ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 380




                                               

बंगलौर

बंगलौर भारत के राज्य कर्नाटक की राजधानी है। बेंगलुरु शहर की जनसंख्या ८४ लाख है और इसके महानगरीय क्षेत्र की जनसंख्या ८९ लाख है, और यह भारत गणराज्य का तीसरा सबसे बड़ा शहर और पांचवा सबसे बड़ा महानगरीय क्षेत्र है। दक्षिण भारत में दक्कन के पठारीय क्षे ...

                                               

बंटवाल

बंटवाल भारत के कर्नाटक राज्य के दक्षिण कन्नड़ ज़िले में स्थित एक नगर है। प्रशासनिक दृष्टि से यह एक तालुका का दर्जा रखता है। बंटवाल नेत्रवती नदी के किनारे बसा हुआ है और यहाँ अधिकांश लोग तुलू भाषा बोलते हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग ७३ यहाँ से गुज़रता है ...

                                               

बीदर

बीदर के उत्तर में नांदेड़ तथा लातूर उस्मानाबाद, पश्चिम तथा उत्तर-पश्चिय में उस्मानाबाद, दक्षिण में गुलबर्गा तथा पूर्व में मेदक जिले स्थित हैं। इसके मध्य में २,३५० फुट ऊँचा पठार है। यहाँ का जलवायु शुष्क तथा स्वास्थ्यप्रद है। वर्षा का वार्षिक औसत ३ ...

                                               

बेलगाम

बेलगाम, जिसे बेळगावी / बेळगाव भी कहा जाता है, भारत के कर्नाटक राज्य के बेलगाम ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है।

                                               

बैंगलोर में पर्यटकों के आकर्षण की सूची

बेंगलुरु भारतीय राज्य कर्नाटक की राजधानी है। इस शहर को "गार्डन सिटी ऑफ इंडिया" के रूप में जाना जाता था। बेंगलुरु कर्नाटक राज्य के सबसे महत्वपूर्ण पर्यटन केन्द्रों में से एक था। बेंगलुरू के मुख्य व्यापार केंद्र में एमजी रोड, ब्रिगेड रोड, वाणिज्यिक ...

                                               

भद्रावती, कर्नाटक

महाराष्ट्र राज्य में इसी नाम के नगर के लिए भद्रावती, महाराष्ट्र का लेख देखें भद्रावती भारत के कर्नाटक राज्य के शिमोगा ज़िले में स्थित एक नगर है। यह ज़िले में तालुक का दर्जा रखता है।

                                               

मणिपाल

मणिपाल, कर्नाटक में स्थित है एक शहर में है, जो मणिपाल विश्वविद्यालय के लिए प्रसिद्ध है । यह उडुपी शहर के उपनगर और उसी के नगर पालिका के अधीन है.

                                               

मदिकेरी

समुद्र तल से 1525 मीटर की ऊंचाई पर बसा मडिकेरी कर्नाटक के कोडगु जिले का मुख्यालय है। मडिकेरी को दक्षिण का स्कॉटलैंड कहा जाता है। यहां की धुंधली पहाड़ियां, हरे वन, कॉफी के बगान और प्रकृति के खूबसूरत दृश्य मडिकेरी को अविस्मरणीय पर्यटन स्थल बनाते है ...

                                               

मधुगिरि

मधुगिरि भारत के कर्नाटक राज्य के तुमकूर ज़िले में स्थित एक नगर है। इसका नाम यहाँ स्थित एक पहाड़ पर रखा गया है जिसके ऊपर एक प्रसिद्ध दुर्ग स्थित है।

                                               

मांडया

मांडया, भारत के कर्नाटक राज्य के मांडया जिला का मुख्यालय है। हिन्दू पौराणिक कथा के अनुसार सागा मांडवया ने यहां पर तपस्या की थी। तभी से इस स्थान को मांडया के नाम से जाना जाता है। मांडया बैंगलोर से लगभग 90 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। मांडया पहले ...

