ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 298




                                               

जैव सांख्यिकी (बॉयोमेट्रिक्स)

बॉयोमेट्रिक्स विशिष्टतया एक या एक से अधिक आंतरिक शारीरिक या व्यवहारिक लक्षण पर आधारित मानव पहचानने के तरीकों के सन्दर्भ में प्रयुक्त होता है। सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में, विशेष रूप से, बॉयोमेट्रिक्स का उपयोग परिचय अभिगम प्रबंधन और अभिगम निय ...

                                               

अंतरजाल पर विपणन

ऑनलाइन विज्ञापन जिसे की इन्टरनेट विज्ञापन भी कहा जाता है, इन्टरनेट के माध्यम से विज्ञापनों को उपभोक्ताओं तक पहुंचाती है। इसके अंतर्गत ई मेल मार्केटिंग, सर्च इंजन मार्केटिंग, सोशल मीडिया मार्केटिंग, विभिन्न प्रकार के दृश्य मीडिया विज्ञापन तथा मोबा ...

                                               

ऑनलाइन विज्ञापन

साँचा:Ecommerce ऑनलाइन विज्ञापन प्रचार का एक ऐसा स्वरूप है जो ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए विपणन संदेशों के वितरण के निश्चित उद्देश्य से इंटरनेट और वर्ल्ड वाइड वेब का उपयोग करता है। ऑनलाइन विज्ञापन के उदाहरणों में शामिल हैं खोज इंजन परिणामी पृ ...

                                               

नीलम देओ

नीलम देओ 1975 बैच की भारतीय विदेश सेवा अधिकारी हैं, जिन्होंने डेनमार्क और कोटे डी आइवर में भारत के राजदूत के रूप में सेवा की, जो सिएरा लियोन, नाइजर और गिनी के समवर्ती मान्यता प्राप्त है। अपने करियर के दौरान, वह दो अवसरों पर अमेरिका में वाशिंगटन, ...

                                               

झलकारी बाई

झलकारी बाई झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई की नियमित सेना में, महिला शाखा दुर्गा दल की सेनापति थीं। वे लक्ष्मीबाई की हमशक्ल भी थीं इस कारण शत्रु को धोखा देने के लिए वे रानी के वेश में भी युद्ध करती थीं। अपने अंतिम समय में भी वे रानी के वेश में युद्ध करत ...

                                               

मणिबेन पटेल

मणिबेन वल्लभभाई पटेल भारत की एक स्वतन्त्रता सेनानी तथा सांसद थीं। वे सरदार वल्लभभाई पटेल की पुत्री थीं। उनकी शिक्षा-दीक्षा मुम्बई में हुई थी। महात्मा गांधी की शिक्षाओं से प्रभावित होकर शिक्षा के बाद वे १९१८ के बाद से अहमदाबाद स्थित गांधीजी के आश् ...

                                               

लीला नाग(राय)

{{श्रेणी: स्वतंत्रता सेनानी" जन्म दीपाली संघ की संस्थापिका पिता गिरीश चन्द्र नाग माँ कुंजलता नाग १९२१ ई० में अग्रेजी आनर्स में बौ०ए० १९२३ ई० में ढाका वि० वि० से एम० ए० १९३२ ई० में दिपाली संघ की स्थापना ढाका में की। गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर ने शा ...

                                               

विमल प्रतिभा देवी

जन्म- दिसंबर 1901 ई0 कटक में। 1927 ई0 में भारत नौजवान सभा की बंगाल शाखा की अध्यक्ष। 27 जून 1920 ई0 को नमक सत्याग्रह में गिरफ्तार हुईं। 1931 ई0 में मानीतल्ला डकैती केश में गिरफ्तार। 1938 ई0 में रिहा हुईं। 27 जनवरी 1941 ई0 को राजद्रोह मूलक पैम्पलैट ...

