ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 242




                                               

आज तक

आज तक एक हिन्दी समाचार टी वी चैनल है। इसका स्वामित्व टीवी टुडे नेटवर्क लिमिटेड के पास है। आज तक भारत के सर्वाधिक देखे जाने वाले हिन्दी समाचार चैनलों में से एक है। आज तक का मुख्यालय नई दिल्ली, भारत में स्थित है। आज तक को लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स द ...

                                               

एनडीटीवी इंडिया

एनडीटीवी इंडिया एक हिन्दी टी वी चैनल है। यह एक समाचार चैनल है। इस टीवी चैनल का पूरा नाम न्‍यू दिल्‍ली टेलीविजन है। एनडीटीवी इंडिया, भारत का एक हिंदी समाचार चैनल है जिसका मालिकाना नई दिल्ली टेलीविज़न लिमिटेड के पास है। जून 2016 में एनडीटीवी ने यून ...

                                               

डीडी न्यूज़

दूरदर्शन न्यूज़, आमतौपर डीडी न्यूज के रूप में अपने संक्षिप्त नाम द्वारा जाना जाता है। यह भारत का एकमात्र 24 घंटे का स्थलीय टीवी समाचार चैनल है। प्रसार भारती कंपनी बोर्ड ने प्रस्ताव दिया कि डीडी मेट्रो, जो बंद होने वाला था के स्थान पर एक 24-घंटे क ...

                                               

झाबुआ नन बलात्कार मामला

झाबुआ नन बलात्कार मामला एक ऐसा मामला है जिसमें 24 आदिवासियों के एक समूह द्वारा 1998 में भारत के राज्य मध्य प्रदेश में झाबुआ जिले में चार ननों का कथित रूप से बलात्कार किया गया था। झाबुआ की एक अदालत ने एक स्थानीय वकील द्वारा दायर नागरिक मानहानि के ...

                                               

जन लोकपाल बिल आंदोलन २०११

श्री ललित शर्मा अध्यक्ष ऑल टू ऑल एग्रीकल्चर फाउन्डेसन भारत देश में आचार अहिंसा का खुलकर उलंघन होता है जो लोकतंत्र के लिए घातक शावित हो रहा है / भारत देश के लोकतंत्र बहुत कमजोर शासक बनता जारहा है? हमारे देश के लोक्त्नर्त्रिक विधेयक के अनुसार कार्य ...

                                               

अन्य पिछड़ा वर्ग

अन्य पिछड़ा वर्ग एक वर्ग है, यह सामान्य वर्ग यानी जनरल में ही सम्मिलित होता है पर इसमें आने वाली कास्टे गरीबी और शिक्षा के रूप में पिछड़ी होती हैं यह भी सामान्य वर्ग का भाग है जो जातियाँ वर्गीकृत करने के लिए भारत सरकार द्वारा प्रयुक्त एक सामूहिक ...

                                               

सकारात्मक विभेद

सकारात्मक विभेद किसी ऐसे समूह को विभेदित करते हुए लाभ पहुँचने का कार्य है जो सामाजिक रूप से वंचित रहे हैं और वहाँ की संस्कृति में भेदभाव का शिकार रहे हैं।

                                               

मुग़ल बाग़

मुग़ल उद्यान एक समूह हैं, उद्यान शैलियों का, जिनका उद्गम इस्लामी मुगल साम्राज्य में है। यह शैली फारसी बाग एवं तैमूरी बागों से प्रभावित है। आयताकार खाकों के बाग एक चारदीवारी से घिरे होते हैं। इसके खास लक्षण हैं, फव्वारे, झील, सरोवर, इत्यादि। मुगल ...

                                               

लॉ गार्डन

लॉ गार्डन भारतीय नगर अहमदाबाद में एक सार्वजनिक उद्यान है। इस उद्यान के बाहर स्थित बाज़ार स्थानीय लोगों द्वारा विक्रय किये जाने वाले हस्तशिल्प के सामान के लिए बहुत प्रसिद्ध है। उद्यान के निकट स्थित सड़क मार्क उद्यान की तरफ से पूर्ण रूप से फेरीवालो ...

