ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 351




                                               

राष्ट्रीय राजमार्ग २०८

२०६ किलोमीटर लंबा यह राजमार्ग के केरल राज्य, कोल्लम बाहर तमिलनाडु के मदुरै में ऊपर चला जाता है । इसकी जड़ कोल्लम - देश - Kottarakara - Punalur Thenmala - Aryankavu - नहीं - तेनकाशी - स्पैम बात है.

                                               

राष्ट्रीय राजमार्ग २०९

राष्ट्रीय राजमार्ग २०९ दक्षिण भारत में एक राष्ट्रीय राजमार्ग है। ४५६ किलोमीटर लंबा यह राजमार्ग दक्षिण भारत में डिंडीगुल को बेंगलोर से जोड़ता है। इसका रूट डिंडीगुल - पोलाची - पलानी - कोयम्बटूर - अन्नूर - को्लेगल - बेंगलोर है।

                                               

राष्ट्रीय राजमार्ग २२०

२६५ किलोमीटर लंबा यह राजमार्ग दक्षिण भारत में, दिल्ली को मुंबई से जोड़ता है. इसकी जड़ कोल्लम - Kottarakara - अदूर - Kottayam - पृष्ठ - Ponkunnam - Kanjirappally - modem - ProMed - पथिक - आ - तेनी है.

                                               

राष्ट्रीय राजमार्ग २२८

३७४ किलोमीटर लंबा यह राजमार्ग गुजरात प्रदेश में साबरमती आश्रम से निकलकर दाँडी तक जाता है। इसका रूट साबरमती आश्रम - नादियाड - आनंद - सूरत, गुजरात - नवसारी -दाँडी है।

                                               

राष्ट्रीय राजमार्ग ९६६बी

राष्ट्रीय राजमार्ग ९६६बी भारत के राष्ट्रीय राजमार्ग तंत्र का हिस्सा है। इसका पुराना नाम राष्ट्रीय राजमार्ग ४७ए था। इसकी लम्बाई कुन्दान्नुर, केरल से विलिंगडन द्वीप, कोच्चि तक ८ किमी है। यह राष्ट्रीय राजमार्ग ६६ पर जंक्शन से प्रारम्भ होता है। यह रा ...

                                               

स्वर्णिम चतुर्भुज

स्वर्णिम चतुर्भुज भारत का एक प्रसिद्ध राजमार्ग है जो कई औद्योगिक, सांस्कृतिक एवं कृषि सम्बन्धी नगरों को जोड़ता है। इसका आकार बहुत सीमा तक चतुर्भुज के समान दिखता है, इस कारण इसका नामक सार्थक है। इस मार्ग पर स्थित प्रमुख नगर हैं- दिल्ली, मुम्बई, चे ...

                                               

बंगलौर-मैसूर द्रुतगति मार्ग

बंगलौर-मैसूर द्रुतगति मार्ग १११ किलोमीटर लम्बा चार से छह लेन का एक निजी टोल-टैक्स युक्त द्रुतगति मार्ग है जो भारत के कर्णाटक राज्य के दो प्रमुख नगरों बंगलौऔर मैसूर को जोड़ता है। इसका निर्माण नन्दी इन्फ़्रास्ट्रक्चर कॉरिडोर ऐण्टरप्राइज़ेस द्वारा क ...

                                               

कोच्चि मेट्रो

कोच्चि मेट्रो एक मेट्रो संचालन तंत्र है जो कि भारतीय राज्य केरल के कोच्चि नगर में अपनी सेवाएँ प्रदान करती है। इसे निर्माण प्रारम्भ होने के चार वर्षों के भीतर जनता के लिये खोल दिया गया, इस प्रकार से यह लखनऊ मेट्रो के बाद दूसरी सबसे तेज पूरी होने व ...

