ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 442




                                               

ज्ञानेन्द्र पाण्डे

ज्ञानेन्द्र पाण्डे एक इतिहासकाऔर सबाल्टर्न अध्ययन के संस्थापक सदस्यों में से एक है। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से डिग्री प्राप्त की है। वर्श २००५ से एमोरी विश्वविद्यालय में प्राध्यापक के पद पर है। इसके पहले रोड्स छात ...

                                               

नई टिहरी

नई टिहरी टिहरी जिले का मुख्यालय है। पर्वतों के बीच स्थित यह जगह काफी खूबसूरत है। हर वर्ष काफी संख्या में पर्यटक यहां पर घूमने के लिए आते हैं। यह स्थान धार्मिक स्थल के रूप में भी काफी प्रसिद्ध है। यहां आप चम्बा, बूढा केदार मंदिर, कैम्पटी फॉल, देवप ...

                                               

कमला रिट्रीट

कमला रिट्रीट कानपुर एग्रीकल्चर कॉलेज के पश्चिम में स्थित है। इस खूबसूरत संपदा पर सिंहानिया परिवार का अधिकार है। यहां एक स्वीमिंग पूल बना हुआ है, जहां कृत्रिम लहरें उत्पन्न की जाती है। यहां एक पार्क और नहर है। जहां चिड़ियाघर के समानांतर बोटिंग की ...

                                               

कानपुर के दर्शनीय स्थल

कानपुर में कई दर्शनीय स्थल हैं। वैसे तो यह शहर औद्योगिक नगर है, किंतु ऐतिहासिक और पर्यटन स्थल भी यहां हैं। इनमें हैं: नानाराव पार्क, चिड़ियाघर, शोभन मंदिर,राधा-कृष्ण मन्दिर, सनाधर्म मन्दिर, काँच का मन्दिर, श्री हनुमान मन्दिर पनकी, सिद्धनाथ मन्दिर ...

                                               

कानपुर प्राणी उद्यान

1971 में खुला यह चिड़ियाघर भारत के सर्वोत्तम चिड़ियाघरों में एक है। क्षेत्रफल की दृष्टि से यह भारत का तीसरा सबसे बड़ा चिड़ियाघर है। यह कानपुर शहर में स्थित है। यहाँ पर लगभग 1250 जीव-जंतु है। कुछ समय पिकनिट के तौपर बिताने और जीव-जंतुओं को देखने के ...

                                               

कानपुर मैमोरियल चर्च

कानपुर मैमोरियल चर्च 1875 में बना यह चर्च लोम्बार्डिक गोथिक शैली में बना हुआ है। यह चर्च उन अंग्रेजों को समर्पित है जिनकी 1857 के विद्रोह में मृत्यु हो गई थी। ईस्ट बंगाल रेलवे के वास्तुकार वाल्टर ग्रेनविले ने इस चर्च का डिजाइन तैयार किया था। यह ग ...

                                               

कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन

कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के महानगर कानपुर में स्थित भारतीय रेलवे की उत्तर मध्य रेलवे शाखा के अन्तर्गत आने वाला रेलवे स्टेशन है।

                                               

चन्द्र शेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय

चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कानपुर, भारत में उत्तर प्रदेश राज्य के कानपुर जिले में स्थित एक कृषि विश्वविद्यालय है। इसका नामकरण कानपुर के प्रसिद्ध क्रांतिकारी चंद्रशेखर आज़ाद के नाम पर किया गया है। इसमें पाँच संकाय हैं। कृषि ...

                                               

जाजमऊ

जाजमऊ कानपुर के निकट एक उप-महानगर है। यह गंगा नदी तट पर स्थित है। जाजमऊ एक औद्योगिक उपनगर है। यह सबसे पुराना क्षेत्र में बसे जगह के रूप में माना जाता है। मुख्य उद्योग चमड़ा उद्योग है। यह सबसे बड़ा चमड़ा उत्पादक नगर है। इस कारण इसे कानपुर का चमड़ा ...

