ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 308




                                               

गुरजाड गुरुपीठम

गुरजाड गुरुपीठम तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार आरुद्र द्वारा रचित एक समालोचना है जिसके लिये उन्हें सन् 1987 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

जनप्रिय रामायण

जनप्रिय रामायण तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार पी. नारायणाचार्य द्वारा रचित एक कविता–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 1979 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

जीवन समरम्

जीवन समरम् तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार रावूरि भारद्वाज द्वारा रचित एक रेखाचित्र है जिसके लिये उन्हें सन् 1983 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

तन मार्गम्

तन मार्गम् तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार अब्बूरि छाया देवी द्वारा रचित एक कहानी–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 2005 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

तमिरम् तो समरम्

तमिरम् तो समरम् तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार दाशरथि द्वारा रचित एक कविता–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 1974 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

नाट्यशास्त्रमु

नाट्यशास्त्रमु तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार पोणांगी श्रीराम अप्पारावु द्वारा रचित एक टीका है जिसके लिये उन्हें सन् 1960 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

पंडित परमेश्वर शास्त्री वीलुनामा

पंडित परमेश्वर शास्त्री वीलुनामा तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार टी. गोपीचंद द्वारा रचित एक उपन्यास है जिसके लिये उन्हें सन् 1963 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

पुरुषोत्तमुडु

पुरुषोत्तमुडु तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार चिटिप्रोलु कृष्णमूर्ति द्वारा रचित एक कविता–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 2008 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

पेद्दीबोटला सुब्बरामय्या कथाळु

पेद्दीबोटला सुब्बरामय्या कथाळु तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार पी. सुब्बरामय्या द्वारा रचित एक कहानी–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 2012 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

बलिवड कांता राव कतलु

बलिवड कांता राव कतलु तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार बलिवड कांता राव द्वारा रचित एक कहानी–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 1998 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

भारतीय तत्त्वशास्त्रमु

भारतीय तत्त्वशास्त्रमु तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार बुलुस वेंकटेश्वरुलु द्वारा रचित एक डॉ॰ राधाकृष्णन की हिस्ट्री ऑफ़ इंडियन फिलॉसफ़ी का अनुवाद है जिसके लिये उन्हें सन् 1956 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

मणिप्रवाळमु

मणिप्रवाळमु तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार एस. वी. जोगाराव द्वारा रचित एक निबंध–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 1989 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

मधुरांतकम् राजाराम कथळु

मधुरांतकम् राजाराम कथळु तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार मधुरांतकम राजाराम द्वारा रचित एक कहानी–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 1993 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

मना नवलाललु - मना कथानिकलु

मना नवलाललु - मना कथानिकलु तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार राचपालेम चन्‍द्रशेखर रेड्डी द्वारा रचित एक समालोचना है जिसके लिये उन्हें सन् 2014 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

महात्मा कथा

महात्मा कथा तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार तुम्मल सीताराममूर्ति द्वारा रचित एक काव्य है जिसके लिये उन्हें सन् 1969 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

मिश्रमंजरी

मिश्रमंजरी तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार आचार्य रायप्रोलु सुब्बाराव द्वारा रचित एक कविता–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 1965 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

मोहना! ओ मोहना!

मोहना! ओ मोहना! तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार के. शिवा रेड्डी द्वारा रचित एक कविता–संकलन है जिसके लिये उन्हें सन् 1990 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

यज्ञम तो तोम्मिदी

यज्ञम तो तोम्मिदी तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार कालीपटनम रामाराव द्वारा रचित एक कहानी–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 1995 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

विजय विलासुम: हृदयोल्लास व्याख्या

विजय विलासुम: हृदयोल्लास व्याख्या तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार थापि धर्मराव द्वारा रचित एक टीका है जिसके लिये उन्हें सन् 1971 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

विमुक्‍त

विमुक्‍त तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार वोल्‍गा द्वारा रचित एक कहानी है जिसके लिये उन्हें सन् 2015 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

विश्वनाथ मध्यक्कारलु

विश्वनाथ मध्यक्कारलु तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार विश्वनाथ सत्यनारायण द्वारा रचित एक कविता–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 1962 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

श्री श्री साहित्यमु

श्री श्री साहित्यमु तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार ‘श्री श्री’ द्वारा रचित एक कविता–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 1972 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

श्रीकृष्ण चंद्रोदयमु

श्रीकृष्ण चंद्रोदयमु तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार उत्पल सत्यनारायणाचार्य द्वारा रचित एक कविता–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 2003 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

श्रीरामकृष्णानि जीवित चरित्र

श्रीरामकृष्णानि जीवित चरित्र तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार चिरंतनानंद स्वामी द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1957 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