                                               

चेन्नई मेट्रो

चेन्नई मेट्रो भारत के महानगर चेन्नई के लिए एक त्वरित यातायात सेवा है। इसके प्रथम चरण में दो लाइने प्रयोग में है एवम् अन्य लाइनों का कार्य निर्माणाधीन है यह पूरी परियोजना पहले चरण के दो गलियारों की लागत १४,६०० करोड़ रुपये है। जो ५०.१ कि॰मी॰ लंबे ह ...

                                               

रैपिड मेट्रो गुरुग्राम

रैपिड मेट्रो हरियाणा राज्य के गुरुग्राम शहर में संचालित एक मेट्रो प्रणाली है। यह प्रणाली सिकंदरपुर मेट्रो स्टेशन पर दिल्ली मेट्रो की येलो लाइन के साथ इंटरचेंज प्रदान करती है। रैपिड मेट्रो की कुल लंबाई ११.७ किलोमीटर है, और इसमें कुल ११ स्टेशन हैं। ...

                                               

निर्माण विहार मेट्रो स्टेशन

निर्माण विहार मेट्रो स्टेशन दिल्ली मेट्रो की ब्लू लाइन पर स्थित है। वहाँ मेट्रो स्टेशन प्राधिकारी द्वारा कोई पार्किंग की सुविधा नहीं है लेकिन, वहाँ बगल में V3S Mall है जहा पर यात्री अपने वाहनों को पार्क कर सकते है। अधिकांश अन्य मेट्रो स्टेशनों की ...

                                               

नोएडा मेट्रो

नोएडा मेट्रो रेलवे नेटवर्एक रैपिड ट्रांजिट सिस्टम है, जो कि उत्तर प्रदेश राज्य के नोएडा और ग्रेटर नोएडा को जोड़ता है। इस मेट्रो नेटवर्क में कुल २१ स्टेशनों वाली एक लाइन है, जिसकी कुल लंबाई २९.७ किलोमीटर है। सिस्टम में स्टैंडर्ड-गेज पटरियों का उपय ...

                                               

अल्मोड़ा

अल्मोड़ा भारतीय राज्य उत्तराखण्ड का एक महत्वपूर्ण नगर है। यह अल्मोड़ा जिले का मुख्यालय भी है। अल्मोड़ा दिल्ली से ३६५ किलोमीटर और देहरादून से ४१५ किलोमीटर की दूरी पर, कुमाऊँ हिमालय श्रंखला की एक पहाड़ी के दक्षिणी किनारे पर स्थित है। भारत की २०११ क ...

                                               

अल्मोड़ा के पर्यटन स्थल

अल्मोड़ा भारत के उत्तराखण्ड राज्य के कुमाऊँ मण्डल में स्थित एक नगर एवम् जनपद है। यह कुमाऊँ पर शासन करने वाले चन्दवंशीय राजाओं की राजधानी भी रहा है। इसके पूर्व में पिथौरागढ़ जनपद, पश्चिम में गढ़वाल क्षेत्र, उत्तर में बागेश्वर जनपद और दक्षिण में नै ...

                                               

आदीग्राम कनौणियॉं

आदीग्राम कनौंणियाँ रामगंगा नदी के पश्चिमी किनारे पर चौखुटिया ब्लॉक के तल्ला गेवाड़ नामक पट्टी में भारतवर्ष के उत्तराखण्ड राज्य के अन्तर्गत कुमाऊँ मण्डल के अल्मोड़ा जिले में स्थित कनौंणियाँ बिष्ट नामक उपनाम से विख्यात कुमांऊँनी हिन्दू राजपूतों का ...

                                               

कनौंणी

कनौंणी एक गाँव है जो रामगंगा नदी के पश्चिमी किनारे पर चौखुटिया ब्लॉक के तल्ला गेवाड़ नामक पट्टी में भारतवर्ष के उत्तराखण्ड राज्य के अन्तर्गत कुमाऊँ मण्डल के अल्मोड़ा जिले में स्थित है। यह कनौंणियॉं नामक उपनाम से विख्यात कुमांऊॅंनी हिन्दू राजपूतों ...

