ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 344




                                               

जंगली भैंसा

एशियाई जंगली भैंसा की संख्या आज 4000 से भी कम रह गई है। एक सदी पहले तक पूरे दक्षिण पूर्व एशिया में बड़ी तादाद में पाये जाने वाला जंगली भैंसा आज केवल भारत, नेपाल, बर्मा और थाईलैंड में ही पाया जाता है। भारत में काजीरंगा और मानस राष्ट्रीय उद्यान में ...

                                               

अरूविक्कुजी जलप्रपात

केरल के कोट्टायम नगर से 18 किलोमीटर की दूरी पर अरूविक्कुजी जलप्रपात स्थित है। कुमारकोम से मात्र 2 किलोमीटर की दूरी पर यह खूबसूरत पिकनिक स्थल है। 100 फीट की ऊंचाई से गिरते इस झरने का संगीत पर्यटकों को बहुत भाता है। पर्यटक यहां रबड़ की वनस्पतियों क ...

                                               

टांडा जलप्रपात

टांडा जलप्रपाल मिर्जापुर शहर से लगभग साल मील की दूरी पर स्थित है। टंडा जलप्रपात से कुछ दूरी पर खजूरी बांध और विन्ध्याम झरना भी स्थित है। विन्ध्याम झरना वन विभाग के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से हैं। झरने के पास ही पार्क और वन विहार का निर्माण भी कि ...

                                               

उन्चल्ली प्रपात

साँचा:Infobox Waterfall उन्चल्ली जल प्रपात, जिसे लीशिंग्टन फ़ॉल्स भी कहते हैं, एक 116 मीटर ऊंचाई का जलप्रपात है, जो अघन्शिनी नदि के गिरने से कर्नाटक राज्य के उत्तर कन्नड़ जिले में स्थित है।

                                               

एथिपोथला

एथिपोथला भारत देश के आंध्र प्रदेश राज्य के गुन्टूर जिलेमें कृष्णा नदी की सहायक नदी चंद्रवंका नदी पर स्थित एक जलप्रपात है। चंद्रवंका नदी चंद्रवन्का झरना, नकला झरना और तुमाला झरना जैसी तीन धाराओं का संयोजन है। यह नागार्जुन सागर बांध से लगभग 11 किलो ...

                                               

ककोलत

ऐतिहासिक और पौराणिक संदर्भों से युक्‍त ककोलत एक बहुत ही खूबसूरत पहाड़ी के निकट बसा हुआ एक झरना है। यह झरना बिहार राज्‍य के नवादा जिले से 33 किलोमीटर की दूरी पर स्थित गोविन्‍दपुर पुलिस स्‍टेशन के निकट स्थित है। नवादा से राष्‍ट्रीय राजमार्ग संख्‍या ...

                                               

केम्पटी

केम्पटी भारत के उत्तराखण्ड प्रदेश मे स्थित एक जलप्रपात है। इस जल प्रपात की ऊँचाई 40 फुट है। यह जल प्रपात देहरादून से २० किमी एवं मसूरी से १५ किमी दूर हैं।

                                               

चित्रकोट जलप्रपात

चित्रकोट जलप्रपात भारत के छत्तीसगढ़ प्रदेश के बस्तर जिले में स्थित एक जलप्रपात है। इस जल प्रपात की ऊँचाई 90 फुट और चौड़ाई 985 फुट है। चित्रकोट जलप्रपात - भारत के नियाग्रा फॉल्‍स के रूप में भी जाना जाता हैं और इसे भारत के सबसे चौड़ा जलप्रपात होने ...

                                               

जोग जलप्रपात

जोग प्रपात कर्नाटक में शरावती नदी पर है। यह चार छोटे-छोटे प्रपातों - राजा, राकेट, रोरर और दाम ब्लाचें - से मिलकर बना है। इसका जल 253 मीटर की ऊँचाई से गिरकर बड़ा सुन्दर दृश्य उपस्थित करता है। इसका एक अन्य नाम जेरसप्पा भी है।

                                               

जोन्हा जलप्रपात

जोन्हा जलप्रपात झारखंड में स्थित एक मनोहारी जलप्रपात है। जिला मुख्यालय से इसकी दूरी लगभग 41 किलोमीटर है। पक्की सड़क होने के कारण इस स्थान तक पंहुचना सरल एवं निरापद है।

                                               

तलाकोना

तलाकोना भारत के आन्ध्र प्रदेश प्रदेश के चित्तूर जिले में स्थित एक जलप्रपात है। इस जल प्रपात की ऊँचाई 270 फुट है। चित्तूर जिले के येर्रावारिपालेम मंडल के नेराबैलु गांव में स्थित है। यह श्री वेंकटेश्वर अभयारण्य में स्थित है, जो तिरुपति-तिरूमला के क ...