                                               

सुनीति चौधुरी

सुनीति चौधुरी भारत की एक क्रान्तिकारी नारी थीं। स्वतंत्रता संग्राम में बहुत कम अवस्था में बडा कारनामा करके दिखाने वाली सुनीति उस समय के प्रसिद्ध दीपाली संघ की सदस्या थीं। आजादी की लडाई में सुनीति चौधुरी का कारनामा सुनकर लोग आज भी दाँतों तले अँगुल ...

                                               

सुहासिनी गांगुली

सुहासिनी गांगुली भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की सेनानी थी। उनका जन्म खुलना में हुआ। पैत्रिक घर ढाका, जिला विक्रमपुर के बाघिया गाँव में था। पिता अविनाश चन्द्र गांगुली और माता सरलासुन्दरी देवी की बेटी सुहासिनी १९२४ में ढाका ईडन हाईस्कूल से मैट्रिक पा ...

                                               

2003 फनोम पेन्ह दंगे

सन् 2003 के जनवरी में, एक कम्बोडियन अखबार के लेख में यह झूठा आरोप लगाया गया था कि एक थाई अभिनेत्री शुभानन्त कांगयिंंग ने दावा किया था कि अंगकोर वाट थाईलैंड का ही एक हिस्सा था। अन्य कम्बोडियन समाचार पत्रों और रेडियो मीडिया द्वारा इस खबर को ओर उछाल ...

                                               

2016 बिहार टॉपर घोटाला

2016 बिहार स्कूल की परीक्षा घोटाला या टॉपर घोटाला भारतीय राज्य बिहार में एक भ्रष्टाचार घोटाला है जो 31 मई 2016 को लाइटलाइट परीक्षा बोर्ड कला और मानविकी टॉपर्स रूबी राय, साइंस टॉपर सौरभ श्रेस्थ और विज्ञान धारा में तीसरे टॉपर राहुल कुमार का साक्षात ...

                                               

आदर्श सोसायटी घोटाला

आदर्श हाउसिंग सोसायटी घोटाला मुम्बई की सहकारी गृह निर्माण सम्स्था आदर्श हाउसिंग सोसायटी में हुआ व्यापक भ्रष्टाचार है। इस घोटाले का आरम्भ फरवरी 2002 में हुआ जब महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री से निवेदन किया गया कि मुम्बई के हृदयस्थल में सेना से सेवानिवृ ...

                                               

कोयला घोटाला

कोयला आवंटन घोटाला भारत में राजनैतिक भ्रष्टाचार का एक नया मामला है जिसमें नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक ने भारत सरकापर आरोप लगाया है कि देश के कोयला भण्डार मनमाने तरीके से निजी एवं सरकारी आबंटित कर दिये गये जिससे सन् २००४ से २००९ के बीच ₹ 10.67.000 ...

                                               

चारा घोटाला

चारा घोटाला स्वतन्त्र भारत के बिहार प्रान्त का सबसे बड़ा भ्रष्टाचार घोटाला था जिसमें पशुओं को खिलाये जाने वाले चारे के नाम पर 950 करोड़ रुपये सरकारी खजाने से फर्जीवाड़ा करके निकाल लिये गये। सरकारी खजाने की इस चोरी में अन्य कई लोगों के अलावा बिहार ...

                                               

जन लोकपाल विधेयक आंदोलन २०११

जन लोकपाल विधेयक के निर्माण के लिए जारी यह आंदोलन अपने अखिल भारतीय स्वरूप में ५ अप्रैल २०११ को समाजसेवी अन्ना हजारे एवं उनके साथियों के जंतर-मंतर पर शुरु किगए अनशन के साथ आरंभ हुआ, जिनमें मैग्सेसे पुरस्कार विजेता अरविंद केजरीवाल, भारत की पहली महि ...

