ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 98




                                               

मोगादिशू बम विस्फोट 2017

14 अक्टूबर 2017 को, सोमालिया की राजधानी मोगादिशु में एक ट्रक में हुए भारी विस्फोट से कम से कम 276 लोगों की मौत और 400 लोग घायल हो गए। जिस सफारी होटल के सामनें यह विस्फोक्ट हुआ है वह ढह गया है, और इसके पास स्थित कतर दूतावास गंभीर रूप से क्षतिग्रस् ...

                                               

अलसी

अलसी या तीसी समशीतोष्ण प्रदेशों का पौधा है। रेशेदार फसलों में इसका महत्वपूर्ण स्थान है। इसके रेशे से मोटे कपड़े, डोरी, रस्सी और टाट बनाए जाते हैं। इसके बीज से तेल निकाला जाता है और तेल का प्रयोग वार्निश, रंग, साबुन, रोगन, पेन्ट तैयार करने में किय ...

                                               

पटसन

पटसन, पाट या पटुआ एक द्विबीजपत्री, रेशेदार पौधा है। इसका तना पतला और बेलनाकार होता है। इसके तने से पत्तियाँ अलग कर पानी में गट्ठर बाँधकर सड़ने के लिए डाल दिया जाता है। इसके बाद रेशे को पौधे से अलग किया जाता है। इसके रेशे बोरे, दरी, तम्बू, तिरपाल, ...

                                               

कोदो

कोदो या कोदों या कोदरा एक अनाज है जो कम वर्षा में भी पैदा हो जाता है। नेपाल व भारत के विभिन्न भागों में इसकी खेती की जाती है। धान आदि के कारण इसकी खेती अब कम होती जा रही है। इसका पौधा धान या बडी़ घास के आकार का होता है। इसकी फसल पहली बर्षा होते ह ...

                                               

चौलाई

चौलाई, पौधों की एक जाति है जो पूरे विश्व में पायी जाती है। अब तक इसकी लगभग ६० प्रजातियां पाई व पहचानी गई हैं, जिनके पुष्प पर्पल एवं लाल से सुनहरे होते हैं। गर्मी और बरसात के मौसम के लिए चौलाई बहुत ही उपयोगी पत्तेदार सब्जी होती है। अधिकांश साग और ...

                                               

नीवारिका

नीवारिका एक प्रकार की घास है जो गेहूँ की जाति का सदस्य है। इसका गेहूँ और जौ से नजदीकी सम्बन्ध है। नीवारिका के दाने आटा, ब्रेड, बीअर, ह्विस्की, वोडका एवं जानवरों के चारे के लिये प्रयोग की जाती है।

                                               

राई

राई की गिनती सरसों की जाति में होती है। इसका दाना छोटा व काला होता है। छोटी-छोटी गोल-गोल राई लाल और काले दानों में अक्सर मिलती है। विदेशों में सफेद रंग की राई भी मिलती हैं। राई के दाने सरसों के दानों से काफी मिलते हैं। बस राई सरसों से थोड़ी छोटी ...

                                               

साँवा

साँवा या सावाँ एक मोटा अनाज है। इसके दाने या बीज बाजरे के साथ मिलाकर खाये भी जाते हैं। भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश में यह खूब पैदा होती है। अनुपजाऊ भूमि पर भी इसकी खेती की जा सकती है जहाँ धान की फसल नहीं होती। Echinochloa colona नामक एक प्रकार की ...

                                               

कैल्सियम

कैल्सियम Calcium एक रासायनिक तत्व है। यह आवर्तसारणी के द्वितीय मुख्य समूह का धातु तत्व है। यह क्षारीय मृदा धातु है और शुद्ध अवस्था में यह अनुपलब्ध है। किन्तु इसके अनेक यौगिक प्रचुर मात्रा में भूमि में मिलते है। भूमि में उपस्थित तत्वों में मात्रा ...

                                               

फोलिक अम्ल

फोलिक अम्ल को विटामिन बी-9 या फोलासीन और फोलेट के नाम से भी जाना जाता है। ये विटामिन बी-9 के जल-घुल्य रूप हैं। फोलिक एसीड शरीर के विभिन्न कार्यों के संपादन के लिए आवश्यक हैं। ये न्युक्लिटाइड के संश्लेषण से लेकर हिमोसाइटिन के रिमिथाइलेशन के लिए जर ...