                                               

दिल्ली पब्लिक स्कूल, सर्वोदय नगर

दिल्ली पब्लिक स्कूल सर्वोदय नगर, कानपुर एक निजी स्कूल है जो दिल्ली पब्लिक स्कूल सोसाइटी, नई दिल्ली के तत्वावधान में चल रहा है। यह एक प्राथमिक विद्यालय है जिसमें प्ले ग्रुप से लेकर कक्षा V तक की कक्षाएं हैं। यह दिल्ली पब्लिक स्कूल, आज़ाद नगर, कानप ...

                                               

फूल बाग, कानपुर

फूल बाग को गणेश उद्यान के नाम से भी जाना जाता है। यह उद्यान कानपुर शहर में स्थित है। इस उद्यान के मध्य में गणेश शंकर विद्यार्थी का एक मैमोरियल बना हुआ है। प्रथम विश्वयुद्ध के बाद यहां ऑथरेपेडिक रिहेबिलिटेशन हॉस्पिटल बनाया गया था। यह पार्क शहर के ...

                                               

अलीपुर जेल

अलीपुर जेल या अलीपुर केन्द्रीय जेल कोलकाता में स्थित एक ऐतिहासिक जेल है, जहाँ ब्रिटिश शासन के दौरान राजनैतिक बंदियों को रखा जाता था। प्रसिद्ध क़ैदियों में सुभाष चन्द्र बोस भी थे जिन्हें यहाँ गया था। जेल परिसर में अलीपुर जेल प्रेस भी स्थित है।

                                               

अलीपुर वन्य प्राणी उद्यान

अलीपुर वन्य प्राणी उद्यान जिसे अलीपुर चिडियाघर या कोलकाता चिडियाघर के नाम से भी जाना जाता है भारत का सबसे पुराना प्राणी उद्यान है। यह कोलकाता का एक प्रमुख पर्यटन आकर्षण है। इसे अद्वैत नामक कछुए के नाम से भी जाना जाता है जो विश्व में किसी भी प्राण ...

                                               

कोलकाता का भूगोल

कोलकाता पूर्वी भारत में 22°33′N 88°20′E निर्देशांक पर गंगा डेल्टा क्षेत्र में 1.5 मी॰ से 9 मी॰ की ऊंचाई पर स्थित है। शहर हुगली नदी के किनारे किनारे उत्तर-दक्षिण रैखिक फैला हुआ है। शहर का बहुत सा भाग एक वृहत नम-भूमि क्षेत्र था, जिसे भराव कर शहर की ...

                                               

कोलकाता की अर्थ व्यवस्था

कोलकाता पूर्वी भारत एवं पूर्वोत्तर राज्यों का प्रधान व्यापारिक, वाणिज्यिक एवं वित्तीय केन्द्र है। यहां कोलकाता स्टॉक एक्स्चेंज भी है, जो भारत का दूसरे नंबर का सबसे बड़ा स्टोक एक्स्चेंज है। यहां प्रमुख वाणिज्यिक एवं सैन्य बंदरगाह भी है। इनके साथ ह ...

                                               

कोलकाता की संस्कृति

उन्नीसवीं और बीसवीं शताब्दी से ही बंगाली साहित्य का आधुनिकिकरण हो चुका है। यह आधुनिक साहित्यकारों की रचनाओं में झलकता है, जैसे बंकिम्चंद्र चट्टोपाध्याय, माइकल मधुसूदन दत्त, रविंद्रनाथ ठाकुर, काजी नज़रुल इस्लाम और शरतचंद्र चट्टोपाध्याय, आदि। इन सा ...

                                               

कोलकाता के दर्शनीय स्थल

कोलकाता में ढेरों स्मारक एवं दर्शनीय स्थल हैं। इनमें से कुछ इस प्रकार से हैं:- कई एकड़ में फैली हरियाली, पौधों की दुर्लभ प्रजातियां, सुंदर खिले फूल, शांत वातावरण.यहां प्रकृ ति के साथ शाम गुजारने का एक सही मौका है। नदी के पश्चिमी ओर स्थित इस गार्ड ...