                                               

जागेश्वर धाम, अल्मोड़ा

उत्तराखंड के अल्मोड़ा से ३५ किलोमीटर दूर स्थित केंद्र जागेश्वर धाम के प्राचीन मंदिर प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर इस क्षेत्र को सदियों से आध्यात्मिक जीवंतताप्रदान कर रहे हैं। यहां लगभग २५० मंदिर हैं जिनमें से एक ही स्थान पर छोटे-बडे २२४ मंदिर स्थित हैं।

                                               

नन्दा देवी मेला, अल्मोड़ा

कुमाऊँ मंड़ल के अतिरिक्त भी नन्दादेवी समूचे गढ़वाल और हिमालय के अन्य भागों में जन सामान्य की लोकप्रिय देवी हैं। नन्दा की उपासना प्राचीन काल से ही किये जाने के प्रमाण धार्मिक ग्रंथों, उपनिषद और पुराणों में मिलते हैं। रूप मंडन में पार्वती को गौरी क ...

                                               

पाली पछांऊॅं

पाली पछांऊॅं एक क्षेत्र का नाम है जो भारतवर्ष के उत्तराखण्ड राज्य में कुमाऊँ मण्डल के अन्तर्गत अल्मोड़ा जिले में है। कत्यूरी राजवंश से लेकर 14 अगस्त, 1947 तक पाली पछांऊॅं कुमांऊँ क्षेत्र का एक परगना अर्थात् तत्कालीन तहसील रूपी केन्द्र था।

                                               

बडन मेमोरियल चर्च, अल्मोड़ा

बडन मैमोरियल चर्च भारत के उत्तराखण्ड राज्य के अल्मोड़ा नगर में स्थित एक मेथोडिस्ट गिरिजाघर है। २ मार्च १८९७ को यह बनकर तैयार हुआ था। यह गिरजाघर रोमन इंग्लिश शैली का बना हुआ है। इसकी विशेषता यह है कि फ्रांस में सृजित गोथिक शैली के इस चर्च का निर्म ...

                                               

भिकियासैंण

भिकियासैंण रामगंगा नदी के किनारे पर उत्तराखण्ड राज्य के अन्तर्गत कुमांऊँ क्षेत्र के अल्मोड़ा जिले में स्थित है। यह एक शहर तथा अल्मोड़ा जिले की भिक्यासैंण तहसील का मुख्यालय है, जिसके अन्तर्गत अल्मोड़ा जिले के 376 गॉंव आते हैं। भिकियासैंण में भारती ...

                                               

मॉंसी

मॉंसी एक गाँव है जो रामगंगा नदी के पूर्वी किनारे पर चौखुटिया तहसील के तल्ला गेवाड़ पट्टी में भारतवर्ष के उत्तराखण्ड राज्य के अन्तर्गत कुमांऊँ क्षेत्र के अल्मोड़ा जिले में स्थित है। यह मूलत: मासीवाल नामक उपनाम से विख्यात कुमांऊॅंनी हिन्दुओं का पुश ...

                                               

कालिंपोंग

कालिंपोंग पश्चिम बंगाल के दार्जीलिंग जिले में स्थित है। कलिंगपोंग 1700 ई. तक सिक्किम का एक भाग था। 18वीं शताब्‍दी के प्रारम्‍भ में भूटान के राजा ने इस पर कब्‍जा कर लिया था। आंग्‍ल-भूटान युद्ध के बाद 1865 ई. में इसे दार्जिलिंग में मिला दिया गया। 1 ...

                                               

कोहिमा

कोहिमा भारत के नागालैंड प्रान्त की राजधानी है। यह नागालैंड की राजधानी है और बहुत सुन्दर शहर है। कोहिमा में अधिकतर आदिवासी रहते हैं। इन आदिवासियों की संस्कृति बहुत रंग-बिरंगी है जो पर्यटकों को बहुत पसंद आती है। उन्हें इनकी संस्कृति की झलक देखना बड ...

