ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 553




                                               

हिंगोली जिला

हिंगोली ज़िला भारत के महाराष्ट्र राज्य का एक ज़िला है। ज़िले का मुख्यालय हिंगोली है। हिंगोली जिले के औंढा नागनाथ में ८वा नागेश्वर नामक ज्योतिर्लिंग स्थित है। जिले मे संत नामदेव महाराजजी का जन्मस्थान भी है और जिले के नरसी मे उनका भव्य मन्दिर स्थित है।

                                               

मिज़ोरम के ज़िले

मिज़ोरम २१ जनवरी १९७२ को केन्द्र-शासित प्रदेश बना था। तब यहाँ तीन ज़िले अइज़ोल, लुंगलेई तथा छिमतुइपुई थे। बाद में पाँच अन्य ज़िले इन ज़िलों से अलग होकर बने।

                                               

कोलासिब ज़िला

इस जिले में तीन बांध हैं – सेरलुई बी बांध बैरबी बांध तुइरियल बांध

                                               

चम्फाई ज़िला

चम्फाई ज़िला भारतीय राज्य मिज़ोरम के आठ ज़िलों में से एक है। यह ज़िला उत्तर में मणिपुर राज्य के चुराचांदपुर ज़िला, पश्चिम में अइज़ोल तथा सेरछिप ज़िला पूर्व तथा दक्षिण में म्यांमार देश से घिरा है। ज़िले का क्षेत्रफल 3185.83 किमी² है। इस ज़िले का म ...

                                               

अइज़ोल ज़िला

अइज़ोल ज़िला भारतीत राज्य मिज़ोरम के आठ ज़िलों में से एक है। इस ज़िले के उत्तर में कोलासिब ज़िला, पश्चिम में ममित ज़िला, दक्षिण में सेरछिप ज़िला और पूर्व में चम्फाई ज़िला अवस्थित है। ज़िले का क्षेत्रफल 3.577 वर्ग किलोमीटर है। इस ज़िले का मुख्यालय ...

                                               

ममित ज़िला

यह ज़िला उत्तर में असम के हैलाकाण्डी ज़िला, पश्चिम में त्रिपुरा के उत्तर त्रिपुरा ज़िला तथा बांग्लादेश, दक्षिण में लुंगलेई ज़िला तथा पूर्व में कोलासिब ज़िला तथा अइज़ोल ज़िला से घिरा हुआ है। इस ज़िले का क्षेत्रफल ३०२५.७५ वर्ग किमी है। इस ज़िले का ...

                                               

लुंगलेई ज़िला

लुंगलेई ज़िला भारतीय राज्य मिज़ोरम के आठ ज़िलों में से एक है। भारत की जनगणना २०११ के अनुसार यह मिज़ोरम का अइज़ोल ज़िले के बाद दूसरा सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला ज़िला है।

                                               

लौंगत्लाइ ज़िला

लौंगत्लाइ ज़िला भारतीय राज्य मिज़ोरम के आठ ज़िलों में से एक है। ज़िला उत्तर में लुंगलेई ज़िले, पश्चिम में बांग्लादेश, दक्षिण में म्यांमार तथा पूर्व में सइहा ज़िले से घिरा है। ज़िले का क्षेत्रफल २५५७.१० वर्ग किमी है तथा लौंगत्लाइ कस्बा ज़िले का मु ...

                                               

सइहा ज़िला

सइहा ज़िला भारतीय राज्य मिज़ोरम के आठ ज़िलों में से एक है। सइहा कस्बा इस ज़िले का मुख्यालय है। भारत की जनगणना २०११ के अनुसार यह मिज़ोरम का सबसे कम जनसंख्या वाला ज़िला है।

                                               

सेरछिप ज़िला

सेरछिप ज़िला भारतीय राज्य मिज़ोरम के आठ ज़िलों में से एक ज़िला है। इस ज़िले का क्षेत्रफल १४२१.६० वर्ग किमी है। सेरछिप कस्बा इस ज़िले का प्रशासनिक मुख्यालय है। यह ज़िला १५ सितम्बर १९८८ को अइज़ोल ज़िले की पूर्व लुंगदार तथा थिंगसुलथलैयाह तहसीलों से ...