                                               

मछली का तेल

मछली के ऊतकों से निर्मित तेल मछली का तेल कहलाता है। मछली के तेल में ओमेगा-३ वसा अम्ल होते हैं जो शरीर के शोथ को कम करते हैं। इनके अन्य स्वास्थ्य लाभ भी हैं। किन्तु यह बात अभी तक सिद्ध नहीं की जा सकी है कि मछली के तेल के सेवन से हृदयाघात नहीं होता।

                                               

सुल्ताना (अंगूर)

सुल्ताना एक प्रकार का सफेद बीज रहित अंगूर है जो तुर्की, ग्रीस, दक्षिण अफ्रीकी या ईरानी मूल का है। कुछ देशों में, विशेष रूप से राष्ट्रकुल देशों में, इससे बनने वाली किशमिश को भी यह नाम दिया गया है; ऐसी सुल्ताना किशमिश को अक्सर केवल सुल्ताना या सुल् ...

                                               

दशहरी (आम)

दशहरी आम की एक किस्म है जो अपनी भीनी खुशबू और स्वाद के लिए विदेशों में भी मशहूर है। इसे दक्षिण भारत में दसहरी भी कहा जाता है। यह उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ व कई गाँवो जैसे नन्दी फिरोजपुर, व काकोरीइलाके आदि में पैदा होता है।

                                               

हिमसागर आम

हिमसागर एक बहुत ही लोकप्रिय आम की किस्म है। यह भारत के पश्चिम बंगाल में और बांग्लादेश के राजशाही में मिलता है। इसे स्वाद और सुगंध में दुनिया के सभी आमों में सबसे श्रेष्ठ माना जाता है। इसे अक्सर "आमों का राजा" कहा जाता है। इसके अन्दर नारंगी और पील ...

                                               

मिराबॅल आलू बुख़ारा

मिराबॅल आलू बुख़ारा एक गाढ़े पीले रंग के आलू बुख़ारे की नस्ल है। माना जाता है के यह एक जंगली नस्ल थी जो आनातोलिया से शुरू हुई जिसे समय के साथ-साथ विकसित किया गया।

                                               

फ़ालसा

फालसा दक्षिणी एशिया में भारत, पाकिस्तान से कम्बोडिया तक के क्षेत्र मूल का फल है। इसकी पैदावार अन्य उषणकटिबन्धीय क्षेत्रों में भी खूब की जाती रही है। इसकी झाड़ी ८ मी तक की हो सकती है और पत्तियां चौड़ी गोलाकार, 5–18 सें मी लम्बी होती हैं। इसके फ़ूल ...

                                               

बिल्व

बिल्व, बेल या बेलपत्थर, भारत में होने वाला एक फल का पेड़ है। इसे रोगों को नष्ट करने की क्षमता के कारण बेल को बिल्व कहा गया है। इसके अन्य नाम हैं-शाण्डिल्रू, श्री फल, सदाफल इत्यादि। इसका गूदा या मज्जा बल्वकर्कटी कहलाता है तथा सूखा गूदा बेलगिरी। बे ...

                                               

नीबू की किस्में

विश्व में सबसे अधिक नीबू का उत्पादन भारत में होता है। यह विश्व के कुल नीबू उत्पादन का १६ प्रतिशत भाग उत्पन्न करता है। मैक्सिको, अर्जेन्टीना, ब्राजील एवं स्पेन अन्य मुख्य उत्पादक देश हैं। नीबू, लगभग सभी प्रकार की भूमियों में सफलतापूर्वक उत्पादन दे ...

                                               

ककोड़ा

ककोड़ा या कर्कोट एक सब्जी है। इसका फल छोटे करेले से मिलता-जुलता होता है जिसपर छोटे-छोटे कांटेदार रेशे होते हैं। राजस्थान में इसे किंकोड़ा भी कहते हैं | ककोड़ा या खेखसा अधिकतर पहाड़ी जमीन में पैदा होता है। यह बरसात के मौसम में होने वाला साग है। कक ...

                                               

करेला

करेला एक लता है जिसके फलों की सब्जी बनती है। इसका स्वाद कड़वा होता है।करेला कड़वे स्वादवाला प्रसिद्ध भारतीय फल शाक है, जिसके फल का तरकारी के रूप में पत्रशाक अथवा पत्रस्वरस का चिकित्सा में प्रयोग होता है। वनस्पती करेला यह द्विलिंगाश्रयी शाखायुक्त ...