                                               

दत्त-शुल्क समाचार घोटाला (भारत)

भारतीय प्रेस परिषद के अनुसार पेड न्यूज किसी उम्मीदवार के प्रचार के पक्ष में नगद या किसी मूल्य के बदले समाचार या लेख के प्रकाशन को संदर्भित करता है। इसे एक गंभीर चुनावी अपराध माना जाता है। जिसके अंतर्गत उम्मीदवारों द्वारा चुनावी व्यय सीमा का उल्लं ...

                                               

नेशनल हेराल्ड प्रकरण

नेशनल हेराल्ड प्रकरण वर्तमान समय में जारी एक मुकदमा है जिसे भारत के प्रसिद्ध राजनेता सुब्रमनियन स्वामी ने सोनिया गाँधी, राहुल गांधी एवं उनकी कम्पनियों एवं उनसे सम्बन्धित अन्य लोगों के विरुद्ध आरम्भ किया है।

                                               

नोट के लिए वोट कांड

वर्ष २००८ में भारतीय संसद में घटित एक घटना जिसमें मनमोहन सिंह सरकार द्वारा विश्वास मत हासिल करने की बहस के दौरान भाजपा के तीन सांसदों ने संसद में एक करोड़ रूपए के नोटों की गड्डियों संसद में दिखाई थी। इन सांसदों का आरोप था कि मनमोहन सरकार ने समाजव ...

                                               

प्रतिव्यक्ति शुल्क

कुछ शैक्षणिक संस्थाएँ अवैध पैसा लेकर प्रवेश देतीं हैं या कोई अन्य शैक्षिक सेवा देतीं हैं। ऐसे अवैध लेनदेन को प्रतिव्यक्ति शुल्क या कैपिटेशन फी कहते हैं।

                                               

भारत के खनन घोटाले

भारत में खनन से सम्बन्धित अनेक घोटाले सामने आये जो प्रायः अयस्क-समृद्ध प्रान्तों में हुए हैं। इन घोटालों के अन्तर्गत वन-क्षेत्रों के अतिक्रमण से लेकर, सरकारी रायल्टी न चुकता करना, जनजातियों के साथ भूमि-अधिकारों को लेकर विवाद आदि शामिल हैं।

                                               

भारत में अवैध आवास

भारत में अवैध आवास के अन्तर्गत वे घर तथा बड़े-बड़े घर आते हैं जो ऐसी जमीन पर बने होते हैं उन घरों के मालिकों के स्वामित्व की नहीं होती हैं। यद्यपि अवैध घर में कुछ मूलभूत सुविधाएँ मिल जातीं हैं किन्तु बहुत सी सुविधाएँ सरकार इन्हें नहीं दे सकती।

                                               

भारत में भ्रष्टाचार

भारत में भ्रष्टाचार चर्चा और आन्दोलनों का एक प्रमुख विषय रहा है। आजादी के एक दशक बाद से ही भारत भ्रष्टाचार के दलदल में धंसा नजर आने लगा था और उस समय संसद में इस बात पर बहस भी होती थी। 21 दिसम्बर 1963 को भारत में भ्रष्टाचार के खात्मे पर संसद में ह ...

                                               

यूरिया घोटाला

यूरिया घोटाला स्वतन्त्रता के बाद भारत में हुए घोटालों में एक प्रमुख घोटाला है। नेशनल फर्टिलाइजर के एमडी सी एस रामकृष्णन ने कई अन्य व्यापारियों, जो कि पी वी नरसिंह राव के नजदीकी थे, के साथ मिलकर दो लाख टन यूरिया आयात करने के मामले में सरकार को 133 ...

                                               

राडिया टेप विवाद

राडिया टेप विवाद व्यापारिक घरानों के भ्रष्टाचार को उजागर करने वाला एक टेलीफोन पर बातचीत का टेप है जिसमें नीरा राडिया नामक दलाल का कई राजनेताओं, पत्रकारों एवं व्यावसायिक घरानों के महत्वपूर्ण व्यक्तियों से टेलीफोन पर हुई बातचीत है जिसे भारत के आयकर ...