                                               

मेघालय के जिले

२१ जनवरी १९७२ को मेघालय राज्य का गठन असम राज्य के २ जिलों, जयंतिया हिल्स और संगठित गारो तथा खासी हिल्स से हुआ। नया राज्य बनने पर गारो हिल्स तथा खासी हिल्स को अलग जिलों का दर्जा दिया गया। इस प्रकार राज्य में तीन जिले थे; जयंतिया, गारो तथा खासी। २२ ...

                                               

मेघालय के जिलों की सूची

दक्षिण गारो हिल्स बाघमारा, मेघालय पूर्वी गारो हिल्स विलियमनगर पश्चिम गारो हिल्स तुरा उत्तर गारो हिल्स रेसुबेलपाड़ा दक्षिण पश्चिम गारो हिल्स (अम्पति

                                               

पूर्व खासी हिल्स जिला

पूर्व खासी हिल्स भारतीय राज्य मेघालय का एक जिला है। जिले का मुख्यालय शिलांग है जो मेघालय की राजधानी भी है। पूर्वी खासी हिल्स जिले को खासी हिल्स में से २८ अक्तूबर १९७६ को निकाल कर नया जिला बनाया गया था। जिले का विस्तार 2.748 वर्ग किलोमीटर में है औ ...

                                               

उत्तर गारो हिल्स जिला

उत्तर गारो हिल्स जिला भारतीय राज्य मेघालय का प्रशासनिक जिला है। जिला मुख्यालय रेसुबेलपाड़ा में स्थित है। जिले का क्षेत्रफल 1.113 वर्ग कि॰मी॰ तथा जनसंख्या 1.18.325 है।

                                               

पश्चिम जयन्तिया हिल्स जिला

जयंतिया हिल्स भारतीय राज्य मेघालय का एक जिला है। जिले का मुख्यालय जोवाई है। २२ फ़रवरी १९७२ को जयन्तिया हिल जिला सृजित किया गया था। इसका कुल भौगोलिक क्षेत्रफ़ल 3.819 वर्ग किलोमीटर है और भारत की जनगणना २०११ के अनुसार यहां की जनसंख्या २,९५,६९२ है। य ...

                                               

पूर्व जयन्तिया हिल्स जिला

पूर्व जयन्तिया हिल्स जिला भारतीय राज्य मेघालय का एक जिला है। खलीहृयत इसका जिला मुख्यालय है। 31 जुलाई 2012 को यह जयन्तिया हिल्स जिला से अलग होकर अस्तित्व में आया। खलीहृयत और साईपुंग इसके दो सामुदायिक एवं ग्रामीण विकास खंड हैं।

                                               

अजमेर जिला

अजमेर भारतीय राज्य राजस्थान का एक जिला है। राजस्थान राज्य का हृदयस्थल अजमेर जिला राजस्थान राज्य के मध्य में 25 डिग्री 38’ से 26 डिग्री 50’ उतरी अक्षांश एवं 73 डिग्री 54’ से 75 डिग्री 22’ पूर्वी देशान्तर के मध्य स्थित हैं। अजमेर उत्तर-पश्चिमी रेल् ...

                                               

अलवर जिला

अलवर भारतीय राज्य राजस्थान का एक जिला है। जिले का मुख्यालय अलवर है। यह राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का हिस्सा भी है। राजस्थान की राजधानी जयपुर से करीब १७० कि॰मी॰ की दूरी पर है। अलवर अरावली की पहाडियो के मध्य में बसा है। अलवर के प्रमुख पर्यटन स्थल == ...

                                               

करौली जिला

करौली जिला राजस्थान के पूर्वी भाग में है। 19 जुलाई, 1997 को 32 वें जिले के रूप में गठित इस भू-भाग में अनेक विभिन्नताएं पाई जाती हैं। जिले को प्राशासनिक दृष्टि से 6 उपखण्डों में विभाजित किया गया है तो भौगोलिक दृष्टि से भी इस भू भाग को तीन क्षेत्रो ...

