ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 288




                                               

लज्जा

लज्जा या संकोच किसी व्यक्ति की वह भावना है जिसके कारण उसे दूसरे व्यतियों के साथ बैठने, बातचीत करने आदि में परेशानी होती है। यह भावना प्रायः नयी जगहों पर या अपरिचित लोगों के बीच में जाने पर अधिक प्रबल होती है। संकोच की भावना कम आत्मविश्वास वाले व् ...

                                               

विचार-नियंत्रण

विचार नियंत्रण एक विवादास्पद सिद्धान्त है जो मानता है कि मनुष्य को कुछ इस प्रकार शिक्षित किया जा सकता है कि उसके स्वतंत्र चिन्तन करने की क्षमता बिलकुल कम हो जाय। इसे बलात् अनुनय तथा पुनःशिक्षण तथा मस्तिष्कधावन भी कहते हैं।

                                               

विद्यालयी मनोविज्ञान

विद्यालयी मनोविज्ञान वह विधा है जो शैक्षिक मनोविज्ञान और विकासात्मक मनोविज्ञान आदि के सिद्धान्तों का उपयोग करते हुए बच्चों एवं किशोर-किशोरियों के व्यवहार सम्बन्धी स्वास्थ्य तथा सीखने से सम्बन्धित आवश्यकताओं की पूर्ति करता है।

                                               

विभेदक मनोविज्ञान

विभेदक मनोविज्ञान मनोविज्ञान की एक शाखा है जो व्यक्तियों के व्यवहार की विभिन्नताओं एवं उन भिन्नताओं के कारणों का अध्ययन करती है। व्यक्तिगत विभिन्नताओं के जनक फ्रांसिस गाल्टन है।

                                               

वैश्लेषिक मनोविज्ञान

वैश्लेषिक मनोविज्ञान मनोविज्ञान की एक शाखा है जिसका आरम्भ स्विस मनोविकारविज्ञानी कार्ल युंग ने किया। यह सिग्मुंड फ़्रोइड के मनोविश्लेषी सम्प्रदाय से बिल्कुल भिन्न है। वैश्लेषिक मनोविज्ञान का मुख्य ध्येय सार्थक जीवन है जिसमें जीवन के परार्ध में व् ...

                                               

व्यक्तित्व

व्यक्तित्व आधुनिक मनोविज्ञान का बहुत ही महत्वपूर्ण एवं प्रमुख विषय है। व्यक्तित्व के अध्ययन के आधापर व्यक्ति के व्यवहार का पूर्वकथन भी किया जा सकता है। प्रत्येक व्यक्ति में कुछ विशेष गुण या विशेषताएं होती हो जो दूसरे व्यक्ति में नहीं होतीं। इन्ही ...

                                               

व्यक्तित्व परीक्षण

व्यक्ति के व्यक्तित्व की विशिष्टताओं का पता लगाने के लिये रची गयी प्रश्नावली या किसी अन्य मानक युक्ति को व्यक्‍तित्व परीक्षण कहते हैं।

                                               

व्यक्तित्व मनोविज्ञान

व्यक्तित्व मनोविज्ञान मनोविज्ञान की वह शाखा है जो व्यक्तित्व एवं व्यक्तिगत अन्तरों का अध्ययन करती है। सामान्यतः व्यक्तित्व का अर्थ व्यक्ति के उपरी हाव-भाव उसके पहनावे से लिया जाता है परन्तु मनोविज्ञान में व्यक्तित्व से आशय व्यक्ति के मनोभावों से ...

                                               

व्यवहार प्रक्रिया

सांसारिक उद्दीपनों की टक्कर खाकर सजीव प्राणी अपना अस्तित्व बनाए रखने के निमित्त कई प्रकार की प्रतिक्रियाएँ करता है। उसके व्यवहार को देखकर हम प्राय: अनुमान लगाते हैं कि वह किस उद्दीपक या परिस्थिति विशेष के लगाव से ऐसी प्रतिक्रिया करता है। जब एक चि ...

                                               

संज्ञानवाद

मनोविज्ञान में, संज्ञानवाद मन को समझने का एक सिद्धान्त है जो १९५० के दशक में सामने आया। इस आन्दोलन का जन्म व्यवहारवाद के विरोधस्वरूप हुआ क्योंकि संज्ञानवादियों का मानना था कि व्यवहारवाद, संज्ञान की व्याख्या करने से बचता रहा था। संज्ञानात्मक मनोवि ...

