ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 389




                                               

बुरहानपुर

बुरहानपुर भारत के मध्य प्रदेश का एक प्रमुख शहर है। बुरहानपुर मध्य प्रदेश में ताप्ती नदी के किनारे पर स्थित एक नगर है। यह ख़ानदेश की राजधानी था। इसको चौदहवीं शताब्दी में ख़ानदेश के फ़ारूक़ी वंश के सुल्तान मलिक अहमद के पुत्र नसीर द्वारा बसाया गया।

                                               

भोजपुर, मध्य प्रदेश

भोजपुर मध्य प्रदेश के विदिशा से ४५ मील की दूरी पर रायसेन जिले में वेत्रवती नदी के किनारे बसा है। प्राचीन काल का यह नगर "उत्तर भारत का सोमनाथ कहा जाता है। गाँव से लगी हुई पहाड़ी पर एक विशाल शिव मंदिर है। इस नगर तथा उसके शिवलिंग की स्थापना धार के प ...

                                               

भोपाल

भोपाल भारत देश में मध्य प्रदेश राज्य की राजधानी है और भोपाल ज़िले का प्रशासनिक मुख्यालय भी है। भोपाल को राजा भोज की नगरी तथा झीलों की नगरी कहा जाता है क्योंकि यहाँ कई छोटे-बड़े ताल हैं। यह शहर अचानक सुर्ख़ियों में तब आ गया जब १९८४ में अमरीकी कंपन ...

                                               

मंडला

मंडला भारत के मध्य प्रदेश राज्य के मंडला ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है। इतिहास में यह गोंड रानी दुर्गावती का गढ़ हुआ करता था।

                                               

मंडलेश्वर

मंडलेश्वर भारत के मध्य प्रदेश राज्य के खरगोन ज़िले में स्थित एक नगर है। मंडलेश्वर की स्थापना महान पंडित मण्डन मिश्र ने की थी। यह महेश्वर से ८ किलोमीटर की दूरी पर नर्मदा नदी के उत्तर तट पर स्थित है। शिवराजसिंह चौहान मुख्मंत्री म.प्र. शासन ने इसे ह ...

                                               

मंदसौर

मंदसौर भारत के मध्य प्रदेश प्रान्त में स्थित एक प्रमुख शहर है। मंद्सौर का प्राचिन नाम दशपुर था! पुरातात्विक और ऐतिहासिक विरासत को संजोए उत्तरी मध्य प्रदेश का मंदसौर एक ऐतिहासिक जिला है। यह 5530 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। आजादी के प ...

                                               

मण्डलेश्वर

मण्डलेश्वर मध्य प्रदेश के खरगोन जिला का एक शहर है। महेश्वर से 8 कि॰मी॰ दूर यह शहर भी नर्मदा के किनारे ही बसा है। नर्मदा पर जल-विद्युत परियोजना व बांध का निर्माण हुआ है। यहां से समीप ही चोली नामक स्थान पर अत्यंत प्राचीन शिव-मंदिर है जहां पर बहुत भ ...

                                               

राजगढ़, मध्य प्रदेश

राजगढ़ भारत के मध्य प्रदेश राज्य के राजगढ़ ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है। राजगढ़ कभी भील राजाओं की राजधानी रही थी। सदियों पहले भील राजाओं द्वारा सिद्धपीठ मां जालपा जी की स्थापना की गई थी। । उस समय उनके द्वारा ही पूजन अर ...

                                               

रीवा

रीवा भारत के मध्य प्रदेश प्रान्त का नगर एवं संभाग है। यह इलाहाबाद नगर से १३१ किलोमीटर दक्षिण स्थित प्रमुख नगर है। यह शहर मध्य प्रदेश प्रांत के विंध्य पठार का एक हिस्से का निर्माण करता है और टोंस,बीहर.,बिछिया नदी एवं उसकी सहायता नदियों द्वारा सिंच ...

                                               

लखनादौन

लखनादौन भारत देश में मध्य प्रदेश राज्य के सिवनी जिला की एक तहसील, विधानसभा क्षेत्और नगरपालिका है यह सिवनी जिला से 61 किलोमीटर दूर उत्तर दिशा की ओर लखनादौननागपुर -जबलपुर राष्ट्रीय राजमार्ग क्रंमाक 44 पर स्थित हैँ।यहा की भौगोलिक स्थति 22.33 उत्तरी ...