                                               

कोलकाता पुस्तक मेला

कोलकाता पुस्तक मेला भ्रमणार्थियों की दृष्टि से विश्व का सबसे बड़ा पुस्तक मेला है। जिसका आयोजन प्रति वर्ष शीत काल में कोलकाता में किया जाता है। यहाँ पुस्तकों को आम जनता पढ़ सकती है देख सकती है एवं यह सर्ववृहद् अव्यवसायिक पुस्तक मेला है। इस वर्ष इस ...

                                               

कोलकाता में पर्यटकों के आकर्षण की सूची

कोलकाता वर्तमान में दिल्ली और मुंबई के बाद भारत भारत का तीसरा सबसे अधिक आबादी वाला शहर है। ब्रिटिश औपनिवेशिक युग के दौरान 1700 से 1912 तक कोलकाता तब कलकत्ता के नाम से जाना जाता था ब्रिटिश भारत की राजधानी थी। कोलकाता की वास्तुकला काफी हद तक यूरोपि ...

                                               

कोलकाता में यातायात

कोलकाता में जन यातायात कोलकाता उपनगरीय रेलवे, कोलकाता मेट्रो, ट्राम और बसों द्वारा उपलब्ध है। व्यापक उपनगरीय जाल सुदूर उपनगरीय क्षेत्रों तक फैला हुआ है। भारतीय रेल द्वारा संचालित कोलकाता मेट्रो भारत में सबसे पुरानी भूमिगत यातायात प्रणाली है। ये श ...

                                               

निवेदिता सेतु

निवेदिता सेतु, पश्चिम बंगाल में कोलकाता महानगर क्षेत्र में हुगली नदी पर निर्मित एक केबल-युक्त पुल है, जो उत्तर हावड़ा के बाली क्षेत्र को बैरकपुर नगर के दक्षिणेश्वर क्षेत्र से जोड़ती है। इसे मुख्यतः दिल्ली और कोलकाता को जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमा ...

                                               

नैहाटी

नैहाटी भारत के पूर्वी राज्य पश्चिम बंगाल के उत्तर २४ परगना ज़िले में कोलकता से 35 किमी उत्तर दिशा में स्थित एक नगरपालिका क्षेत्र है। यह भारतीय रेल के बैरकपुर उपमण्डल का एक महत्त्वपूर्ण रेलवे जंक्शन भी है। नैहाटी नगरपाळिका भारत की सबसे पुरानी पालि ...

                                               

प्रिंसेप घाट

प्रिंसेप घाट या प्रिन्सेप घाट ब्रिटिश राज के दौरान भारत के कोलकाता शहर में हुगली नदी के किनारे पर सन 1841 में निर्मित एक घाट है। घाट पर सन 1843 में प्रख्यात आंग्ल-भारतीय विद्वान और पुरातत्वविद् जेम्स प्रिंसेप की स्मृति में डब्ल्यू फिजराल्ड़ द्वार ...

                                               

बिधाननगर

बिधाननगर भारत के पश्चिम बंगाल राज्य का एक सुनियोजित शहर है। इसका विकाश १९५८ से १९६५ के बीच कोलकाता के जनसंख्या बोझ को कम करने के लिए हुआ। इसका नामकरण प्रदेश के मुख्य मंत्री एवं प्रसिद्ध चिकित्सक डाक्टर बिधान चन्द्र राय के सम्मान में किया गया है। ...