                                               

तीरथगढ

तीरथगढ भारत के छत्तीसगढ़ प्रदेश मे स्थित एक जलप्रपात है। इस जल प्रपात की ऊँचाई 60 फुट है। जगदलपुर से 39 किलोमीटर दूर मुनगा-बहार नदी, 168 मीटर की चौड़ाई समें 6 मीटर नीचे गिरकर मनोहारी रमणीय प्रपात में परिवर्तित होकर नीचे 20 मीटर गहरे जलकुण्ड में ए ...

                                               

दशम जलप्रपात

दशम जलप्रपात राँची से लगभग ४० किलोमीटर दूर राँची जमशेदपुर मार्ग पर स्थित है। दशम जलप्रपात का असली नाम "दा:सोम" है। दा:सोम शब्द स्थानीय मुन्डारी भाषा का है । दा:सोम शब्द दो शब्द दा: और सोम से बना है। दा: का अर्थ पानी और सोम का अर्थ जमाव होता है।

                                               

धरधारिया जलप्रपात

झारखंड के लोहरदग्‍गा के सेन्हा प्रखण्ड में धरधारिया जलप्रपात स्थित है। इसके आस-पास का नजारा भी काफी खूबसूरत है जो पर्यटकों को बहुत पसंद आता है। झारखंड सरकार के अनुसार यहां पर पर्यटन उद्योग में असीमित संभावनाएं हैं। अत: सरकार वहां पर पर्यटन उद्योग ...

                                               

नोहकलिकाइ

नोहकलिकाइ पूर्वोत्तर भारत के मेघालय प्रदेश मे पूर्वी खासी हिल्स में चेरापूँजी के समीप स्थित एक जलप्रपात है। इस जल प्रपात की ऊँचाई ११०० फुट है। यह प्रपात भारत के सबसे ऊँचे झरनों में से एक है। चेरापूँजी भारी वर्षा के लिये प्रसिद्ध रहा है इस प्रपात ...

                                               

पोचेरा

पोचेरा भारत के आंध्र प्रदेश प्रदेश मे स्थित एक जलप्रपात है। इस जल प्रपात की ऊँचाई २५ फुट है। यह जल प्रपात गोदावरी नदी पर स्थित है। यह जल प्रपात आदिलाबाद जिले में स्थित हैं।

                                               

अब्बे जल प्रपात

अब्बे जल प्रपात कर्नाटक के कोडगु जिला के मुख्यालय मदिकेरी के निकट स्थित है। यह खूबसूरत जलप्रपात मदिकेरी से लगभग 5 किलोमीटर की दूरी पर है। एक निजी कॉफी बागान के भीतर यह झरना स्थित है। पर्यटक बड़ी संख्या में इस स्थान पर आते हैं। मॉनसून के दिनों में ...

                                               

भारत के जलप्रपातों की सूची

यह सूची भारत के जलप्रपात की है: चित्रकोट नोहकलिकाइ टांडा जलप्रपात सातधारा कांगेरधारा चित्रधारा महादेव धूमट प्रपात कैलाशकोना जलप्रपात कुंतल प्रपात चर्रे-मर्रे झरना ककोलत धरधारिया जलप्रपात तीरथगढ तलाकोना तामड़ा घूमर होगेन्नाकल केसरवल मेंदरी घूमर बर ...

                                               

मेंदरी घूमर

मेंदरी घूमर भारत के छत्तीसगढ़ प्रदेश मे स्थित एक जलप्रपात है। इस जल प्रपात की ऊँचाई 100 फुट है। चित्रकोट-बारसूर मार्ग पर महनार नाला सैकड़ो फीट ऊंचाई से खाई में गिरकर एक आकर्षक प्रपात का निर्माण करता है। यह एक छोटा परन्तु बहुत ही सुन्दर जल प्रपात है।

                                               

सातधारा

सातधारा भारत के छत्तीसगढ प्रदेश मे स्थित एक जलप्रपात है। इस जल प्रपात की ऊँचाई XX फुट है। यह जल प्रपात बारसूर से ६ किमी दूर इन्द्रावती नदी पर स्थित हैं।

                                               

जुहू बीच

जुहू बीच मुंबई में स्थित एक प्रमुख सागर तट हैं। यह बीच मुंबई का एक मुख्य पर्यटन स्थल होने के साथ ही फिल्म निर्माताओं की विशेष पसंद हैं। इस सागर तट को कई हिंदी एवं अन्य भाषाओं की फिल्मो में दिखाया गया हैं। जुहू बीच के साथ जुहू चौपाटी भी काफी प्रसि ...