                                               

विदिशा

विदिशा भारत के मध्य प्रदेश प्रान्त में स्थित एक प्रमुख शहर है। यह मालवा के उपजाऊ पठारी क्षेत्र के उत्तर- पूर्व हिस्से में अवस्थित है तथा पश्चिम में मुख्य पठार से जुड़ा हुआ है। ऐतिहासिक व पुरातात्विक दृष्टिकोण से यह क्षेत्र मध्यभारत का सबसे महत्वप ...

                                               

विदिशा का इतिहास

विदिशा भारतवर्ष के प्रमुख प्राचीन नगरों में एक है, जो हिंदू तथा जैन धर्म के समृद्ध केन्द्र के रूप में जानी जाती है। जीर्ण अवस्था में बिखरे पड़े कई खंडहरनुमा इमारतें यह बताती है कि यह क्षेत्र ऐतिहासिक एवं पुरातात्विक दृष्टि कोण से मध्य प्रदेश का स ...

                                               

विदिशा की जलवायु

विदिशा मालवा के उपजाऊ पठारी क्षेत्र के उत्तर- पूर्व हिस्से में अवस्थित है तथा पश्चिम में मुख्य पठार से जुड़ा हुआ है। ऐतिहासिक व पुरातात्विक दृष्टिकोण से यह क्षेत्र मध्यभारत का सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्र माना जा सकता है। नगर से दो मील उत्तर में जहाँ ...

                                               

विदिशा की वन संपदा

विदिशा भारत के मध्य प्रदेश प्रान्त में स्थित एक प्रमुख शहर है। प्राचीन नगर विदिशा तथा उसके आस- पास के क्षेत्र को अपनी भौगोलिक विशिष्टता के कारण एक साथ दशान या दशार्ण क्षेत्र की संज्ञा दी गई है। यह नाम छठी शताब्दी ई. पू. से ही चला आ रहा है। इस नाम ...

                                               

शाजापुर

शाजापुर जिला क्षेत्रीय चित्रण की वर्तमान योजना के अनुसार केन्द्रीय मध्य प्रदेश पठार रतलाम पठार माइक्रो क्षेत्र का एक हिस्सा है। जिले राज्य के पश्चिमोत्तर भाग में स्थित है और झूठ 32 "06 और 24" 19 अक्षांश उत्तर और 75 "41 और 77 02 पूर्वी देशांतर के ...

                                               

सतना

मध्य प्रदेश में मुंबई-हावड़ा रेल लाइन पर जबलपुर-इलाहाबाद के बीच स्थित सतना तत्कालीन विन्ध्य प्रदेश का प्रदेश-द्वार कहा जाता था, अर्थात् रीवा, सीधी, पन्ना या छतरपुर आने वाले लोग सतना स्टेशन पर उतरते थे। इसके अलावा प्रसिद्ध तीर्थ चित्रकूट और मैहर भ ...

                                               

सनावद

सनावद भारत के मध्य प्रदेश राज्य के खरगोन ज़िले में स्थित एक नगर है। बड़वाह और सनावद जुड़वा शहर हैं जो नर्मदा नदी के आर-पार बसे हैं। उत्तर की ओर बड़वाह तथा दक्षिण की ओर सनावद है।

                                               

सबलगढ़

सबलगढ़ भारत के मध्य प्रदेश प्रान्त का एक नगर है। उत्तरी मध्य प्रदेश मै स्थित यह नगर मुरैना जिले के अंतर्गत आता है। सबलगढ़ का अर्थ होता है मजबूत दुर्ग और इस नगर में अपने नाम की भांति एक दुर्ग है जोकि सबलगढ़ के क़िले के नाम से प्रसिद्ध है। सबलगढ़ क ...

                                               

सरवनखेडा

सरवनखेड़ा मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले की महिदपुर तहसील के बरुखेडी ग्राम पंचायत का एक छोता सा गाँव है। यह महिदपुर रोड रेलवे स्टेशन से 4.6 किमी और महिदपुर शहर राजमार्ग से 3.6 किमी की दुरी पर स्थित है। भारत और पंचायत राज अधिनियम के संविधान के अनुसार, ...