                                               

चचेंडा

चचेंड़ा एक सब्जी है। वैकल्पिक नाम चचिण्डा है।इसका पौधा लतादार लौकी की तरह होता है। इसकी लता तना या लकड़ी के सहारे ऊंचाई पर चढ़ कर झाड़ पर फ़ैल जाती है। इसकी खेती भी होती है। इसका वानस्पतिक नाम:Trichosanthes cucumerina इसकी लम्बाई 150 सेंटीमीटर तक ...

                                               

तोरई

तोरई, तोरी या तुराई एक लता है जिसके फल सब्जी बनाने के काम आते हैं, इसे भारत के कुछ राज्यों में "झिंग्गी" या "झींगा" भी कहा जाता है। यह वर्षा ऋतु में पैदा होती है।

                                               

आलू की सब्जी

आलू की सब्जी, भारत में पूड़ियों या रोटियों के साथ खाई जाने वाली सबसे सामान्य सब्जी है। यह भारत के सभी सड़क किनारे के भोजनालयों, ढाबों और रेलवे स्टेशनो पर आम मिलती है।

                                               

चुकंदर

चुकंदर एक मूसला जड़ वाला वनस्पति है। यह बीटा वल्गैरिस नामक जाति के पौधे होते हैं जिन्हें मनुष्यों ने शताब्दियों से कृषि में पाला है और कई नस्लों में विकसित करा है। इसकी मूसला जड़ अक्सर हलकी-मीठी होती है और उसका रंग लाल, जामुनी, पीला या श्वेत होता है।

                                               

जिमीकंद

जिमीकंद एक बहुवर्षीय भूमिगत सब्जी है जिसका वर्णन भारतीय धर्मग्रंथों में भी पाया जाता है। भारत के विभिन्न राज्यों में जिमीकंद के भिन्न-भिन्न नाम ओल या सूरन हैं। पहले इसे गृहवाटिका में या घरों के अगल-बगल की जमीन में ही उगाया जाता था। परन्तु अब तो ज ...

                                               

मीठा नीम

कढ़ी पत्ते का पेड़ ; अन्य नाम: बर्गेरा कोएनिजी, चल्कास कोएनिजी) उष्णकटिबंधीय तथा उप-उष्णकटिबंधीय प्रदेशों में पाया जाने वाला रुतासी परिवार का एक पेड़ है, जो मूलतः भारत का देशज है। अकसर रसेदार व्यंजनों में इस्तेमाल होने वाले इसके पत्तों को "कढ़ी प ...

                                               

पालक

पालक अमरन्थेसी कुल का फूलने वाला पादप है, जिसकी पत्तियाँ एवं तने शाक के रूप में खाये जाते हैं। पालक में खनिज लवण तथा विटामिन पर्याप्त रहते हैं, किंतु ऑक्ज़ैलिक अम्ल की उपस्थिति के कारण कैल्शियम उपलब्ध नहीं होता। यह ईरान तथा उसके आस पास के क्षेत्र ...

                                               

साग-सब्ज़ियों की सूची

Polk Phytolacca americana Good King Henry Chenopodium bonus-henricus Seakale Crambe maritima Swiss chard Beta vulgaris subsp. cicla var. flavescens Fiddlehead Pteridium aquilinum, Athyrium esculentum Cress Lepidium sativum Bitterleaf Vernonia cal ...

                                               

सोया दूध

सोया दूध, यह सोयाबीन से बना एक पेय है। ये तेल, पानी और प्रोटीन का एक स्थिर पायस है, जो सूखे सोयाबीन को भिगो कर पानी के साथ पीस कर बनाया जाता है। सोया दूध में लगभग उसी अनुपात में प्रोटीन होता है जैसा कि गाय के दूध में: लगभग 3.5%, साथ ही 2% वसा, 2. ...

                                               

अजवायन

अजवायन के बहुत से गुण हैं। इसे अपने साथ यात्रा में भी रखा जा सकता है। इसका प्रयोग रोगों के अनुसार कई प्रकार से होता है। यह मसाला, चूर्ण, काढ़ा, क्वाथ और अर्क के रूप में भी काम में लायी जाती है। इसका चूर्ण बनाकर व आठवाँ हिस्सा सेंधा नमक मिलाकर 2 ग ...

