पिछला

ⓘ गाँव




                                               

कुई इंदा

कुई इंदा एक छोटा सा गांव है जो राजस्थान,भारत के जोधपुर ज़िले की बालेसर तहसील में स्थित है। । यहां की स्थानीय भाषा मारवाड़ी है। कुई इंदा गांव में कई छोटे मन्दिर है तथा यहां विद्यालय की भी सुविधा है। गांव का पिन कोड ३४२०२३ है तथा पोस्ट ऑफिस का मुख्य कार्यालय बालेसर में है जो कि ०८ किलोमीटर की दूरी पर स्थिर है। यहां के निकटतम गांव ये हैं - बेलवा,बालेसर दुर्गावतां,बालेसर सत्ता एवं बालेसर।

                                               

कुसुमकसा

दुर्ग से दल्ली राजहरा व राजनांदगांव से दल्ली राजहरा मार्ग पर दल्ली राजहरा से 7 कि॰मी॰ पहले कुसुमकसा ग्राम है जो दुर्ग जिले के एकमात्र आदिवासी बाहुल्य डौण्डी विकासखण्ड में स्थित है। कुसुमकसा का नाम यहां कुसुम के वृक्षों की बहुतायात के कारण पड़ा। कुसुमकसा में रेल्वे स्टेशन भी है। कुसुमकसा में प्राय: सभी जाति, धर्म व संप्रदाय के लोग निवासरत है। दल्ली राजहरा के विकास के समय यहीं के खनन ठेकेदारों ने दल्ली राजहरा के खदानों में खनन एवं ट्रान्सपोर्ट का ठेका लिया।

                                               

खुडियाला

खुडियाला एक मुख्य गांव है जो राजस्थान,भारत के जोधपुर ज़िले की बालेसर तहसील में स्थित है यह गांव एक ग्रामीण क्षेत्र में आता है। यहां की स्थानिय भाषा मारवाड़ी है। खुडियाला गांव में कई सरकारी विद्यालय तथा कई निजी विद्यालय भी है यहां के पिन कोड ३४२३०६ है तथा पोस्ट ऑफिस हैं जिसका मुख्य कार्यालय तिंवरी है। खुडियाला गांव में कई हॉस्पिटल भी है सरकारी है एक RCF पशुपालक सेवा केंद्र भी है खुडियाला गांव कई वर्षों से भाटी राजवंश का नगर है इसमें सभी धर्म के लोग रहते हैं यह एक मिलनसार गांव है

                                               

चक़

चक एक गाँव है जो भारत देश के राज्य उत्तर प्रदेश के जिला बहराइच में पड़ता है। यह गांव महसी तहसील के अन्तर्गत आता है तजवापुर इस गांव का ब्लाक है और थाना बौंडी है। रामगढ़ी इस गांव की ग्राम पंचायत है। इस गाँव से 2 किलोमीटर की दूरी पर खैरा बाज़ार पड़ता है। वहीं से चक गाँव के लोग साग, सब्ज़ी, आटा, और दाल, तेल, चावल आदि। चीजें खरीद कर लाते हैं। चक गाँव के पूरब दिशा में एक बड़ी बाजार फखरपुऔर दक्षिण दिशा में जैतापुर बाजार है।

                                               

चिचड़ली

चिचड़ली "स्थापना- इस गांव की स्थापना सन् 1583 ई. मे रूपाराम जी गोदारा द्वारा की गई। रूपाराम जी गोदारा मूलतः बीकानेर के रूणीयां गांव से आयें थे। उनके साथ वहाँ से सोनगरा महाजन,विरठ मेघवाल एवं माळिया मिरासी भी आये थे। कालांतर में इनके वंशजो ने पुरखावास,गोदावास,बाकियावास,उतेसर,जिजनियाला,पाटियाल,सणपा,म.प्र. मे जावरा आदि अनेक गांव बचाये। इनके एक पुत्र बागाराम का परिवार चिचङली मे ही निवास करता है। गांव के उत्तर में इनके वंशज बुधाराम जी गोदारा की ढाणी स्थित है। बाद में कई जातियां यहाँ आकर निवास करने लगी। चिचङली गांव जाट बाहुल्य ग्राम है। यहां पर मुख्य रूप से गोदारा,बेनिवाल,मुण्डण,सारण जाति के जाट ...