                                               

कौसानी

कौसानी, गरुङ तहसील में भारत के उत्तराखण्ड राज्य के अन्तर्गत कुमाऊँ मण्डल के बागेश्वर जिले का एक गाँव है। भारत का खूबसूरत पर्वतीय पर्यटक स्‍थल कौसानी उत्तराखंड राज्‍य के अल्‍मोड़ा जिले से 53 किलोमीटर उत्तर में स्थित है। यह बागेश्वर जिला में आता है ...

                                               

खंडाला

खंडाला, भारत के राज्य महाराष्ट्र में, पश्चिमी घाट में स्थित एक पर्वतीय स्थल है। यह लोनावला से तीन किलोमीटर और कर्जत से सात किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। खंडाला, भोर घाट के एक छोर ऊपर पर स्थित है, जो कि दक्कन के पठाऔर कोंकण के मैदान के बीच के सड़क ...

                                               

गैरसैंण

गैरसैंण भारत के उत्तराखण्ड राज्य के चमोली जिले में स्थित एक शहर है। यह समूचे उत्तराखण्ड राज्य के मध्य में होने के कारण फिलहाल उत्तराखण्ड राज्य की ग्रीष्मकालीन अस्थाई राजधानी है।

                                               

चम्पावत

चम्पावत भारत के उत्तराखण्ड राज्य के चम्पावत जिले का मुख्यालय है। पहाड़ों और मैदानों के बीच से होकर बहती नदियाँ अद्भुत छटा बिखेरती हैं। चंपावत में पर्यटकों को वह सब कुछ मिलता है जो वह एक पर्वतीय स्थान से चाहते हैं। वन्यजीवों से लेकर हरे-भरे मैदानो ...

                                               

चैल (हिमाचल प्रदेश)

चैल भारत के हिमाचल प्रदेश का एक हिल स्टेशन है। यह शिमला से 44 किलोमीटर और सोलन से 45 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह अपने प्राकृतिक सौंदर्य के लिए जाना जाता है। चैल पैलेस अपनी वास्तुकला के लिए प्रख्यात है- यहाँ के महल को एंग्लो-नेपाली युद्ध में ...

                                               

नंदी दुर्ग

नंदी दुर्ग कर्नाटक राज्य के चिकबलपुर जिला में चिकबलपुर शहर से मात्र १० कि.मी और बंगलुरू से लगभग ४५ कि॰मी॰ पर स्थित पहाड़ी कर्बा है। यह समुद्रतल से लगभग १४५० मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। बंगलुरू से हैदराबाद राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या ७ पर लगभग ४० किल ...

                                               

नैनीताल

नैनीताल भारत के उत्तराखण्ड राज्य में स्थित भारत का सुप्रसिद्ध पर्यटन नगर है। यह नैनीताल जिले का मुख्यालय भी है। कुमाऊँ क्षेत्र में नैनीताल जिले का विशेष महत्व है। देश के प्रमुख क्षेत्रों में नैनीताल की गणना होती है। यह छखाता परगने में आता है। छखा ...

                                               

मुन्नार

गहरी घाटी में स्थित यह झरना मुन्नार से 8 किलोमीटर दूर कोच्चि रोड पर स्थित है। अथुकड फॉल्य मुन्नार का एक प्रमुख पर्यटक स्थल है। मानसून के दिनों में जुलाई-अगस्त इसकी सुंदरता और भी बढ़ जाती है। इस झरने के अलावा भी इस रास्ते में दो और झरने भी हैं-चीय ...

                                               

विजयपुर, उत्तराखंड

विजयपुर भारत के उत्तराखंड राज्य के बागेश्वर जिले में स्थित एक पर्वतीय स्थल है। यह बागेश्वर-चौकोड़ी राजमार्ग पर बागेश्वर से 30 किमी और कांडा से 5 किमी की दूरी पर घने देवदार के जंगलों के मध्य स्थित है। यह 2050 मी की ऊंचाई पर स्थित है, और बर्फ से ढक ...

