ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 438




                                               

ठाणे

ठाणे भारतीय राज्य महाराष्ट्र का एक शहर है। ठाणे मुम्बई के उत्तरीय छोपर तथा भूतपूर्व थाना, दक्षिण-पश्चिम भारत के महाराष्ट्र राज्य के उल्हास नदी के मुहाने पर, मुम्बई के पूर्वोत्तर में स्थित है।। यह ठाणे ज़िले का मुख्यालय भी है। यह पहले मुंबई का एक ...

                                               

तारापुर

साँचा:पहला आण्विक केंद्र तारापुर महाराष्ट्र के पालघर जिले का एक कस्बा है। यह एक औद्योगिक नगर है। यहाँ भारत के चार नाभिकीय रिएक्टर हैं जिनसे विद्युत शक्ति पैदा की जाती है।

                                               

तुमसर

तुमसर महाराष्ट्र राज्य के भंडारा जिले का एक शहर है। नगर का नाम यहाम पहले पायी जाने वाली एक मछली "तुम" के नाम पर पड़ा है। इससे पूर्व इस नगर का नाम था कुबेर नगरी। तुमसर की स्थिति 21.38°N 79.73°E  / 21.38; 79.73 निर्देशाम्क पर है। यहां की समुद्र सत ...

                                               

दापोली

यह शहर "मिनी महाबलेश्वर" के नाम से भी मशहूर है, महाराष्ट्र में महाबलेश्वर नाम का एक हिल स्टेशन है क्योंकि यहां का वातावरण पूरे साल भर ठंडा रहता है। यह शहर अरब सागर के नज़दीक लगभग 8 कि.मी. ही है और अंजारले, सारंग, भोपण, हरनाई, दाभोल जो भारत के एनर ...

                                               

धुले

धुले भारत के महाराष्ट्र राज्य के धुले ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है। यह महाराष्ट्र के उत्तर-पश्चिमी भाग में स्थित एक महानगर एवं महानगरपालिका है। यह धुले जिले में है। यह नगर भारत के गिने-चुने नगरों में से एक है जो सुनियो ...

                                               

नवगाँव

छतरपुर/नौगांव. मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में नौगांव तहसील देश का पहला स्मार्ट सिटी था जिसे अंग्रेजों ने बनाया था। लेकिन नौगांव का आजादी के बाद तेजी से विकास नहीं हुआ जिससे यह शहर सिमटकर रहा गया। यह शहर ब्रिटिश शासनकाल के समय में विध्य क्षेत्र की ...

                                               

नागपुर

नागपुर महाराष्ट्र राज्य का एक प्रमुख शहर है। नागपुर भारत के मध्य में स्थित है। महाराष्ट्र की इस उपराजधानी की जनसंख्या २४ लाख है। नागपुर भारत का १३वां व विश्व का ११४ वां सबसे बड़ा शहर हैं। यह नगर संतरों के लिये काफी मशहूर है। इसलिए इसे लोग संतरों ...

                                               

नारायणगाँव

नारायणगाँव महाराष्ट्र राज्य के पुणे जिले का एक कस्बा है। यह जुन्नार तालुके में आता है। यहां का नैसर्गिक सौन्दर्य इसकी खासियत है। बड़े बांधों, पश्चिमी घाट एवं सह्याद्री पर्वत की निकटता के कारण यहां जल का बाहुल्य है। अष्टविनायक के आठ में से दो गणपत ...

                                               

नासिक

नासिक अथवा नाशिक भारत के महाराष्ट्र राज्य का एक शहर है। नसिक महाराष्ट्र के उत्तर पश्चिम में, मुम्बई से १५० किमी और पुणे से २०५ किमी की दुरी में स्थित है। यह शहर प्रमुख रूप से हिन्दू तीर्थयात्रियों का प्रमुख केन्द्र है। नासिक पवित्र गोदावरी नदी के ...

                                               

पंढरपुर

पंढरपुर महाराष्ट्र प्रान्त का एक शहर है। पंढरपुर नगर, दक्षिणी महाराष्ट्र राज्य, पश्चिमी भारत में स्थित है। यह भीमा नदी के तट पर सोलापुर नगर के पश्चिम में स्थित है। सड़क और रेल मार्ग द्वारा आसानी से पहुंचने योग्य पंढरपुर एक धार्मिक स्थल है, जहां स ...