                                               

चौरा

यदि आप अण्डमान और निकोबार द्वीपसमूह के इसी नाम के द्वीप पर जानकारी ढूंढ रहे हैं तो चौरा द्वीप का लेख देखिये चौरा में भारत के बिहार राज्य के अन्तर्गत पुर्णिया मण्डल के अररिया जिले का एक गाँव है।

                                               

ज़ेर्वीनोस

ज़ेर्वीनोस एक गाँव दक्षिण लिथुआनिया में है। वह गाँव अलीतुस प्रदेश के भाग वरेणा डिस्ट्रिक्ट में है। ज़ेर्वीनोस चारों ओर से दैनवा वन से गुप्त है और ऊला नदी के किनारे के नज़दीक बैठा है। यहाँ २०११ साल में ४९ निवासी रहते थे। ज़ेर्बीनोस अपने परंपरागत वास्तुशिल्पीय शैली के लिए प्रसिद्ध है। सारे मकान द्ज़ूकिया क्षेत्र की शैली में लकड़ी से निर्माण किये गये हैं। यहाँ भी सलीबों, पुरातात्त्विक जगहों, पुराणे वृक्षों को देखा जा सकता है। गर्मियों में ज़ेर्वीनोस पर्यटकों और कुकुरमुत्ते या बदरियँ लेनेवाले लोगों को आकृष्ट करता है। इस गाँव से रेलगाड़ी विल्नुस-मर्त्सिन्कोनीस चलती है।

                                               

ठाडिया, राजस्थान

ठाडिया एक छोटा सा गाँव है जो राजस्थान के जोधपुर जिले के बालेसर तहसील तथा देचू कस्बे में स्थित है। यह गाँव पोस्ट ऑफिस से युक्त है तथा इसका पिनकोड ३४२३१४ है। गाँव में कई सरकारी तथा कई निजी विद्यालय भी है। यहां पर कई छोटे गाँव भी है।गाँव में बाबा रामदेव का मन्दिर भी है,इनके अलावा मां सती दादी का भी मन्दिर है। बाबा रामदेव के मन्दिर को यहाँ के पनपालिया परिवार ने बनवाया है। गाँव में एक छोटा बाजार तथा उचित मूल्य की दुकान भी है। यहां पर अनेक जातियां निवास करती है जिनमें - सुथार, राजपूत, बिश्नोई, भील, जोगी, मेहतर, बनिया, मेघवाल आदि शामिल है। गाँव की जनसंख्या २०११ की जनगणना के अनुसार लगभग १०४९ हैं।

                                               

दयाकोर

दयाकोर या दयाकौर एक छोटासा सा गांव है जो भारतीय राज्य राजस्थान के जोधपुर ज़िले के अंतर्गत आता है तथा यह फलोदी तहसील में आता है। पीलवा,जालोड़ा,कुशलावा। इत्यादि इनके पड़ोसी गाँव हैं। यहां विभिन्न जातियां निवास करती है तथा हिंदुओं के अलावा मुस्लिम धर्म के लोग भी निवास करते है।

                                               

दरियापुर प्रखण्ड (सारन)

दरियापुर में भारत के बिहार राज्य के अन्तर्गत सारण प्रमंडल के सारण जिले का एक प्रखंड है। हरदिया चंवर-दरियापुर प्रखंड का विशाल व विस्तृत हरदियां चंवर। पानी निकासी के लिए मात्र दो नाले हैं। नेहुरा नाला जो आनंदपुर सोनपुर में गंडक नदी में गिरता है तथा दूसरा महदलीचक नहर जो गंगा नदी में नयागांव में गिरता है।

                                               

नबीनगर

नबीनगर भारत के बिहार राज्य के अन्तर्गत मगध मण्डल के औरंगाबाद जिले का एक क़स्बा है। नबीनगर प्रखण्ड का एक क़स्बा है। करीब 4.380 मेगावॉट वाले नबीनगर बिजलीघर में एनटीपीसी की करीब आधी हिस्सेदारी है।

                                               

नीरपुर

नीरपुर में भारत के बिहार राज्य के अन्तर्गत समस्तीपुर मण्डल के समस्तीपुर जिले का एक गाँव है। जिससे जमुआरी नदि बहती है। नीरपुर मे बहुजाति है यहाँ लगभग 40 जाति के लोग रहते हैं।यहाँ मुस्लिम की भी अच्छी आबादी है। यहाँ माँ काली की भव्य मंदिर है, जहाँ सभी की मनोकामना पूरी होती है। यहाँ शिक्षा का केंद्र है, दशवीं तक पढ़ने के लिए दूर-दूर से पढ़ने आते हैं।

                                               

फकिंग, ऑस्ट्रिया

फकिंग और 4 किलोमीटर पूर्व में जर्मन सीमा पर स्थित हैं। केवल 104 लोगो की आबादी होने के बावजूद यह गाँव अपने नाम के लिए प्रसिद्ध हो गया है। फकिंग की स्थापना 6वीं शताब्दी शताब्दी में हुआ था।