                                               

रामनगर, कर्नाटक

रामनगर, जिसे स्थानीय उच्चारण में रामनगरा भी कहा जाता है, भारत के कर्नाटक राज्य के रामनगर ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है। रामनगर रेशम उत्पादन के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ ग्रेनाइट का उत्पादन भी होता है और आसपास के क्षेत्र की ...

                                               

शिमोगा

शिमोगा भारत के कर्नाटक राज्य के शिमोगा ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है। नगर का आधिकारिक नाम शिवमोग्गा है। नगर तुंगा नदी के किनारे स्थित है। यह नगर पश्चिमी घाट के पर्वतीय क्षेत्र का प्रवेशद्वार है। यह नगर समुद्रतल से 569 म ...

                                               

शृंगेरी

शृंगेरी, कर्नाटक के चिकमंगलूर जिला का एक तालुक है। आदि शंकराचार्य ने यहाँ कुछ दिन वास किया था और शृंगेरी तथा शारदा मठों की स्थापना की थी। शृंगेरी मठ प्रथम मठ है। यह आदि वेदान्त से संबंधित है। यह शहर तुंग नदी के तट पर स्थित है, व आठवीं शताब्दी में ...

                                               

सकलेशपुर

सकलेशपुर भारत के कर्नाटक राज्य के हासन ज़िले में स्थित एक नगर है। राष्ट्रीय राजमार्ग ७५ यहाँ से गुज़रता है। यह पश्चिमी घाट में बसा हुआ एक पर्वतीय पर्यटक स्थल है, और यहाँ कई कॉफ़ी के बागान हैं।

                                               

सिद्दापुर

सिद्दापुर या सिद्दापुरा भारत के कर्नाटक राज्य के उत्तर कन्नड़ ज़िले में स्थित एक नगर है। यहाँ भारतभर में प्रसिद्ध जोग जल प्रपात स्थित है।

                                               

सूरतकल

सूरतकल मंगलौर नगर निगम के अधीन एक क्षेत्र है। यह दक्षिण कन्नड़ जिला, कर्नाटक में स्थित है। यहां भारत का एक बेहतरीन तकनीकी संस्थान राष्ट्रीय तकनीकी संस्थान स्थापित है। इसे पूर्व में कर्नाटक रीजनल इंजीनियरिंग कालिज कहा जाता था। सूरतकल मंगलौर शहर का ...

                                               

हुनागुन्दा

हुनागुन्दा, जिसे हुनगुन्द भी कहा जाता है, भारत के कर्नाटक राज्य के बागलकोट ज़िले में स्थित एक नगर है। यह ज़िले में तालुक का दर्जा रखता है।

                                               

होन्नावर

होन्नावर भारत के कर्नाटक राज्य के उत्तर कन्नड़ ज़िले में स्थित एक नगर व बंदरगाह है। यह ज़िले में तालुक का दर्जा रखता है। होन्नावर अरब सागर से तटस्थ है।

                                               

अलुवा

अलुवा भारतीय राज्य केरल स्थित कोच्चि महानगर पालिका, एरणाकुलम जिला में एक नगरीय निकाय है। यह कोच्चि से लगभग १५ किमी की दूरी पर है। पेरियार नदी के तट पर स्थित अलुवा राज्य का एक प्रमुख औद्योगिक केन्द्र है।

                                               

आलाप्पुड़ा

आलाप्पुड़ा, जो पहले आलेप्पी कहलाया जाता था, भारत के केरल राज्य के आलाप्पुड़ा ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है।

                                               

एर्नाकुलम

एर्नाकुलम केरल राज्य के मध्य में स्थित है। यह कोच्चि शहर के पूर्वी, मुख्यभूमि हिस्से को संदर्भित करता है। यह कोच्चि का सबसे शहरी भाग है। एरनाकुलम को केरल राज्य की वाणिज्यिक राजधानी कहा जाता है। केरल हाईकोर्ट, कोचिंग कॉरपोरेशन का कार्यालय और कोचीन ...