                                               

राफेल सौदा विवाद

रफ़ाल सौदा विवाद भारत में लड़ाकू विमान खरीदने को लेकर एक राजनीतिक विवाद है भारत के रक्षा मंत्रालय ने फ्रांस के डसॉल्ट राफेल से ३६ लड़ाकू विमान ख़रीदे हैं जिन का अनुमानित मूल्य Rs 58.000 करोड़ हो सकता है।

                                               

सत्यम घोटाला

सत्यम् घोटाला, भारत का एक कारपोरेट घोटाला था जो सन २००९ में सामने आया था। सत्यम कम्प्यूटर्स लिमिटेड के अध्यक्ष रामलिंग राजू ने २००९ में स्वीकार किया कि इस कम्पनी के खातों में झूठी प्रविष्टियाँ की गयीं थी।

                                               

२जी स्पेक्ट्रम मामला

२जी स्पेक्ट्रम मामला भारत का एक कथित घोटाला था जो सन् २०११ के आरम्भ में प्रकाश में आया था। दिसम्बर 2017 में CBI कोर्ट ने इस मुकद्दमे के सभी आरोपियों को रिहा कर दिया और कहा की ये ग़लत मुकद्दमा किया गया था। वास्तव में ये घोटाला हुआ ही नहीं था।

                                               

आगस्तावेस्टलैण्ड हेलिकॉप्टर घोटाला

आगस्तावेस्टलैण्ड हेलिकॉप्टर घोटाला भारत द्वारा आगस्तावेस्टलैण्ड कम्पनी से खरीदे जा रहे हेलिकॉप्टरों से सम्बन्धित है। यह २०१३-१४ में सामने आया। इसमें कई भारतीय राजनेताओं एवं सैन्य अधिकारियों पर आगस्तावेस्टलैण्ड से मोटी घूस लेने का आरोप है। यूपीए-1 ...

                                               

बौद्धिक संपदा

बौद्धिक संपदा अधिकार, मानसिक रचनाएं, कलात्मक और वाणिज्यिक, दोनों के संदर्भ में विशेष अधिकारों के समूह हैं। प्रथम अधिकार कॉपीराइट क़ानूनों से आवृत हैं, जो रचनात्मक कार्यों, जैसे पुस्तकें, फ़िल्में, संगीत, पेंटिंग, छाया-चित्और सॉफ्टवेयर को संरक्षण ...

                                               

साहूकार

साहुकार वह समूह या व्यक्ति होता है जो व्यक्तिगत तौपर कर्ज़ मुहैया कराता है। वह बैंक या किसी और वित्तीय संस्था से अलग होता है और उनसे कई अधिक ब्याज वसूलता है। वह बैंक रहित क्षेत्रों में कर्ज़ देने में अहम भूमिका निभाते हैं। कई देशों में साहुकार को ...

                                               

किराया

किसी दूसरे स्वामित्व की वस्तु के अल्पावधि उपभोग के लिए जो धनराशि दी जाती है उसे उस वस्तु का किराया कहते हैं। दूसरे शब्दों में, किसी के द्वारा कुछ समय के लिए कोई सुविधा या किसी वस्तु का उपभोग करने या किसी कार्य को करवाने के लिए जो धनराशि खर्च की ज ...

                                               

इंटरबैंक मोबाईल भुगतान सेवा

इंटरबैंक मोबाईल भुगतान सेवा अथवा इंटरबैंक मोबाईल पेमेंट सर्विस, संक्षेप में आईएमपीएस, भारत में मोबाईल फोन, टैबलेट आदि माध्यमों से बैंकिंग, भुगतान, धन हस्ताँतरण आदि के लिए केंद्रीय सेवा है जो कि भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम द्वारा संचालित की जाती ...