                                               

सागर शहर

सागर, मध्य प्रदेश का एक महत्‍वपूर्ण शहर है। सागर का इतिहास सन् १६६० से आरंभ होता है, जब हुसैनशाह ने तालाब के किनारे स्थित वर्तमान किले के स्थान पर एक छोटे किले का निर्माण करवा कर उस के पास परकोटा नाम का गांव बसाया था। निहालशाह के वंशज ऊदनशाह द्वा ...

                                               

सारणी (मप्र)

सारणी, मध्य प्रदेश के बेतुल जनपद का एक कस्बा है। यह भोपाल के दक्षिण में लगभग २०० किमी और नागपुर के उत्तर में लगभग २२५ किमी की दूरी पर स्थित है। यहाँ पर मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा ऊर्जा संयंत्र स्थित है जो मध्य प्रदेश में उत्पादित सम्पूर्ण विद्युत ऊ ...

                                               

सिरवेल महादेव

सिरवेल महादेव मध्य प्रदेश के खारगोन जिला में स्थित एक स्थान है।खरगोन से 55 कि.मी. दूर इस स्थान के बारे मे मान्यता है कि रावण ने महादेव शिव को अपने दसों सर यहीं अर्पण किये थे। इसीलिये यह नाम पड़ा है। यह स्थान महाराष्ट्र की सीमा से बहुत ही पास है। ...

                                               

सिरोंज

ऐतिहासिक रूप से, सिरोंज बुंदेलखंड के किनारे पर मालवा क्षेत्र का एक हिस्सा था, और एक जैन तीर्थयात्रा रहा है दिगंबर जैन नासियाजी जिनोदय तीर्थ। टोंक के नवाबों के राज्य के हिस्से के रूप में, यह सिंधियाओं के तहत ग्वालियर राज्य की सीमा में था। भारत की ...

                                               

सिवनी

सिवनी भारत के मध्य प्रदेश का एक जिला है। सिवनी जबलपुर संभाग के अन्तर्गत आता हैँ राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 7 इस जिले से होकर जाता हैँ।यह के पडोसी जिले उत्तर दिश की ओर जबलपुर,मंडला, नरसिँहपुर जिले है,पूर्व दिशा की ओर बालाघाट पश्चिम दिश की ओर छिँदव ...

                                               

सिहोनिया

सिहोनिया भारत के मध्य प्रदेश राज्य के मुरैना ज़िले में स्थित एक नगर है। इसे प्राचीन व मध्य काल में सिंहपानीय के नाम से जाना जाता था। यहाँ कई ऐतिहासिक स्थापत्य हैं, जिनमें से एक राष्ट्रीय महत्व का स्थापत्य घोषित करा जा चुका है। इसका इतिहास नवीं शत ...

                                               

सीधी

सीधी मध्य प्रदेश का एक नगर और नगरपालिका है। यह सीधी जिले का मुख्यालय है। सीधी 24.42°N 81.88°E  / 24.42; 81.88. में स्थित है। इसकी औसत ऊंचाई 272 मीटर 892 फीट है। यह चंदेल राजपूतों का एक राज्य था जो खजुराहो से आये थे। 2001 की भारत की जनगणना के अनु ...

                                               

सीहोर

गुजरात राज्य में इस से मिलते-जुलते नाम के शहर के लिए सिहोर का लेख देखें सीहोर भारत के मध्य प्रदेश राज्य के सीहोर ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है।

                                               

सोहागपुर

सोहागपुर का पूर्व नाम सोणिकपुर था। हजारो साल पहले यह जगह भगवान शिव के परम भक्त बाणासुर की नगरी हुआ करती थी । जिसका हजारो साक्ष्य आज भी नगर में मौजूद है। नगर का हनुमान नाका जो कि होशंगाबाद रोड पर स्थित है वहाँ कुछ वर्ष पूर्व भगवान भोले की अनोखी मू ...

                                               

होशंगाबाद

होशंगाबाद भारत के मध्य प्रदेश प्रान्त में स्थित एक प्रमुख शहर है। होशंगाबाद जिला मुख्यालय है। होशंगाबाद की स्थापना मांडू के द्वितीय राजा सुल्तान हुशंगशाह गौरी द्वारा पन्द्रहवी शताब्दी के आरंभ में की गई थी। यहां सेे डॉ. सीताशरण शर्मा पांचवी बार वि ...