                                               

परेंदा

परेंदा महाराष्ट्र के उस्मानाबाद ज़िले में स्थित एक नगर है। परेंदा में बहमनी राज्य के प्रसिद्ध बुद्धिमान मन्त्री महमूद गवाँ का बनवाया हुआ क़िला मुख्य ऐतिहासिक स्मारक है। इसमें कई बड़ी-बड़ी तोपें रखी हुई हैं। 1605 ई. में मुग़लों का अहमदनगर पर अधिका ...

                                               

पुणे

पुणे भारत के महाराष्ट्र राज्य का एक महत्त्वपूर्ण शहर है। यह शहर महाराष्ट्र के पश्चिम भाग, मुला व मूठा इन दो नदियों के किनारे बसा है और पुणे जिला का प्रशासकीय मुख्यालय है। पुणे भारत का छठवां सबसे बड़ा शहर व महाराष्ट्र का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। सा ...

                                               

बरार

बरार कपास उत्पादक क्षेत्र, पूर्वी-मध्य महाराष्ट्र राज्य, के पश्चिमी भारत, में है। यह क्षेत्र पुर्णा नदी बेसिन के साथ-साथ लगभग 320 किमी पूर्व-पश्चिम दिशा की ओर फैला हुआ है। समुद्र तल से इसकी ऊँचाई 200 से 500 मीटर है। बरार उत्तर में गाविलगढ़ की पहा ...

                                               

बीड

2001 की जनगणना के अनुसार, यह 138.091 की आबादी के साथ जिले में सबसे बड़ा शहरी क्षेत्र है। 2010 की गणना की आबादी 161.604 है। यह भारत की जनसंख्या में 295 स्थान पर है। जिले के लगभग 36% शहरी आबादी अकेले शहर में रहता है। यहाँ 1991-2000 के दशक के दौरान ...

                                               

भद्रावती, महाराष्ट्र

कर्नाटक राज्य में इसी नाम के नगर के लिए भद्रावती, कर्नाटक का लेख देखें भद्रावती भारत के महाराष्ट्र राज्य के चंद्रपुर ज़िले में स्थित एक नगर है।

                                               

भुसावल

यह सतपुड़ा पर्वतश्रेणी और दक्कन पठार की अजंता पहाड़ियों के मध्य ताप्ती नदी के तट पर स्थित है। मुंबई भूतपूर्व बंबई-कोलकाता भूतपूर्व कलकत्ता और मुंबई-दिल्ली मार्गों पर स्थित यह शहर एक प्रमुख रेलवे जंक्शन है। एक विशाल रेल-इंजन कार्यशाला वाला भुसावल ...

                                               

महाड़

महाड़ भारत के महाराष्ट्र राज्य के रायगढ़ ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उत्तरी कोंकण क्षेत्र में, मुम्बई से 167 किमी की दूरी पर बसा हुआ है। यहाँ रायगढ़ दुर्ग खड़ा है जो छत्रपति शिवाजी द्वारा निर्मित था और जहाँ उनका सन् 1674 में राज्याभिषेक हुआ था। ...

                                               

मालवन

मालवन या मालवण,भारत के राज्य महाराष्ट्र में दक्षिण में स्थित सिंधुदुर्ग जिले, का एक कस्बा है। सांस्कृतिक और ऐतिहासिक दृष्टि से महत्वपूर्ण यह कस्बा सिंधुदुर्ग जिले का एक तालुका भी है। मालवन शिवाजी द्वारा निर्मित सिंधुदुर्ग और मालवनी भोजन के लिए मश ...

                                               

मालेगांव

कृषि उत्पादों का एक महत्त्वपूर्ण विपणन स्थल यह नगर हथकरघा उद्योग का विख्यात केंद्र है। 1940 के दशक से यहाँ काफ़ी तरक्की हुई। यहाँ उत्पादित सूती व रेशमी कपड़ा मुख्यत: मुंबई, पुणे भूतपूर्व पूना और सतारा भेजा जाता है।

                                               

यवतमाल

यावतमल महाराष्ट्र प्रान्त का एक शहर है। यवतमाल शहर, पूर्वोत्तर महाराष्ट्र राज्य के दक्षिण-पश्चिम भारत में स्थित है। यवतमाल शहर नागपुर, मुंबई और हैदराबाद जाने वाले प्रमुख मार्गों पर स्थित है। यवतमाल कृषि क्षेत्र का क्षेत्रीय केंद्र है और यहाँ अमरा ...