                                               

बुसी (गाँव)

बौसी थाना भारत के बिहार राज्य के अन्तर्गत पुर्णिया मण्डल के अररिया जिले का एक थाना है। Bausi market me kai gas frkiya mjhua lkunawa bhawaninagar singhiya ka prmukh bazar h

                                               

बैरिया

उत्तर प्रदेश में इसी नाम के नगर के लिए बैरिया, उत्तर प्रदेश का लेख देखें बैरिया में भारत के बिहार राज्य के अन्तर्गत मगध मण्डल के औरंगाबाद जिले का एक गाँव है।

                                               

भारत के गाँव

2018 तक, भारत में 597.464 जनगणना गांव हैं। प्रत्येक जनगणना गांव में कई गांव हैं, जिनमें कई परिवार हैं। भारत में कुल ६४० जिले है जिनमे २५० जिले २०११ की जनगणना के अनुसार अति पिछड़े जिले है। 2018 तक, बिहार में 39.073 राजस्व गांव हैं, और 1.06.24 9 गांव टोला या बस्तियों हैं।

                                               

मथानिया

मथानिया एक कस्बा है जो भारत के राज्य राजस्थान राज्य के जोधपुर ज़िले के अंतर्गत आता है। यहां से जोधपुर हवाई अड्डा मात्र तीन किलोमीटर दूर है। मथानिया में एक प्राचीन करणी माता का मन्दिर है। मथानिया की सुप्रसिद्ध मिर्ची पूरे भारत में प्रसिद्ध है और यहां के आस-पास के गांव में कांदा और लहसुन पूरे भारत में सप्लाई होता है एक और नई फसल गाजर यहां की प्रसिद्ध बन गई है मथानिया की गाजर 3 फुट लंबी लाल कलर पूरे भारतवर्ष में प्रसिद्ध है

                                               

मदनपुर (औरंगाबाद)

मदनपुर में भारत के बिहार राज्य के अन्तर्गत मगध मण्डल के औरंगाबाद जिले का एक तहसील है। मदनपुर एक अंचल कार्यालय है। मदनपुर एक पर्यटक स्थल भी है, यहाँ भगवान सूर्य का मंदिर पहाड़ी पर स्थित है एवं अन्य मंदिरो की श्रृंखला एवं अवशेष भी पहाड़ी पर है। मदनपुर ऐतिहासिक और भौगोलिक रूप से अति सम्पन्न है। प्रत्येक वर्ष बसन्त पंचमी में तीन दिवसीय मेला यहाँ लगता है जिसमे हजारों की संख्या में श्रद्धालु यहाँ आते हैं।

                                               

मधु बागान

हासीमारा एयरफोर्स से उत्तर की ओर सिर्फ दो किलोमीटर की दूरी पर स्थित मधु बागान एक छोटा सा चाय का गाँव है। पश्‍िचम बंगाल राज्य के नये निर्मित जिला अलिपुरद्वारा में स्थित यह सुदर सा गाँव, कालचीनी ब्लाक के हासीमारा रेलवे स्टेशन से तीन किलोमीटर की दूरी पर है। एअर फोर्स हसिमारा स्टेशन के पास मधु बागान हरियाली से भरा पूरा गाँव है। मधुबागान से होकर एक रेल लाईन गुजरती है जो गुवाहाटी को दिल्ली, कोलकाता से जोड़ती है। यहां एक चाय बागान भी है। मधु बागान एक बहुभाषी बागान है जहाँ देश के अनेक समुदाय के लोग रहते हैं विशेष कर झारखंडी आदिवासियों की अच्छी जनसँख्या है। इसके सिवा बंगाली, बिहारी, गोर्खा, मारवाड़ ...

                                               

मूण्डवाड़ा

मूण्डवाड़ा सीकर जिले का अग्रणी गाँव है,जिसने राजस्थान विधानसभा को दो विधायक दिए हैं। गाँव आवागमन की दृष्टि से सड़क मार्ग कोटपूतली कुचामन मेगा हाईवे पर स्थित है; जो सीकर से 18 km दुरी पर दक्षिण दिशा में स्थित है। २०११ की जनगणना के अनुसार निम्न आँकड़े प्रदर्शित हैं --- == सन्दर्भ == अमरा राम पेमा राम जनगणना के आँकड़े मूण्डवाड़ा की खबर मूण्डवाड़ा

                                               