                                               

संज्ञानात्मक नक्शे

संज्ञानात्मक नक्शा, मानसिक प्रतिनिधित्वा का एक प्रकार है जो प्रतिएक व्यक्ति को अधिग्रहण कोड, यादास्त और सूचना डिकोड तथा अनिवार्या स्थानिक वातावरण और घटना की विशेषताओं के बारे में जानकारी का कार्य करता है। यह अवधारणा 1948 में एडवर्ड टॉल्मन द्वारा ...

                                               

संज्ञानात्मक विकास

संज्ञानात्मक विकास तंत्रिकाविज्ञान तथा मनोविज्ञान का एक अध्ययन क्षेत्र है जिसमें बालक द्वारा सूचना प्रसंस्करण, भाषा सीखने, तथा मस्तिष्क के विकास के अन्य पहलुओं पर ध्यान केन्द्रित किया जाता है। संज्ञान कॉग्नीशन से तात्पर्य मन की उन आन्तरिक प्रक्रि ...

                                               

संरचनावाद (मनोविज्ञान)

मनोविज्ञान में संरचनावाद या संरचनात्मक मनोविज्ञान, विल्हेम वुन्ट तथा एडवर्ड ब्रडफोर्ड टिचनर द्वारा विकसित एक चेतना सिद्धान्त है। मनोविज्ञान को दर्शनशास्त्र से अलग करके क्रमबद्ध अध्ययन करने का श्रेय संरचनावाद को जाता है, जिसके प्रवर्तक विलियम बुण् ...

                                               

संविभ्रम

संविभ्रम एक गंभीर भावात्मक विकार है और तर्कसंगत, सुसंबद्ध, जटिल तथा प्राय: उत्पीड़क विभ्रमों या मिथ्या विश्वासों का उत्तरोत्तर बढ़ता हुआ सिलसिला इसका आंतरिक लक्षण है। संविभ्रमी व्यक्ति को अपनी योग्यता, प्रभुता, पद की वरिष्ठता, या निरंतर यातना का ...

                                               

संवेगात्मक बुद्धि

संवेगात्मक बुद्धि स्वयं की एवं दूसरों की भावनाओं अथवा संवेगों को समझने, व्यक्त करने और नियंत्रित करने की योग्यता है। दूसरे शब्दों में, अपनी और दूसरों की भावनाओ को पहेचानने की की क्षमता, अलग भावनाओं के बीच भेदभाव और उन्हें उचित रूप से लेबल करना, स ...

                                               

समाज मनोविज्ञान

सामाजिक मनोविज्ञान मनोविज्ञान की वह शाखा है, जिसके अन्तर्गत इस तथ्य का वैज्ञानिक अध्ययन किया जाता है कि किसी दूसरे व्यक्ति की वास्तविक, काल्पनिक, अथवा प्रच्छन्न उपस्थिति हमारे विचार, संवेग, अथवा व्यवहार को किस प्रकार से प्रभावित करती है।। यहाँ वै ...

                                               

समायोजन (मनोविज्ञान)

मनोविज्ञान में, परस्पर विरोधी आवश्यकताओं को संतुलित करने की व्यवहार-सम्बन्धी प्रक्रिया को समायोजन कहते हैं। इसी प्रकार पर्यावरण की कठिनाइयों एव्ं बाधाओं को ध्यान में रखते हुए व्यवहार में जो परिवर्तन किये जाते हैं उन्हें समायोजन कहते हैं।

                                               

सांस्कृतिक-ऐतिहासिक मनोविज्ञान

सांस्कृतिक-ऐतिहासिक मनोविज्ञान, मनोविज्ञान की एक शाखा है जिसका विकास लिव वाइगोत्सकी, अलेक्सांद्र लूरिया तथा उनके मण्डल द्वारा १९२० और १९३० के दशकों के मध्य प्रतुत किया गया। यद्यपि वाइगोत्सकी के लेखन में सांस्कृतिक-ऐतिहासिक मनोविज्ञान कहीं भी नहीं ...

                                               

सामूहिक कार्य

सामूहिक कार्य स्वैच्छिक रूप से जुड़े हुए विद्यार्थियों का समूह होता है जो सहकारी अधिगम से परस्पर लाभान्वित होते हैं। सामूहिक कार्य से पूरे समूह का जो ऑउटपुट मिलता है वह सभी विद्यार्थियों के अपने-अपने अकेले के ऑउटपुट के योग उस ऑउटपुट से अधिक होता है।

                                               

स्किजोफ्रीनिया

स्किज़ोफ्रीनिया मनोदशा में मनुष्य को अपने व्यक्तित्व का कुछ ज्ञान ही नहीं रह जाता। उसके जीवन में न तो उल्लास का प्रश्न रहता है, न विषाद का। अतएव इस मनोदशा को दूसरा बचपन कहा जा सकता है। इस मनोदशा में आने पर रोगी में अपने आपको सँभालने की कोई शक्ति ...