                                               

अदरक

अदरक, एक भूमिगत रूपान्तरित तना है। यह मिट्टी के अन्दर क्षैतिज बढ़ता है। इसमें काफी मात्रा में भोज्य पदार्थ संचित रहता है जिसके कारण यह फूलकर मोटा हो जाता है। अदरक जिंजीबरेसी कुल का पौधा है। अधिकतर उष्णकटिबंधीय और शीतोष्ण कटिबंध भागों में पाया जात ...

                                               

अमचूर

अमचूर सूखे कच्चे आम का पिसा हुआ रूप है और भारतीय उपमहाद्वीप में सब्ज़ियों तथा दालों में मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसका स्वाद खट्टा होता है और भोजन को खट्टापन प्रदान करने में मदद करता है।

                                               

इलायची

इलायची का सेवन आमतौपर मुखशुद्धि के लिए अथवा मसाले के रूप में किया जाता है। यह दो प्रकार की आती है- हरी या छोटी इलायची तथा बड़ी इलायची। जहाँ बड़ी इलायची व्यंजनों को लजीज बनाने के लिए एक मसाले के रूप में प्रयुक्त होती है, वहीं हरी इलायची मिठाइयों क ...

                                               

कबाबचीनी

कबाबचीनी नाम से काली मिर्च सदृश सवृंत फल बाजार में मिलते हैं। इनका स्वाद कटु-तिक्त होता है, किंतु चबाने से मनोरम तीक्ष्ण गंध आती है और जीभ शीतल मालूम होती है। इसे कंकोल, सुगंधमरिच, शीतलचीनी और क्यूबेब भी कहते हैं। यह पाइपरेसिई कुल की पाइपर क्यूबे ...

                                               

कलौंजी

कलौंजी रनुनकुलेसी कुल का झाड़ीय पौधा है, जिसका वानस्पतिक नाम" निजेला सेटाइवा” है जो लैटिन शब्द नीजर यानी काला से बना है, यह भारत सहित दक्षिण पश्चिमी एशियाई, भूमध्य सागर के पूर्वी तटीय देशों और उत्तरी अफ्रीकाई देशों में उगने वाला वार्षिक पौधा है ज ...

                                               

काली मिर्च

वनस्पति जगत्‌ में पिप्पली कुल के मरिचपिप्पली नामक लता सदृश बारहमासी पौधे के अधपके और सूखे फलों का नाम काली मिर्च है। पके हुए सूखे फलों को छिलकों से बिलगाकर सफेद गोल मिर्च बनाई जाती है जिसका व्यास लगभग ५ मिमी होता है। यह मसाले के रूप में प्रयुक्त ...

                                               

गरम मसाला

भारत में मसालों का ज़ायका क्षेत्र के अनुसार बदलता रहता है इसीलिए पंजाबी गरम मसाले, कश्मीरी गरम मसाले, केरलाई गरम मसाले आदि नामों से मसाले बनते हैं। इनमें क्षेत्र को निवासियों के स्वाद व पसंद के अनुसार घटकों में परिवर्तन होता रहता है। इलायची, काली ...

                                               

जायफल

जायफल एक सदाबहार वृक्ष है जो इण्डोनेशिया के मोलुकास द्वीप का देशज है। इससे दो मसाले प्राप्त होते हैं - जायफल तथा जावित्री । यह चीन, ताइवान, मलेशिया, ग्रेनाडा, केरल, श्रीलंका, और दक्षिणी अमेरिका में खूब पैदा होता है। मिरिस्टिका नामक वृक्ष से जायफल ...

                                               

जायफल का वृक्ष

जायफल का वृएक सदाबहार वृक्ष है जो इण्डोनेशिया के मोलुकस द्वीप का देशज है। इसी वृक्ष से जायफल तथा जावित्री दो प्रमुख मसाले प्राप्त होते हैं। यह चीन के गुआंगडांग तथा युन्नान प्रान्त, ताइवान, इण्डोनेशिया, मलेशिया, ग्रेनाडा, केरल, श्री लंका एवं दक्षि ...

                                               

जीरा

जीरा ऍपियेशी परिवार का एक पुष्पीय पौधा है। यह पूर्वी भूमध्य सागर से लेकर भारत तक के क्षेत्र का देशज है। इसके प्रत्येक फल में स्थित एक बीज वाले बीजों को सुखाकर बहुत से खानपान व्यंजनों में साबुत या पिसा हुआ मसाले के रूप में प्रयोग किया जाता है। यह ...