                                               

किलिमानूर

किळिमानूर केरल के तिरुवनन्तपुरम जिले का एक छोटा सा नगर है। यह नगर क्षेत्र 2 ग्राम पंचायतों, प॰ हयकुन्नुम्मॅल् ग्राम् पंचायत और किळिमानूर ग्राम पंचायत द्वारा प्रशासित किया जाता है। भारत के महान चित्रकार राजा रवि वर्मा का जन्म यहीं हुआ था। यहाँ का ...

                                               

कोड़िकोड

दक्षिण भारत के केरल राज्य में अरब सागर के दक्षिण पश्चिम तट पर कोड़िकोड या कैलीकट स्थित है। इसके पश्चिम में विस्तृत और शांत अरब सागर फैला हुआ है और पूर्व में वयनाड की पहाड़ियों इसकी खूबसूरती में चार चांद लगाती हैं। यहां की हरियाली, शांत वातावरण, ऐ ...

                                               

कोवलम

केरल के तिरुवनंतपुरम जिले में स्थित कोवलम अपने खूबसूरत बीच और ताड़ के पेड़ों के लिए प्रसिद्ध है। कोवालम के बीच विश्व के सबसे दर्शनीय बीचों में गिना जाता हैं। सुनहरी रेत को चूमती नीली सागर की लहरें देखने के लिए दूर-दूर से पर्यटक खीचें चले आते हैं। ...

                                               

तृश्शूर

त्रिस्सूर केरल के सांस्कृतिक राजधानी के नाम से भी जाना जाता है। इसे पहले त्रिचूर के नाम से जाना जाता था। प्रशासनिक दृष्टि से यह त्रिस्सूर ज़िले का मुख्यालय है।

                                               

देवीकुलम

मिथक पौराणिक कथा से उत्पन्न देवीकुलम नाम का मतलब है: कुलम -> तालाब देवी -> सीता देवी और पौराणिक कथा के अनुसार, रामायण इतिहास के सीता देवी इस सुंदर और रसीला देविकुलम झील में स्नान किया था और इस तालाब को पवित्र बना लिया था, ये तालाब हरी पहाड़ ...

                                               

पालक्काड़

पालक्काड़ केरल का एक प्रमुख पर्यटक स्थल है। यह पालक्काड़ जिले में आता है। इसे केरल का द्वार भी कहा जाता है जो इसकी सुंदरता को देखते हुए सार्थक प्रतीत होता है। नारियल के पेड़ों और धान के खेतों से सजी इस जगह पर जन्तुओं और वनस्पति की अनेक प्रजातियां ...

                                               

पोन्नानी

पोन्नानी भारत के केरल राज्य के मलप्पुरम ज़िले में स्थित एक बस्ती है। यह अरब सागर पर स्थित एक ऐतिहासिक बंदरगाह है। प्राचीनकाल में यहाँ से रोमन साम्राज्य से समुद्री व्यापार करा जाता था। मध्यकाल में कोड़िकोड के हिन्दू राजाओं के अधीन यह अरब क्षेत्रों ...

                                               

मलप्पुरम

पूर्व में नीलगिरी की पहाड़ियों, पश्चिम में अरब सागर और दक्षिण में पालक्काड एवं तृश्शूर जिले से घिरा मलप्पुरम कोड़िकोड से 50 किलोमीटर दक्षिण पूर्व में स्थित है। यह मलप्पुरम जिला का मुख्यालय है। मलप्पुरम को 1969 में कालीकट और पलक्कड से अलग करके बना ...

                                               

मूवाट्टुपुषा

मूवाट्टुपुषा केरल का एक प्रमुख शहर है़। ये कोचीन या एरणाकुलम शहर से ४० किलोमीटर उत्तर-पूर्व दिशा में स्थित है। मूवाट्टुपुषा एरणाकुलम जि़ले का एक प्रमुख शहर है़। मूवाट्टुपुषा अपनी बीच में से बहती हुई नदी के लिए मशहूर है़। इस नदी को मलयालम में मूवा ...