                                               

भारतीय प्रबंध संस्थान, कोलकाता

भारतीय प्रबंधन संस्थान, कोलकाता के अलावा पांच अन्य स्थानों में स्थित है। यह प्रबंधन शिक्षा का उच्च श्रेणी का संस्थान है। इन्हें सम्मिलित रूप से भारतीय प्रबंधन संस्थान कहा जाता है।

                                               

यादवपुर

यादवपुर दक्षिणी कोलकाता का एक भाग है। इस अंचल के उत्तर दिशा में ढाकुरिया, पश्चिम में टालीगंज, पूरब में सन्तोषपुर एबं दक्षिण में गड़िया अंचल स्थित हैं। इस अंचल में मूलतः मध्यवर्गी एवं उच्च मध्यवर्गीय लोग निवास करते हैं। इस अंचल का प्रमुख शिक्षा प् ...

                                               

आई टी सी ग्रैंड चोला होटल

दि आई टी सी ग्रैंड चोला, चेन्नई का पांच सितारा लक्ज़री वाला होटल है। मुंबई स्थित रिनेसंस और ग्रैंड हयात के बाद यह भारत का तीसरा सबसे बड़ा होटल है। इस होटल को ‘लक्ज़री कलेक्शन’ का टैग प्राप्त है-जो की इंटरनेशनल हॉस्पिटैलिटी ग्रुप स्टारवुड होटल्स क ...

                                               

गिंडी रेस कोर्स

गिंडी रेसकोर्स चेन्नई, तमिल नाडु में २०० वर्ष से भी पुराना बना हुआ है। चेन्नई की घुड़दौड़ें शहर के सांस्कृतिक इतिहास का एक अभिन्न अंग रही हैं। गिंडी रेसकोर्स ग्रेटर सदर्न ट्रंक रोड से ७०० मीटर; सरदार पटेल मार्ग, चेन्नई – एलियट बीच रोड से ९०० मीटर ...

                                               

चेन्नई का प्रशासन

चेन्नई शहर का प्रशासन चेन्नई नगर निगम के पास है। १६८८ में स्थापित हुआ यह निगम भारत में ही नहीं, ब्रिटेन के बाहर किसी भी राष्ट्रमंडल देश में सबसे पहला नगर निगम है। इसमें १५५ पार्षद है, जो चेन्नई के १५५ वार्डों का प्रतिनिधित्व करते हैं। इनका चुनाव ...

                                               

चेन्नई का भूगोल

चेन्नई भारत के दक्षिण पूर्वी तट पर तमिलनाडु प्रदेश के उत्तरी पूर्वी तटीय क्षेत्र में स्थित है। इस तटीय क्षेत्र को पूर्वी तटीय मैदानी क्षेत्र भी कहा जाता है। इस क्षेत्र की समुद्र तल से औसत ऊँचाई ६.७ मीटर है और सबसे ऊँचा स्थान ६० मीटर की ऊँचाई पर ह ...

                                               

चेन्नई की संस्कृति

चेन्नई भारत की सांस्कृतिक एवं संगीत राजधानी है। शहर शास्त्रीय नृत्य-संगीत कार्यक्रमों और मंदिरों के लि प्रसिद्ध है। प्रत्येक वर्ष चेन्नई में पंच-सप्ताह मद्रास म्यूज़िक सीज़न कार्यक्रम का आयोजन होता है। यह १९२७ में मद्रास संगीत अकादमी की स्थापना क ...

                                               

चेन्नई महानगर विकास प्राधिकरण

चेन्नई महानगर विकास प्राधिकरण चेन्नई में चेन्नई नगर निगम के अलावा अन्य क्षेत्रों का प्रशासन देखता है। ने शहर के निकट उपग्रह-शहरों के विकास के उद्देश्य से एक द्वितीय मास्टर प्लान का ड्राफ़्ट तैयार किया है। निकटस्थ उपग्रह शहरों में महाबलिपुरम, चेंग ...

                                               

चेन्नई में यातायात

चेन्नई दक्षिण भारत के प्रवेशद्वार की भांति प्रतीत होता है, जिसमें अन्ना अन्तर्राष्ट्रीय टर्मिनल एवं कामराज अन्तर्देशीय टार्मिनल सहित चेन्नई अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा भारत का तीसरा व्यस्ततम विमानक्षेत्र है। चेन्नई शहर दक्षिण एशिया, दक्षिण-पूर्व ए ...