                                               

उच्च उर्जा पदार्थ अनुसंधान प्रयोगशाला

उच्च उर्जा पदार्थ अनुसंधान प्रयोगशाला रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन की एक प्रयोगशाला है। यह पुणे में स्थित है। इसका मुख्य कार्य उच्च ऊर्जा पदार्थ और विस्फोटक पदार्थ के क्षेत्र में अनुसंधान, प्रौद्योगिकियों और उत्पादों के विकास है। एचईएमआरएल में ...

                                               

ऊर्जा दक्षता ब्यूरो

ऊर्जा दक्षता ब्यूरो Bureau of Energy Efficiency भारत सरकार की एक एजेन्सी है जिसका लक्ष्य ऊर्जा दक्षता की सेवाओं को संस्थागत रूप देना है ताकि देश के सभी क्षेत्रों में ऊर्जा दक्षता के प्रति जागरूकता उत्पन्न हो। इसका गठन ऊर्जा संरक्षण अधिनियम, २००१ ...

                                               

कृष्णा गोदावरी बेसिन

कृष्णा गोदावरी बेसिन, स्थल के 20.000 वर्ग किलोमीटर तथा बंगाल की खाड़ी के 24.000 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में 2000 किलोमीटर आइसोबाथ तक विस्तृत है। यह एक क्रैटोनिक भ्रंश किनारा है तथा उत्तरपूर्व-दक्षिणपश्चिम फ़ॉल्ट द्वारा परिसीमित है, जो कि इसे उत् ...

                                               

केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण (भारत)

केन्द्रीय विद्युत प्राधिकरण भारत का विद्युत अधिनियम, 2003 की धारा 70 द्वारा प्रतिस्थापित निरसित विद्युत अधिनियम, 1948 की धारा 3 के अधीन मूल रूप से गठित एक सांविधिक संगठन है। इसकी स्थापना वर्ष 1951 में अंशकालिक निकाय के रूप में की गई थी और वर्ष 19 ...

                                               

भारत में नवीकरणीय ऊर्जा

भारत उन देशों में से एक है जहां नवीकरणीय स्रोतों से ऊर्जा का सबसे बड़ा उत्पादन होता है। विद्युत क्षेत्र में, 30 जून 2018 तक नवीकरणीय ऊर्जा कुल स्थापित विद्युत क्षमता का 20% तक है। 31 मार्च 2018 तक बड़ी जल विद्युत स्थापित क्षमता 45.2 9 जिगावाट थी, ...

                                               

राष्ट्रीय विद्युत प्रशिक्षण प्रतिष्ठान

राष्ट्रीय विद्युत प्रशिक्षण प्रतिष्ठान) विद्युत क्षेत्र में मानव संसाधन विकास एवं प्रशिक्षण के लिए भारत का राष्ट्रीय शीर्ष निकाय है। यह एक ISO 9001 तथा ISO 14001 संगठन है। यह भारत सरकार के विद्युत मंत्रालय के अन्तर्गत एक स्वायत्त संस्था है। इसका ...

                                               

खरवार

खरवार एक जाति है जो भारतीय राज्यों उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और छत्तीसगढ़ में पाई जाती है। यह छत्रिय समाज के अन्तर्गत आती है और सूर्यवंश कि वंशज है।

                                               

आदिप्ररूप द्रुत प्रजनक रिएक्टर

आदिप्ररूप द्रुत प्रजनक रिएक्टर) भारत द्वारा निर्मित किया जा रहा एक फास्ट् ब्रीडर रिएक्टर है जो कलपक्कम स्थित मद्रास परमाणु ऊर्जा संयंत्र में निर्मित हो रहा है। इसकी क्षमता 500MWe है। इंदिरा गांधी परमाणु अनुसंधान केन्द्र ने इसकी डिजाइन की है। सितम ...