                                               

सबरिमलय

सबरीमला, केरल के पेरियार टाइगर अभयारण्य में स्थित एक प्रसिद्ध हिन्दू मन्दिर है। यहाँ विश्व का सबसे बड़ा वार्षिक तीर्थयात्रा होती है जिसमें प्रति वर्ष लगभग २ करोड़ लोग श्रद्धालु सम्मिलित होते हैं। केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम से १७५ किमी की दूरी प ...

                                               

अमरेली

अमरेली भारत देश में गुजरात प्रान्त में स्थित सौराष्ट्र भाग के अमरेली जिले का मुख्य शहर है। गुजरात के प्रथम मुख्यमंत्री डॉ॰ जीवराज महेता का जन्म ये शहर में हुआ था।

                                               

अलांग

गज खंभात की खाड़ी से, ५० किलोमीटर की दूरी पर भावनगर के दक्षिण - पूर्व मे स्थित हैं। पर्यावरणविदों की शिकायत है कि जब जून १९८३ मे सबसे पहले जहाज तोडने का काम शुरू हुआ था तब अलांग में समुद्र तट मौलिक् और ठीक था। अलांग के उबार गजो मे मजदूरों के रहने ...

                                               

अहमदाबाद

अहमदाबाद गुजरात प्रदेश का सबसे बड़ा शहर है। भारतवर्ष में यह नगर का सातवें स्थान पर है। इक्क्यावन लाख की जनसंख्या वाला ये शहर, साबरमती नदी के किनारे बसा हुआ है। १९७० में गांधीनगर में राजधानी स्थानांतरित होने से पहले अहमदाबाद ही गुजरात की राजधानी ह ...

                                               

आणंद

आणंद भारत के गुजरात प्रान्त का एक शहर है। आणंद का प्राचीन नाम आनंदपुर था। आनंद गुजरात के टॉप 8 सबसे बड़े शहर की सूची में है आनंद सिटी क्षेत्र गुजरात का तीसरा सबसे अधिक आबादी वाला शहर है

                                               

इडर

इडर का इतिहास राजा मांडलिक भील से प्रारंभ होता है। राजा मांडलिक दयावान राजा थे । राजा मांडलिक ने ही गुहीलवंश के राजा गुहादित्य को अपने इडर राज्य मे रखकर संरक्षण दिया। इडर पर लंबे समय तक भील राजाओं का शासन रहा और यहां भील संस्कृती का विकास हुआ । म ...

                                               

उपलेटा

उपलेटा भारत के गुजरात राज्य के राजकोट ज़िले में स्थित एक नगर है। प्रशासनिक रूप से यह क्षेत्र इसी नाम की एक तहसील भी है, जिसमें दो शहर और 49 गाँव आते हैं।

                                               

उमरेठ

उमरेठ भारत के गुजरात राज्य के आणंद ज़िले में स्थित एक नगर और नगरपालिका, तथा इसी नाम की तहसील है। इस तहसील में लगभग 100 गांव हैं। उमरेठ का थाना जिले का सर्वाधिक पुराना एवम् बड़ा थाना है।

                                               

करमसद

करमसद भारत के गुजरात राज्य के आणंद ज़िले में स्थित एक नगर और नगरपालिका है। यह छगामगोल का एक भाग है। सरदार वल्लभ भाई पटेल यहीं पर पले-बढ़े।

                                               

खम्भालिया

खम्भालिया, जो जमखम्भालिया भी कहलाता है, भारत के गुजरात राज्य के देवभूमि द्वारका ज़िले में स्थित एक नगर है। यह ज़िले का मुख्यालय भी है।

                                               

खेड़ा

सुनहरी पत्तियों की भूमि कहा जाने वाला गुजरात का खेडा 7194 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला हुआ है। यह गुजरात का सबसे बड़ा तम्बाकू उत्पादक है। इस प्राचीन बस्ती की स्थापना पांचवीं शताब्दी में हुई थी। अंग्रेजों ने यहां 1803 में मिल्रिटी गैरीसन वि ...