                                               

तत्काल सकल निपटान

तत्काल सकल निपटान अथवा वास्तविक समय सकल भुगतान प्रणाली), या आर टी जी एस एक ऐसी निधि अंतरण पद्धति है जिसमें एक बैंक से दूसरे बैंक में मुद्रा का अंतरण वास्तविक समय और सकल आधापर होता है। यह किसी बैंकिंग चैनल द्वारा मुद्रा अंतरण का सबसे तेज माध्यम है ...

                                               

भारत में भुगतान और निपटान प्रणालियाँ

भारत में भुगतान और निपटान प्रणालियाँ भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा भुगतान और निपटान प्रणाली अधिनियम, 2007 के अंतर्गत संचालित एवं नियंत्रित की जाती हैं। > भारत में नकदी ही भुगतान का प्रमुख माध्यम है। बैंक नोट और सिक्कों की कीमत देश के सकल घरेलू उत ...

                                               

अन्तरपणन

किसी प्रतिभूति, वस्तु या विदेशी विनिमय को सस्ते बाजार में खरीदना और साथ ही साथ तेज बाजार में बेचना अंतरपणन कहलाता है। इसका उद्देश्य विभिन्न व्यापारिक केंद्रों में प्रचलित मूल्यों के अंतर से लाभ उठाना होता है। अंतरपणन इस कारण संभव होता है कि एक ही ...

                                               

अभौतिक खाता

भारत में, शेयर एवं प्रतिभूतियाँ इलेक्ट्रानिक अभौतिक खाते में रखी जातीं है और इनके स्वामी को इन शेयरों एवं प्रतिभूतियों की भौतिक रूप में अपने पास रखने की आवश्यकता नहीं होती। डीमटीरिअलाइज़्ड शेयर वो शेयर होते है, जिसका मालिक तो कोई होता है पर वे शे ...

                                               

गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडिंग फंड

गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडिड फंड एक प्रकार की व्यापारिक निधि होते हैं, जिन्हें व्यापार में क्रय-विक्रय किया जा सकता है। ये अन्य कमोडिटी के समान ही प्रयोग किए जाते हैं। इनमें स्वर्ण का मूल्य केवल शेयरों की तरह ही दर्शाया गया होता है। गोल्ड ईटीएफ ओपन एंड ...

                                               

तेजड़िया

तेजड़िया, जिसे प्रायः अंग्रेजी में बुल कहा जाता है, शेयर अथवा कमोडिटी बाजार आदि के ऐसे सदसय हैं जो कि बाजार में तेजी अर्थात भाव बढ़ने की आशा करते हैं। वे खरीदारी करते हैं और उम्मीद करते हैं कि बढ़े हुए दाम पर बेचकर लाभ कमाने की उम्मीद करते हैं। इ ...

                                               

मंदड़िया

मंदड़िया, जिसे प्रायः अंग्रेजी में बियर कहा जाता है, शेयर अथवा कमोडिटी बाजार आदि के ऐसे सदसय हैं जो कि बाजार में मंदी अर्थात भाव गिरने की आशा करते हैं। वे बिकवाली करते हैं और घटे हुए दाम पर पुनः खरीदकर लाभ कमाने की उम्मीद करते हैं। इनके उलट तेजड़ ...

                                               

मुंबई शेयर बाजार का इतिहास

बीएसई और दलाल स्ट्रीट अब एक समान हैं परन्तु वास्तव में इस एक्सचेंज का प्रथम जन्मस्थल 1850 में एक बरगद का वृक्ष था। फिलहाल जहां हार्निमन सर्कल है, वहां टाउनहाल के पास बरगद के वृक्ष के नीचे दलाल लोग एकत्रित होते थे और शेयरों का सौदा करते थे। एक दशक ...

                                               

शेयर एक्सचेंज

एक शेयर बाजार या एक्सचेंज, एक मुद्रा या शेयर बाजार है जहां शेयर दलालों और व्यापारियों को शेयर, बांड, और अन्य प्रतिभूतियों खरीदने और / या बेच सकते हैं। शेयर बाजारों अनेक सुविधा प्रदान कर सकता है जैसे, मुद्दे और प्रतिभूतियों के मोचन और अन्य वित्तीय ...