                                               

रत्नागिरि

रत्नागिरि भारत के महाराष्ट्र राज्य के रत्नागिरि ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है। बाल गंगाधर तिलक की यह जन्‍मस्‍थली महाराष्ट् के दक्षिण-पश्चिम भाग में अरब सागर के तट पर स्थित है। यह कोंकण क्षेत्र का ही एक भाग है। यहां बहुत ...

                                               

राजगुरुनगर

राजगुरुनगर, जिसका मूल नाम खेड़ था, भारत के महाराष्ट्र राज्य के पुणे ज़िले में स्थित एक नगर है। यहाँ भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के प्रसिद्ध क्रान्तिकारी और भगत सिंह के साथी-सहयोगी, राजगुरु का सन् 1908 में जन्म हुआ था और उन्हीं की याद में शहर का नाम ...

                                               

वणी

वर्ष २०११ की जनसंख्या के अनुसार वणी में ५२८३४ जनसंख्या है, जिनमे ५१ प्रतिशत लोग पुरुष तथा ४९ प्रतिशत लोग महिलाए है। वणी शहर की औसत साक्षरता ७४ प्रतिशत है जो की भारत की औसत साक्षरता ५९ प्रतिशत के मुकाबले काफी अधिक है। पुरुष लोगो की साक्षरता ८० प्र ...

                                               

वर्धा

वर्धा भारत के महाराष्ट्र राज्य के वर्धा ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है। यह इन्द्र देवता की नगरी के रूप में विख्यात है और इसे इन्द्रपुरी भी कहते हैं।

                                               

वाशिम

वाशिम भारत के महाराष्ट्र राज्य के वाशिम ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है। प्राचीनकाल में यह वाकाटक की राजधानी हुआ करता था।

                                               

शिरडी

शिरडी महाराष्ट्र के अहमदनगर जिला के रहता तहसील के अन्तर्गत एक कस्बा है। इसकी स्थिति 19.77°N 74.48°E  / 19.77; 74.48 पर है। यह अहमदनगर-मनमाड़ राजमार्ग संख्या-१० पर अहमदनगर से लगभग ८३ कि॰मी॰ दूर स्थित है। यह कोपरगांव से मात्र १५ कि॰मी॰ दूर है। यह ...

                                               

सांगली

सांगली महाराष्ट्र राज्य के प्रमुख शहरों में से एक है। सांगली शहर दक्षिण-पश्चिम भारत के पश्चिम एवं दक्षिण महाराष्ट्र राज्य में स्थित है। सांगली नगर पुणे-बंगलुरु रेलमार्ग पर कोल्हापुर के पूर्व में कृष्णा नदी के किनारे स्थित है। यह शहर भूतपूर्व सांग ...

                                               

सिल्लोड

सिल्लोड यह एक शहर है जो भारत देश के महाराष्ट्र राज्य के औरंगाबाद जिले में स्थित है। यहां पहुंचने के लिये औरंगाबाद रेलवे स्थानक को उतर सकते है, या फिर औरंगाबाद से मुंबई को नासिक से होकर जानेवाला राज्य महामार्ग यहां से गुजरता है।

                                               

सोनेगांव

2001 के अनुसार भारत की जनगणना के अनुसार, यहां की कुल जनसंख्या है 11.804। इसमें पुरुष इसका 53% और 47% महिलाएं हैं। यहां का औसत साक्षरता दर है 82%, जो कि राष्ट्रीय साक्षरता दर 59.5% से कहीं ऊंची है। इसमें भी पुरुष साक्षरता दर 87% और स्त्री दर 77% ह ...

                                               

सोपारा

सोपारा महाराष्ट्र राज्य के पालघर जिले में स्थित एक प्राचीन स्थान था जो वर्तमान नालासोपारा नामक उपनगर के पास स्थित था। नालासोपारा मुंबई के सबसे ब्यस्त पश्चिमी उपनगरों में से एक है। आजकल सोपारा दादर स्टेशन से पश्चिमी उपनगरीय रेलमार्ग पर लगभग 48 किल ...