                                               

काकरापार परमाणु ऊर्जा संयन्त्र

काकरापार परमाणु ऊर्जा संयन्त्र, भारत का एक परमाणु ऊर्जा संयंत्र है जो गुजरात के व्यारा नगर के समीप स्थित है। यहाँ पर 220 मेगावाट क्षमता के दो परमाणु रिएक्टर हैं, जो दाबित भारी जल रिएक्टर हैं। इसकी पहली ईकाई ३ सितम्बर १९९२ में क्रान्तिक हुई थी। हो ...

                                               

गोरखपुर हरियाणा अणु विद्युत परियोजना

गोरखपुर हरियाणा अणु विद्युत परियोजना एक प्रस्तावित नाभिकीय ऊर्जा संयंत्र है जो हरियाणा के फतेहाबाद जिले के गोरखपुर गाँव में में स्थित होगा। 13 जनवरी 2014 को इस परियोजना के पहले चरण का शिलान्‍यास प्रधानमंत्री श्री मनमोहन सिंह द्वारा किया गया।

                                               

द्रुत प्रजनक परीक्षण रिएक्टर

द्रुत प्रजनक परीक्षण रिएक्टर) भारत के कलपक्कम में स्थित एक प्रजनक रिएक्टर है। इंदिरा गांधी परमाणु अनुसंधान केन्द्र, कलपक्कम तथा भाभा परमाणु अनुसंधान केन्द्र, मुम्बई ने मिलकर इसका डिजाइन तथा निर्माण किया और इसका प्रचाल्न कर रहे हैं। कलपक्कम में ५० ...

                                               

ध्रुव रिएक्टर

ध्रुव रिएक्टर भारत का सबसे बड़ा अनुसन्धान रिएक्टर है । यह मुम्बई स्थित भाभा परमाणु अनुसन्धान केन्द्र केन्द्र में कार्यरत है और भारत का शस्त्र-ग्रेड प्लूटोनियम उत्पादन करने वाला मुख्य रिएक्टर है। यह ८ अगस्त १९८५ को क्रान्तिक हुआ था। इसके निर्माण म ...

                                               

भारतीय नाभिकीय विद्युत निगम लिमिटेड

भारतीय नाभिकीय विद्युत निगम लिमिटेड, परमाणु ऊर्जा विभाग के प्रशासनिक नियंत्रण मे आनेवाला, भारत सरकार का पूर्णत: स्वामित्वाधीन उद्यम है। कंपनी अधिनियम, 1956 के अंतर्गत दिनाकं 22 अक्टूबर 2003 को निगमित एक सार्वजनिक कंपनी है जिसका उद्देश्य परमाणु ऊर ...

                                               

भारी पानी बोर्ड

भारी पानी बोर्ड, भारत के परमाणु ऊर्जा विभाग के अंतर्गत उद्योग एवं खनिज क्षेत्र की एक संघटक इकाई है, जो नाभिकीय विद्युत के साथ-साथ अनुसंधान रिएक्‍टरों में मंदक एवं शीतलक के रूप में उपयोग किये जाने वाले भारी पानी के उत्‍पादन के लिए मुख्‍य रूप से उत ...

                                               

विधान परिषद

विधान परिषद कुछ भारतीय राज्यों में लोकतंत्र की ऊपरी प्रतिनिधि सभा है। इसके सदस्य अप्रत्यक्ष चुनाव के द्वारा चुने जाते हैं। कुछ सदस्य राज्यपाल के द्वारा मनोनित किए जाते हैं। विधान परिषद विधानमंडल का अंग है। आंध्र प्रदेश, बिहार, कर्नाटक, महाराष्ट्र ...