                                               

स्टॉकहोम सिंड्रोम

स्टॉकहोम सिंड्रोम एक ऐसी स्थिति होती है जब अगुवा होने वाले व्यक्ति को अपने अपहर्ता के साथ सहानुभूति हो जाती है। ये कैद के दौरान अस्तित्व के लिये एक रणनीति का रूप माना जात हैं। निल्स बेजरोट ने इस शब्द को गढ़ा जो की एक स्वीडिश अपराधविज्ञानी और मनोच ...

                                               

स्मृति (मनोविज्ञान)

हमारी यादें हमारे व्यक्तित्व का एक प्रमुख अंग हैं। हम क्या याद रखते हैं और क्या भूल जाते है यह सब बहुत सारी चीजों पर निर्भर करता है। भाषा, दृष्टि, श्रवण, प्रत्यक्षीकरण, अधिगम तथा ध्यान की तरह स्मृति भी मस्तिष्क की एक प्रमुख बौद्धिक क्षमता है। हमा ...

                                               

आस्ट्रेलोपिथिक्स

आस्ट्रेलोपिथिक्स दक्षिण अफ्रीका में निवास करनेवाला बानर मानव था। यह होमोनिड्स से मिलता जुलता था। यह लगभग चालीस लाख वर्ष पूर्व से बीस लाख पूर्व तक पाया जाता था।यह कपि व मानव के बीच कड़ी है।इसे रेमंड डार्ट ने खोजा था।इसे तवान्ग बेबी कहते हैं। यह पह ...

                                               

जावा मानव

जावा मानव या पिथिकांथ्रोपस एरेक्टस वानर मानव था। जावाद्वीप में एक नदी की रेत में इसकी खोपड़ी का उपरी भाग दॉत और जाँघ की हड्डी मिली है। अध्ययन के बाद यह पता चला कि ये हड्डियाँ एक ऐसे होमिनिड्स की हैं जो सीधा होकर चल सकता था। इसलिए, इसे पिथिकांथ्रो ...

                                               

पारदर्शिता (व्यवहार)

पारदर्शिता का अर्थ है - खुलापन, सूचना की आसानी से प्राप्ति और उत्तरदायित्व। किसी भी लोकतांत्रिक राजनीतिक व्यवस्था में जवाबदेही और पारदर्शिता बुनियादी मूल्य हैं। सरकार हो या नौकरशाही, पार्टियाँ हों या गैरसरकारी स्वयंसेवी संगठन, सभी से आशा की जाती ...

                                               

पीकिंग मानव

पीकिंग के निकट एक गुफा में जावा मानव की तरह जीवों के जीवाश्म मिले हैं, इसे पीकिंग मानव या सिनांथ्रोपस कहा जाता है। यह जावा मानव से कुछ अधिक विकसित था। यह आग जलाना भी जानता था। यह आज से लगभग 5.00.000 वर्ष पूर्व रहता था।

                                               

मानवनुमा

मानवनुमा या होमिनिड, जिन्हें महावानर भी कहते हैं, एक ऐसे प्राणी परिवार का नाम है जिनमें कपि परिवार की वे सारी नस्लें शामिल हैं जो मनुष्य हों या मनुष्य जैसी हों। इनमें मनुष्य, चिम्पान्ज़ी, गोरिल्ला और ओरन्गउटान के वंश आते हैं। कुछ ऐसी भी मानवनुमा ...

                                               

सहभागी प्रेक्षण

सहभागी अवलोकन पद्धति मानव विज्ञान की सर्वप्रमुख विशेषता है। इसके अंतर्गत मानवविज्ञानी एक निश्चित समय अपने द्वारा अध्ययन किए जा रहे मानव समूह के साथ बिताते हैं। यह समय कम से कम एक वर्ष होता है। मानवविज्ञानी जनसमूह में घुल मिल कर रहता है। इससे जो अ ...

