ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 302




                                               

सेठ गोविंद दास

सेठ गोविन्ददास भारत के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, सांसद तथा हिन्दी के साहित्यकार थे। उन्हें साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में सन १९६१ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। भारत की राजभाषा के रूप में हिन्दी के वे प्रबल समर्थक थे। सेठ गोविन्ददास ह ...

                                               

स्वेतोस्लैव रोएरिख

स्वेतोस्लैव रोएरिख को कला के क्षेत्र में सन १९६१ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये से हैं। ये एक रूसी चित्रकार थे जिनसे भारत की पहली सिनेतारिका देविकाा रानी ने दूसरा विवाह किया था। १९९३ को इनकी मृत्यु हो गई।

                                               

दुखन राम

दुखन राम को चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में सन १९६२ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये बिहार राज्य से हैं। दुखन राम को चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९६७ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये बिहार राज्य से हैं।

                                               

रामचंद्र नारायण दांडेकर

रामचन्द्र नारायण दांडेकर भारतीय भाषाशास्त्री एवं वैदिक संस्कृति के विद्वान थे। उन्हें साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में सन १९६२ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।

                                               

सीताराम सेकसरिया

सीताराम सेकसरिया को समाज सेवा के क्षेत्र में सन १९६२ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये असम राज्य से हैं। सीताराम सेकसरिया एक भारतीय स्वतंत्रता कार्यकर्ता, गांधीवादी, समाजवादी और पश्चिम बंगाल के संस्था बिल्डर थे, जो मारवाड़ी समुदाय के उत्थ ...

                                               

बद्रीनाथ प्रसाद

बद्रीनाथ प्रसाद भारत के सुप्रसिद्ध गणितज्ञ एवं शिक्षाशास्त्री थे। उन्हे साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में सन १९६३ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।

                                               

माखनलाल चतुर्वेदी

माखनलाल चतुर्वेदी भारत के ख्यातिप्राप्त कवि, लेखक और पत्रकार थे जिनकी रचनाएँ अत्यंत लोकप्रिय हुईं। सरल भाषा और ओजपूर्ण भावनाओं के वे अनूठे हिंदी रचनाकार थे। प्रभा और कर्मवीर जैसे प्रतिष्ठत पत्रों के संपादक के रूप में उन्होंने ब्रिटिश शासन के खिला ...

                                               

राहुल सांकृत्यायन

राहुल सांकृत्यायन जिन्हें महापंडित की उपाधि दी जाती है हिन्दी के एक प्रमुख साहित्यकार थे। वे एक प्रतिष्ठित बहुभाषाविद् थे और बीसवीं सदी के पूर्वार्ध में उन्होंने यात्रा वृतांत/यात्रा साहित्य तथा विश्व-दर्शन के क्षेत्र में साहित्यिक योगदान किए। वह ...

                                               

एअर मार्शल रामास्वामी राजाराम

एअर मार्शल रामास्वामी राजाराम को प्रशासकीय सेवा के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९६५ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये तमिलनाडु राज्य से हैं।

                                               

कृष्णस्वामी बालसुब्रह्मण्यम अय्यर

कृष्णस्वामी बालसुब्रह्मण्यम अइयर को सार्वजनिक उपक्रम के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९६५ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये तमिलनाडु राज्य से हैं।

                                               

नरसिंह नारायण गोडबोले

नरसिंह नारायण गोडबोले को साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९६५ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये महाराष्ट्र राज्य से हैं।

                                               

भालचंद्र साबाजी दीक्षित

भालचंद्र साबाजी दीक्षित को चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९६५ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये महाराष्ट्र राज्य से हैं।

                                               

शांतनु लक्ष्मण किर्लोस्कर

शांतनु लक्ष्मण किर्लोस्कर को उद्योग एवं व्यापार के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९६५ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये महाराष्ट्र राज्य से हैं।

                                               

विनायक सीताराम सरवटे

विनायक सीताराम सरवटे को साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में सन १९६६ में भारत सरकार द्वारा पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। शालिनी ताई मोघे उनकी पुत्री थीं।

                                               

ख्वाजा गुलाम सैयदियां

ख्वाजा गुलाम सैयदियां को साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९६७ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये उत्तर प्रदेश राज्य से हैं।

                                               

दादासाहेब चिंतामणि पावते

दादासाहेब चिंतामणि पावते को साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९६७ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये कर्नाटक राज्य से हैं।

                                               

कल्याणजी विट्ठलभाई मेहता

कल्याणजी विट्ठलभाई मेहता को साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९६७ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये गुजरात राज्य से हैं। कल्याणजी महेता गुजरात विधान सभा के प्रथम अध्यक्ष थे

                                               

वसंतराव बांदुजी पाटिल

वसंतराव बांदुजी पाटिल को उद्योग एवं व्यापार के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९६७ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये महाराष्ट्र राज्य से हैं।

                                               

कैखुशरु रतनजी पी श्रॉफ

कैखुशरु रतनजी पी श्रॉफ को सार्वजनिक उपक्रम के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९६७ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये महाराष्ट्र राज्य से हैं।

                                               

विष्णु सखाराम खांडेकर

विष्णु सखाराम खांडेकर मराठी साहित्यकार हैं। इन्हें 1974 में ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। इन्हें साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में सन १९६८ में भारत सरकार ने पद्म भूषण से सम्मानित किया था। उन्होंने उपन्यासों और कहानियों के अलावा नाटक, ...