                                               

तमिल नाडु पुलिस

तमिल नाडु पुलिस तमिल नाडु का एक अनुभाग है, जो राज्य में कानून एवं सुरक्षा व्यवस्था की देखरेख में संलग्न है। शहर की पुलिस के अध्यक्ष पुलिस आयुक्त, चेन्नई हैं और प्रशासनिक नियंत्रण राज्य गृह मंत्रालय के पास है। इस विभाग में ३६ उप-भाग और १२१ पुलिस-स ...

                                               

ताज क्लब हाउस

ताज क्लब हाउस, चेन्नई ताज ग्रुप ऑफ़ होटल्स का भारत में खोला गया चौथा होटल हैं। पहले ये ताज माउंट रोड के नाम से जाना जाता था। यह एक फाइव स्टार लक्ज़री होटल हैं, जो क्लब हाउस रोड में स्थित हैं। इसका स्वामित्व ताज जी वी के होटल्स एवं रिसॉर्ट्स लिमिट ...

                                               

तेलुगु गंगा परियोजना

तेलुगु गंगा परियोजना दक्षिण भारत में चेन्नई शहर की पेय जलापूर्ति परियोजना है। इसमें आंध्र प्रदेश के श्रीशैलम क्षेत्र के सरोवर से कृष्णा नदी का जल नहरों अओर पाइपलाइनों द्वारा चेन्नई पहुंचाया जाता है।

                                               

बकिंघम नहर

बकिंघम नहर दक्षिण भारत के कोरोमंडल तट के समानांतर ४२० कि॰मी॰ लंबी खारे पानी की नौवहन नहर है। यह आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा शहर से तमिल नाडु के विल्लुपुरम जिला तक जाती है। यह नहर अधिकांश बैक वाटर्स को चेन्नई बंदरगाह से जोड़ती है। इसका निर्माण ब्रिट ...

                                               

राइपन बिल्डिंग

राइपन बिल्डिंग में चेन्नई नगर निगम का मुख्यालय स्थापित है। यह इंडो-सेरेनिटिक स्थापत्य शैली की इमारत है। इस शैली में गोथिक शैली, आयनिक शैली और कोरिंथियन शैली का संगम होता है।

                                               

सेंट जॉर्ज फोर्ट

चेन्नई का एक महत्वपूर्ण आकर्षण है सेंट जॉर्ज फोर्ट । इसे सन्‌ १६४० में ईस्ट इंडिया कंपनी के फ्रांसिंस डे ने बनाया था। यह किला ईस्ट इंडिया कंपनी का व्यापारिक केंद्र था। 150 वर्षों तक यह युद्धों और षड्यंत्रों का केंद्र बना रहा। इस किले में पुरानी स ...

                                               

आमेर दुर्ग

आमेर दुर्ग भारत के राजस्थान राज्य की राजधानी जयपुर के आमेर क्षेत्र में एक ऊंची पहाड़ी पर स्थित एक पर्वतीय दुर्ग है। यह जयपुर नगर का प्रधान पर्यटक आकर्षण है। आमेर का कस्बा मूल रूप से स्थानीय मीणाओं द्वारा बसाया गया था, जिस पर कालांतर में कछवाहा रा ...

                                               

गलताजी

. Pink City jaipurites best place to visit. Ivishalsingh95 गलताजी, जयपुर, राजस्थान स्थित एक प्राचीन तीर्थस्थल है। निचली पहाड़ियों के बीच बगीचों से परे स्थित मंदिर, मंडप और पवित्र कुंडो के साथ हरियाली युक्त प्राकृतिक दृश्य इसे आन्नददायक स्थल बना द ...