रघुनाथपुरा

रघुनाथपुरा राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में एक गांव है। यह गाँव दो वर्गों में विभाजित है: रघुनाथपुरा और रघुनाथपुरा आबादी। यह गाँव 41 किमी पूर्व में सूरतगढ़ से और लगभग 103 किमी दूर श्रीगंगानगर से है। सूरतगढ़ यहां का निकटतम रेलवे स्टेशन है। यह राष्ट्रीय राजमार्ग ६२ से 28 किमी दूर है और राज्य की राजधानी जयपुर से 399 किमी दूर है।

                                               

रजवार

रजवार रजवार राजाका वंशज से जुडा शब्द है । कत्यूरी राजवंश के लोगोका रजवार जैसे सम्मानित शब्द से सम्बोधन करते थे । जैसे अस्कोट के रजवार,डोटी बोगटान के रजवार,चन्द रजवार देउवा रजवार आदि । राजस्थान के राज्पुतो को भी रजवार शब्द से सम्बोधन करते है । रजवार शब्द राजवंश के रौतेला,छोटे गाउँ क्षेत्रके राजा से बि जुडा शब्द है । रजवार राजपरिवार से जुडा शब्द मात्र नहिहोके भारत के बिहार राज्य के अन्तर्गत मगध मण्डल के औरंगाबाद जिले का एक गाँव बि है।

                                               

रानीपुरवा

रानीपुरवा एक गाँव है जो भारत देश के राज्य उत्तर प्रदेश के जिला बहराइच में है। यह गाँव ब्लाॅक तजवापुर ग्राम पंचायत जिहुरा माफी के अधीन है। यहाँ से दक्षिण दिशा में 4 किलोमीटर की दूरी पर जैतापुर बाजार है और 5 किलोमीटर उत्तर में चक गाँव है। रानीपुरवा गाँव के बीच में बाजार लगती है।

                                               

लखिपुर

यदि आप असम में इस से मिलते-जुलते नगर के बारे में जानकारी खोज रहें हैं तो लखीपुर का लेख देखें लखिपुर में भारत के बिहार राज्य के अन्तर्गत मगध मण्डल के औरंगाबाद जिले का एक गाँव है।

                                               

लूणी तहसील

लूणी जोधपुर जिले की एक तहसील व विधान सभा क्षेत्र है।इस विधान सभा से लूणी के विधायक जोगाराम पटेल रहे है। वर्तमान विधायक महेन्द्र बिश्नोई है । लूणी तहसील के अतर्गत लगभग १४० गाँव आते है।

                                               

सकाल्दा

सकाल्दा को अनेक भागों या मोहल्लों में बाटा गया है। मध्यभाग यह सकाल्दा का मध्य क्षेत्र है। इसमें पेलाफ़ला, होलीवाड़ा, पिपलामंगरा, मंडी आदि इलाके आते है। शिवक्षैत्र यह सकालदा के पूर्व में स्थित है। इस इलाके में भगवान महादेव का मंदिर हैं जो देवनिया महादेव के नाम से प्रसिद्ध है। यह पर्वतीय क्षेत्र है जिसमें डोळा, तलाब, वेहळा, महादेव मंदिर, वेगडीवेळी आदि इलाके प्रसिद्ध है। सहमेलिया यह मोहल्ला भी पूर्वी सकालदा में स्थित है। जिसमें मूल रुप से समेलिया, नाथूडियावेलि आते है। पेलाढ़ावा नदी के पश्चिमी व ऊपरी भाग मे है। इस इलाके मे हिगोडिमंगरी, हरापाणी, टावरघाटी आते है। कलिंगाटी मध्यभाग के दक्षिण-पूर्व ...

                                               

सांडेराव

सांडेराव भारत के राजस्थान राज्य के पाली ज़िले का एक गांव है,जो बाली कस्बे से १६ किलोमीटर की दूरी पर है इस गांव की स्थापना ९वीं शताब्दी में यशोभद्रा की थी यह ५००० हजार साल पहले का एक तीर्थस्थल था यहां पर उदयपुर के सिसोदिया राजवंश ने शासन किया था वर्तमान में यह एक महत्वपूर्ण जंक्शन साबित हो रहा है यहां कई बड़े-बड़े स्टेशन है

                                               

सौन्हर

सौन्हर, भारत के मध्यप्रान्त मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले की तहसील नरवर के अन्तर्गत आने वाला एक प्रसिद्ध गाँव है। यह गाँव आसपास के क्षेत्र में बहुचर्चित और प्रसिद्ध है।

                                     