                                               

अंबरनाथ

अंबरनाथ एक नगरपालिका क्षेत्र है। अंबरनाथ महाराष्ट्र राज्य के मुंबई नगर से 38 मील की दूरी पर स्थित है। अंबरनाथ में शिलाहाट नरेश मांबणि द्वारा निर्मित अंबरनाथ शिव का मंदिर है जिसे कोंकण का सर्वप्राचीन देवालय माना जाता है। शिव मंदिर की वास्तुकला उच् ...

                                               

अकोला

अकोला महाराष्ट्र राज्य के विदर्भ क्षेत्र का एक शहर है। अकोला शहर, उत्तर-मध्य महाराष्ट्र राज्य, पश्चिमी भारत, मुरना नदी के किनारे स्थित है। अकोला ज़िले के कातेपुर्णा अभयारण्य में दुर्लभ चौसिंगा हिरन पाए जाते हैं। अकोला जिल्ला कपास के उत्पादन में प ...

                                               

अकोले तालुक

अकोले तालुक भारत के महाराष्ट्र राज्य के अहमदनगर जिले के संगमानेर उपखंड में स्थित तालुक है। यह अहमदनगर जिले के पश्चीम में स्थित है। इसके पुर्व में अहमदनगर जिले का ही संगमनेर तहसील, दक्षिण में पुणे जिला का जुन्नर तहसील, पश्चीम में ठाणे जिले के शहाप ...

                                               

अमरावती

अमरावती भारत के महाराष्ट्र राज्य के अमरावती ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है। यह इन्द्र देवता की नगरी के रूप में विख्यात है और इसे इन्द्रपुरी भी कहते है 1853 में, बरार प्रांत के हिस्से के रूप में अमरावती जिले का वर्तमान क् ...

                                               

अर्धापुर

अर्धापुर भारत के महाराष्ट्र राज्य के उस्मानाबाद ज़िले में स्थित एक नगर है। अर्धापुर का पुराना नाम आराध्यपुर था। य्स क्षेत्र केले की पैदावार के लिए प्रसिद्ध है। अर्धापुर का केला पूरे भारत-भर में भेजा जाता है। अर्धापुर में 8 अगस्त 2015 को नगरपंचायत ...

                                               

अलीबाग

अलीबाग कोंकण क्षेत्र में, महाराष्ट्र के पश्चिमी तट पर, अरब सागर के किनारे बसा हुआ एक छोटा-सा शहर है। 17वीं शताब्दी में बनी इस जगह की उन्नति छत्रपति शिवाजी ने की थी। 1852 में इसे एक तालुका घोषित किया गया। महाराष्ट्र का गोआ तीन तरफ से पानी से घिरे ...

                                               

आम्बोली

आम्बोली भारत के महाराष्ट्र राज्य के सिंधुदुर्ग ज़िले में स्थित एक नगर है। यह एक 690 मीटर की ऊँचाई पर स्थित रमणीय पहाड़ी क्षेत्र है और यहाँ का आम्बोली घाट जलप्रपात प्रसिद्ध है। समीप ही गोवा राज्य की सीमा है।

                                               

आर्वी

आर्वी ज़िले में प्रशासनिक दृष्टि से तहसील का दर्जा रखता है। यह सन्तों कि भूमि भी मानी जाती है। यहाँ "लोकमान्य वाचनालय" नाम से एक बहुत ही पुराना पुस्तकालय है।

                                               

इगतपुरी

इगतपुरी, भारत के राज्य महाराष्ट्र के नासिक जिले में स्थित एक पर्वतीय स्थल और नगर परिषद है। यह पश्चिमी घाट पर स्थित है। इगतपुरी रेलवे स्टेशन मुंबई और नासिक रोड नामक रेलवे स्टेशनों के बीच स्थित है। सड़क मार्ग पर यह व्यस्त मुंबई-आगरा राष्ट्रीय राजमा ...

                                               

इचलकरंजी

इचलकरनजी महाराष्ट्र के के कोल्हापुर जिल्हा मे, पंचगंगा नदी के पास, कोल्हापुर नगर से २७ किमी दूर, जिले का दूसरा बड़ा नगर है। यहाँ की जलवायु स्वास्थ्यप्रद है, परंतु कुओं का जल खारा है; अत: पेय जल नल द्वारा पंचगंगा नदी से लाया जाता है। कोल्हापुर राज ...