                                               

शिलांग

शिलांग पूर्वोत्तर भारत के राज्य मेघालय में स्थित एक पर्वतीय स्थल एवं मेघालय की राजधानी है। यह ईस्ट खासी हिल्स जिले का मुख्यालय भी है। जनसंख्या की दृष्टि से २०११ की भारतीय जनगणना के अनुसार १,४३,२२९ के आंकड़े के साथ शिलांग का भारत में ३३०वां स्थान ...

                                               

हार्सिली हिल्स

हार्सिली हिल्स या हार्सिली कोन्डा आंध्र प्रदेश चित्तूर जिला शहर मदनपल्ली के करीब एक पहाडी इलाका है। इसका स्थानीय नाम "एनुगु मल्लम्मा कोंडा" है। स्थानीय कहानी के अनुसार एक लडकी मल्लम्मा थी जो हाथियों को चारा डाला करती थी। एक दिन वह अचानक गायब हो ग ...

                                               

रामनगर, बाराबंकी

रामनगर 27°05′44″N 81°29′05″E. की भौगोलिक स्थिति पर स्थित है। यह लोधेश्वर महादेव मंदिर से 5 किमी दक्षिण पूर्व, पारिजात वृक्ष से 8 किमी पश्चिम, बाराबंकी से 28 किमी उत्तर, घाघरा नदी से 8 किमी दक्षिण और रेलवे के बुढ़वल जंक्शन से 1.5 किमी की दूरियों प ...

                                               

कोटद्वार तहसील

कोटद्वार तहसील भारत के उत्तराखंड राज्य में गढ़वाल जनपद की एक तहसील है। गढ़वाल जनपद के दक्षिणी भाग में स्थित इस तहसील के मुख्यालय कोटद्वार नगर में स्थित हैं। इसके पूर्व में नैनीताल जनपद की रामनगर तहसील तथा अल्मोड़ा जनपद की सल्ट तहसील, पश्चिम में ह ...

                                               

लैंसडाउन तहसील

लैंसडाउन तहसील भारत के उत्तराखंड राज्य में गढ़वाल जनपद की एक तहसील है। गढ़वाल जनपद के दक्षिणी भाग में स्थित इस तहसील के मुख्यालय लैंसडाउन छावनी में स्थित हैं। इसके पूर्व में धूमाकोट तहसील, पश्चिम में यमकेश्वर, और टिहरी गढ़वाल जनपद की नरेंद्रनगर त ...

                                               

खाचरोड

खाचरोड भारत के मध्य प्रदेश राज्य के उज्जैन जिला के अंतर्गत स्थित अनुमंडल है। यह शहर चम्बल नदी से 12 कि.मी दूर है। इसका दूरभाष कोड ०७३६६ है। यहाँ का पिन कोड 456224 है।

                                               

पुष्पराजगढ़

पुष्पराजगढ़ तहसील का क्षेत्रफल 1652.20 वर्ग किलोमीटर है। यह उत्तर-पश्चिम में उमरिया जिला, उत्तर, उत्तर-पूर्व में शहडोल जिला, पूर्व में जैतहरी तहसील, दक्षिण-पूर्व में छत्तीसगढ़, दक्षिण में दक्षिण-पश्चिम और पश्चिम में डिंडोरी जिला से घिरा हुआ है।

                                               

प्रभात पट्टन

प्रभात पट्टन भारत के मध्य प्रदेश राज्य के बैतूल जिले की प्रमुख तहसील है। इसका प्राचीन नाम प्रबलपुर है। इसके उत्तर में ताप्ती नदी का पवित्र उद्गम स्थल मुलताई है एवं दक्षिण में महाराष्ट्र राज्य का अमरावती जिले की वरूड तहसील स्थित है एवं पूर्व में प ...