साहित्‍यआकाशमलो सगम

साहित्‍यआकाशमलो सगम तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार कात्‍यायनी विद्यमहे द्वारा रचित एक निबंध-संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 2013 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

सीता जोस्यम

सीता जोस्यम तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार वी. आर. नार्ला द्वारा रचित एक नाटक है जिसके लिये उन्हें सन् 1980 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

स्मृति किणांकम

स्मृति किणांकम तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार चेकुरी रामाराव द्वारा रचित एक निबंध–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 2002 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

स्वप्न लिपि

स्वप्न लिपि तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार अजंता पी. वी. शास्त्री द्वारा रचित एक कविता–संकलन है जिसके लिये उन्हें सन् 1997 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

स्वर लयालु

स्वर लयालु तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार शामला सदाशिव द्वारा रचित एक निबंध–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 2011 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

स्वर्णकमलालु

स्वर्णकमलालु तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार आई. सरस्वती देवी द्वारा रचित एक कहानी–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 1982 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

हृदयनेत्री

हृदयनेत्री तेलुगू भाषा के विख्यात साहित्यकार मालती चंदूर द्वारा रचित एक उपन्यास है जिसके लिये उन्हें सन् 1992 में तेलुगू भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

अथाह

अथाह नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार बिन्द्या सुब्बा द्वारा रचित एक उपन्यास है जिसके लिये उन्हें सन् 2003 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

आकाशले पनि ठाउँ खोजिरहेछ

आकाशले पनि ठाउँ खोजिरहेछ नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार गोपीनारायण प्रधान द्वारा रचित एक कविता–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 2010 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

आदिम बस्ती

आदिम बस्ती नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार मनप्रसाद सुब्बा द्वारा रचित एक कविता–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 1998 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

आमा

आमा नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार तुलसी राम शर्मा ‘कश्यप’ द्वारा रचित एक महाकाव्य है जिसके लिये उन्हें सन् 1990 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

आहत अनुभूति

आहत अनुभूति नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार लक्खीदेवी सुंदास द्वारा रचित एक कहानी–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 2001 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

उदासीन रूखहरू

उदासीन रूखहरू नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार प्रेम प्रधान द्वारा रचित एक उपन्यास है जिसके लिये उन्हें सन् 2002 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

उषा मंजरी

उषा मंजरी नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार पुष्पलाल उपाध्याय द्वारा रचित एक कविता–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 1988 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

एकान्तवास

एकान्तवास नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार उदय थुलुङ द्वारा रचित एक कहानी–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 2012 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

करफ्यू

करफ्यू नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार लक्ष्मण श्रीमल द्वारा रचित एक नाटक है जिसके लिये उन्हें सन् 2007 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

कर्ण–कुंती

कर्ण–कुंती नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार तुलसी बहादुर क्षेत्री ‘अपतन’ द्वारा रचित एक महाकाव्य है जिसके लिये उन्हें सन् 1989 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

केही नमिलेका रेखाहरू

केही नमिलेका रेखाहरू नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार हायमन दास राई ‘किरात’ द्वारा रचित एक कहानी–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 2008 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

खहरे

खहरे नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार शिवकुमार राई द्वारा रचित एक कहानी–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 1978 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

गैरीगाउँकी चमेली

गैरीगाउँकी चमेली नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार समीरण क्षेत्री ‘प्रियदर्शी’ द्वारा रचित एक कहानी–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 2009 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

जीवन गोरेटोमा

जीवन गोरेटोमा नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार कृष्णसिंह मोक्तान द्वारा रचित एक उपन्यास है जिसके लिये उन्हें सन् 2005 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

डॉ. पारसमणिको जीवनयात्रा

डॉ॰ पारसमणिको जीवनयात्रा नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार नगेन्द्रमणि प्रधान द्वारा रचित एक जीवनी है जिसके लिये उन्हें सन् 1995 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

द्रोह

द्रोह नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार भीम दाहाल द्वारा रचित एक उपन्यास है जिसके लिये उन्हें सन् 2006 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

नया क्षितिजको खोज

नया क्षितिजको खोज नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार असित राइ द्वारा रचित एक कविता–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 1981 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

नि: शब्द

नि:शब्द नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार मोहन ठकुरी द्वारा रचित एक कविता–संग्रह है जिसके लिये उन्हें सन् 1996 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                               

नियति

नियति नेपाली भाषा के विख्यात साहित्यकार इंद्र सुंदास द्वारा रचित एक उपन्यास है जिसके लिये उन्हें सन् 1983 में नेपाली भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।