                                               

अणु भार

किसी अणु का अणु भार वह संख्या है जो दर्शाती है कि उसका एक अणु, कार्बन-१२ के एक परमाणु के भार के १२वें भाग से कितने गुना भारी है। उदाहरण के लिये, मिथेन का जो दर्शाता है कि मिथेन का एक अणु का भार कार्बन-१२ के एक परमाणु के १२वें भाग से १६ गुना भारी है।

                                               

अवक्षेपण

अवक्षेपण का अर्थ है - किसी ठोस पदार्थ का बनना। किसी द्रव विलयन में रासायनिक अभिक्रिया होने पर यदि कोई ठोस उत्पाद बनता है तो उसे ही अवक्षेप कहते हैं।

                                               

आक्सीकारक

आक्सीकारक या उपचायक वे पदार्थ हैं, जो किसी अन्य पदार्थ को आक्सीकृत कर सकते हैं। अपनी आक्सीकरण की क्षमता के कारण ये अन्य पदार्थो के इलेक्ट्रानो को खीच कर ग्रहण कर लेते हैं। उदाहरण: "ऑक्सीजन, ओजोन आदि।

                                               

आण्विक ज्यामिति

आण्विक ज्यामिति से तात्पर्य किसी अणु में परमाणुओं की त्रिबीमीय स्थिति से है। आणविक ज्यामिति कई कारणों से महत्वपूर्ण है। इससे ही पदार्थ के अनेक गुण जैसे क्रियाशीलता, ध्रुवता, रंग, फेज, चुम्बकीयता तथा जैविक क्रियाशीलता आदि निर्धारित होते हैं।

                                               

उर्ध्वपातन (रसायन)

उर्ध्वपातन एक भौतिक-रासायनिक प्रक्रिया है जिसमें कोई पदार्थ अपनी ठोस अवस्था से सीधे गैस मे परिवर्तित हो जाता है । इस पूरी प्रक्रिया के दौरान पदार्थ की अवस्था किसी मध्यवर्ती द्रव अवस्था मे परिवर्तित नहीं होती है। कपूर का ठोस अवस्था से सीधे वाष्प क ...

                                               

एमाइड

ऐमाइड अमोनिया के हाइड्रोजन को वसीय या सौरभिक अम्ल मूलक द्वारा प्रतिस्थापित यौगिक है। इसमें अम्ल से कार्बोक्सिल मूलक का हाइड्रॉक्सिल मूलक ऐमिडोमूलक NH 2 जैसे । ये तीन वर्ग के हैं: प्राथमिक R.CO.N H 2, द्वितीयक 2 तथा त्रितीयक 3 N* इनमें से केवल प्र ...

                                               

ऐमीन

ऐमीन को अमोनिया के एक, दो अथवा तीनों हाइड्रोजन परमाणुओं को ऐल्किल और/अथवा ऐरिल समूहों द्वारा विस्थापित कर प्राप्त हुए व्युत्पन्न के रूप में माना जा सकता है।

                                               

ऑक्सीजन चक्र

ओक्सिजमन च्क्र् --ओक्सिजन जैव मण्डल मे एक महतवपुर्न भुमिका निभाता है इस्मे ओक्सिजन विभिन्न रासायनिक रुपो मे एक च्हक्रिय क्रम के तहत वातावरण से जिव धारियो तक पहुच्हता है और फिर वातावरण को वापस कर दिया जाता है।

                                               

औषधीय रसायन

औषधीय रसायन औषधीय कारकों या जैव-सक्रिय अणुओं के डिजाइन और रासायनिक संश्लेषण से सम्बद्ध रसायन विज्ञान है। यह रसायन विज्ञान, भेषजगुण विज्ञान तथा अनेकों अन्य जीववैज्ञानिक विशेषज्ञताओं की सम्मिलित विधा है। इस विज्ञान की शाखा में आपको हर रोगों का इलाज ...

                                               

कार्बन समूह

कार्बन के कई अपरूप होते है। सबसे सामान्य रूप में मिलने वाला कार्बन का अपरूप ग्रेफाइट है।

                                               

कुशल इलेक्ट्रोलिसिस

कुशल और भरपूर मात्रा में वैकल्पिक ईंधन लगाने की इस् दौड मे, शोधकर्ताओं ने हमेशा जब समुद्री जल के बंटवारे की एक कारगर तरीका अपनाने के लिए हाइड्रोजन ईंधन का उत्पादन करने की कोशिश की है तब मात खाई है। जून 10 पर, इलेक्ट्रोमटेरियल् विज्ञान के लिए उत्क ...