                                               

खेड़ तहसील

खेड़ एक तहसील है जो भारतीय राज्य महाराष्ट्र के पुणे ज़िले के खेड़ उप सम्भाग के अंतर्गत आती है। यहां का मुख्यालय राजगुरुनगर है। यह तहसील मुख्यतः संताजी जगनाडे के जन्म स्थल होने के कारण प्रसिद्ध है।

                                               

शिलांग छावनी

२००१ की भारत की जनगणना के अनुसार, शिलांग छावनी की जनसंख्या १२,३८५ थी, जिसमें पुरुषों का भाग ५७% और महिलाओं की जनसंख्या का ४३% है । शिलांग छावनी की औसत साक्षरता दर ७४% है, जो राष्ट्रीय औसत ५९.५% की तुलना में बहुत अधिक है। इसमें पुरुष साक्षरता ७८% ...

                                               

लडभड़ोल

लडभड़ोल तहसील भारत के हिमाचल प्रदेश की जिला मंडी की जोगिंद्रनगर विधानसभा क्षेत्र में स्थित है तथा काँगड़ा जिले के नज़दीक है। लडभड़ोल जिला मंडी की एक तहसील है। यह दिल्ली से लगभग 600 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है। यह एक पहाड़ी इलाका है।। लडभड़ोल का ...

                                               

गंगापुर, सवाई माधोपुर

गंगापुर, जिसे गंगापुर सिटी भी कहा जाता है, भारत के राजस्थान राज्य के सवाई माधोपुर ज़िले में स्थित एक नगर व तहसील है। यह दिल्‍ली-मुंबई रेलमार्ग पर स्थित है। यहां राजस्‍थान की बडी अनाज मंडी है। शिक्षा का अच्‍छा माहौल है। यह एक स्‍वतंत्र विधानसभा क् ...

                                               

चौथ का बरवाड़ा

यह शहर राजस्थान के टोंक-सवाई माधोपुर लोकसभा क्षेत्र में आता है एवं इस शहर का विधान सभा क्षेत्र खण्डार लगता है। यहाँ का चौथ माता का मंदिर पूरे राजस्थान में प्रसिद्ध है! चौथ का बरवाड़ा शहर अरावली पर्वत श़ृंखला की गोद में बसा हुआ मीणा व गुर्जर बाहुल ...

                                               

बामनवास

बामनवास सवाई माधोपुर जिले के अंतर्गत आता है। बामनवास गाँव ही बामनवास तहसील का मुख्यालय है और सवाई माधोपुर के 4 विधानसभा क्षेत्रों में से 1 विधानसभा क्षेत्र बामनवास है। बामनवास जयपुर-गंगापुर सिटी राजमार्ग पर पिपलाई कस्बे से 7 किलोमीटर दूर है। नजदी ...

                                               

बौंली

बौंली भारत के राजस्थान राज्य के सवाई माधोपुर ज़िले में स्थित एक नगर व तहसील है। यह कस्बा सवाई माधोपुर जिले के बामनवास विधान सभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है। बौंली कस्बे में तहसील मुख्यालय एवं पंचायत समिति मुख्यालय भी कार्यरत है। बोन्ली से 5 km आगे ...

                                               

उत्दोर मियनचिय प्रान्त

उत्दोर मियनचिय प्रान्त दक्षिणपूर्वी एशिया के कम्बोडिया देश का एक प्रान्त है। यह देश के पश्चिमोत्तर भाग में स्थित है और उत्तर में पड़ोसी थाईलैण्ड देश से सीमा रखता है।

                                               

कंदाल प्रान्त

कंदाल प्रान्त दक्षिणपूर्वी एशिया के कम्बोडिया देश का एक प्रान्त है। यह देश के दक्षिण में स्थित है और प्रान्त की दक्षिणी सीमा पड़ोसी वियतनाम देश से लगती है। मीकोंग नदी इस प्रान्त से निकलती है।