                                               

सोलापुर

सोलापुर सीना नदी के किनारे स्थित है। प्रारंभिक शताब्दियों में सोलापुर शहर हिंदू चालुक्यों और देवगिरि यादवों के शासन में था, किंतु बाद में यह बहमनी और बीजापुर साम्राज्य का हिस्सा बन गया। सोलापुर मुंबई-हैदराबाद सड़क व रेलमार्गों पर स्थित है, जो बीज ...

                                               

अइज़ोल

अइज़ोल भारत के मिज़ोरम प्रान्त की राजधानी है। यहाँ की जनसंख्या २९३,४१६ है, जिसके कारण यह मिज़ोरम का सबसे बड़ा नगर है। यहाँ पर राज्य के सभी प्रशासनिक भवन जैसे महत्वपूर्ण सरकारी भवन, विधानसभा तथा सचिवालय स्थित है।

                                               

कोलासिब

२०११ जनगणना के अनुसार यहाँ ९३.४५% ईसाई, ५.५३% हिन्दू, ०.७७% मुस्लिम ०.०८% अन्य तथा ०.०६% बौद्ध धर्म के अनुयायी हैं। ०.११% लोगों अपने धर्म का उल्लेख नहीं किया है।

                                               

चम्फाई

चम्फाई भारतीय राज्य मिज़ोरम का एक सीमावर्ती कस्बा है। यह राज्य के आठ ज़िलों में से एक चम्फाई ज़िले का मुख्यालय भी है। भारत-म्यांमार सीमा पर स्थित होने के कारण इस कस्बे का सामरिक महत्व भी है। इस कारण से यह भारत म्यांमार के मध्य प्रमुख व्यापार गलिय ...

                                               

ममित

यहाँ का प्रमुख बहुसंख्यक धर्म ईसाई है, जो कि कुल जनसंख्या का ९६.०७% है। अन्य अल्पसंख्यक धर्म हिन्दू २.५९%, मुस्लिम १.२२%, बौद्ध ०.१०% तथा अन्य ०.०१% हैं। ०.०१% लोगों ने अपने धर्म का उल्लेख नहीं किया है।

                                               

लुंगलेई

लुंगलेई भारतीय राज्य मिज़ोरम के दक्षिण-पश्चिम भाग में स्थित एक कस्बा है, जो कि लुंगलेई ज़िले का मुख्यालय है। यह राजधानी अइज़ोल के बाद मिज़ोरम का दूसरा सबसे अधिक जनसंख्या वाला कस्बा है, जो कि अइज़ोल से १६५ किमी दक्षिण में है।

                                               

लौंगत्लाइ

लौंगत्लाइ गाँव की स्थापना १८८० ईस्वी में लाई सरदार हैहमुंगा लॉनचेऊ द्वारा की गयी थी, जो कि वर्तमान में वेंगपुई में स्थित है। इसका नाम "लौंगत्लाइ" पड़ा क्योंकि एक दिन सरदार हैहमुंगा लॉनचेऊ कालादान नदी में बह रही नाव को जब्त कर लिया था अतः इसका नाम ...

                                               

वैरेंगते

२०११ जनगणना के अनुसार, यहाँ पर ८३.५१% इसाई, १०.४४% हिन्दू, ५.४४% मुस्लिम तथा ०.६१% अन्य हैं, जिसमे मुख्यतः बौद्ध और सिक्ख हैं।

                                               

सइहा

सइहा या सियाहा भारतीय राज्य मिज़ोरम के सइहा ज़िले का मुख्यालय है। यह मिज़ोरम के तीन स्वायत्त ज़िला परिषद में एक मारा स्वायत्त ज़िला परिषद का मुख्यालय भी है।

                                               

सेरछिप

सेरछिप 23.3°N 92.83°E  / 23.3; 92.83 निर्देशांकों पर स्थित है। इसकी समुद्र तल से औसत ऊँचाई ८८८ मीटर २९१३ फ़ीट मीटर है। यह दो प्रमुख नदियों कालादान तथा तुइकुम के मध्य बसा है। औसत वार्षिक दैनिक तापमान १५ °C से २७ °C के मध्य तथा वर्षा मध्यम स्तर की ...