                                               

उदगीर

यह शिक्षा एवं महान किले के लिये प्रसिद्ध है। शहर आज एक प्रमुख व्यापारिक केंद्र है। शहर जानवरों के बाजार के लिए भी जाना जाता है, ख़ासकर देवानी जाति के बैलों के लिए यह बाजार प्रसिद्ध है। यह शहर महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा पर स्थित है। यहाँ के शिवाजी वि ...

                                               

उल्हासनगर

उल्हासनगर भारत के महाराष्ट्र राज्य के ठाणे ज़िले में स्थित एक नगर है। यह मुंबई शहरी क्षेत्र का भाग है। उल्हासनगर मुम्बई से कुछ ६० किलोमीटर दूर है। इस शहर का नाम कोकण की सबसे लंबी नदी उल्हास नदी से पडा है।

                                               

उस्मानाबाद

यह शहर सातवे निज़ाम - मीर उस्मान अली खान के नाम पर आधारित है। यह कर्नाटक राज्य की सीमा पर, दक्षिण–पश्चिम भारत में स्थित है। उस्मानाबाद उस्मानाबाद पठापर अवस्थित है, जो मांजरा नदी द्वारा अपवाहित होती है। यह जगह गुप्तकालीन गुहाओं के लिए उल्लेखनीय है ...

                                               

औरंगाबाद, महाराष्ट्र

औरंगाबाद, भारत के महाराष्ट्र राज्य का एक महानगर है। अजंता और एलोरा विश्व धरोहर स्थलों समेत कई नामी पर्यटन स्थलो के सन्निध होने से यह एक महत्वपूर्ण पर्यटक केंद्र है। औरंगाबाद प्रदेश का एक प्रमुख औद्योगिक शहर तथा शिक्षा केंद्र है। यह एक जिला एवं सं ...

                                               

कल्याण, महाराष्ट्र

कल्याण भारत के महाराष्ट्र राज्य के ठाणे ज़िले में स्थित एक नगर है। यह ज़िले में तालुक का दर्जा रखता है। कल्याण मुंबई में कल्याण-डोंबिवली का एक क्षेत्र है।

                                               

कोल्हापुर

कोल्हापुर महाराष्ट्र प्रान्त का एक शहर है। मुंबई से 400 किलोमीटर दूर कोल्‍हापुर महाराष्‍ट्र का एक जिला है। मुंबई से पास होने के कारण बड़ी संख्‍या में पर्यटक सप्‍ताहंत में यहां आते हैं। यह स्‍थान ऐतिहासिक तथा धार्मिक दृष्टि से बहुत महत्‍वपूर्ण है। ...

                                               

गढ़चिरौली

गढ़चिरौली भारत के महाराष्ट्र राज्य के गढ़चिरौली ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है। इस क्षेत्र में वन फैले हुए हैं और सागौन व बाँस की वस्तुओं का उत्पादन होता है। नगर वैनगंगा नदी के किनारे बसा हुआ है।

                                               

गोंदिया

गोंदिया शहर गोंदिया ज़िले का प्रशासकीय मुख्यालय है। गोंदिया शहर में मुख्य तौपर चावल मिल्स है और बिडी उधोग भी काफी प्रमाण में मौजूद है। गोंदिया महाराष्ट्र में है और छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश की सीमा पर है। महाराष्ट्र में आणे के लिये मध्य भारत और पू ...

                                               

चन्द्रपुर

चंद्रपुर, जिसका भूतपूर्व नाम चांदा था, भारत के महाराष्ट्र राज्य के चंद्रपुर ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है। यह इन्द्र देवता की नगरी के रूप में विख्यात है और इसे इन्द्रपुरी भी कहते हैं। चन्द्रपुर पूर्वी महाराष्ट्र में वर् ...

                                               

चिपलून

चिपलुन भारत के महाराष्ट्र राज्य के रत्नागिरी जिला में स्थित एक पर्यटान स्थल है। एक पिकनिक स्‍थान के रूप में चिपलुन के जन्‍म की कहानी बड़ी ही रोचक है। हुआ यूं कि 80 के दशक में मुंबई से गोवा जाने के लिए प्रतिदिन उड़ाने संचालित नहीं होती थी। उस समय ...

                                               

जलगाँव

जलगाँव भारत के महाराष्ट्र राज्य के जलगाँव ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है। यह केला, कपास तथा गन्ने के लिए प्रसिद्ध है। जगत्प्रसिद्ध अजन्ता गुफा यहाँ से करीब ६० किमी दक्षिण में है।