                                               

कोटा जिला

साक्षरता - पुरुष - ७८%, महिला - ६३% जनसंख्या - १,५६८,५२५ 1.568.525 2001 जनगणना समुद्र तल से उचाई - २७१271 m 889 ft एस॰टी॰डी॰ कोड - ०७४४ क्षेत्रफल - १२,४३६ 12.436 वर्ग कि॰मी॰ जिलाधिकारी - जुलाई 200८ में अभय कुमार

                                               

चूरू जिला

चूरू ज़िला भारत के राजस्थान राज्य का एक ज़िला है। ज़िले का मुख्यालय चूरू है, जो राज्य की राजधानी, जयपुर, से लगभग 200 किमी उत्तर में स्थित है। ज़िले का साक्षरता दर 67.46% है।

                                               

जालौर जिला

दहिया शासक वराह जिसने यहाँ पर शासन किया। जालोपर पहले परमार वन्श का शासक था, जिसकी एक पुत्रि थी जिसने दहिया राजपुत से विवाह किया और तब यहाँ दहिया शासक बना। उन्होने १६४ खेडे गावो पर शासन किया। उनकी सातवी पीढी के वंशज, मोताजी दहिया, ने गढ बावतरा में ...

                                               

जैसलमेर जिला

जैसलमेर का क्षेत्रफल 38401 किलोमीटर है जो छेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान का सबसे बड़ा जिला है यह है अंतरराष्ट्रीय सीमा के साथ भी सर्वाधिक लंबी सीमा बनाता है यह अंतरराष्ट्रीय सीमा भारत-पाकिस्तान की सीमा रेखा रेडक्लिफ के नाम से जानी जाती है जैसलमेर ...

                                               

जोधपुर जिला

जोधपुर जिला भारत के राजस्थान राज्य का एक ज़िला है। इसका मुख्यालय जोधपुर नगर में है जो कि राजस्थान का दूसरा सबसे बड़ा नगर है। जोधपुर सूर्य नगरी के नाम से भी जाना जाता है। यह अपनी महान सांस्कृतिक विरासत और ऐतिहासिक धरोहर के लिये पूरे संसार में मशहू ...

                                               

झुंझुनू जिला

झन्झुनू राजस्थान का एक जिला है। यह दिल्ली से २५० किलोमीटर और जयपुर से १८० किलोमीटर दुरी पर स्थित है। यह एक रेगिस्तानी इलाका है। पूर्व से पश्चिम कि सीमा ११० किलोमीटर व उत्तर से दक्षिण की सीमा १०० किलोमीटर है। झन्झुनू जिला 27.5 से 28.5उत्तरी अक्षां ...

                                               

टोंक जिला

टोंक ज़िला भारत के राजस्थान राज्य का एक ज़िला है। ज़िले का मुख्यालय टोंक है। राजस्थान सरकार के उपमुख्यमंत्री माननीय श्री सचिनपायलट जी यहां के विधायक है | जिन्होंने 2018 के विधानसभा चुनाव मे वसुंधरा सरकार के नंबर 2 के मंत्री श्री यूनुस खान साहब को ...

                                               

पाली जिला

पाली ज़िला भारत के राजस्थान राज्य का एक ज़िला है। ज़िले का मुख्यालय पाली है। ज़िले की पूर्वी सीमाएं अरावली पर्वत श्रृंखला से जुड़ी हैं। इसी सीमाएं उत्तर में नागौऔर पश्चिम में जालौर से मिलती हैं। पाली शहर पालीवाल ब्राह्मणों का निवास स्थान था जब मु ...

                                               

प्रतापगढ़ जिला, राजस्थान

उत्तर प्रदेश राज्य में इसी नाम के ज़िले के लिए प्रतापगढ़ जिला, उत्तर प्रदेश का लेखे देखें प्रतापगढ़ ज़िला भारत के राजस्थान राज्य का एक ज़िला है। ज़िले का मुख्यालय प्रतापगढ़ है। प्रतापगढ़ जिला राजस्थान का 33वाँ जिला है, जिसका निर्माण 26 जनवरी 2008 ...

                                               

बांसवाड़ा जिला

बासंवाडा जिला राजस्थान के दक्षिणी भाग मे गुजरात व मध्य प्रदेश की सीमा से लगता हुआ जिला है। इसे राजस्थान का चेरापूंजी भी कहा जाता है। यहा का मुख्य आकर्षण माही नदी है, जो मध्य प्रदेश से होती हुई माही बांध तक आती हॆ, माही नदी बासंवाडा जिला की जीवन व ...

                                               

बाड़मेर जिला

बाड़मेर ज़िला भारत के राजस्थान राज्य का एक ज़िला है। ज़िले का मुख्यालय बाड़मेर है। ज़िला मुख्यालय बाड़मेर के अलावा अन्य मुख्य कस्बे बालोतरा, गुड़ामलानी, बायतु, सिवाना, जसोल, चौहटन, धोरीमन्ना और उत्तरलाई हैं। बाड़मेर के पचपदरा में एक अत्याधुनिक रि ...