                                               

यानम बालूतट

यानम बीच भारत के पुदुच्चेरी केन्द्र शासित प्रदेश के यानम नगर के पास स्थित एक बालूतट है। यह बंगाल की खाड़ी पर स्थित है और इस से गोदावरी नदी निकल कर जाती है।

                                               

टोक्यो के विशेष वार्ड

विशेष वार्ड वे २३ पालिकाएँ हैं जो मिलकर टोक्यो का सबसे भीतरी और सबसे अधिक जनसंख्या वाला भाग बनाते हैं। ये सभी वे क्षेत्र हैं जो १९४३ में उन्मूलन किए जाने के समय टोक्यो नगर था। विशेष वार्डों वाला ढाँचा जापानी स्थानीय स्वायत्ता विधि के अन्तर्गत स्थ ...

                                               

तादातोशी अकिबा

उन्होंने टोक्यो विश्वविद्यालय में गणित पढा और १९६६ में बी एस प्राप्त किया तथा १९६८ में एम एस पाया। उन्होंने अपनी पढाई जॉन मिल्नर के अधीनस्थ मैसाचुसैट्स इन्स्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलॉजी में जारी रखी, तथा १९७० में गणित में पीएच डी प्राप्त की। उन्होंने अन ...

                                               

अस्तोर ज़िला

अस्तोर ज़िला​ पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बलतिस्तान क्षेत्र का एक ज़िला है। इसकी राजधानी गोरीकोट है। इस ज़िले का क्षेत्र पहले दिआमेर ज़िले का भाग हुआ करता था लेकिन २००४ में उस ज़िले को विभाजित करके इसे एक अलग ज़िले का दर्जा मिला।

                                               

ग़िज़र ज़िला

ग़िज़र​ पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बलतिस्तान क्षेत्र का पश्चिमतम ज़िला है। इसकी राजधानी गाहकूच शहर है। यहाँ कई जातियाँ रहती हैं और तीन मुख्य भाषाएँ बोली जाती हैं - खोवार, शीना और बुरूशसकी। इनके अलावा इस ज़िले के इश्कोमन क्षेत्र में कुछ वाख़ी और ...

                                               

गान्चे ज़िला

गान्चे ज़िला​, जिसे घान्चे ज़िला और घान्छे ज़िला भी उच्चारित किया जाता है, पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बलतिस्तान क्षेत्र का एक ज़िला है। इसकी राजधानी खपलू है। गान्चे ज़िला गिलगित-बालतिस्तान का पूर्वतम ज़िला है और इसकी पूर्वी सीमा सियाचिन हिमानी स ...

                                               

गिलगित ज़िला

गिलगित ज़िला​ पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बलतिस्तान क्षेत्र का एक ज़िला है। इसकी राजधानी गिलगित शहर है। २०१० तक हुन्ज़ा-नगर ज़िला भी गिलगित ज़िले का हिस्सा हुआ करता था।

                                               

दिआमेर ज़िला

दिआमेर ज़िला​ पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बलतिस्तान क्षेत्र का एक ज़िला है। इसकी राजधानी चिलास है। २००४ में इसे विभाजित करके अलग अस्तोर ज़िला बनाया गया।

                                               

सुधनोती ज़िला

सुधनोती पाक-अधिकृत कश्मीर का एक ज़िला है। सन् १९९५ तक यह पुंछ ज़िले की एक तहसील हुआ करता था लेकिन उस वर्ष में इसे अलग करके ज़िले का दर्जा दे दिया गया। इस ज़िले की राजधानी पलन्द्री है।

                                               

स्कर्दू ज़िला

स्कर्दू ज़िला​ पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बलतिस्तान क्षेत्र का एक ज़िला है। इसकी राजधानी स्कर्दू नामक शहर ही है, जो बलतिस्तान के सबसे महत्वपूर्ण शहरों में से एक है। दक्षिण में इस ज़िले की सीमाएँ भारत के जम्मू व कश्मीर राज्य के करगिल ज़िले से लगत ...