                                               

अहमद जान थिरकवा खान

उस्ताद अहमद जान थिरकवा अपने उस्ताद "थिरकवा" उप-नाम से संगीत जगत में प्रख्यात हुये। आपका जन्म मुरादाबाद में संगीतज्ञों के परिवार में हुआ। आपको संगीत अपने पिता से विरासत में मिला। यहीं से संगीत की शिक्षा आरंभ हुई। कुछ वर्षों बाद बम्बई में उस्ताद मु ...

                                               

विवेकानंद मुखोपाध्याय

विवेकानंद मुखोपाध्याय को साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९७० में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये पश्चिम बंगाल राज्य से हैं।

                                               

भालचंद्र दिगंबर गरवारे

भालचंद्र दिगंबर गरवारे को उद्योग एवं व्यापार के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा, सन १९७१ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये महाराष्ट्र राज्य से हैं।

                                               

शांतिलाल जमनादास मेहता

शांतिलाल जमनादास मेहता को चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा, सन १९७१ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये महाराष्ट्र राज्य से हैं।

                                               

राम नारायण चक्रवर्ती

राम नारायण चक्रवर्ती को विज्ञान एवं अभियांत्रिकी के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९७२ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये पश्चिम बंगाल से हैं।

                                               

सरताज सिंह

सरताज सिंह को प्रशासकीय सेवा के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९७२ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये पंजाब से थे। २४ अप्रैल १९९८ को उनका निधन हो गया।

                                               

जयदेव सिंह

जयदेव सिंह को विज्ञान एवं अभियांत्रिकी के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९७४ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये बनारस से हैं।

                                               

बिशप जॉन रिचर्डसन

बिशप जॉन रिचर्डसन को समाज सेवा के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९७४ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये अंदमान और निकोबार द्वीप समूह से हैं।

                                               

आर कार्लटन विवियन पिदादे नोरोन्हा

आर कार्लटन विवियन पिदादे नोरोन्हा को प्रशासकीय सेवा के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन १९७५ मे पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये मध्य प्रदेश से हैं।

                                               

देवुलपल्ली वेंकट के शास्त्री

देवुलपल्ली वेंकट के शास्त्री को भारत सरकार द्वारा सन १९७६ में साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये आंध्र प्रदेश से हैं।

                                               

बाबा पृथ्वी सिंह आजाद

बाबा पृथ्वी सिंह आजाद भारत के स्वतन्त्रता संग्राम के सेनानी, क्रान्तिकारी तथा गदर पार्टी के संस्थापकों में से एक थे। स्वतंत्रता के पश्चात वे पंजाब के भीम सेन सचर सरकार में मन्त्री रहे। वे भारत की पहली संविधान सभा के भी सदस्य रहे। सन १९७७ में भारत ...

                                               

आचार्य पी एन पट्टभिराम शास्त्री

आचार्य पी एन पट्टभिराम शास्त्री को भारत सरकार द्वारा साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में सन १९८२ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये उत्तर प्रदेश से हैं।

                                               

स्टैला क्रैमरिश

स्टैला क्रैमरिश को भारत सरकार द्वारा साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में सन १९८२ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये संयुक्त राज्य अमेरिका से हैं।

                                               

बेनुधर शर्मा

बेनुधर शर्मा को सन १९८३ में भारत सरकार द्वारा साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये असम से हैं। उनके लिखे संस्मरण कांग्रचर कांचियालिरदात को १९६० में साहित्य अकादमी पुरस्कार असमिया।

                                               

गंडा सिंह

गंडा सिंह गदर पार्टी के प्रमुख नेता थे। उन्होने कुछ समय चीन के हन्काउ में भी बिताया और १९२६ में चियांग काई-शेक से तथा १९२७ में मानवेंद्र नाथ राय से मिले। उन्हे भारत सरकार द्वारा सन १९८४ में साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित ...

                                               

बलदेव उपाध्याय

आचार्य बलदेव उपाध्याय हिन्दी और संस्कृत के सुप्रसिद्ध विद्वान, साहित्येतिहासकार, निबन्धकार तथा समालोचक थे। उन्होने अनेकों ग्रन्थों की रचना की, निबन्धों का संग्रह प्रकाशित किया तथा संस्कृत वाङ्मय का इतिहास लिखा। वे संस्कृत साहित्य की हिन्दी में चर ...