                                               

बाराँ जिला

सन् 1948 में संयुक्त राजस्थान के निर्माण के समय भी बाराँ एक जिला था। 31 मार्च 1949 को राजस्थान का पुनर्निर्माण हुआ और बाराँ जिला मुख्यालय को कोटा जिले का उपखण्ड मुख्यालय बनाया गया। 10 अप्रैल 1991 को पूर्व कोटा जिले से बाराँ जिले का निर्माण किया ग ...

                                               

बीकानेर जिला

ज़िले का साक्षरता दर 65.92% है और एस. टी. डी STD कोड 0151 है। यह लगभग अक्षांश 28.01 उत्तर और रेखांश 73.9 पूर्व पर स्थित है। यहा औसत वार्षिक वर्षा 243 मिमी होती है। बीकानेर रेगिस्तानी जिलों में एक है जो उत्तर-पूर्व राजस्थान में हैं। इसके उत्तरी ओर ...

                                               

बूँदी जिला

बूँदी को "परिंदों का स्वर्ग" कहा जाता है। छोटीकाशी के नाम से प्रसिद्ध बूंदी जिले में प्राकृतिक सौंदर्य है। यह अपनी संस्कृति, लोक परंपराएं और ऐतिहासिक धरोहर व स्थानीय पक्षियों की पसंदीदा सैरगाह के रूप में प्रसिद्ध रहा है। अरावली की पर्वत श्रृंखलाए ...

                                               

राजसमन्द जिला

राजसमन्द भारतीय राज्य राजस्थान का एक जिला है। जिले का मुख्यालय राजसमन्द है। यह अरावली पर्वतमाला के बीच में स्थित है। शहर और जिले का नाम मेवाड़ के राणा राज सिंह द्वारा 17 वीं सदी में निर्मित एक कृत्रिम झील, राजसमन्द झील के नाम से लिया गया है। जिला ...

                                               

श्रीगंगानगर जिला

श्रीगंगानगर ज़िला भारत के राजस्थान राज्य का एक ज़िला है। ज़िले का मुख्यालय श्रीगंगानगर है। ज़िले को "राजस्थान का पंजाब कहा जाता है इसका करण यहाँ पंजाबियो की बहुतायत है। यह "राजस्थान का अन्नदाता जेसे नामो से भी मशहूर है।

                                               

सवाई माधोपुर जिला

सवाई माधोपुर जिले में कुल 8 तहसीलें है: बौंली मलारना डूंगर खंडार सवाई माधोपुर बामनवास गंगापुर चौथ का बरवाड़ा वज़ीरपुर

                                               

सिरोही जिला

सिरोही राजस्थान का पर्वतीय एवं सीमावर्ती जिला हैं। पहलें सिरोही रियासत बड़ी रियासतों में अपना स्थान रखती थी। देश आजाद होने के बाद अब इसको जिला बना दिया है। इसका साम्राज्य बहुत फैला हुआ था। देश आजाद होने के बाद इसका काफ़ी एरिया पाली व जालौर ज़िले ...

                                               

सीकर जिला

74.44°N 75.25°E  / 74.44; 75.25 - 27.21°N 28.12°E  / 27.21; 28.12 सीकर जिला भारत के राजस्थान प्रान्त का एक जिला है। यह जिला शेखावाटी के नाम से जाना जाता है, यह प्राकृतिक दृष्टि महत्वपूर्ण से महत्वपूर्ण है। सीकर, श्रीमाधोपुर, नीम का थाना, फतेहपु ...

                                               

हनुमानगढ़ जिला

ज़िले में 7 तहसीलें हैं: हनुमानगढ़, संगरिया, रावतसर, नोहर, भादरा, टिब्बी और पीलीबंगा। इन सात तहसीलों में हनुमानगढ़ तहसील सबसे बड़ी और टिब्बी तहसील सबसे छोटी तहसील है।

                                               

सिक्किम के जिले

स्रोत - वाल्मीकि रामायण की यह सूची है सिक्किम के जिले:- पूर्वी सिक्किम जिले गैंगटोक. उत्तर सिक्किम जिला, मैंगनीज, सि. दक्षिण सिक्किम जिले का नाम. पश्चिम सिक्किम जिले गैंगटोक.