                                               

हट्टियाँ बाला ज़िला

हट्टियाँ बाला पाक-अधिकृत कश्मीर का एक ज़िला है। सन् १९४७ तक यह जम्मू और कश्मीर राज्य के बारामुल्ला ज़िले का हिस्सा हुआ करता था। उसके बाद २००९ तक यह मुज़फ़्फ़राबाद ज़िले का भाग था। इस ज़िले की राजधानी हट्टियाँ बाला है।

                                               

हुन्ज़ा-नगर ज़िला

हुन्ज़ा-नगर ज़िला​ पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बलतिस्तान क्षेत्र का एक ज़िला है। इसकी राजधानी अलियाबाद शहर है। २०१० तक यह ज़िला गिलगित ज़िले का हिस्सा हुआ करता था। यह हुन्ज़ा रियासत और नगर रियासत नामक दो भूतपूर्व रियासतों को मिलाकर बना है।

                                               

गूमा ज़िला

गूमा ज़िला या पीशान ज़िला चीन द्वारा नियंत्रित शिंजियांग प्रान्त के काश्गर विभाग का एक ज़िला है। यह एक रेगिस्तानी इलाक़ा है जिसमें ५३ नख़लिस्तानी क्षेत्र गिने गए हैं।

                                               

भारतीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण

भारत में नदियों, नहरों, बैकवाटर और खाड़ियों के रूप में अंतर्देशीय जलमार्गों का एक व्यापक क्षेत्र है। जिसकी कुल लंबाई करीब 14.500 किमी है, जिसमें से लगभग 5200 किमी नदी और 4000 किमी नहरों का उपयोग जहाजों द्वारा किया जा सकता है। संयुक्त राज्य अमेरिक ...

                                               

शंघाई मैग्लेव

शंघाई मैग्लेव, जिसे शंघाई ट्रान्सरैपिड के नाम से भी जाना जाता है, चीन की सबसे तीव्र गति ट्रेन प्रणाली है। यह वर्तमान में दुनिया में सबसे तेज़ कार्यरत ट्रेन प्रणाली भी है, और दुनिया कि इकलौती कार्यशील ट्रेन है जो चुंबक द्वारा पटरी से उपर उठ कर उन् ...

                                               

मुहम्मद बिन कासिम बंदरगाह

मुहम्मद बिन कासिम बंदरगाह सागर अरब पर कराची से 35 किलोमीटर पूर्व की ओर स्थित है। पाकिस्तान के बाद यह पाकिस्तान की दूसरी सबसे बड़ी बंदरगाह है। यहां से वार्षिक 1.7 करोड़ टन के सामान के व्यापार है जो पाकिस्तान कुल व्यापार मात्रा का लगभग 35% है। उसे ...

                                               

भारतीय वायुसेना का इतिहास

भारतीय वायुसेना का इतिहास इतिहास ’ सोवियत परिवहन विमान तथा हेलीकाॅप्टर ’ उप-महाद्वीप में युद्ध ’ दृढ़ीकरण तथा आधुनिकीकरण ’ दिसम्बर 1971 का युद्ध ’ एक विकसित तथा आधुनिक सेना

                                               

विनोद भाटिया

एयर मार्शल विनोद भाटिया,पीवीएसएम, एवीएसएम, VrC भारतीय वायुसेना अधिकारी थे। उन्हें जिमी के नाम से भी जाना जाता था। 1 9 65 और 1971 के युद्ध में उन्हें वीर चक्र से सम्मानित किया गया था।

                                               

हिंदुस्तान अर्ध्रा

हिंदुस्तान अर्ध्रा 1970 के दशक के अंत में एटीएस-1 अर्ध्रा के रूप में भारत के नागरिक उड्डयन विभाग द्वारा पायलट को प्रशिक्षण देने के लिए तैयार किया गया था। यह परंपरागत विन्यास और लकड़ीसे निर्मित दो सीट वाला विमान था। भारतीय वायु सेना द्वारा हिंदुस् ...