                                               

गढड़ा

गढड़ा भारत के गुजरात राज्य के बोटाद ज़िले में स्थित एक नगर है। यह घेला नदी के किनारे बसा हुआ है और अपने स्वामीनारायण मंदिर के लिए प्रसिद्ध है।

                                               

गब्बर पर्वत

गब्बर पर्वत भारत के गुजरात में बनासकांठा जिला स्थित एक छोटा सा पहाड़ी टीला है। यह प्रसिद्ध तीर्थ अम्बाजी से मात्र ५ कि.मी की दूरी पर गुजरात एवं राजस्थान की सीमा पर स्थित है। यहीं से अरासुर पर्वत पर अरावली पर्वत से दक्षिण पश्चिम दिशा में पवित्र वै ...

                                               

गांधीधाम

गांधीधाम, गुजरात के कच्छ जिले का एक नगर है। इस नगर की स्थापना १९५० में सिन्ध से आये हुए शरणार्थियों को बसाने के लिये की गयी थी। यह नगर कच्छ जनपद की आर्थिक राजधानी है और गुजरात में तेजी से विकसित हो रहा नगर है। यह गुजरात का १८वाँ सबसे बड़ा नगर है।

                                               

गोधरा

गोधरा में सन् 2002 का गोधरा कांड हुआ। इस शहर का नाम सहसा तब सामने आया जब वहाँ 27 फ़रवरी 2002 को रेलवे स्टेशन पर साबरमती ट्रेन के एस-6 कोच में भीड़ द्वारा आग लगाए जाने के बाद 59 कारसेवकों की मौत हो गई। इसके परिणामस्वरूप पूरे गुजरात में साम्प्रदायि ...

                                               

जाम जोधपुर

सन् 2001 की भारत की जनगणना के अनुसार, जाम जोधपुर की आबादी 22.651 थी। इसमें पुरुष 51% और महिलाएँ 49% थी। जाम जोधपुर का औसत साक्षरता दर 72% था, जिसमें पुरुष साक्षरता 77% और महिला साक्षरता 67% थी। 11% जनसंख्या 6 वर्ष से कम उम्र की थी। यह गुजरात के स ...

                                               

जूनागढ़

जूनागढ़ शहर गिरनार पहाड़ियों के निचले हिस्से पर स्थित है। मंदिरों की भूमि जूनागढ़ गिरनार हिल की गोद में बसा हुआ है। यह मुस्लिम शासक बाबी नवाब के राज्य जूनागढ़ की राजधानी था। गुजराती भाषा में जूनागढ़ का अर्थ होता है प्राचीन किला। इस पर कई वंशों ने ...

                                               

डाकोर

इस मंदिर का निर्माण सफेद संगमरमर से किया गया है। सोने के कलश और सफेद ध्वजा वाला यह मंदिर इस जिले का सबसे ऊंचा मंदिर भी है। मुख्य विग्रह रणछोडरायजी श्रीकृष्ण की प्रतिमा काले रंग के पत्थर से बनाई गयी है जो १ मीटर लंबी, ४५ सेमी चौड़ी है। मंदिर की नक ...

                                               

दांडी, नवसारी

दांडी जलालपुर तालुका में एक बस्ती है। यह नवसारी शहर के पास अरब सागर के तट पर स्थित है। सन् 1930 में महात्मा गांधी ने नमक मार्च के लिए यह स्थान चुनने के बाद विश्वभर में प्रसिद्ध हुआ। उन्होंने साबरमती अहमदाबाद से दांडी अपने कुछ अनुयायियों के साथ नम ...

                                               

नवसारी

नवसारी भारत के गुजरात राज्य के नवसारी ज़िले में स्थित एक नगर है। यह ज़िले का मुख्यालय भी है। यह सूरत के समीप है और कभी-कभी उसका जुड़वा शहर भी कहा जाता है।