियों के कल्याण हेतु भारत की जनता से धन-संग्रह के प्रति समर्पित एक दिन है। यह 1949 से 7 दिसम्बर को भारत में प्रतिवर्ष मनाया जाता है। सशस्त्र सेना झंडा दिवस पर हुए धन संग्रह के तीन मुख् ...

                                               

सिक्किम स्काउट्स

सिक्किम स्काउट भारतीय सेना पर आधारित और सिक्किम राज्य से सम्बंधित रेजिमेंट है। 2013 में इसे बनाया गया और 2015 में चालू कर दिया गया। यह सबसे कम उम्र की भारतीय सेना रेजिमेंट है। इस रेजिमेंट को लद्दाख स्काउट्स और अरुणाचल स्काउट्स की तर्ज पर गठित किय ...

                                               

सेना दिवस (भारत)

सेना दिवस के अवसर पर पूरा देश थल सेना की वीरता अदम्य साहस और शौर्य की कुर्बानी की दास्तां को बयान करता है। जगह-जगह कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। दिल्ली में सेना मुख्यालय के साथ-साथ देश के कोने कोने में शक्ति प्रदर्शन के अन्य कार्यक्रमों का भी आय ...

                                               

सैन्य अभियन्ता सेवाएं

सैन्य अभियन्ता सेवाएं, जिसे इसके अंग्रेजी नाम के संक्षिप्त रूप, एमईएस से भी जाना जाता है, भारत में सबसे पुरानी और सबसे बड़ी सरकारी रक्षा बुनियादी ढांचा विकास एजेंसियों में से एक है। यह मुख्य रूप से भारतीय सेना, भारतीय वायु सेना, भारतीय नौसेना, भा ...

                                               

मारसूपियल सिंह

मारसूपियल सिंह या धानीधारी सिंह या थायलाकोलेओ एक मांसाहारी धानीप्राणी की जाति थी जो अत्यंतनूतन युग में आज से १६ लाख वर्ष पूर्व से लेकर लगभग ४६,००० वर्ष पूर्व तक ऑस्ट्रेलिया में रहती थी। अपने नाम में सिंह आने के बावजूद इस जानवर का जीववैज्ञानिक दृष ...

                                               

पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया

पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया में ऑस्ट्रेलिया के एक प्रांत है। इसकी राजधानी शहर पर्थ है। 2007 के आकड़ों के अनुसार पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया की जनसंख्या 21.05.783 है। जिसमें से 1554769 पर्थ महानगरीय क्षेत्र में रहते हैं। राज्य 1829 में एक ब्रिटिश उपनिवेश के रूप म ...

                                               

एकिडना

एकिडना ऑस्ट्रेलिया और नया गिनी में रहने वाले मोनोट्रीम गण के प्राणी हैं। इनकी चार ज्ञात जातियाँ हैं, और इनके अलावा केवल एक प्लैटीपुस की जाति ही मोनोट्रीम गण की पाँच अस्तित्ववान जातियाँ हैं। पूरे स्तनधारी वर्ग में केवल यह पाँच ही हैं जो अण्डे देते ...

                                               

कंगारू

कंगारू आस्ट्रेलिया में पाया जानेवाला एक स्तनधारी पशु है। यह आस्ट्रेलिया का राष्ट्रीय पशु भी है। कंगारू शाकाहारी, धानीप्राणी जीव हैं जो स्तनधारियों में अपने ढंग के निराले प्राणी हैं। इन्हें सन्‌ 1773 ई. में कैप्टन कुक ने देखा और तभी से ये सभ्य जगत ...

                                               

प्लैटिपस

प्लैटीपुस, जो बत्तखमुँह प्लैटीपस भी कहलाता है, पूर्वी ऑस्ट्रेलिया में रहने वाला एक स्तनधारी प्राणी है। यह स्तनधारियों के मोनोट्रीम गण की पाँच ज्ञात जातियों में से एक है, जो स्तनधारी होने के नाते अपने शिशुओं को दूध तो पिलाते हैं लेकिन जिनमें माता ...