                                               

दालचीनी

दालचीनी एक छोटा सदाबहार पेड़ है, जो कि 10–15 मी ऊंचा होता है, यह लौरेसिई परिवार का है। यह श्रीलंका एवं दक्षिण भारत में बहुतायत में मिलता है। इसकी छाल मसाले की तरह प्रयोग होती है। इसमें एक अलग ही सुगन्ध होती है, जो कि इसे गरम मसालों की श्रेणी में ...

                                               

बड़ी इलायची

बड़ी इलायची के सुखाये हुए फल और बीज भारतीय तथा अन्य देशों के व्यंजनों में मसाले के रूप में इस्तेमाल की जाती है। इसे काली इलायची, भूरी इलायची, लाल इलायची, नेपाली इलायची या बंगाल इलायची भी कहते हैं। इसके बीजों में से कपूर की तरह की खुशबू आती है और ...

                                               

मिर्च

मिर्च कैप्सिकम वंश के एक पादप का फल है, तथा यह सोलेनसी कुल का एक सदस्य है। वनस्पति विज्ञान में इस पौधे को एक बेरी की झाड़ी समझा जाता है। स्वाद, तीखापन और गूदे की मात्रा, के अनुसार इनका उपयोग एक सब्जी या एक मसाले के रूप में किया जाता है। मिर्च प्र ...

                                               

मेथी

मेथी एक वनस्पति है जिसका पौधा १ फुट से छोटा होता है। इसकी पत्तियाँ साग बनाने के काम आतीं हैं तथा इसके दाने मसाले के रूप में प्रयुक्त होते हैं। स्वास्थ्य की दृष्टि से यह बहुत गुणकारी है।

                                               

यष्टिमधु

यष्टिमधु या मुलहठी या मुलेठी एक झाड़ीनुमा पौधा होता है। इसका वैज्ञानिक नाम ग्‍लीसीर्रहीजा ग्लाब्र कहते है। इसे संस्कृत में मधुयष्‍टी, बंगला में जष्टिमधु, मलयालम में इरत्तिमधुरम, तथा तमिल में अतिमधुरम कहते है। इसमें गुलाबी और जामुनी रंग के फूल होत ...

                                               

लहसुन

लहसुन प्याज कुल की एक प्रजाति है। इसका वैज्ञानिक नाम एलियम सैटिवुम एल है। इसके करीबी रिश्तेदारो में प्याज, इस शलोट और हरा प्याज़ शामिल हैं। लहसुन पुरातन काल से दोनों, पाक और औषधीय प्रयोजनों के लिए प्रयोग किया जा रहा है। इसकी एक खास गंध होती है, त ...

                                               

लौंग

लौंग मटेंसी कुल के यूजीनिया कैरियोफ़ाइलेटा नामक मध्यम कद वाले सदाबहार वृक्ष की सूखी हुई पुष्प कलिका है। लौंग का अंग्रेजी पर्यायवाची क्लोव है, जो लैटिन शब्द क्लैवस से निकला है। इस शब्द से कील या काँटे का बोध होता है, जिससे लौंग की आकृति का सादृश्य ...

                                               

वैनिला

वैनिला एक सुगंधित पदार्थ है, जो वैनिला वंश के ऑर्किड से व्युत्पन्न होता है, जिसका मूल स्थान मेक्सिको है। व्युत्पत्ति विज्ञान के अनुसार वैनिला शब्द की उत्पत्ति स्पैनिश शब्द vainilla लिट्ल पॉड से हुई है। मूल रूप से प्री-कोलंबियाई मेसो-अमेरिकी लोगों ...

                                               

शाहजीरा

शाहजीरा जीरे की एक किस्म है। नाम से ही स्पष्ट है कि जीरा की इस किस्म का प्रयोग शाही भोजन को स्वादिष्ट बनाने में होता रहा है। यह सामान्य से कुछ ज्यादा पतला, सुतवां और विशिष्ट सुगंध लिए होता है। अपने मूल रूप में इसका नाम सियाह जीरा है जो इसके काले ...

                                               

सरसों

सरसों क्रूसीफेरी कुल का द्विबीजपत्री, एकवर्षीय शाक जातीय पौधा है। इसका वैज्ञानिक नाम ब्रेसिका कम्प्रेसटिस है। पौधे की ऊँचाई १ से ३ फुट होती है। इसके तने में शाखा-प्रशाखा होते हैं। प्रत्येक पर्व सन्धियों पर एक सामान्य पत्ती लगी रहती है। पत्तियाँ स ...