                                               

ब्रिगेडियर कोट्ट सत्चिदानंद मूर्ति

ब्रिगेडियर कोट्ट सत्चिदानंद मूर्ति को भारत सरकार द्वारा सन १९८४ में साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये आंध्र प्रदेश राज्य से हैं।

                                               

माइकल फरेरा

माइकल फरेरा भारत के बिलियर्ड खिलाड़ी हैं। उन्हें भारत सरकार द्वारा सन १९८४ में खेल के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। उन्होने अपना जीवन न केवल खेल और कॉरपोरेट दुनिया में बल्कि सामाजिक और आर्थिक कल्याण की राष्ट्रीय समिति के सदस्य के ...

                                               

होरेस एलेक्ज़ेंडर

होरेस एलेक्ज़ेंडर को भारत सरकार द्वारा सन १९८४ में साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये संयुक्त राज्य अमेरिका राज्य से हैं।

                                               

आबिद हुसैन (राजनयिक)

आबिद हुसैन एक भारतीय अर्थशास्त्री, सरकारी नौकर और राजनयिक थे। वह १९९० से १९९२ तक संयुक्त राज्य अमेरिका में भारत के राजदूत थे। वे १९८५ से १९९० तक योजना आयोग के सदस्य थे। उन्हें सन १९८८ में भारत सरकार द्वारा प्रशासकीय सेवा के क्षेत्र में पद्म भूषण ...

                                               

गिरिलाल जैन

गिरिलाल जैन भारत के प्रसिद्ध पत्रकार थे। वे सन १९७८ से सन १९८८ तक टाइम्स ऑफ इण्डिया के सम्पादक थे। उनको सन १९८९ में भारत सरकार द्वारा साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।

                                               

एम आर श्रीनिवासन

मलूर रमास्वामी श्रीनिवासन भारत के परमाणु वैज्ञानिक, इंजीनियर हैं। १९८७ में वे भारत के परमाणु ऊर्जा आयोग के अध्यक्ष नियुक्त किये गये थे।भारत के नाभिकीय ऊर्जा कार्यक्रम के विकास में उनका महत्वपूर्ण योगदान है। दाबित भारी जल रिएक्टर के विकास में भी उ ...

                                               

कुंवरसिंह नेगी

कुंवरसिंह नेगी को भारत सरकार द्वारा सन १९९० में साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये उत्तराखंड से हैं। १९९० में ब्रेल लिपि में योगदान देेंनेे के लिये पद्म विभूषण

                                               

बिमल कृष्ण माटीलाल

बिमल कृष्ण माटीलाल भारत के एक दार्शनिक थे जिनकी कृतियों में इस बात का खुलासा किया गया है कि भारतीय दार्शनिक परम्परा भी उन्हीं मुद्दों पर केन्द्रित है जिन पर आधुनिक यूरोपीय दर्शन विचार करता है। उनको भारत सरकार द्वारा सन १९९० में साहित्य एवं शिक्षा ...

                                               

मुहम्मद युसुफ खान

मुहम्मद युसुफ खान को भारत सरकार द्वारा सन १९९१ में पद्म भूषण से सम्मानित किया था। ये महाराष्ट्र से हैं। मुहम्मद यूसुफ खान१७२५ - १५ अक्टूबर १७६४उर्फ मारुथानायम पिल्लई का जन्म १७२५ में भारत के तमिलनाडु के रामाननाथपुरम इलाके पानैयूर में हुआ था। विनम ...

                                               

वीरेंद्र दयाल

वीरेंद्र दयाल भारत सरकार ने १९९२ में प्रशा के क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया था। ये दिल्ली से हैं। वीरेंद्र दयाल एक भारतीय सिविल सेवक, राजनयिक और एक पूर्व बावर्ची दे कैबिनेट सचिव जनरल रह चुके हैं। उन्होंने निदेशक के कार्यालय के विशेष राजन ...

                                               

गुरुकुमार बालचंद्र पारुलकर

गुरुकुमार बालचंद्र पारुलकर को चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में सन १९९८ में "भारत सरकार द्वारा पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये महाराष्ट्र से हैं।

                                               

रामकिंकर उपाध्याय

रामकिंकर उपाध्याय मानस मर्मज्ञ, कथावाचक एवं हिन्दी साहित्यकार थे। उन्हें सन १९९९ में भारत सरकार ने पद्म भूषण से सम्मानित किया था।

                                               

एस श्रीनिवासन

एस श्रीनिवासन को सन २००० में भारत सरकार ने विज्ञान एवं अभियांत्रिकी क्षेत्र में पद्म भूषण से सम्मानित किया था। ये केरल राज्य से थे। १८ मई २०१४ को दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया।

                                               

रतन नवल टाटा

रतन नवल टाटा टाटा समुह के वर्तमान अध्यक्ष, जो भारत की सबसे बड़ी व्यापारिक समूह है, जिसकी स्थापना जमशेदजी टाटा ने की और उनके परिवार की पीढियों ने इसका विस्तार किया और इसे दृढ़ बनाया। 1971 में रतन टाटा को राष्ट्रीय रेडियो और इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी लि ...