                                               

गैटोर

सिसोदिया रानी के बाग में फव्वारों, पानी की नहरों, व चित्रित मंडपों के साथ पंक्तिबद्ध बहुस्तरीय बगीचे हैं व बैठकों के कमरे हैं। अन्य बगीचों में, विद्याधर का बाग बहुत ही अच्छे ढ़ग से संरक्षित बाग है, इसमें घने वृक्ष, बहता पानी व खुले मंडप हैं। इसे ...

                                               

गोविंद देवजी का मंदिर

भगवान कृष्ण का जयपुर का सबसे प्रसिद्ध बिना शिखर का मंदिर। यह चन्द्र महल के पूर्व में बने जय निवास बगीचे के मध्य अहाते में स्थित है। संरक्षक देवता गोविंदजी की मुर्ति पहले वृंदावन के मंदिर में स्थापित थी जिसको सवाई जय सिंह द्वितीय ने अपने परिवार के ...

                                               

जयपुर का इंडियन ऑयल डिपो अग्निकांड

जयपुर इंडियन ऑयल डिपो अग्निकांड गुरूवार २९ अक्टूबर २००९ को हुआ था। इस अग्निकाण्ड में राजस्थान राज्य की राजधानी जयपुर शहर के निकट स्थित सांगानेर में इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड के तेल भण्डार डिपो में भीषण आग लग गई जिसमें कंपनी को जहाँ करोड़ों की ...

                                               

जयपुर का नील मृद्भाण्ड

जयपुर के नील मृद्भाण्ड प्रसिद्ध है। इसमें परम्परागत हरे एवं नीले रंग का प्रयोग होता है। यह अकबर के समय ईरान से लाहौर आयी। इसके बाद राम सिंह प्रथम लाहौर से इसे जयपुर लाये। इस कला का सर्वाधिक विकास राम सिह द्वितीय के समय हुआ। उन्होंने चूड़ामन एवं क ...

                                               

जयपुर के दर्शनीय स्थल

राजस्थान की राजधानी जयपुर को गुलाबी नगरी नाम से भी जाना जाता है। इस नगर में सुंदर नगरों, हवेलियों और किलों की भरमार है। जयपुर का अर्थ है - जीत का नगर। इसे कुशवाह राजपूत राजा सवाई जय सिंह, द्वितीय ने 1727 में बसाया था। उस समय का यह प्रथम नगर था जो ...

                                               

जयपुर जिला

74.44°N 75.25°E  / 74.44; 75.25 - 27.21°N 28.12°E  / 27.21; 28.12 जयपुर जिसे गुलाबी नगर के नाम से भी जाना जाता है, भारत में राजस्थान राज्य की राजधानी है। आमेर के तौपर यह जयपुर नाम से प्रसिद्ध प्राचीन रजवाड़े की भी राजधानी रहा है। इस शहर की स्था ...

                                               

जयपुर नगर निगम

जयपुर नगर निगम भारत के राजस्थान राज्य में जयपुर शहर का स्थानीय शासी निकाय है। यह निगम जयपुर शहर के नागरिक बुनियादी ढांचे को बनाए रखने और संबंधित प्रशासनिक कर्तव्यों को पूरा करने के लिए जिम्मेदार है। निगम क्षेत्र में कुल ९१ वार्ड हैं, जिन्हे ८ जोन ...

                                               

जयपुर मंडल

भारत के राजस्थान प्रान्त को प्रशासन की सुविधा के लिए ७ संभागों में विभाजित किया गया है। इनमें से एक जयपुर संभाग है। जयपुर संभाग में अलवर, दौसा, जयपुर, झुंझुनू और सीकर जिले हैं।

                                               

नाहरगढ़ दुर्ग

नाहरगढ़ का किला जयपुर को घेरे हुए अरावली पर्वतमाला के ऊपर बना हुआ है। आरावली की पर्वत श्रृंखला के छोपर आमेर की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इस किले को सवाई राजा जयसिंह द्वितीय ने सन १७३४ में बनवाया था। यहाँ एक किंवदंती है कि कोई एक नाहर सिंह नाम ...