                                               

कृत्रिम तत्वान्तरण

चैडविक ने बेरीलियम पर अल्फा कण के द्वारा न्यूट्रॉन प्राप्त किया। यह एक अनावेशित कण है, जिसके प्रयोग के पश्चात यह पता चला कि परमाणु में न्यूट्रॉन पाया जाता है। इस खोज के पश्चात कृत्रिम तत्वान्तरण सरल हो गया।

                                               

कृषि रसायन

कृषि रसायन रसायन विज्ञान की वह शाखा है जिसका संबन्ध कृषि से है। इसमें रसायन विज्ञान और जैवरसायन दोनो का अध्ययन किया जाता है।

                                               

कैडावरिन

कैडावरिन पशु ऊतकों की अपघटन द्वारा उत्पादित दुर्गंधयुक्त डाईमीन यौगिक है। कैडावरिन एक ज़हरीला पदार्थ है, जिसका सूत्र NH25NH2 है। कैडावरिन को १,५-पैंटेनडाईमीन और पेंटामिथाइलीनडाईमीन भी कहा जाता है।

                                               

क्रिस्टलन जल

क्रिस्टल के अन्दर विद्यमान जल को क्रिस्टलन जल कहते हैं। क्रिस्टल बनने के लिये जल प्रायः आवश्यक होता है। कुछ सन्दर्भों में, किसी दिये हुए ताप पर, किसी पदार्थ में उपस्थित जल की कुल मात्रा को क्रिस्टलन जल कहते हैं। जल की यह मात्रा एक निश्चित अनुपात ...

                                               

अभिकलनात्मक रसायन

अभिकलनात्मक रसायन, रसायन विज्ञान की एक शाखा है जिसमें रासायनिक गणनाओं के हल के लिये संगणक के सिद्धांतों का उपयोग किया जाता है। इसमें अणुओं और ठोसों की संरचना और गुणधर्मों की गणना करने के लिए एक दक्ष कम्प्यूटर प्रोग्राम में सैद्धान्तिक रसायन के पर ...

                                               

ग्रीन केमिस्ट्री

ग्रीन केमिस्ट्री ग्रीन केमिस्ट्री रसायनशास्त्र के अन्य सभी शाखाऍ जैसे कार्बनिक, अकार्बनिक, अनुसन्धानिक, पर्यावरण, भौतिक आदि को प्रभावित करती है। ग्रीन केमिस्ट्री पर्यावरण रसायन की तरह नही है क्यौंकी पर्यावरण रसायन मे पर्यावरण मे हो रहे रसायनिक बद ...

                                               

जल का विद्युत अपघटन

जब जल से होकर विद्युत धारा प्रवाहित की जाती है तो जल के अणुओं का विघटन हो जाता है और हाइड्रोजन एवं आक्सीजन प्राप्त होतीं हैं। इसे ही जल का विद्युत अपघटन कहते हैं। चूंकि शुद्ध जल, विद्युत का कुचालक है, इसलिये शुद्ध जल में बहुत कम मात्रा में अम्ल म ...

                                               

जलीय विलयन

जलीय विलयन जल में विलायक को मिला कर बनाया गया एक प्रकार का विलयन होता है। अर्थात जल से बनाया जाने वाला विलयन या ऐसा पदार्थ जो जल में पूर्ण रूप से घुलनशील है। उदाहरण के लिए सोडियम जल से क्रिया कर पूर्ण रूप से घुल जाता है। इसे रासायनिक अभिक्रिया के ...

                                               

जलीय विश्लेषण

जलीय विश्लेषण यह शब्द ग्रीक शब्द से लिया गया है। । आमतौपर इसका मतलब होता है पानी डालकर किसी रसायनिक बोंड को तोडना। मुख्यतः यह किसी पदार्थ के पतन कि प्रक्रिया में एक स्टेप होता है। जलीय विश्लेषण की प्रक्रिया विपरीत भी हो सकती है। मतलब जिसमे दो अणु ...

                                               

जीव द्रव्य

यह एक अर्द्ध पारदर्शक, चिपचिपा तथा तरल जीवित पदार्थ है जो प्रतेक कोशिका में कोशिका झिल्ली के अंदर पाया जाता है। रासायनिक दृष्टि से यह कार्बोनिक तथाअकार्बनिक पदार्थो का एक मिश्रण है। इसका उपयोग सभी जीवों द्वारा ईंधन के रूप में किया जाता है। यह कार ...

                                               

टिटिन

टिटिन एक प्रकार का प्रोटीन होता है। इसके नामकरण के दौरान इसका नाम कुल 1.89.819 अक्षर में रखा गया था। बाद में जब इस नाम के कारण मुसीबत हुई तो इस शब्द को शब्दकोश से ही हटा दिया गया। अब इसे केवल टिटिन के या छोटे अन्य नामों से ही जाना जाता है। इसका आ ...