                                               

दक्षिणी कमान (भारतीय सेना)

दक्षिणी कमान 18 9 5 से सक्रिय भारतीय सेना का गठन है। इसमें 1 9 61 के गोवा के भारतीय अनुबंध के दौरान, और 1 9 65 और 1 9 71 के भारत-पाकिस्तानी युद्धों के दौरान आधुनिक भारत में कई प्रिंसिपल राज्यों के एकीकरण के दौरान कार्रवाई हुई है। लेफ्टिनेंट जनरल ...

                                               

मध्य कमान (भारतीय सेना)

मध्य कमान भारतीय सेना की सात कमानों में से एक है। इसका मुख्यालय लखनऊ, उत्तर प्रदेश में स्थित है। लेफ्टिनेंट जनरल अभय कृष्ण इस कमान के वर्तमान जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ हैं।

                                               

चण्डीमन्दिर छावनी

चण्डीमन्दिर हरियाणा राज्य के पंचकुला जिले में स्थित भारतीय सेना की एक सैन्य छावनी है। शिवालिक पहाड़ियों के तलहटी में घग्गर नदी के तट पर स्थित यह छावनी पंचकुला नगर से सटी हुई है। भारतीय सेना की पश्चिमी कमान का मुख्यालय चण्डीमन्दिर में ही स्थित है। ...

                                               

भारतीय सेना की रेजिमेंट्स की सूची

इन को ब्रिटिश भारत की तत्कालीन प्रेसीडेंसियों में से प्रत्येक सैपर और खान समूह में से गठित किया गया। ये वरीयता क्रम में नीचे सूचीबद्ध हैं: बंगाल सैपर्स बॉम्बे सैपर्स मद्रास सैपर्स

                                               

ए॰के॰ सिंह

लेफ्टिनेंट जनरल अजय कुमार सिंह अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के पूर्व लेफ्टिनेंट गवर्नर हैं। वह सैनिक स्कूल रीवा और राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के पूर्व छात्र हैं। वह भारतीय सेना के दक्षिणी कमान के चीऑफ कमांडर हैं। सिंह को जुलाई २०१३ में अंडमान और निको ...

                                               

लीतुल गोगोई

मेजर लीतुल गोगोई भारतीय सेना के एक अधिकारी हैं। 2017 में कश्मीर के उपचुनाव के दौरान पत्थरबाजों की भारी भीड़ के बीच से चुनावदल और सुरक्षाकर्मियों को सुरक्षित निकालने के लिए किसी सख्त विकल्प को चुनने की बजाय एक पत्थरबाज को मानव कवच के रूप में प्रयो ...

                                               

सैयद अता हसनैन

लेफ्टिनेंट जनरल सैयद अता हसनैन, पीवीएसएम, यूवायएसएम, एवीएसएम, एसएम, वीएसएम भारतीय सेना के एक सेवानिवृत्त थ्री-स्टार जनरल हैं। उनकी सेवा में आखिरी कार्यभार भारतीय सेना के सैन्य सचिव के रूप में था। इससे पहले, उन्होंने जम्मू और कश्मीर के भारतीय राज् ...

                                               

भारतीय सैन्य अभियान

भारतीय सशस्त्र बल, भारत गणराज्य की थलसेना,वायुसेना,नौसेना, तटरक्षक बल और विभिन्न अन्य अंतर-सेवा संस्थाओं का समग्र एकीकृत सैन्यरूप है। भारत के राष्ट्रपति इसके कमांडर-इन-चीफ के रूप में कार्य करते हैं। 13.25.000 सक्रिय कर्मियों की अनुमानित कुल संख्य ...

                                               

२०१६ सर्जिकल स्ट्राइक

२९ सितम्बर २०१६ को भारतीय सेना ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में आतंकवादी लांच पैड्स पे सर्जिकल स्ट्राइक किया था। क्या होता है सर्जिकल स्ट्राइक सर्जिकल स्ट्राइक एक ऐसी सैन्य कार्रवाई है जिसमें एक से अधिक सैन्य लक्ष्यों को नुक्सान पहुँचाया जाता है और ...

                                               

जगमोहन नाथ

विंग कमांडर जगमोहन नाथ, भारतीय वायुसेना में एक अधिकारी थे। वह छह अधिकारियों में से प्रथम अधिकारी थे जिन्हें महावीर चक्र से दो बार सम्मानित किया गया। उन्हें यह सम्मान 1962 के चीन-भारत युद्ध और 1965 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में अपने अभियान के लिए प् ...