                                               

पुष्पा गुजराल साइंस सिटी

पुष्पा गुजराल साइंस सिटी, भारत में सबसे बड़ी विज्ञान नगरियों में से एक है। इस विज्ञान नगरी का नाम भारत के पूर्व प्रधानमंत्री श्री इन्द्र कुमार गुजराल की मां के नाम पर रखा गया है। यह भारत के राज्य पंजाब के कपूरथला जिले में जालंधर-कपूरथला मार्ग पर ...

                                               

विक्रमादित्य प्रतिमा

विक्रमादित्य प्रतिमा मध्य प्रदेश के उज्जैन नगर में महाकाल मन्दिर के पीछे विक्रम टीला पर स्थित ३० फुट ऊँची विक्रमादित्य की प्रतिमा है। पीतल से निर्मित इस मूर्ति के निर्माण में १ करोड़ रूपए खर्च हुए हैं। इसे उज्जैन नगर निगम और सिंहस्थ तैयारी समिति ...

                                               

राजस्थान संस्कृत अकादमी

राजस्थान सरकार द्वारा संस्कृत साहित्य के उन्नयन और विकास के लिए 1982 में गठित स्वायत्तशासी अकादमी, जिसका मुख्यालय जयपुर में है। इस अकादमी की ओर से कवि माघ पुरस्कार प्रदान किया जाता है

                                               

श्री लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय संस्कृत विद्यापीठ

श्री लालबहादुर शास्त्री राष्ट्रिय संस्कृत विद्यापीठ भारत की राजधानी दिल्ली स्थित एक मानित विश्वविद्यालय है। वर्तमान कुलपति प्रोफेसर रमेश कुमार पाण्डेय हैं।

                                               

इफको

इफको या इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर कोआपरेटिव लिमिटेड विश्व का सबसे बड़ा उर्वरक सहकारिता संस्था है। इफको में ४० हजार सहकारिताएँ इसके सदस्य हैं। 3 नवम्बर 1967 को इंडियन फारमर्स फर्टिलाइजर कोआपरेटिव लिमिटेड इफको का पंजीकरण एक बहुएकक सहकारी समिति के ...

                                               

भारत में जल आपूर्ति और स्वच्छता

भारत में पेयजल आपूर्ति और स्वच्छता, सरकाऔर समुदायों के विस्तृत कार्यक्षेत्र में सुधार के विभिन्न स्तरों के लंबे प्रयासों के बावजूद अपर्याप्त है। पानी और स्वच्छता में निवेश का स्तर, अंतरराष्ट्रीय मानकों से कम है, हालांकि 2000 के बाद से इसमें वृद्ध ...

                                               

स्वच्छ सर्वेक्षण २०१७

स्वच्छ भारत अभियान के अन्तर्गत प्रतिवर्ष भारत के नगरों और कस्बों को स्वच्छ नगर का सम्मान दिया जाता है। ४ मई २०१७ को पहली बार भारत सरकार ने नगरों को स्वच्छता के आधापर अनुक्रमित किया। इसमें इन्दौर को सबसे स्वच्छ नगर होने का गौरव मिला।

                                               

जाटव

जाटव भारत का एक सामाजिक समूह है जिसे चमार जाति का एक भाग भी माना जाता है। यह आधुनिक भारत के सकारात्मक भेदभाव प्रणाली में अनुसूचित जाति के रूप में वर्गीकृत की जाती है जो समुदायों में से एक मानी जाती है।

                                               

अनिर्धार्य समीकरण

जिस समीकरण के अनन्त हल हों उसे अनिर्धार्य समीकरण कहते हैं। जैसे, 2x = y एक सरल अनिर्धार्य समीकरण है। अनिर्धार्य समीकरणों को हल करने के लिये कुछ और प्रतिबन्ध दी जानी चाहिये। उदाहरण a x + b y = c {\displaystyle \ ax+by=c} x 2 − P y 2 = 1 {\displays ...