                                               

शेयर बाजार की पारिभाषिक शब्दावली

आउटलुक: रेटिग के साथ जुड़ा हुआ यह शब्द भी भावी संभावनाओं को दर्शाता है। कंपनी/संस्था या देश का भविष्य क्या है अथवा इसकी क्या संभावना है जैसे सवाल पूछते समय आउटलुक शब्द का उपयोग किया जाता है। आउटलुक के आधापर ही निवेश करने का निर्णय कम्पी को लिया ज ...

                                               

स्टॉक

कारोबार एकक का स्टॉक या पूंजीगत स्टॉक उसके संस्थापकों द्वारा कारोबार में प्रदत्त मूल पूंजी या निवेश का प्रतिनिधित्व करता है। यह व्यापार के लेनदारों के लिए एक प्रतिभूति के रूप में कार्य करता है, चूंकि लेनदारों के लिए हानिकर रूप से उसे आहरित नहीं क ...

                                               

स्वामित्वपूर्ण इक्विटी

लेखांकन और वित्त में, इक्विटी सभी देयताओं का भुगतान करने के बाद, परिसंपत्तियों में निवेश करने वाले सबसे छोटे वर्ग के निवेशकों का अवशिष्ट दावा या ब्याज है। यदि परिसंपत्तियों का मूल्य देयताओं से अधिक न हो, तो ऋणात्मक इक्विटी मौजूद होती है। लेखांकन ...

                                               

हैमर पैटर्न

ह्यामर पाटर्न शेयर बाज़ार का एक चित्रित विश्लेषण है। यह उस समय आता है जब शेयर अपने प्रारंभिक मूल्य से कहीं नीचे बिकते हैं परन्तु दिन की प्रगति के साथ-साथ या तो ये प्रारंभिक मूल्य से आगे की ओर छलांग लगाते हैं या फिर उसी के आसपास पहुँचते हैं। इस प् ...

                                               

पर्यावरण (रक्षा) अधिनियम 1986

मानव पर्यावरण की रक्षा और सुधार करने एवं पेड़-पौधे और सम्‍पत्ति का छोड़कर मानव जाति को आपदा से बचाने के लिए ईपीए पारित किया गया, यह केन्‍द्र सरकार का पर्यावरणीय गुणवत्ता की रक्षा करने और सुधारने, सभी स्रोतों से प्रदूषण नियंत्रण का नियंत्रण और कम ...

                                               

भारतीय वन अधिनियम, 1927

भारतीय वन अधिनियम, 1927 मोटे तौपर पिछले भारतीय वन अधिनियम के आधापर तैयार किया गया था जो कि ब्रिटिश काल के दोरान कार्यान्वित था। यह उन प्रक्रियाओं को परिभाषित करता है जो किसी क्षेत्र को सुरक्षित वन, संरक्षित वन या ग्राम वन घोषित करती हो। यह जंगल अ ...

                                               

वन्यजीव संरक्षण अधिनियम, 1972

भारतीय वन्य जीव संरक्षण अधिनियम, 1972 भारत सरकार ने सन् 1972 ई॰ में इस उद्देश्य से पारित किया था कि वन्यजीवों के अवैध शिकार तथा उसके हाड़-माँस और खाल के व्यापापर रोक लगाई जा सके। इसे सन् 2003 ई॰ में संशोधित किया गया है और इसका नाम भारतीय वन्य जीव ...

                                               

रपालो की संधि (१९२२)

रपालो की संधि 16 अप्रैल 1922 को जर्मनी और रूसी सोवियत संघीय समाजवादी गणराज्य के बीच एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। इसके अंतरगत प्रथम विश्व युद्ध के शत्रु रूस और जर्मनी इटली के शहर रपालो में तय किया था कि वे उन क्षेत्रीय और वित्तीय दावों को छोड़ द ...