                                               

उत्तर सिक्किम जिला

उत्तर सिक्किम भारतीय राज्य सिक्किम का एक जिला है। जिले का मुख्यालय मांगन) है। चार जिलों में विभक्त सिक्किम राज्य के उत्तरी सिक्किम जिले का अधिकांश हिस्सा पर्यटकों के लिए प्रतिबंधित है, क्योंकि इस संवेदनशील जिले की सीमा चीन से मिलती है। यहां आने व ...

                                               

दक्षिण सिक्किम जिला

दक्षिण सिक्किम भारतीय राज्य सिक्किम का एक जिला है। जिले का मुख्यालय नामची है। सिक्किम राज्य का यह छोटा-सा जिला बौद्ध संस्कृति, कला और धर्म के लिए जाना जाता है। जिले के अनेक मठ इसे भव्य और खूबसूरत बनाते हैं। राज्य की सबसे प्राचीनतम मठ इसी जिले में ...

                                               

मन्दाकिनी झरना

यह लेख मन्दाकिनी नामक झरने पर है। अन्य मन्दाकिनी लेखों के लिए देखें मन्दाकिनी मन्दाकिनी झरना उत्तराखण्ड के उत्तरकाशी जिले के हरसिल में स्थित एक झरने का नाम है।

                                               

उत्तर प्रदेश के मंडल

उत्तर प्रदेश में 18 मंडल और 75 जिले हैं। सहारनपुर मंडल बस्ती मंडल झांसी मंडल वाराणसी मंडल बरेली मंडल आगरा मंडल चित्रकूट मंडल अयोध्या मंडल गोरखपुर मंडल अलीगढ़ मंडल देवीपाटन मंडल मेरठ मंडल मीरजापुर मंडल आजमगढ़ मंडल लखनऊ मंडल कानपुर मंडल प्रयागराज म ...

                                               

गोरखपुर मंडल

गोरखपुर भारत में उत्तर प्रदेश प्रान्त का एक मंडल है। इसमें देवरिया, गोरखपुर, कुशीनगर महाराजगंज जिले आते हैं गोरखपुर जिले मे धरती ऐतिहासिक चौरी चौरा हत्या कांड स्थित है जो इतिहास में भारत के एक महत्वपूर्ण स्थान रखता हैl

                                               

मुरादाबाद मंडल

स्रोत - वाल्मीकि रामायण मुरादाबाद भारत में उत्तर प्रदेश प्रान्त का एक मंडल का. इसके तहत बिजनौर, SATA फुले नगर, मुरादाबाद और रामपुर जिले आते हैं ।

                                               

मेरठ मंडल

राष्ट्रिय राजधानी क्षेत्र का 37% हिस्सा मेरठ मण्डल के अंतरगत आता है। उद्योग और व्यापार के लिहाज़ से भी यह क्षेत्र बहुत महत्वपूर्ण है तथा यह क्षेत्र पष्चिमी उत्तर प्रदेश का सबसे जादा विकसीत व सम्पन्न क्षेत्र है।देश की राजधानी से नज़दीकी के कारण मे ...

                                               

पश्चिम बंगाल के मण्डल

भारतीय राज्य पश्चिम बंगाल को पांच प्रशासनिक मण्डलों में बांटा गया है, जिनके नाम हैं: बर्दवान मण्डल मेदिनीपुर मण्डल प्रेसिडेंसी मण्डल मालदा मण्डल जलपाईगुड़ी मण्डल मण्डल जिलों के समूह से बनता है, और इसका अधिकारी "डिविशनल कमिश्नर" कहलाता है. पश्चिम ...

                                               

जलपाईगुड़ी मंडल

जलपाईगुड़ी मंडल भारत के पश्चिम बंगाल राज्य का एक प्रशासनिक मण्डल है। इसमें दार्जिलिंग ज़िला, कालिम्पोंग ज़िला, जलपाईगुड़ी ज़िला, अलीपुरद्वार ज़िला और कूचबिहार ज़िला शामिल हैं।

                                               

तिरहुत प्रमंडल

बिहार में गंगा के उत्तरी भाग को तिरहुत क्षेत्र कहा जाता था। इसे तुर्क-अफगान काल में स्वतंत्र प्रशासनिक इकाई बनाया गया। किसी समय में यह क्षेत्र बंगाल राज्य के अंतर्गत था। सन् १८७५ में यह बंगाल से अलग होकर मुजफ्फरपुऔर दरभंगा नामक दो जिलों में बँट ग ...