                                               

कुट्टाकार शिरोमणि

कुट्टाकार शिरोमणि मध्यकाल में रचित भारतीय गणित ग्रन्थ है। इसकी भाषा संस्कृत है। यह ग्रन्थ पूर्णतः कुट्टक के बारे में है। इसके रचयिता देवराज हैं जिनके बारे में बहुत कम ज्ञात है।

                                               

गणित-युक्ति-भाषा

गणितयुक्तिभाषा नाम के कम से कम तीन अलग-अलग ग्रन्थ हैं- १ युक्तिभाषा -- यह मलयालम में है। १५३० ई में ज्येष्ठदेव द्वारा रचित गणित एवं ज्योतिष ग्रन्थ २ युक्तिभाषा -- यह संस्कृत में है। इसका रचनाकाल और रचयिता का ठीक-ठीक पता नहीं है। किन्तु यह उपरोक्त ...

                                               

गोपाल (गणितज्ञ)

गोपाल एक प्राचीन भारतीय गणितज्ञ थे। इन्होने ११३५ में उन संख्याओं का अध्ययन किया था जिन्हें आजकल फिबोनाकी संख्याएँ या गोपाल-हेमचन्द्र संख्याएँ कहा जाता है।

                                               

चीनी शेषफल प्रमेय

चीनी शेषफल प्रमेय को निम्नलिखित शब्दों में व्यक्त किया जा सकता है- यदि n i युग्मशः अभाज्य pairwise coprime हों यदि a 1., a k कोई पूर्णांक हैं, तो एक पूर्णांक x ऐसा होगा कि, x ≡ a 1 mod n 1 ⋮ x ≡ a k mod n k, {\displaystyle {\begin{aligned}x\equiv ...

                                               

ज्येष्ठदेव

ज्येष्ठदेव भारत के एक खगोलशास्त्री एवं गणितज्ञ थे। वे केरलीय गणित सम्प्रदाय से सम्बन्धित थे जिसकी स्थापना संगमग्राम के माधव ने की थी। युक्तिभाषा उनकी प्रसिद्ध रचना है जो नीलकण्ठ सोमयाजि द्वारा रचित तन्त्रसंग्रह की मलयालम भाषा में टीका है। युक्तिभ ...

                                               

ज्योतिर्मीमांसा

ज्योतिर्मीमांसा नीलकण्ठ सोमयाजि द्वारा रचित खगोलशास्त्रीय ग्रन्थ है। इसकी रचना १५०४ के आसपास हुई। इस ग्रन्थ में इस बात पर बल दिया गया है कि खगोलीय प्रेक्षणॉं के महत्व पर बल दिया गया है जिससे गणना के लिये सही प्राचल प्राप्त किये जा सकें और अधिक से ...

                                               

डी के रायचौधुरी

द्विजेन्द्र कुमार रायचौधुरी ओहियो स्टेट विश्वविद्यालय के प्रतिष्‍ठित आचार्य हैं। श्री रायचौधुरी एवं उनके शिष्य आर एम विल्सन ने मिलकर १९६८ में किर्कमैन स्कूली छात्रा समस्या का हल प्रस्तुत किया था। डी के रायचौधुरी ने कोलकाता विश्वविद्यालय से १९५६ म ...

                                               

द्विघात समीकरण

गणित मे द्विघात समीकरण द्वितीय घात का एक बहुपद समीकरण होता है जिसका मानक समीकरण a x 2 + b x + c = 0, {\displaystyle ax^{2}+bx+c=0,\,\!} --यह होता है जहाँ अनिवार्यतः a ≠ 0अन्यथा यह एक घातीय रेखीय समी० हो जायेगा वर्ण a, b और c गुणांक कहलाते हैं।

                                               

परहितकरण

परहितकरण खगोलीय गणनाएँ करने की प्राचीन भारतीय पद्धति का नाम है। यह पद्धति मुख्यतः केरल और तमिलनाडु में प्रचलित थी। इसका आविष्कार केरल के खगोलशास्त्री हरिदत्त ने किया था।). नीलकण्ठ सोमयाजिन 1444–1544 ने अपने प्रसिद्ध ग्रन्थ दृक्करण में इसका उल्लेख ...