ⓘ गाँव

  • न र द श क: 27 53 N 78 04 E 27.89 N 78.06 E 27.89 78.06 बझ र - 2 ख र, अल गढ उत तर प रद श स थ त एक ग व ह
  • न र द श क: 27 53 N 78 04 E 27.89 N 78.06 E 27.89 78.06 र यप र - 2 गभ न अल गढ उत तर प रद श स थ त एक ग व ह
  • न र द श क: 27 53 N 78 04 E 27.89 N 78.06 E 27.89 78.06 र मनगर - 1 गभ न अल गढ उत तर प रद श स थ त एक ग व ह
  • न र द श क: 27 53 N 78 04 E 27.89 N 78.06 E 27.89 78.06 र यप र - 1 गभ न अल गढ उत तर प रद श स थ त एक ग व ह
  • न र द श क: 27 53 N 78 04 E 27.89 N 78.06 E 27.89 78.06 र यप र - 3 गभ न अल गढ उत तर प रद श स थ त एक ग व ह
  • न र द श क: 27 53 N 78 04 E 27.89 N 78.06 E 27.89 78.06 श य मप र - 1 गभ न अल गढ उत तर प रद श स थ त एक ग व ह
  • न र द श क: 27 53 N 78 04 E 27.89 N 78.06 E 27.89 78.06 श य मप र - 2 गभ न अल गढ उत तर प रद श स थ त एक ग व ह
  • न र द श क: 27 53 N 78 04 E 27.89 N 78.06 E 27.89 78.06 र मनगर - 2 गभ न अल गढ उत तर प रद श स थ त एक ग व ह
  • न र द श क: 27 53 N 78 04 E 27.89 N 78.06 E 27.89 78.06 कसब क ल क इल, अल गढ उत तर प रद श स थ त एक ग व ह
                                               

गुम्मावाला

Gummel गांव में रुड़की तहसील के एक छोटे से गांव में है. प्रकृति की गोद में स्थित एक सुंदर गांव Gammal है. चारों ओर पेड-पौधों बलात्कार के साथ बलात्कार करने के लिए से घिरा गांव है.

                                               

रणायरा

के पास भारतीय राज्य मध्य प्रदेश के रतलाम जिले के आलोट तहसील में एक गांव है. यहाँ की कुल जनसंख्या २०११ की जनगणना के अनुसार, १३८५ है. गांव में राम, शिव और हनुमान जी का मंदिर है ।

                                               

हिण्‍डाल गोल

लिंडा दौर में एक गांव है, जो भारतीय राज्य राजस्थान के जोधपुर जिले के बाप की स्थित है. लिंडा दौर में गांव के ज्यादातर लोग खेती पर निर्भर करते हैं इस कारण के लिए रोजगार के साधन ही है कि है. २०११ भारत के राष्ट्रीय जनगणना के अनुसार गांव की आबादी है । यहां सरकारी स्कूल,निजी स्कूल,बस स्टेण्ड,पशु अस्पतालों,उप-स्वास्थ्य केंद्र भी है.

यूजर्स ने सर्च भी किया:

गाँव कनेक्शन खेती बाडी, गाँव का कनेक्शन, गाँव पर शेरो शायरी, भारत के गाँव,

...

गाँव जिला दतिया, मध्य प्रदेश शासन इंडिया.

चतरा जिले के अंतर्गत गाँव एवं पंचायत का विवरण प्रखंड अंचल पंचायत गाँव चतरा 16 182 कुंदा 05 78 हंटरगंज 28 270 प्रतापपुर 18 176 लावालोंग 08 103 गिधौर 06 38 पथलगड्डा 05 30 सिमरिया 17 100 टंडवा 19 96 इटखोरी 12 159 कान्हाचट्टी 10 124 मयूरहंड 10 118 कुल​. गाँव और पंचायत जिला सीतापुर. उत्तर प्रदेश सरकार. अक्टूबर 2015 से संस्थान के वैज्ञानिकों ने अनुसंधान कार्यों के अलावा माननीय प्रधान मंत्री द्वारा 25 जुलाई 2015 को पटना में शुरू किगए कार्यक्रम के तहत मेरा गाँव मेरा गौरव कार्यक्रम के अन्तर्गत अल्मोड़ा जिले के 5 विकास खण्डों में कुल 6. गांव और पंचायत चतरा India Chatra. शहर के इस गाँव में मिला जिंदा बम, मचा हड़कम्प. महाजन. महाजन फील्ड फायरिंग रेंज के पास जसवंतसर की रोही में शनिवार को एक जिंदा बम मिलने से हड़कम्प मच गया। बम की सूचना के बाद पुलिस प्रशासन के साथ सेना की इंटेलिजेंस शाखा भी सक्रिय हो गई।.


...