                                               

सेलिंग

सेलिंग पूर्वोत्तरी भारत के मिज़ोरम राज्य के अइज़ोल ज़िले में स्थित एक नगर है। यह राष्ट्रीय राजमार्ग २ पर स्थित है। यह राज्य की राजधानी, अइज़ोल, से 45 किमी दूर है।

                                               

ह्नाहथिआल

ह्नाहथिआल पूर्वोत्तरी भारत के मिज़ोरम राज्य के लुंगलेई ज़िले में स्थित एक नगर है। यह राज्य की राजधानी आइज़ोल से सड़क द्वारा लगभग १७२ किमी दूर है। शहर में मिज़ोरम विश्वविद्यालय के अधीन उच्च शिक्षा प्रदान करने वाला ह्नाहथिआल कॉलेज है।

                                               

खलीहृयत

ख्लेहरियत भारतीय राज्य मेघालय के पूर्व जयन्तिया हिल्स जिले का मुख्यालय है। इस जिले को पुराने जयन्तिया हिल्स जिले को विभाजित कर बनाया गया था। ख्लेहरियत और सायपुंग जिले के दो प्रमुख समुदाय एवं विकास खण्ड हैं। वर्ष २००१ की जनगणना के अनुसार नगर की जन ...

                                               

नोंगथिम्माई

नोंगथिम्माई भारतीय राज्य के मेघालय के ईस्ट खासी हिल्स जिले में एक जनगणना शहर है। इस छोटे से गांव का नाम खासी भाषा के दो शब्दों से निकला है: नोङ्ग अर्थात "गाँव" और "थिम्माई" जिसका अर्थ है "नया", तो इस शब्द का पूरा अर्थ है "नया गांव"। नोंगथिम्माई म ...

                                               

नोंगमइनसोंग

भारत की २००१ की जनगणना के अनुसार, नोंगमइनसोंग की जनसंख्या थी 11.362 थी।इसमें से पुरुषों की 52% और महिलाओं की जनसंख्या 48% थी। नोंगमइनसोंग की औसत साक्षरता दर 69% थी, जो राष्ट्रीय औसत 59.5% है की तुलना में अधिक है। पुरुष साक्षरता 74% है, और महिला स ...

                                               

नोंग्स्टोइन

नोंग्स्टोइन की स्थित 25.52°N 91.27°E  / 25.52; 91.27. और इसकी औसत ऊंचाई है १४०९ मीटर ४६२२ फीट है। नोंग्स्टोइन से 24 किलोमीटर 79.000 फीट की दूरी पर लांगशियांग जल प्रपात फॉल्स स्थित है।

                                               

पिनुर्सला

पिनुर्सला पिल्लुन भारत के पूर्वोत्तर राज्य मेघालय के पूर्वी खासी हिल्स जिले के पिनुर्सला खण्ड का एक कस्बा है। यह जिला मुख्यालय शिलांग से ३४ किमी दक्षिण में स्थित है और ब्लाक मुख्यालय है। पिनुर्सला का पिनकोड ७९३ ११० है और प्रधान डाकघर पिनुर्सला है ...

                                               

पिन्थोरुम्ख्रा

भारत की जनगणना २०११ के अनुसार यहाँ की जनगणना २७,२१९ है, जिसमे १३,७०६ पुरुष जबकि १३,५१३ महिलाएँ हैं। ६ वर्ष से नीचें के बच्चों की संख्या ३३९१ जो कि कुल जनसंख्या का १२.४६% हैं। लिंगानुपात दर ९८६ है जो कि मेघालय राज्य के दर से ९८९ से थोड़ा सा नीचे ह ...

                                               

बाघमारा, मेघालय

बाघमारा स्थान बांग्लादेश सीमा से सटा हुआ है तथा तुरा से 113 कि॰मी॰ दूर है। बाघमारा नाम बोंग लस्कर और जंगली बंगाल बाघ की लड़ाई के कारण पड़ा जहाँ बोंग ने बाघ को मार डाला था।

                                               

मावकिर्वाट

मवक्यर्वत भारतीय राज्य मेघालय के दक्षिण पश्चिम खासी हिल्स जिले का मुख्यालय है। दक्षिण पश्चिम खासी हिल्स जिला पश्चिम खासी हिल्स जिले से 3 अगस्त 2012 को अलग हुआ।