                                               

पितामह सिद्धान्त

पितामह सिद्धान्त एक खगोल संबन्धी प्राचीन भारतीय ग्रन्थ है जिसके रचयिता पितामह थे। इस ग्रन्थ में सूर्य की गति व चन्द्र संचार की गणनाओं का उल्लेख किया गया है। यह शास्त्र आज अधूरा ही उपलब्ध है। सूर्यसिद्धान्त की भूमिका में पितामह नाम इस प्रकार आया ह ...

                                               

प्रबोध चन्द्र सेनगुप्त

प्रबोध चन्द्र सेनगुप्त प्राचीन भारतीय खगोलविज्ञान के इतिहासकार थे। वे कोलकाता के बेथुने कॉलेज में गणित के प्रोफेसर तथा कोलकाता विश्वविद्यालय में भारतीय खगोलिकी एवं गणित के प्रवक्ता थे।

                                               

बर्नूली संख्या

भिन्नों की एक श्रेणी को बर्नौली संख्याएँ Bernoulli number दिया जाता है, जैसे 1/6, 1/30, 1/42, 1/30, 5/66.आदि। जेकब बर्नौली Jacob Bernoulli ने इस श्रेणी का प्रतिपादन किया था तथा उन्होंने इसका उपयोग प्रथम x पूर्णांकों के n घातों का योग निकालने के ल ...

                                               

ब्रह्मगुप्त अन्तर्वेशन सूत्र

ब्रह्मगुप्त का अन्तर्वेशन सूत्र भारतीय गणितज्ञ ब्रह्मगुप्त द्वारा प्रस्तुत एक अन्तर्वेशन सूत्र है जो दो घात वाले बहुपद का उपयोग करता है। इस अन्तर्वेशन का वर्णन उनके प्रसिद्ध ग्रन्थ खण्डखाद्यक के परिशिष्ट में आया है। यही श्लोक ब्रह्मगुप्त द्वारा इ ...

                                               

भारतीय गणित

गणितीय गवेषणा का महत्वपूर्ण भाग भारतीय उपमहाद्वीप में उत्पन्न हुआ है। संख्या, शून्य, स्थानीय मान, अंकगणित, ज्यामिति, बीजगणित, कैलकुलस आदि का प्रारम्भिक कार्य भारत में सम्पन्न हुआ। गणित-विज्ञान केवल औद्योगिक क्रांति का बल्कि परवर्ती काल में हुई वै ...

                                               

भारतीय गणित का इतिहास

सभी प्राचीन सभ्यताओं में गणित विद्या की पहली अभिव्यक्ति गणना प्रणाली के रूप में प्रगट होती है। अति प्रारंभिक समाजों में संख्यायें रेखाओं के समूह द्वारा प्रदर्शित की जातीं थीं। यद्यपि बाद में, विभिन्न संख्याओं को विशिष्ट संख्यात्मक नामों और चिह्नो ...

                                               

भारतीय गणितज्ञों की सूची

सिन्धु सरस्वती सभ्यता से आधुनिक काल तक भारतीय गणित के विकास का कालक्रम नीचे दिया गया है। सरस्वती-सिन्धु परम्परा के उद्गम का अनुमान अभी तक ७००० ई पू का माना जाता है। पुरातत्व से हमें नगर व्यवस्था, वास्तु शास्त्र आदि के प्रमाण मिलते हैं, इससे गणित ...

                                               

भास्कर प्रमेयिका

निम्नलिख सर्वसमिका को भास्कर प्रमेयिका कहते हैं। यह सर्वसमिका चक्रवाल विधि में प्रयुक्त होती है। N x 2 + k = y 2 ⟹ N m x + y k 2 + m 2 − N k = m y + N x k 2 {\displaystyle \,Nx^{2}+k=y^{2}\implies \,N\left{\frac {mx+y}{k}}\right^{2}+{\frac {m^{2} ...